add by google

add

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | एक गरीब नेपाली चौकीदार का बेटा बन गया अरबपति






भारत में लोकप्रिय योग गुरु बाबा रामदेव के करीबी सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की कहानी किसी किवदंती की तरह लगती है। एक गरीब नेपाली चौकीदार के परिवार में पैदा हुए बालकृष्ण को हाल में भारत के 50 शीर्ष अरबपतियों की फोर्ब्स सूची में शामिल किया गया है।

44 साल के आचार्य बालकृष्ण भारत की सबसे तेज रफ्तार से आगे बढ़ती उपभोक्ता सामान बनाने वाली कंपनी पतंजलि आर्युवेद लिमिटेड के प्रबंध निदेशक हैं। फोर्ब्स के मुताबिक आचार्य बालकृष्ण भारत के 48वें अमीर व्यक्ति हैं, जिनकी कुल संपत्ति ढाई अरब अमरीकी डॉलर है।

उनकी कंपनी शैंपू से लेकर अनाज और साबुन से लेकर नूडल्स तक, हर चीज बेचती है। हरिद्वार में नेपाली माता-पिता के घर जन्मे आचार्य बालकृष्ण एक आम सी जिंदगी जीते हैं और पतंजलि आयुर्वेद के रोजमर्रा का कामकाज उन्हीं के जिम्मे है।

हरिद्वार के अपने दफ्तर में बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि कंपनी की संपत्ति उनकी निजी नहीं है, बल्कि उस ब्रांड की है जो समाज के विभिन्न क्षेत्रों में सेवा प्रदान करता है।


Comments

add by google

advs