: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : छुट्टी में ठंडे हुए एटीएम, लोगों की जेबें खाली

छुट्टी में ठंडे हुए एटीएम, लोगों की जेबें खाली





नोटबंदी के इस दौर में बैंकों में तीन दिन का अवकाश होने की वजह से जिले के अधिकांश एटीएम बंद नजर आए। विभिन्न संस्थानों में लगे स्मार्ट एटीएम कार्डधारकों के लिए सहारा बने। वहां से दो हजार रुपये निकालकर लोगों ने रोजमर्रा के खर्चे चलाए।
सोमवार को विभिन्न बैंकों के एटीएम में कैश न होने की वजह से एटीएम कार्डधारक भटकते नजर आए। शहर के वी-मार्ट में लगे स्मार्ट एटीएम से रुपये निकालने के लिए लोगों ने लाइन लगाकर मार्ट में प्रवेश किया। दिन भर मार्ट के बाहर रुपये निकालने वालों की लाइन लगी नजर आई। वहीं, इंदिरा चौक के पास स्थित ईजी-डे के स्मार्ट एटीएम की कनेक्टीविटी खराब होने की वजह से लोगों को परेशानी हुई तो उन लोगों ने हंगामा किया। हालांकि समझाने के बाद वे लोग शांत हो गए। शहर में स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की ई-लॉबी, एटीएम, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, यूको बैंक, यूनियन बैंक, इंडियन, विजया बैंक, आईसीआईसीआई, इलाहाबाद बैंक, केनरा बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी, एसबीआई के ई-कॉर्नर और एटीएम भी अधिकांश समय कैशलेस रहे। इससे लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। अवकाश के चलते चालू एटीएम में भी कैश नहीं भरा गया।

बिसौली और वजीरगंज में स्वाइप मशीन से निकाले रुपये 

बिसौली। नोटबंदी के दौर में सोमवार को अवकाश होने की वजह से जहां बैंक और एटीएम बंद रहे, वहीं एआर फिलिंग सेंटर ने स्वाइप मशीन से कैश देकर लोगों को राहत पहुंचाने का काम किया। कैश निकालने के लिए एटीएम कार्डधारकों की भारी भीड़ होने की वजह पेट्रोल पंप पर मौजूद कैश नाकाफी साबित हुआ। हालांकि नोट बंदी के इस दौर में पेट्रोल पंप की ओर से यह मुहिम चलाए जाने की तारीफ चारों ओर हो रही है।
वजीरगंज। एटीएम की लंबी लाइन से लोगों को निजात दिलाने के लिए नगर के फार्मर्स एग्रो सर्विस सेंटर द्वारा पॉस मशीन लगाकर दो हजार रुपये तक निकालने की सुविधा दी। एग्रो सेंटर स्वामी रविप्रकाश अग्रवाल ने कहा कि अब जनता अपने एटीएम कार्ड से पॉस मशीन द्वारा दो हजार रुपये किसी भी समय निकाल सकते हैं।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas