: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बदायूँ,में दो दिनों में पांच सौ करोड़ रुपये का लेनदेन

बदायूँ,में दो दिनों में पांच सौ करोड़ रुपये का लेनदेन





बदायूँ  |  हजार और पांच सौ रुपये के पुराने नोट बंद होने के बाद से बैंकों के बाहर भीड़ कम नहीं हो रही है। लोग सुबह आठ बजे से बैंक के बाहर लाइन लगाकर खड़े हो जाते हैं, जिससे कि रुपये जमा और निकाल सकें। भीड़ में शामिल लोगों ने गुरुवार और शुक्रवार को पांच सौ करोड़ रुपये का लेनदेन किया। इसमें बमुश्किल 75 लाख रुपये की निकासी हो सकी, जबकि जमा करीब 425 करोड़ रुपये किए गए। इस दौरान कुछ निजी बैंकों ने शटर गिराकर रुपये बदलने से मना कर दिया।

शहर से लेकर देहात तक यूं तो अधिकांश बैंक शाखाओं में भीड़ ज्यादा थी, लेकिन पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखाओं में भीड़ की तादाद कुछ ज्यादा थी। इन बैंक शाखाओं में सुबह से भारी भीड़ जमा होने से पुलिस को इन लोगों को लाइन में लगाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कई बार भीड़ के उग्र होने पर पुलिस को लाठियां भी फटकारनी पड़ी।
शुक्रवार को अधिकांश बैंक शाखाओं में सुबह 10 बजे से रुपये बदलने, जमा करने और निकालने का काम शुरू हो गया। पीएनबी, एसबीआई को छोड़कर अन्य बैंकों में दोपहर के बाद रुपये बदलने और निकासी का काम बंद कर दिया। इससे लाइन कुछ छोटी जरूर हुई, लेकिन इससे बैंकों की भीड़ खत्म नहीं हुई। जमा करने वालों की भी बड़ी भीड़ देर शाम तक बैंकों के बाहर लाइन में लगी खड़ी रही। इससे बैंक शाखाओं ने गेट पर ताला डालकर काम किया। बैंक परिसर में चंद लोगों को अंदर बुलाया गया, उनका काम होने के बाद ही दूसरों को बैंक परिसर में जाने का मौका दिया गया।

बरेली से करेंसी मिल नहीं पाई है। बैंक में जमा 100, 50, 20, 10 रुपये के नोटों के साथ ही 10 रुपये के सिक्कों से पेमेंट किया जा रहा है। बरेली से करेंसी न मिलने की स्थिति में आगामी दिनों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। अब तक करीब पांच सौ करोड़ रुपये का लेनदेन किया जा चुका है। 

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas