: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आपातकाल पर पुनर्विचार होता रहना चाहिए: मोदी

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आपातकाल पर पुनर्विचार होता रहना चाहिए: मोदी





राष्ट्रीय  | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आपातकाल के बारे में बार बार विचार करने की ज़रूरत है ताकि कोई और नेता ऐसा करने की न सोचे.
इंडियन एक्सप्रेस के रामनाथ गोयनका पत्रकारिता अवार्ड के दौरान प्रधानमंत्री का यह बयान अख़बार की पहली खबर है.
अखबार के अनुसार प्रधानमंत्री ने कहा है कि विश्वसनीयता मीडिया की सबसे बड़ी चुनौती है और भारत को अपने वैश्विक ब्रांड स्थापित करने की ज़रूरत है.
इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप की ओर से दिए जाने वाले रामनाथ गोयनका अवार्ड के अवसर पर प्रधानमंत्री का कहना था, ''आज निष्पक्ष भाव से उस समय (आपातकाल) की मीमांसा हर पीढ़ी में होती रहनी चाहिए.''
हालांकि पत्रकारिता के लिए दिए जाने वाले प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका अवार्ड इस बार विवाद से अछूते नहीं रहे हैं.
इस बार सम्मान के लिए चुने गए पत्रकारों में से एक अक्षय मुकुल ने प्रधानमंत्री मोदी के कारण समारोह में शामिल होने से इंकार कर दिया है.

  • जानी मानी मैगजीन The Caravan के अनुसार अक्षय मुकुल ने कहा है कि 'वो इस तथ्य के साथ जी नहीं सकते कि वो और मोदी एक ही फ्रेम में हों.'
  • अक्षय मुकुल को उनकी पुस्तक के लिए सम्मानित करने की घोषणा हुई थी. अक्षय का कहना था कि वो अवार्ड मिलने से खुश हैं लेकिन उन्हें प्रधानमंत्री मोदी से अवार्ड लेने में समस्या है.
  • दिल्ली से छपे अख़बारों की अन्य खबरों में वन रैंक वन पेंशन के लिए भूतपूर्व सैनिक की आत्महत्या हर अखबार की सुर्खियों में है.
  • तस्वीरों में राहुल गांधी छाए हुए हैं जिन्हें बुधवार रात उस समय हिरासत में लिया गया जब वो सैनिक के परिवार से मिलने अस्पताल पहुंचे थे.
  • हिंदुस्तान टाइम्स लिखता है कि दिल्ली में भूतपूर्व सैनिक की आत्महत्या के बाद राजनीतिक तूफान आया.
  • द हिंदू की भी यही पहली खबर है और शीर्षक है ओआरओपी के मुद्दे पर आत्महत्या के बाद बड़ा ड्रामा.
  • टाइम्स ऑफ इंडिया ने दिल्ली के खराब होते मौसम को पहले पन्ने पर छापा है और लिखा है कि दिल्ली में नवंबर के मौसम में पहली बार इतना खराब मौसम देखने को मिला है.

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas