: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : समाजवादी पार्टी की रजत जयंती : शिवपाल यादव बोले- अखिलेश खून मांगेंगे तो खून दे दूंगा, मुझे CM नहीं बनना है

समाजवादी पार्टी की रजत जयंती : शिवपाल यादव बोले- अखिलेश खून मांगेंगे तो खून दे दूंगा, मुझे CM नहीं बनना है





लखनऊ: समाजवादी पार्टी के 25 साल पूरे होने के मौक़े पर आज लखनऊ में विशाल आयोजन किया गया है. इस मौके पर बोलते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा- मैं एसपी कार्यकर्ताओं को बताना चाहता हूं कि जितना त्याग लेना चाहो ले लो, मुझे मुख्यमंत्री नहीं बनना है. उन्होंने कहा कि यदि अखिलेश यादव खून मांगेंगे तो मैं खून दे दूंगा. कुछ लोगों को चीजें विरासत में मिल जाती हैं, कुछ लोगों को जिंदगी भर काम करके कुछ नहीं मिलता. नेताजी का अपमान हम जरा भी बर्दाश्त नहीं करेंगे. कितना भी अपमानित करो, हम उफ्फ तक नहीं करेंगे.

इस अवसर पर लखनऊ में कई राजनीतिक दलों का जमावड़ा देखा जा रहा है. आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव, जेडीयू के शरद यादव, जनता दल सेक्यूलर के एचडी देवेगौड़ा लखनऊ पहुंच चुके हैं. आरएलडी के अजित सिंह और INLD के अभय चौटाला भी इसमें मौजूद हैं. चुनाव से पहले अंदरूनी झगड़ों के बुरे दौर से गुज़र रही सपा इस मौक़े को महागठबंधन को पुख़्ता करने की कोशिश के तौर पर भुनाना चाहेगी, ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं.

हाल के दिनों में इन सभी दलों से महागठबंधन की कोशिश भी तेज़ हुई ही है. हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने कहा कि हम अभी यहां रजत जयंती कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं. फिलहाल गठबंधन को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है. समारोह में पांच लाख लोगों के आने का दावा किया गया है. भीड़ को संभालने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं वहीं पूरा शहर सपा के पोस्टरों से पटा पड़ा है.
समारोह में शामिल होने आए लालू यादव ने कहा कि वह स्थापना समारोह में शुभकामनाएं देने आए हैं. उन्होंने कहा कि यहां फिर हमारी सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि बिहार की तरह यूपी से भी बीजेपी को खदेड़ने का मक़सद है. वहीं शरद यादव बोले कि हम लोगों को याद किया गया, इसलिए हम आए हैं.
बतादें कि बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू प्रमुख नीतीश कुमार ने शुक्रवार कहा था कि समाजवादी पार्टी के स्थापना दिवस समारोहों को आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए ‘गठबंधन के आगाज’ के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘सपा का कार्यक्रम इसके 25वें स्थापना दिवस का जश्न है. इसे किसी गठबंधन  के आगाज के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.’ कुमार ने बताया कि बीती रात सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने उन्हें फोन कर कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया था जिसके लिए उन्होंने सपा प्रमुख का धन्यवाद भी किया था.

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas