add by google

add

केरल पुलिस का शर्मनाक चेहरा, रेप पीड़िता से पूछा- किसके साथ आया सबसे ज्यादा मजा?




तिरुवनंतपुरम | केरल में एक गैंगरेप पीड़िता के साथ पुलिस का शर्मनाक करने वाला चेहरा सामने आया है। पीड़िता ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसके पति के दोस्तों ने उसके साथ गैंगरेप किया था, लेकिन पुलिस के बेहूदे और शर्मनाक सवालों के कारण उसे अपनी शिकायत वापस लेनी पड़ी।

32 वर्षीय रेप पीड़िता ने यहां अपने पति के साथ संवाददाताओं को बताया कि पुलिस के अपमानित करने वाले सवालों ने उसे तोड़कर रख दिया था। पीड़ित महिला और उसके पति का चेहरा ढका हुआ था। 32 साल की पीड़िता ने कहा, 'मैं कोई मुकदमा लड़ना नहीं चाहती क्योंकि पुलिस हमें जानबूझकर परेशान कर रही है। यह रेप से भी ज्यादा दुखदायी है। पुलिस हमें धमकी देने के साथ-साथ बेइज्जत कर रही है।' पीड़ित के मुताबिक पुलिस के एक अधिकारी ने उससे पूछा कि रेप करनेवालों मे से सबसे ज्यादा आनंद किसके साथ आया। पीड़ित ने कहा कि पुलिस उसे सुबह से शाम तक पुलिस स्टेशन में बिठाकर रखती थी और शर्मसार करने वाले सवाल पूछती थी।

गौरतलब है कि महिला ने पहले डबिंग कलाकार भाग्यलक्ष्मी को इस बारे में बताया था। भाग्यलक्ष्मी ने एक फेसबुक पोस्ट के यह खुलासा किया। फेसबुक पर यह पोस्ट वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री पी विजयन के दफ्तर ने मामले पर संज्ञान लिया है और कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। भाग्यलक्ष्मी ने बताया कि त्रिशूर की रहने वाली महिला अपने पति के साथ उसके घर पर तीन हफ्ते पहले आई थी और रेप के बारे में बताते हुए रो पड़ी थी। कथित रेप की यह घटना दो साल पहले हुई थी, जिसमे एक स्थानीय नेता समेत चार लोग शामिल थे। ये सभी पीड़ित महिला के पति के दोस्त हैं। भाग्यलक्ष्मी ने फेसबुक पोस्ट पर पीड़ित के हवाले से लिखा कि शुरू में पीड़िता इस बारे में कोई शिकायत दर्ज नहीं करना चाहती थी लेकिन जब उसने शिकायत दर्ज की तो पुलिस ने उसका जीना हराम कर दिया। पीड़िता ने कहा कि पुलिस के सवाल मानसिक प्रताड़ना वाले थे। पीड़िता ने कहा कि अच्छा हुआ कि निर्भया, जीशा और सौम्या मर गई वरना उसे भी ऐसे सवालों से गुजरना पड़ता।

भाग्यलक्ष्मी के पोस्ट पर केरल के सीएम ने संज्ञान लेते हुए उनसे मामले के बारे में और जानकारी मांगी है। भाग्यलक्ष्मी ने कहा कि पीड़िता इतनी डरी हुई थी कि वह इस बारे में अपने पति को भी नहीं बताई थी। उन्होंने कहा, 'मैंने दो सप्ताह पीड़िता को समझाया तब वह इस मामले में बोलने के लिए तैयार हुई। इस बारे में और ज्यादा जानकारी जल्द ही दी जाएगी।' सीएम पी विजयन की विशेष सचिव प्रभा वर्मा ने कहा कि इस मामले को गंभीरता के साथ लिया जाएगा।

Comments

add by google

advs