: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार |नामजद दरोगा समेत तीनों भाइयों की तलाश में जुटी पुलिस

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार |नामजद दरोगा समेत तीनों भाइयों की तलाश में जुटी पुलिस






तीन दिन पहले लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष बोंदरी निवासी राजपाल सिंह को अगवा कर बेरहमी से पीटने के मामले में नामजद मैनपुरी में तैनात दरोगा और उसके भाइयों की तलाश में पुलिस ने बुधवार रात और बृहस्पतिवार को कई स्थानों पर दबिश दी। नामजदों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम दिल्ली भेजे जाने की चर्चा के बीच पुलिस ने आरोपियों के नजदीकी लोगों और रिश्तेदारों पर भी दवाब बनाना शुरू कर दिया है।
कोतवाली पुलिस की टीम बुहस्पतिवार सुबह में आरोपी दरोगा के पैतृक गांव पहुंची। पुलिस ने फरार दरोगा समेत उसके तीनों भाइयों की गिरफ्तारी के लिए पड़ोस के लोगों से उनके रिश्तेदारों और करीबियों के नाम और पते हासिल किए। सूत्रों की मानें तो कोतवाली पुलिस ने आरोपियों के एक रिश्तेदार पर दबाव बना लिया है। घरवालों को भी हिदायत दी गई है कि आरोपी फरार रहे तो विभागीय स्तर की कार्रवाई भी कराई जाएगी। चर्चा तो यहां तक है कि रात में पुलिस की एक टीम दिल्ली रवाना हो गई। नामजद दरोगा के एक भाई के दिल्ली में छिपे होने का शक है।
इस बीच, पुलिस कार्रवाई के बारे में अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड के नेताओं में शीलेंद्र सिंह ने कोतवाल गोपीचंद्र यादव से फोन पर बात कर आरोपियों की गिरफ्तारी करने के लिए जोर दिया। शीलेंद्र ने बताया कि पुलिस को गिरफ्तारी करने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। गिरफ्तारी नहीं होने पर संगठन के कार्यकर्ता आंदोलन शुरू कर देंगे। इधर, पुलिस ने पूरी घटना की जड़ में शामिल नामजद दरोगा की गायब बहन को तलाशने में भी सक्रिय भूमिका निभानी शुरू कर दी है। बता दें कि तीन दिन पहले मैनपुरी में तैनात दरोगा ने राजपाल को उसके घर से पकड़कर अमानवीय यातनाएं दी थीं। उसकी गिरफ्तारी के लिए एक दिन पहले कोतवाली का घेराव भी किया गया था।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas