: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सफाई के त्योहार पर शहर में गंदगी का अंबार

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सफाई के त्योहार पर शहर में गंदगी का अंबार






बदायूँ | रोशनी और साफ सफाई के पर्व दिवाली पर इस बार शहर के लोगों में खासा रोष है। सफाई के प्रतीक त्योहार पर लोगों के घरों के आसपास, गलियों, तिराहों, चौराहों, नुक्कड़ सभी जगहों पर कूड़ों के ढेर लगे हुए हैं। इससे न सिर्फ पालिका प्रशासन बल्कि सफाईकर्मियों के प्रति भी लोगों में रोष बढ़ता जा रहा है।

दिवाली पर लोग घरों की सफाई करने के साथ ही रंग-रोगन भी करते हैं। इससे सामान्य दिनों की अपेक्षा घरों से कूड़ा अधिक फेंका जाता है। ऐसे में सफाईकर्मियों की हड़ताल से घरों से निकला कूड़ा गलियों और सड़कों पर फैला घूम रहा है। इससे बाजार में आने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नवदुर्गा के दिवाली पर सफाई कर्मियों की हड़ताल होने से लोगों में रोष व्याप्त है। शहरियों ने शहर में सफाई व्यवस्था दुरुस्त किए जाने की मांग की है, जिससे कि दिवाली सफाई भरे माहौल में मनाई जा सके।
गंदगी होने से व्यापारियों में भी उबाल
बदायूं। उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल (मिश्रा गुट) के जिलाध्यक्ष संदीप गुप्ता का कहना है कि त्योहारों पर सफाई का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। ऐसे वक्त में हड़ताल करने से लोगों को परेशानी होती है। इस मामले की शिकायत डीएम से की जाएगी। उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल (कंछल गुट) के जिलाध्यक्ष नवनीत गुप्ता शोंटू का कहना उद्योग बंधुओं की बैठक में भी इस मुद्दे को उठाया था। इस मामले में व्यापारी चुप नहीं बैठेंगे। व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष मनोज कृष्ण गुप्ता ने कहा कि नाले की सफाई को लेकर भी आंदोलन कर चुके हैं। किसी भी कीमत पर शहर में गंदगी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
 तीसरे दिन भी धरने पर रहे सफाई कर्मी
उत्तर प्रदेशीय सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले तीसरे दिन भी सफाई कर्मचारी नगर पालिका परिषद के प्रांगण में हड़ताल पर डटे रहे। महासचिव रमेश डी लाल ने कहा कि कर्मचारियों को एसीपी एरियर, बोनस व वेतन नहीं बांटा गया है। आरोप लगाया कि नगर पालिका प्रशासन नहीं चाहता कि सफाई कर्मचारियों के बच्चे दिवाली मनाएं। कालीचरन वाल्मीकि ने कहा कि दिवाली जैसे पर्व पर सफाई कर्मचारियों के बच्चे भूखे हैं, उन्हें वेतन भी नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने इसे हिटलरशाही बताया। सभा में श्यामबिहारी, सिकंदर, राकेश, वीरू, रेखादास, मालती देवी, रामप्यारी, विक्की, राजू, रंजीत आदि मौजूद रहे।
दिवाली से पहले सफाई कर्मियों की हड़ताल को समाप्त कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस बारे में दो बार उनके प्रतिनिधि मंडल से वार्ता करने के प्रयास किए जा चुके हैं। उम्मीद है कि जल्द ही शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त हो जाएगी।
-श्रीराम यादव, सिटी मजिस्ट्रेट, प्रभारी ईओ

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas