add by google

add

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिना हेलमेट बाइक पर चार सवारी, हादसे में सबकी जान गई





बदायूं-मेरठ हाइवे पर बेकाबू स्कॉर्पियो की चपेट में आने से बाइक सवार दंपति, उनकी एक बेटी समेत चार लोगों की मौत हो गई। हादसा रविवार सुबह करीब 10 बजे हाईवे पर जरीफनगर और कादराबाद गांव के बीच हुआ। स्कार्पियो में सवार सभी लोग दुर्घटना के बाद भाग निकले। हादसे के बाद शव बिखरने से हाइवे पर जाम लग गया। गौरतलब है कि एक बाइक पर चार लोग सवार थे, कोई भी हेलमेट नहीं पहने था। खबर मिलने पर ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मदद का आश्वासन दिया।

जरीफनगर थाने के गांव भोजीपुरा पावई निवासी भूदेव (30) पुत्र अमर सिंह अपनी पत्नी गीता (28) और छह वर्षीय बेटी कमलेश के साथ रविवार सुबह बुलंदशहर जिले के थाना नरौरा के गांव नदोई स्थित अपनी ससुराल के लिए निकले थे। उनके साथ संभल के थाना गुन्नौर के गांव अकबरपुर निवासी शिवनारायण (60) पुत्र झम्मन भी थे। शिवनारायण भोजीपुरा पावई में अपनी बेटी से मिलकर लौट रहे थे। उन्हें गुन्नौर में उतरना था। बाइक जरीफनगर-कादराबाद के बीच थी। इसी दौरान दिल्ली की ओर से आ रही तेज रफ्तार स्कॉर्पियो गाड़ी ने बाइक को रौंद दिया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि स्कॉर्पियों कई पलटी खाकर पोल से जा भिड़ी। हादसे में भूदेव, गीता, कमलेश और शिवनारायण की मौके पर मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद चार शव परिवार वालों के सुपुर्द कर दिए गए हैं।
हाइवे के गड्डे बने हादसे का सबब

दहगवां। मेरठ-बदायूं हाईवे पर जरीफनगर से कादराबाद तक तमाम गड्डे हो गए हैं। इस ओर लोक निर्माण विभाग का ध्यान नहीं जाता। गौर करने वाली बात यह है कि हाइवे के यही गड्डे इस दर्दनाक हादसे का कारण बने। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो दिल्ली की ओर से आ रही तेज रफ्तार स्कॉर्पियो गाड़ी का चालक गड्ढ़ा बचाने के चक्कर में संतुलन हो बैठा। इसके बाद स्कॉर्पियो ने सामने से आ रही बाइक को रौंद दिया। अगर हाइवे पर यह गड्डे नहीं होते तो दर्दनाक हादसा भी नहीं हुआ होता।
मौत पर गमगीन गांव



Comments

add by google

advs