add by google

add

असंवैधानिक है ट्रिपल तलाक, इससे मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का होता है हनन: हाई कोर्ट






इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ट्रिपल तलाक को असंवैधानिक बताया है और कहा है कि इससे मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन होता है। कोर्ट ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर भी टिप्‍पणी की है और कहा है कि कोई भी पर्सनल लॉ बोर्ड संविधान से ऊपर नहीं है। हाई कोर्ट ने ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर दो मुस्लिम महिलाओं की तरफ से दाखिल याचिका पर सुनवाई के दौरान यह टिप्‍पणी की।

ट्रिपल तलाक का मुद्दा हालिया दिनों में काफी गरम रहा है। सुप्रीम कोर्ट भी ट्रिपल तलाक को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सुनवाई कर रहा है। इसके अलावा कई लोगों और एनजीओ ने तीन तलाक पर रोक लगाने की मांग की है। केंद्र सरकार भी इसे खत्‍म करने की मंशा जता चुकी है। सरकार ने इस बाबत 7 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया था और कहा था कि संविधान में तीन तलाक की कोई जगह नहीं है। मर्दों की एक से ज्यादा शादी की संविधान इजाजत नहीं देता और तीन तलाक और बहुविवाह इस्लाम का अनिवार्य हिस्सा नहीं है।

Comments

add by google

advs