Budaun express is an online news portal & news paper news in Budaun .Badaun to keep you updateed with tha latest news of your own district covering

Breaking

November 25, 2016

कानूनी शिकंजे से नहीं बच पाएंगे निजी डॉक्टर






बदायूं : मच्छर जनित बीमारियों के नाम पर भय दिखाकर मरीजों से मोटी रकम वसूलने वाले डॉक्टर अब कानूनी शिकंजे से नहीं बच पाएंगे। शासन ने इस ओर सख्त कदम उठाते हुए स्वास्थ्य विभाग का अधिकार क्षेत्र बढ़ाया है। सभी निजी अस्पतालों को इस तरह के मरीजों का सैंपल सुरक्षित रखने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट देनी होगी। इस बीच संदेह होने पर किसी भी वक्त उस सैंपल की दोबारा जांच कराई जा सकती है। सरकारी लैब में होने वाली जांच में बीमारी की पुष्टि न होने पर संबंधित डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा भवन निर्माण के दौरान कहीं पर गंदगी और पानी जमा किया गया तो भवन स्वामी पर भी जुर्माना डाला जाएगा। शासन ने सख्ती से इस दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए हैं। शासन के इस फरमान के बाद निजी अस्पताल संचालकों के होश उड़ गए हैं।

संक्रामक रोगों के नाम पर भय फैलाने की तमाम शिकायतों के बाद इस ओर संज्ञान लेते हुए शासन ने सख्ती शुरू कर दी है। सबसे ज्यादा इस नए आदेश से निजी अस्पतालों के डॉक्टर कार्रवाई के घेरे में आएंगे। इस साल डेंगू, मलेरिया और कालाजार का भय दिखाकर मरीजों की संख्या काफी बताई गई थी। सबसे ज्यादा निजी अस्पतालों में सामान्य बीमारी में गंभीर बीमारी बताकर मरीजों की संख्या को बढ़ाया गया तो प्रशासनिक अमले से लेकर शासन तक हड़कंप मच गया। हाल ही में जारी शासनादेश में कहा नियम बनाया गया कि सभी निजी डॉक्टर इस तरह के मरीजों का इलाज करते हैं तो उनके ब्लड सैंपल प्रिजर्व रखेंगे। ब्लड सैंपल प्रिजर्व रखने के साथ ही वह सीएमओ कार्यालय में मरीज का नाम पता और मोबाइल नंबर देने के साथ बताएंगे कि उसको क्या बीमारी थी। इस दौरान अगर गलत रिपोर्ट दी गई तो कानूनी कार्रवाई के साथ जुर्माना भी डाला जाएगा। इसके साथ ही इमारतों को बनाते वक्त उसके आसपास कचरा या फिर गड्ढा खोदकर पानी जमा करने वालों पर भी जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। ताकि मच्छर जनित बीमारियों पर काबू किया जा सके। प्रभारी सीएमओ डॉ. नरेंद्र कुमार ने बताया कि संक्रामक बीमारियों का भय दूर करने और बीमारी पर काबू पाने के लिए विभाग की यह अच्छी पहल है। इससे मच्छर जनित बीमारियों का भय दिखाकर मरीजों को लूटने वालों पर कार्रवाई की जा सकेगी। जल्द ही नोडल अधिकारी की नियुक्ति कर छापेमारी की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas