Budaun express is an online news portal & news paper news in Budaun .Badaun to keep you updateed with tha latest news of your own district covering

Breaking

October 20, 2016

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बरेली,चौधरी अजित सिंह की मौजूदगी में( मौलाना तौकीर ) का बेहद विवादित बयान किया।








बरेली । राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह की मौजूदगी में कल बरेली में आयोजित सामाजिक एकता सम्मेलन में ऑल इंडिया इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने समाज को तोडऩे वाला बयान दिया। मौलाना तौकीर ने तीन तलाक के साथ ही समान नागरिक संहिता पर चर्चा करते समय बेहद विवादित बयान किया।

मौलाना तौकीर के इस बयान ने आग में घी डालने का काम किया है। सामाजिक सम्मेलन में तीन तलाक के प्रकरण पर उन्होंने कहा कि तुम्हारे धर्म में भी तो एक महिला के पांच-पांच पति होते हैं।

 प्रदेश सरकार गलती माने तो समर्थन पर विचार: तौकीर

उनका इशारा पांडवों की ओर था। महाभारत में द्रौपदी के पांच पति थे। वह इतने पर भी नहीं रुके, मौलाना ने कहा कि आपके धर्म में तो महिला को पता भी नहीं होता है कि उसके बच्चे का बाप कौन है। उसको तो बच्चे के बाप का नाम भी पता नहीं होता है। मौलाना ने कहा कि तीन तलाक के मामले में अगर आप लोग दखल दोगे तो हम तुम्हारे हर मामले में जोरदार दखल देंगे।

अब 'आप' से नजदीकियां बढ़ाने में लगे तौकीर

तीन तलाक और समान नागरिक संहिता पर चर्चा करते हुए ऑल इंडिया इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने एक और विवादित बयान देकर आग में घी डालने का काम कर दिया। उन्होंने सामाजिक एकता सम्मेलन में कहा कि तुम्हारे यहां भी तो एक औरत के पांच शौहर होते हैं। ऐसा कई जगह देखा है, लेकिन मैंने इसे कभी गलत नहीं कहा। मौलाना यहीं नहीं रुके और भी बहुत कुछ कहते चले गए। पांच शौहर वाली औरत को यह भी पता नहीं होता कि उसके बच्चे का बाप कौन है। यह तो कई जगह मैंने देखा, लेकिन कहीं पर भी कुछ नहीं बोला।


 तौकीर रजा और सपा की दोस्ती में तीन मर्तबा पड़ चुकी है दरार

समान नागरिक संहिता को लेकर कहा कि इसे लागू करने से समस्याएं बढ़ेंगी। सवाल उठाया कि क्या जिनके निकाह हो चुके हैं, उन्हें फेरे लेने होंगे या फिर जिनके फेरे हो चुके हैं, उन्हें निकाह पढऩा पड़ेगा। ऐसा करके हुकूमत का मकसद दोनों सम्प्रदाय के लोगों को आपस में उलझाना है। तीन तलाक का विवाद भी इसी वजह से खड़ा किया गया है।


No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas