: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार

ओडिशा CM ने ट्विटर पर रेल लाइन का प्रपोजल रखा, प्रभु ने 3 मिनट में मंजूर किया



रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने ओडिशा में नई रेल लाइन को ट्विटर पर चंद मिनटों में ही मंजूरी दी। दरअसल, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने ट्विटर पर पुरी से कोणार्क के बीच नई लाइन डालने का प्रपोजल रेलवे मिनिस्ट्री को दिया। रेलवे से जुड़ी परेशानियां दूर करने के लिए हमेशा ट्विटर पर एक्टिव रहने वाले प्रभु ने महज 3 मिनट के अंदर इसे एक्सेप्ट कर लिया। प्रोजेक्ट में 50% लागत ओडिशा की...
- ओडिशा के सीएम ऑफिस ने 28 अप्रैल को रात 9. 35 पर ट्वीट किया। लिखा- ''सीएम ने पुरी से कोणार्क के बीच टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नई रेल लाइन की 50% लागत साझा करने की पेशकश की है। सीएम ने रेलमंत्री से इसे जल्द मंजूरी देने और वक्त पर पूरा करने के लिए एमओयू साइन करने की अपील की है। राज्य की भागीदारी के साथ रेलवे के लिए रिटर्न की दर 20% से ज्यादा होगी।''
- इस ट्वीट के 3 मिनट बाद 9 बजकर 38 मिनट पर रेल मंत्री ने इसे मंजूरी दे दी। उन्होंने लिखा- '' हम किसी भी दिन इसे साइन करने के लिए तैयार हैं, हम इंतजार कर रहे हैं। क्योंकि राज्यों के साथ ज्वाइंट प्रोजेक्ट की पहल हमने की थी।''
ट्विटर पर काफी एक्टिव हैं प्रभु
- रेलमंत्री ट्विटर पर पैसेंजर्स की परेशानियां दूर करने के लिए काफी एक्टिव रहते हैं। पिछले दिनों ही ट्रेनों के देरी से चलने की शिकायतों पर अफसरों से कहा कि वक्त की पाबंदी में सुधार लाएं या कार्रवाई का सामना करें।
- कई मौकों पर एक ट्वीट पर ही चलती ट्रेन में पैसेंजर्स को खाना, पानी, सफाई, मेडिकल और इमरजेंसी सिक्युरिटी मदद मुहैया करा चुके हैं।

दलित की बेटी की शादी में बैंड-बाजा और जश्न की सजा...कुएं में डाला किरासन तेल,भोपाल




भोपाल: मध्य प्रदेश के माना गांव में एक दलित की बेटी की धूमधाम से हुई शादी को बमुश्किल हफ्ता भर ही हुआ है, लेकिन यहां के दलित परिवारों को भारी परेशानी से रू-ब-रू होना पड़ रहा है. यहां के करीब 500 दलित जिस कुएं से पानी भरते थे, उसमें अचानक किरासन तेल पाया गया. दलितों ने प्रशासन को तत्काल इसकी सूचना दी, जिसके बाद कुएं से पंप के जरिये किरासन तेल मिला पानी निकाला गया. ऐसा प्रतीत होता है कि कुएं में जानबूझकर किरासन तेल डाला गया.

दलितों का कहना है कि चूंकि चंदर मेघवाल नामक शख्स ने दलितों की धमकी को नजरअंदाज कर अपनी बेटी की शादी खूब धूमधाम से की थी, इसी के बदले के तौर पर दबंगों ने कुएं के पानी को खराब करने की साजिश की. उल्लेखनीय है कि 23 अप्रैल को आगर मालवा क्षेत्र के माना गांव में आजादी के बाद पहली बार दलित समाज के एक युगल की शादी में बैंड बाजे के साथ धूमधाम से बारात निकाली गई, लेकिन इसके लिए सरकार को सशस्त्र पुलिस बल तैनात करनी पड़ी.

जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर सुसनेर तहसील अंतर्गत इस गांव में आजादी के बाद से लेकर आज तक कभी भी दलित समाज के विवाह कार्यक्रम में बैंड बाजे एवं ढोल-ढमाके नहीं बज पाए थे, जबकि 2,000 आबादी वाले इस गांव में लगभग 55 दलित परिवार निवास करते हैं.



चंदर मेघवाल की बेटी ममता का विवाह राजगढ़ के दिनेश के साथ तय हुआ था और 23 अप्रैल 2017 को वर पक्ष बारात लेकर माना आने वाला था. लेकिन गांव के दबंगों ने चंदर को चेतावनी दी कि गांव में बारात बिना बैंड बाजे के निकलनी चाहिए और ना ही किसी प्रकार की सजावट-रोशनी होनी चाहिए. चंदर ने प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई जिसके बाद निर्धारित समय पर ममता की बारात गांव में आई और बैंड बाजे के साथ बारात चंदर मेघवाल के घर पहुंची और धूमधाम से ममता का विवाह दिनेश के साथ संपन्न हुआ. इस दौरान तीन थानों के पुलिस बल पूरी मुस्तैदी के साथ वहां पर मौजूद रहे.

शादी से पहले चंदर मेघवाल को दबंगों द्वारा चेतावनी दी गई थी कि अगर उसने 'नियमों' को तोड़ा तो उसके परिवार को कुएं से पानी नहीं भरने दिया जाएगा और न ही स्थानीय मंदिर में प्रवेश करने दिया जाएगा. मेघवाल ने कहा कि चूंकि उसकी बेटी की शादी धूमधाम से करने में बाकी दलित परिवारों ने भी खुलकर समर्थन दिया था, इसलिए पूरे दलित समुदाय को निशाना बनाया गया है. उसने कहा, हम सब पानी के लिए इसी कुएं पर आश्रित हैं...उन्होंने इसमें किरासन तेल डाल दिया.

कुएं का पानी खराब हो जाने के चलते दलित परिवारों की महिलाओं को पिछले छह दिनों से दो किलोमीटर दूर जाकर नदी से पानी लाना पड़ता है. हालांकि एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने आश्वासन दिया है कि दलित इलाके में दो हैंडपंप लगाए जाएंगे, लेकिन इसमें थोड़ा वक्त लगेगा.


एक वरिष्ठ अधिकारी दुर्विजय सिंह ने कहा कि कुएं में किरासन तेल डालना 'कोई बहुत बड़ा मुद्दा' नहीं है, क्योंकि इस गांव में विभिन्न समुदाय के लोग काफी मेलजोल से रहते हैं. निश्चित रूप से किसी ने जानबूझकर ऐसी हरकत की है. जो भी इसके लिए जिम्मेदार है, उसकी पहचान जल्द सामने आ जाएगी.

सत्ता के संरक्षण में जुल्म ढाने वालों के दिन अब लद चुके : देवरिया में सीएम योगी आदित्‍यनाथ




देवरिया: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भूमाफियाओं तथा अराजक तत्वों को कड़ा संदेश देते हुए रविवार को कहा कि सत्ता के संरक्षण में आम लोगों पर जुल्म ढाने वालों के दिन अब ‘लद’ चुके हैं और ऐसे लोगों से निपटने में कोई ढिलाई नहीं बरती जाएगी. मुख्यमंत्री ने सलेमपुर में दिव्यांगों को कृत्रिम अंग वितरण कार्यक्रम में कहा, ‘हम कृत संकल्पित हैं कि यूपी में अब कानून का राज होगा. अराजकता फैलाने की छूट किसी को नहीं होगी. सत्ता के संरक्षण में जिन्होंने आम लोगों पर जुल्म ढाये हैं, गरीबों के हक मारने का प्रयास किया, उनके दिन अब लद चुके हैं.’ हाल में सहारनपुर समेत कुछ स्थानों पर कथित भाजपा कार्यकर्ताओं की गुंडई को लेकर विपक्षियों के निशाने पर आये योगी ने कहा, ‘अब जमीनों पर कोई कब्जा नहीं कर पाएगा, अगर किया तो कानून सख्त कार्रवाई करेगा. हम कोई समझौता नहीं करने वाले हैं.’

उन्होंने चीनी मिलों का जिक्र करते हुए कहा, ‘यहां की चीनी मिलों को हम कैसे शुरू करें, इसके लिये उच्चाधिकार प्राप्त समिति बनायी है. उसकी रिपोर्ट के आधार पर हम चीनी मिलों के पुनरद्धार की नयी नीति लेकर आने वाले हैं. जो चीनी मिलें औने-पौने दाम पर बेची गयी हैं, हमने उनकी पूरी रिपोर्ट मांगी है. औने-पौने दाम पर मिलें बेचने वालों को हम बख्शेंगे नहीं.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि देवरिया का गन्ना किसान खजनी और प्रतापपुर चीनी मिलों के कारण पीड़ित है, लेकिन प्रसन्नता है कि चालू वर्ष के गन्ना मूल्य का भुगतान 10 दिन के अंदर कर दिया गया है. हम अब तक 5500 करोड़ रुपये गन्ना मूल्य का भुगतान कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि जहां तक गेहूं खरीद की प्रगति की बात है तो कल तक सरकार ने किसानों से जितना गेहूं खरीदा है, उसके समर्थन मूल्य से 10 रुपये अधिक धन किसानों के खाते में भिजवा दिया गया है. सरकार पिछले वर्ष की तुलना में अब तक तीन गुना गेहूं खरीद चुकी है.

उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय समाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत का अभिनन्दन करते हैं, जिन्होंने दिव्यांगों के सशक्तीकरण के लिये कृत्रिम अंग वितरण कार्यक्रम आयोजित किया. योगी ने कहा कि दिव्यांगों के प्रति प्रधानमंत्री के मन में बेहद संवेदना है. पहली बार हुआ है कि कोई प्रधानमंत्री दिव्यांग जनों के लिये आयोजित कार्यक्रम में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करते हैं और उनके कल्याण और स्वावलम्बन के लिये नयी-नयी योजनाओं की घोषणा करते हैं.

उन्होंने कहा कि आज जिन दिव्यांगों को उपकरण मिले हैं वे स्वावलम्बन का मार्ग प्रशस्त करें. प्रदेश सरकार उनके पूर्ण सहयोग को तैयार है. जिला प्रशासन से कहूंगा कि जिन दिव्यांग जनों की पेंशन नहीं मिली है, उनकी पेंशन बनाने का काम शुरू करें. दिव्यांग प्रमाणपत्र बनाने की कार्यवाही हो. एक ही छत के नीचे सभी समस्याओं के समाधान की व्यवस्था करें.

देश को मिला जवाब- कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? जानिए आखिर फिल्म को क्यों देख सकते हैं?




फिल्म का नाम: बाहुबली 2: द कन्क्लूजन

डायरेक्टर: एस एस राजामौली

स्टार कास्ट: प्रभास , राणा दग्गुबत्ती, अनुष्का शेट्टी, तमन्ना भाटिया , सथ्यराज, राम्या कृष्णन ,

अवधि: 2 घंटा 47 मिनट

सर्टिफिकेट: U/A

रेटिंग: 4 स्टार

डायरेक्टर एस एस राजामौली का नाम आते ही 'मगाधीरा' और 'ईगा' और अब 'बाहुबली: द बिगिनिंग' जैसी फिल्में आंख के सामने आ जाती हैं, बाहुबली की भव्यता के बाद पूरे विश्व के लोग सिर्फ इस बात का इंतजार कर रहे थे की आखिरकार 'बाहुबली 2' कब रिलीज होगी और ये पता चलेगा की कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? अब वो घड़ी आ चुकी है, क्या है इस सवाल का राज और कैसी बनी है यह फिल्म आइए फिल्म की समीक्षा करते हैं.

कहानी
यह कहानी वहीं से शुरू होती है जहां बाहुबली 1 की कहानी खत्म हुई थी, और शिवा उर्फ महेंद्र बाहुबली (प्रभास) को कटप्पा (सत्यराज) ये बताने की कोशिश करता है की आखिरकार महाराजा अमरेंद्र बाहुबली (प्रभास) की हत्या कैसे हुई थी. कहानी फ्लैशबैक में जाती है और उस समय का जिक्र होता है जब महिष्मति के साम्राज्य में अमरेंद्र बाहुबली का राज्याभिषेक होने वाला होता है और लोग खुश थे, लेकिन ये बात भल्लाल देव (राणा दग्गुबत्ती) को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं थी. जिसकी वजह से वो अपने पिता के साथ मिलकर अमरेंद्र बाहुबली को मारने का प्लान बनाता है, जिसमें कटप्पा को आगे रख दिया जाता है और महारानी शिवागामी (राम्या कृष्णन) को भी गलत शलत बोलकर विश्वासघात करता है. साथ ही कहानी में देवसेना (अनुष्का शेट्टी) की एंट्री होती है. अब किन परिस्थितियों के अंतर्गत बाहुबली का कत्ल होता है, इसका पता आपको फिल्म देखकर ही लगाना पड़ेगा, क्योंकि ये ऐसा सरप्राइज है जिसे मेकर्स ने 2 साल से छुपा कर रखा है और उसे यहां रिव्यू लिखते वक्त खोल देना, अच्छा काम नहीं होगा लेकिन बस ये बता देना चाहूंगा कि कटप्पा और बाहुबली के जोक को तो आपने सुना होगा पर उस सीन के फि‍ल्मांकन के दौरान आप इमोशनल भी होते हैं. खैर कहानी आगे बढ़ती है, आखिरकार भल्लाल और बाहुबली के बीच प्रचंड युद्ध होता है.
 देश को मिला जवाब- कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? 

जानिए आखिर फिल्म को क्यों देख सकते हैं? 
फिल्म की कहानी बहुत ही उम्दा है जो आपको बांधे रखती है साथ ही स्क्रीनप्ले दमदार है. फिल्म का डायरेक्शन लाजवाब है और डायरेक्शन के साथ-साथ वीएफएक्स जबरदस्त है जो आपको 2डी में 3डी का आनंद देता है. और यही कारण है की फिल्म विजुअली काफी रिच है. हर एक सीन में कुछ न कुछ खास जरूर देखने को मिलता है. बहुत ही अद्भुत फिल्मांकन है जिसकी तारीफ जितनी भी की जाए कम है.

फिल्म का इंतजार कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा के लिए किया जा रहा था, लेकिन फिल्मांकन के दौरान और भी सरप्राइजेज सामने आते हैं, सुपर स्टार सुदीप का किरदार भी काफी दिलचस्प है.

प्रभास ने शारीरिक रूप से बहुत ही बेहतरीन काम किया है, तालियां भी बटोरते हैं साथ ही उनके अपोजिट राणा दग्गुबत्ती का काम भी काबिल ऐ तारीफ है जिनसे आपको घृणा भी होने लगती है साथ-साथ राम्या कृष्णन और अनुष्का शेट्टी के अलग अलग रूप, तमन्नाह भाटिया का पराक्रम, सत्यराज की गुत्थियां और बाकी किरदारों की सहज एक्टिंग है, जो देखने योग्य है.
बाहुबली देखने के लिए लोगों ने ऐसे मांगी छुट्टी, देखें कुछ फनी LEAVE APPLICATIONS

फिल्म का संगीत और खासतौर पर बैकग्राउंड स्कोर कमाल का है जो आपको बांधे रखता है. फिल्म के द्वारा फिक्शन की कहानी काफी रीयल लगती है जो की इक्कीसवीं सदी में डायरेक्टर एस एस राजामौली की जीत है. क्लाईमैक्स की जंग के दौरान ताबड़तोड़ एक्शन है जिसकी परिकल्पना कर पाना भी मुश्किल है , तालियों की गड़गड़ाहट थिएटर में गूंजती है.

कमजोर कड़ियां 
फिल्म को हिंदी में डब किया गया है , जिसकी वजह से रेगुलर लिप सिंक आपको देखने को नहीं मिलता और गाना कोई और होता है पर आर्टिस्ट कुछ और ही तरह से लिप्स हिलाता हुआ दिखाई पड़ता है, हालांकि टीवी पर ऐसी डब की हुई फिल्मों की भरमार है और अब तो आदत भी हो चुकी है, इक्का दुक्का चीजें, इस फिल्म की भव्यता के सामने काफी कम हैं.

बॉक्स ऑफिस
वैसे ट्रेड के मुताबिक बाहुबली के दोनों पार्ट्स का बजट लगभग 400 करोड़ का है और बाहुबली 1 ने पहले से ही आंकड़ों के मुताबिक 419 करोड़ का बिजनेस कर लिया है. वैसे बाहुबली 1 ने लगभग 419 करोड़ रुपये की कमाई की थी जो की टॉप ग्रॉसर की लिस्ट में 'दंगल' और 'पीके' के साथ शुमार हो गई थी. ओवरसीज में भी 'पीके' और 'दंगल' ने सुपर बिजनेस किया था, तो एक तरह से नंबर 1 पर 'पीके' , नंबर 2 पर 'दंगल' और नंबर 3 पर 'बाहुबली' थी. ओवरसीज डिस्ट्रीब्यूटर्स की मानें तो फिल्म ओपनिंग के दिन 7-8 मिलियन डॉलर का बिजनेस हिंदी तमिल और तेलुगु भाषा में कर सकती है. पूरे देश में लगभग 7700 स्क्रीन्स में यह फिल्म रिलीज की जाने वाली है. यह तीन भाषाओं तमिल, तेलुगु और हिंदी में रिलीज की जाएगी. 

योगी सरकार का बेटियों को गिफ्ट, जन्म पर देगी 50 हजार का बॉन्ड, मां को मिलेंगे 5100




उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शुक्रवार को कुछ बड़े फैसले लिये. योगी सरकार ने फैसला किया है कि अब गरीब परिवारों में बेटी के जन्म होने पर 50 हज़ार रुपये का बॉन्ड दिया जाएगा. इसके तहत भाग्यलक्ष्मी योजना शुरू की जाएगी. इस योजना के तहत मां को भी 5100 रुपये दिये जाएंगे. यूपी सरकार के महिला कल्याण विभाग ने इस योजना को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है.

बुंदेलखंड पर विशेष ध्यान
इसके अलावा बुंदेलखंड में पानी की समस्या के समाधान के लिए केन-बेतवा लिंक नहर परियोजना के निर्माण में तेजी लाई जाएगी. योगी ने गोमती रिवर फ्रंट परियोजना का हवाला देते हुए सिंचाई विभाग को निर्देश दिया है कि सरकारी योजनाओं में पैसे की बर्बादी ना हो, अगर कोई गड़बड़ी होगी तो अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी.

सभी विभागों से मांगा श्वेतपत्र
यूपी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि गुरुवार को सभी विभागों की प्रेजेंटेशन पूरी हो चुकी हैं, मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को श्वेतपत्र जारी करने को कहा है. सभी मंत्री जिलों में जाकर सरकार के 100 दिन के एजेंडे, केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं की समीक्षा करेंगे. सीएम योगी ने आदेश दिया है कि बेसिक शिक्षा में बड़े सुधार की जरुरत है, इसके लिए स्कूलों में जाकर निरीक्षण करने के भी आदेश दिये हैं.

औचक निरीक्षण करने के निर्देश
सभी मंत्रियों और अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि अस्पतालों में औचक निरीक्षण किया जाए और सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए. तो वहीं सभी गांवों में रात 7 बजे से सुबह 5 बजे तक बिजली रहने के निर्देश दिये गये हैं. योगी सरकार ने फैसला किया है कि जिस जिले से ज्यादा शिकायत आएगी, वहां के डीएम को तलब कर जवाब मांगा जाएगा.

स्‍कूल के छात्रों को रखना होगा ‘योगी हेयरकट’, जारी हुआ आदेश - See more at:




नई दिल्‍ली । मेरठ स्‍थित सीबीएसई स्कूल के पहली से बारहवीं कक्षा के 2800 छात्रों को अजीबो-गरीब आदेश सुनाया गया है। स्कूल ने छात्रों से राज्‍य मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसा हेयरकट कराने को कहा है। साथ ही छात्रों को दाढ़़ी रखने से मना करते हुए कहा गया यह कोई मदरसा नहीं है, जहां उन्हें नमाज अदा करनी होगी।
योगी जैसा हो शॉर्ट हेयरकट 
टाइम्‍स ऑफ इंडिया के अनुसार, यह मामला गुरुवार को सामने आया जब कुछ छात्रों को रिशभ अकेडमी को-एजुकेशनल इंग्लिश मीडियम स्कूल में इसलिए प्रवेश करने को नहीं मिला क्योंकि उनके बाल उचित तरीके से नहीं कटे हुए थे। स्कूल की मैनेजमेंट कमेटी के सेक्रेटरी रंजीत जैन ने कहा, ‘जब छात्र हमारी बात नहीं समझ पाए तो मैंने छात्रों से योगी के जैसा हेयरकट कराने को कहा। हम आर्मी की तरह शॉर्ट हेयरकट चाहते हैं।'
दाढ़ी रखने की भी मनाही
 छात्रों को सख्ती से दाढ़ी रखने से मना किया गया है क्योंकि यह कोई मदरसा नहीं है और न ही कोई ऐसी जगह है जहां वे नमाज अदा करने आते हों। यही नहीं मैनेजमेंट ने दावा किया कि क्योंकि स्कूल जैन ट्रस्ट द्वारा चलाया जा रहा है। ऐसे में टिफिन बॉक्स में अंडा तक लाना वर्जित है।
...ताकि न हो लव जिहाद 
इसके अलावा स्‍कूल में छात्र-छात्राओं को अलग क्‍लासरूम में पढ़ाया जाता है। जैन ने कहा, ‘लव जिहाद को रोकने और लड़कियों की सुरक्षा के लिए ऐसा किया जाता है। मुसलमान लड़के हिंदुओं की तरह नाम रखते हैं कलाई पर कलावा बांधते हैं ताकि लड़किया उनसे दोस्‍ती करें। इसे मैं स्‍कूल में बर्दाश्‍त नहीं कर सकता।‘
स्‍कूल के छात्रों ने की पुष्‍टि 
मेरठ स्‍कूल के छात्रों ने आरोप  लगया कि उन्‍हें योगी हेयरकट रखने और शाकाहारी खाना लाने पर ही स्‍कूल में प्रवेश की इजाजत मिलेगी।

UP के 7 पेट्रोल पंप पर छापा, हर राेज तेल चोरी कर कमा रहे थे 50 हजार रुपए



लखनऊ.एसटीएफ की टीम ने राजधानी में गुरुवार रात 7 पेट्रोल पंपों पर छापा मारा। जांच में पाया गया कि कस्टमर्स को कम पेट्रोल दिए जा रहे थे। पेट्रोल पंप में च‍िप, र‍िमोट कनेक्ट करके इस काम को अंजाम दिया जा रहा था। कस्टमर्स काे एक लीटर में 50-60 ml तक कम पेट्रोल दिए जाने की बात सामने आई है। एक पेट्रोल पंप इस चोरी से रोज एवरेज 40 से 50 हजार रुपए और महीने में 12 से 15 लाख रुपए कमा रहा था। पकड़े गए एक आरोपी ने बताया 1 हजार से ज्यादा पेट्रोल पंपाें पर च‍िप लगाई गई है। यूपी के अलावा दूसरे राज्यों में भी हो रहा ये खेल...
- एसटीएफ ने चौक-केजीएमयू के सामने पेट्रोल पंपों पर छापा मारकर कई मशीनें सील कर दीं। छापे की कार्रवाई में डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन, सप्लाय डिपार्टमेंट, ऑयल कंपनियों के र‍िप्र‍िजेंटेटिव्स और बांट माप तौल डिपार्टमेंट के अफसर शामिल थे। इस दौरान पेट्रोल पंपों की मशीनों में तेल चुराने के लिए लगाई गई चिप और उनके रिमोट बरामद हुए।

  • - एसएसपी एसटीएफ अमित पाठक ने बताया कि पेट्रोल कम देने (घटतौली) के इस खेल में एक बड़े गैंग का हाथ है, जिसने यूपी के अलावा दूसरे राज्यों में भी पेट्रोल पंपों पर

चिप और रिमोट लगाया है।

  • - एसटीएफ ने इस गैंग से जुड़े राजेंद्र नाम के एक शख्स को हिरासत में लिया है। उसने पूछताछ में लखनऊ के 7 पेट्रोल पंपों में चिप और रिमोट लगाने की बात कबूली है।
  • - एसएसपी अमित पाठक ने 5 डिपार्टमेंट्स के साथ मिलकर 7 टीमें बनाकर छापेमारी की कार्रवाई की।

ऐसे चल रहा था खेल

  • - पेट्रोल पंप में इस खेल में अमूमन 2 से 3 लोग शामिल रहते थे। इसमें एक पेट्रोल डालता था और दूसरा कैश का बैग लेकर खड़ा रहता था। बैग लेकर खड़े रहना वाला पैसों के साथ ही रिमोट रखता था। मौका मिलते ही वह रिमोट दबाकर घटतौली कर देता था।
  • - कुछ जगह पर इन दोनों के अलावा तीसरा कर्मचारी जेब में रिमोट लेकर खड़ा रहता था। एसएसपी एसटीएफ ने बताया कि ये लोग ग्रीन सर्किट में चिप लगाकर खेल करते थे। कुछ जगह एमसीबी और कुछ जगह पैनल में सर्किट लगाया गया था।

लखनऊ के इन पेट्रोल पंपों पर हो रही थी धांधली

  • #चिनहट: कमता तिराहे के पास चल रहे साकेत पेट्रोल पंप की सीएनजी-डीजल और पेट्रोल देने वाली सभी 6 मशीनों में चिप लगी थी। यहां से 6 रिमोट मिले हैं।
  • #चौक: केजीएमयू चौराहे पर चल रहे लालता प्रसाद पेट्रोल पंप पर 6 मशीनें हैं। सभी रिमोट से कंट्रोल हो रही थीं। यहां मैनेजर के केबिन में पूरा सेटअप बनाया गया था।
  • #डालीगंज क्रॉसिंग: लालता प्रसाद पेट्रोल पंप की हर मशीन में चिप लगी थी। इन्होंने भी कंट्रोल रूम बना रखा था।
  • #मड़ियांव: स्टैंडर्ड फ्यूल की तीन में से एक मशीन में चिप लगी थी। एक रिमोट मिला।
  • #कैंट में शिव नारायण पंप, सीतापुर रोड पर गल्ला मंडी के पास मान फिलिंग स्टेशन और फन मॉल के पास ब्रिज ऑटो केयर से भी रिमोट बरामद हुए हैं।

हर लीटर पर 5 से 6%फ्यूल की चपत

  • - इन पेट्रोल पंपों की मशीनों के अंदर चिप लगी हुई थी, जिसे रिमोट के जरिए कंट्रोल किया जाता था। जैसे ही पंप के कर्मचारी रिमोट दबाते थे, पाइप से तेल गिरना बंद हो जाता था। लेकिन मशीन की स्क्रीन पर तेल और पैसे का मीटर अपनी रफ्तार से ही चलता रहता था।
  • - एसएसपी एसटीएफ अमित पाठक के मुताबिक, इस डिवाइस के जरिए पेट्रोल पंप मालिक हर लीटर पर 5 से 6% ईंधन की चपत लगा रहे थे। एक पेट्रोल पंप इस चोरी से रोज एवरेज 40 से 50 हजार रुपए और महीने में 12 से 15 लाख रुपए कमा रहा था।

1000 से ज्यादा पंपों में लगाई चिप

  • - पेट्रोल चुराने में इस्तेमाल होने वाली चिप और रिमोट एक से दो हजार रुपए में दिल्ली और कानपुर के बाजारों में मिलती है। इसे लगाने के एवज में राजेंद्र 40 से 50 हजार रुपए लेता था। राजेंद्र यूपी और दूसरे राज्यों में एक्टि‍व एक बड़े गैंग का मेंबर है। उसने एसटीएफ के सामने एक हजार से ज्यादा पेट्रोल पंपों पर चिप लगाने की बात कबूली है। फिलहाल एसटीएफ ने उसकी निशानदेही पर 7 जगह छापे मारे हैं।

शिमला: मोदी बोले- हिमाचल आ रही है यूपी की हवा



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिमला में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की हवा अब धीरे-धीरे हिमाचल में भी आ रही है, दिल्ली की हवा भी हिमाचल में आएगी. मोदी ने कहा कि नोटबंदी बेईमानों का कड़ा प्रहार था. मोदी बोले कि ईमानदारी से काम करने वालों के लिए ये युग स्वर्णिम है. पीएम ने कहा कि मैंने गरीबी देखी है. हमारी सरकार ने ओआरओपी लागू किया, मेरे कहने पर सभी सैनिकों ने मेरी मदद की.


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में सस्ती उड़ान की शुरुआत की. पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल की भूमि का युवा देश में नया बदलाव ला सकता है. मोदी ने कहा कि अगर युवाओं को अवसर मिलेगा तो वे देश की तस्वीर और तकदीर दोनों बदल देंगे.

पहले एयरलाइंस में राजा महाराजा ही सफर करते थे, उस समय एयरलाइंस में भी राजा महाराजा का फोटो लगा था. मेरे कहने के बाद उसके लोगो में अटल जी की सरकार के समय आर.के. लक्ष्मण के कॉमन मैन के लोगो को लगाया गया. देश का गरीब हवाई चप्पल पहनता है, मैं चाहता था कि हवाई चप्पल वाला व्यक्ति हवाई जहाज में बैठे. आज वो बात सच हो रही है.

मोदी ने कहा कि भारत में हवाई सेवा के विस्तार के लिए काफी अवसर है. उन्होंने कहा कि हवाई सर्कुलर रुट बनेगा तो सिख यात्री इसका लाभ उठा सकेंगे. मोदी ने कहा कि अगले एक साल में 30 से 35 एयरपोर्टों से कनेक्टिविटी को जोड़ेंगे. मोदी बोले कि टीयर - 2 के शहरों को हवाई सुविधा से जोड़ना लक्ष्य है.

पीएम मोदी ने कहा कि हवाई सफर से कई लोगों का समय बचेगा. मोदी ने कहा कि सब उड़े, सब जुड़ें. उन्होंने कहा कि इस सुविधा से हिमाचल प्रदेश के टूरिज्म को काफी बढ़ावा मिलेगा. मोदी ने कहा कि न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने के जल शक्ति और वायु शक्ति को मजबूत होना काफी जरूरी.

2016 में हुई थी शुरुआत
आपको बता दें कि मोदी सरकार ने उड़ान की शुरुआत अक्टूबर 2016 में रीजनल कनेक्टिवटी स्कीम के तहत की गई थी. इस महत्वाकांक्षी स्कीम का मकसद हवाई उड़ान को छोटे शहरों तक पहुंचाना और किराया कम रखना. जिससे छोटे शहर के लोग उड़ान स्कीम का ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सकें.



शिमला से दिल्ली के बीच की पहली फ्लाइट को हरी झंडी दिखाने के अलावा पीएम मोदी दो और फ्लाइट्स को हरी झंडी दिखाई. एयर इंडिया की क्षेत्रीय इकाई अलायंस एयर के तहत इन फ्लाइट्स को ऑपरेट किया जाएगा. 15 जून 2016 को शुरु हुई नैशनल सिविल एविएशन पॉलिसी का उड़ान अहम हिस्सा है. इस स्कीम के तहत हवाई यात्रा के लिए 500 किलोमीटर और 1 घंटे के सफर की कीमत 2,500 रखी गई है. इसी आधार पर अन्य रुटों का भी किराया निर्धारित किया गया है. पीएम मोदी के क्षेत्रीय कनेक्टिविटी के विजन को पूरा करते हुए एविएशन मिनिस्टर अशोक गजपति राजू ने 128 रूट्स और 5 ऑपरेटरों को उड़ान स्कीम में शामिल किया है.

उड़ान स्कीम की अहम बातें-
उड़ान स्कीम के तहत 45 ऐसे एयरपोर्ट्स जो सेवा में नहीं हैं, उन्हें एयर नेटवर्क में कनेक्ट किया गया है. छोटे शहर टियर-2 और टियर-3 के 13 एयरपोर्ट्स, जहां ज्यादा फ्लाइट्स नहीं चलती थीं वहां अब अधिक फ्लाइट्स होंगी. जिससे इन शहरों के लोगों को उड़ान स्कीम का फायदा मिल सकें. उड़ान के तहत 5 ऑपरेटर्स का चयन हुआ है जोकि एयर इंडिया की सब्सिडियरी अलाइड सर्विसेज, स्पाइसजेट, एयर डेक्कन, एयर ओडिशा, टर्बो मेघा हैं. सिविल सेक्रटरी आरएन चौबे ने बताया, हर फ्लाइट में 50 प्रतिशत सीटें 500 किलोमीटर या 2,500 रुपए एक घंटे के रेट पर होंगी.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू के मुताबिक इन सेवाओं के प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं होंगे-


  • -कानपुर से दिल्ली के लिए स्पाइसेजट की सेवा अगस्त में शुरू होगी, जबकि कानपुर से वाराणसी और दिल्ली के बीच सितम्बर में एयर ओडिशा के विमान उड़ान भरेंगे.

  • -अलायंस एय़र आगरा से जयपुर की उड़ान जून में शुरू करेगी, जबकि अगस्त में एय़र डेक्कन ने आगरा और दिल्ली के बीच उड़ान सेवा शुरु करने की तैयारी कर रखी है.

  • -दिल्ली से शिमला के बीच अलायंस एय़र और एयर डेक्कन, दोनों ने ही अगले महीने सेवा शुरु करने का लक्ष्य रखा है.

  • -मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ में अंबिकापुर से विलासपुर और बिलासपुर से रायपुर के बीच सितम्बर में एय़र ओडिशा अपनी सेवा शुरू करेगी.

  • -सितम्बर में ही जगदलपुर से रायपुर और विशाखापत्तनम के बीच सेवाएं शुरू हो जाएंगी.

अयोध्या मामले पर डिप्टी CM का बड़ा बयान, कहा-जल्द बनेगा राम मंदिर



फैजाबाद/अयोध्या: राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लेकर यूपी की सत्ता पर काबिज हुई योगी सरकार ने बड़ा बयान दिया है। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा है कि भगवान राम का भव्य मंदिर जल्द ही बनेगा। केशव मौर्य आज अयोध्या भाजपा के प्रांतीय प्रशिक्षण वर्ग सम्मलेन में शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने ये बातें मीडिया से कही।

राम मंदिर निर्माण में भाजपा की क्या भूमिका रहेगी के सवाल पर केशव ने कहा कि मंदिर मुद्दा न्यायालय में विचाराधीन है ऐसे में कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि राम मंदिर का निर्माण सुलह समझौते से निपटाकर होना चाहिए। सर्वोच्च न्यायलय ने आपस में बातचीत करके सुलह समझौते का मौका दिया है। वहीं उन्होंने पत्रकारों से कहा कि त्रिलोकी के नाथ भगवान राम का जैसा भव्य मंदिर होना चाहिए जल्द ही बन जाएगा।

पलायन किये परिवारों को घर वापसी करेगी सरकार
वहीं प्रदेश में बीते दिनों हुए पलायन पर अपना पक्ष रखते हुए केशव ने कहा कि विधानसभा चुनाव के संकल्प पत्र में यह वादा किया था कि भाजपा की सरकार बनते ही प्रदेश में जहां-जहां भी लोगों ने गुंडे माफियाओं के भय से अपना घर छोड़ा है उन्हें चिन्हित करके घर वापसी करायी जाएगी। उत्तर प्रदेश से अब किसी का पलायन नहीं हो उसके लिए भी कड़े कदम उठाये जायेंगे। उन्होंने पलायन किये परिवारों के लिए एटीएस टास्क फॉर्स बनाये जाने की भी बात कही। 

CM योगी के निर्देश पर अयोध्या में बंद चल रहा रामलीला का मंचन फिर से होगा शुरू




लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बरसों से बंद पड़ी रामलीला का मंचन शुरू किया जाएगा। यह निर्देश राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए हैं। उन्होंने कहा कि अयोध्या में कई वर्षों से बंद पड़ा रामलीला का मंचन प्रारम्भ कराया जाए। इसी प्रकार मथुरा में रासलीला एवं चित्रकूट में भजन संध्या कार्यक्रम को सुचारु रूप से संपन्न कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने काशी विश्वनाथ मन्दिर में ई-पूजा, ई-डोनेशन, कैलाश मानसरोवर यात्रा एवं सिन्धु यात्रा हेतु ऑनलाइन आवेदन एवं ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल वेबसाइट को आगामी 15 दिन में लांच कराने के निर्देश दिए। योगी ने देर रात धर्मार्थ कार्य विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान कहा कि धार्मिक स्थलों की सुरक्षा हेतु आवश्यकतानुसार बाउण्ड्री निर्माण के साथ-साथ तीर्थ यात्रियों एवं श्रद्घालुआें की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए अप्रोच रोड बनाने का कार्य प्राथमिकता पर सुनिश्चित कराया जाए।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में 14.77 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित भजन संध्या स्थल का निर्माण कार्य जून 2018 तक निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ प्रत्येक दशा में पूर्ण करा लिया जाए। चित्रकूट में भजन संध्या एवं परिक्रमा स्थल के निर्माण कार्य हेतु स्वीकृत 13. 75 करोड़ रुपए से निर्मित होने वाले कार्यों को प्राथमिकता के साथ निर्धारित समय-सारिणी में पूर्ण कराना सुनिश्चित कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सुप्रसिद्घ मंदिरों के संपर्क मार्ग चार लेन बनाए जाने के साथ-साथ जन सुविधा हेतु बैठने, विश्राम गृह, पेयजल सुविधाआें के विकास कार्य भी प्राथमिकता से सुनिश्चित कराए जाएं। धार्मिक स्थलों के धार्मिक तालाबों का जीर्णोद्घार एवं सौंदर्यीकरण का कार्य भी प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने ब्रज चौरासी कोसी परिक्रमा परिपथ का विकास एवं जनसुविधा कार्य विकसित कराए जाने के निर्देश दिए।

zhakkas

zhakkas