add by google

add

30 दिसंबर तक पुराने नोट में 5000 से ज्यादा की रकम एक बार में ही जमा होगी




नई दिल्ली. बंद हुए पुराने नोटों में 5000 रुपए से ज्यादा का अमाउंट 30 दिसंबर तक एक खाते में सिर्फ एक बार ही जमा कर सकते हैं। जिसके खाते में पैसा जमा हो रहा है, उसे बैंक को यह भी बताना होगा कि यह रकम अब तक जमा क्यों नहीं की गई थी। रकम जमा कराने वाले को दो अफसरों के सामने जवाब भी देना होगा कि यह रकम अब तक जमा क्यों नहीं कराई गई। बैंक उसके जवाब से संतुष्ट होगा, तभी रकम जमा की जाएगी। Q&A में समझें नए एलान के बाद क्या होगा...
क्या है नया एलान?
- 500 या 1000 के पुराने नोटों के रूप में 5000 से ज्यादा की रकम आप अपने एक अकाउंट में एक बार में ही जमा कर सकते हैं।
कब से लागू हो रहा है नया नियम?
- फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के एलान के बाद रिजर्व बैंक की ओर से सोमवार को इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया गया। सोमवार से ही यह फैसला लागू हो गया है।
5000 से कम कई रकम किस्तों में जमा करें तो क्या होगा?
- अलग-अलग किस्तों में जमा कराई गई रकम का कुल अमाउंट जैसे ही 5 हजार से ज्यादा होगा, उस खाते में 30 दिसंबर तक आगे कोई रकम जमा नहीं कराई जा सकेगी।
- इस कंडीशन में भी 5000 की लिमिट क्रॉस होने पर दो बैंक अधिकारियों की मौजूदगी में जमा करने वाले से पूछताछ होगी।
- इस पूछताछ की रिकॉर्डिंग रखी जाएगी, जिसे ऑडिट ट्रायल के दौरान पेश किया जा सकेगा।
5000 रुपए तक जमा करें तो क्या होगा?
- 5000 रुपए या इससे कम रकम जमा कराने पर कोई पूछताछ नहीं हाेगी।
5000 रुपए से कितनी ज्यादा रकम जमा कर सकते हैं।
- आरबीआई ने यह लिमिट तय नहीं की है। बस इतना है कि यह एक बार में ही जमा होगी।
रकम दो अकाउंट में जमा करें तो क्या होगा?
- अगर आप 5000 रुपए से ज्यादा की रकम दो अलग-अलग अकाउंट में जमा करते हैं तो आपसे पूछताछ नहीं होगी।
क्या दूसरे शख्स के अकाउंट में जमा करा सकते हैं रकम?
- नोटिफिकेशन के मुताबिक, दूसरे के खाते में पुराने नोट जमा कराने के लिए अकाउंट होल्डर को लिखित में देना होगा।
नए फैसले से किन लोगों पर असर पड़ा?
- जो लोग थोड़ा-थोड़ा जमा करके ब्लैकमनी को व्हाइट करने में लगे थे, वे अब ऐसा नहीं कर पाएंगे।
PMGKY के तहत रकम डिक्लेयर करने पर क्या कोई असर होगा?
- नहीं। आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाय) 2016 के तहत कितनी भी रकम डिक्लेयर कर सकते हैं। नए फैसले से इस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।
- आरबीआई ने साफ किया है कि यह पाबंदी पीएमजीकेवाय 2016 के तहत डिपॉजिट बढ़े इसलिए लगाई गई है।
क्या है पीएमजीकेवाय?
- सरकार ने इस स्‍कीम के तहत 50% पेनल्‍टी देकर ब्‍लैकमनी को व्‍हाइट करने का एक और मौका दिया है।
- कुल रकम का 25% आपको तुरंत वापस कर दिया जाएगा। बाकी 25% रकम पीएमजीकेवाय में 4 साल के लिए जमा होगी। इस पर मिलने वाले ब्याज की रकम गरीब कल्याण पर खर्च की जाएगी।
- इस स्‍कीम के तहत 31 मार्च तक ब्‍लैकमनी जमा कराई जा सकेगी।
- ईमेल- blackmoneyinfo@incometax.gov.in पर कोई भी शख्स ब्लैकमनी की जानकारी दे सकता है। उसकी पहचान उजागर नहीं की जाएगी।
क्या नोट बदल सकते हैं?
- 500-1000 के पुराने नोट अब बैंकों से नहीं बदले जा सकते। इस पर पहले ही राेक लगाई जा चुकी है।
- इन्हें अब या तो बैंक में जमा किया जा सकता है या आरबीआई से बदला जा सकता है।
बाजार में इस्तेमाल होगा क्या पुराना नोट?
- इस पर तो 15 दिसंबर के बाद से ही पूरी तरह रोक लगाई जा चुकी है।

Comments

add by google

advs