: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | पुलिस की हिरासत में फांसी पर झूल गया जैनुल

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | पुलिस की हिरासत में फांसी पर झूल गया जैनुल





बदायूं : शातिर जैनुल ने जिंदगी की खातिर झूठ बोला, कातिल तक बन बैठा लेकिन, कानूनी फंदे में फंसा तो खुद ही मौत को गले लगा लिया। वह इस्लाम नगर थाने के भीतर फांसी पर झूल गया। मामला हिरासत में मौत का था। खलबली मचनी ही थी। सुरक्षा के लिहाज से थाने से लेकर पोस्टमॉर्टम हाउस तक को छावनी में तब्दील कर दिया गया। पूरे मामले में ढिलाई बरतने पर एसओ इस्लामनगर समेत तीन पुलिसकर्मियों को एसएसपी महेंद्र यादव ने निलंबित कर दिया। मामले की रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है।

तीन महीने पहले इस्लामनगर थाना क्षेत्र के गांव बेहटा पाठक के पास मारुति वैन के अंदर युवक की जली हुई लाश मिलने के बाद सहसवान के मुहल्ला शहबाजपुर के लोगों ने उसकी शिनाख्त जैनुल पुत्र नन्हे के रूप में की थी। जैनुल के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की तो पता चला कि जैनुल ¨जदा है। उसने शादाब हत्याकांड में सजा से बचने के लिए किसी और की हत्या कर खुद को मृत दर्शाने का ड्रामा किया है। असलियत का पता चलते ही पुलिस ने जैनुल की तलाश शुरू कर दी। तीन दिन पहले उसको दिल्ली रोड पर डिबाई के पास से हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ में उसने बताया था कि दिल्ली के ही रहने वाले सलमान की हत्या कर उसको अपने कपड़े और अंगूठी पहना दी थीं ताकि किसी को उसकी मौत पर संदेह न हो। इसके बाद उसने कार समेत उसको जला दिया था। पुलिस दो दिन तक उसको लेकर दिल्ली में सलमान का घर तलाशती रही लेकिन, कोई नतीजा हासिल नहीं हुआ। गुरुवार को दोपहर के वक्त इस्लामनगर पुलिस जैनुल को थाने लेकर पहुंची और रात में करीब 12 बजे खाना खिलाने के बाद उसको हवालात में बंद कर दिया गया।

खुद पर कानूनी शिकंजा कसता देख जैनुल बुरी तरह डर गया। रात करीब तीन बजे मौका पाकर उसने कंबल से फंदा बनाया और उससे झूल गया। कंबल का फंदा टूटकर नीचे गिरा तो आवाज होने पर पहरेदार ने हवालात खोलकर उसे बाहर निकाला। पुलिस उसको लेकर जिला अस्पताल पहुंची जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी होते ही मृतक के परिजन भी जिला अस्पताल पहुंच गए। पंचनामा प्रक्रिया पूरी होने के बाद पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों ने मौत की वजह हैंगिंग पुष्ट की।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में वजह हैं¨गग आई है। फिलहाल मामले को लेकर इस्लामनगर पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है। एसओ, मुंशी समेत पहरा को निलंबित कर दिया है। जांच की जा रही है जो भी सच निकलकर आता है उस आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।


  •  महेंद्र यादव, एसएसपी

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas