add by google

add

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | एमपी सिमी एनकाउंटर मामले पर बोलीं मायावती, जेल से फरार होने की भी हो न्यायिक जांच






बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को मध्यप्रदेश के सिमी आतंकियों के मुठभेड़ मामले में कहा है कि उनके जेल से फरार होने की भी न्यायिक जांच होनी चाहिए.
गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह समेत कई अन्य नेताओं ने सोमवार को भोपाल में हुए एनकाउंटर को फर्जी करार दिया था. जिसके बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मध्य प्रदेश सरकार से पूरे मामले में रिपोर्ट तलब की  है.
एमपी सिमी एनकाउंटर मामले पर बोलीं मायावती, जेल से फरार होने की भी हो न्यायिक जांच
मायावती ने कहा कि  शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आरएसएस के एजेंडे पर पुलिस का इस्तेमाल हो रहा है. उन्होंने कहा कि खुनी व्यापमं घोटाला इसका ज्वलंत उदहारण है.
मायावती ने कहा, “बीजेपी शासित राज्यों में पुलिस का इस्तेमाल किया जा रहा है. बीजेपी अपने स्वार्थ के लिए पुलिस का इस्तेमाल कर रही है.”
गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की जेल से फरार होने से पहले सिमी के आतंकवादियों ने जेल में तैनात सिपाही की निर्मम मारकर हत्या कर दी थी. सिपाही की पहचान यूपी के बलिया के रहने वाले रमाशंकर के रूप में हुई.
भोपाल की जेल से फरार होने के पहले रात दो से तीन बजे जेल के बी ब्लॉक में बंद सिमी के आठ आतंकियों ने बैरक तोड़ने के बाद हेड कांस्टेबल रमाशंकर की हत्या कर दी . इसके बाद जेल में ओढ़ने के काम आने वाली चादर की मदद से आतंकी दीवार फांदकर फरार हो गए थे.
वहीं पुलिस ने नौ घंटे बाद सभी आठ सिमी आतंकी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं. पुलिस और आतंकियों के बीच जेल से करीब 10 किलोमीटर दूर एक ग्रामीण इलाके में यह मुठभेड़ हुई है.

Comments

add by google

advs