: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : पुलिस की गिरफ्त में आया रोहित टंडन, बेहिसाब संपत्ति का हो रहा खुलासा

पुलिस की गिरफ्त में आया रोहित टंडन, बेहिसाब संपत्ति का हो रहा खुलासा





नई दिल्ली। दिल्ली के ग्रेटर कैलाश से लॉ फर्म पर छापे के दौरान पकड़े गए बेहिसाब कैश की जांच में कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है। पुलिस ने लॉ फर्म को चलाने वाले रोहित टंडन को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस ने रोहित को साथ ले जाकर ग्रेटर कैलाश के घर में फिर से जांच की। बता दें कि रविवार को रोहित के ग्रेटर कैलाश स्थित एक लॉ फर्म से 13 करोड़ 65 लाख की रकम बरामद की है।
रोहित टंडन फिलहाल इनकम टैक्स की कस्टडी में है। इनकम टैक्स के करीब 10 अधिकारी और दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में टंडन से पूछताछ हो रही है। अब तक रोहित के 18 बैंक एकाउंट्स के बारे में पता चला है, जिन्हें खंगाला जा रहा है। साथ ही ये देखा जा रहा है कि क्या कोई एकाउंट विदेश में भी है। अगर विदेश में अकाउंट पाया जाता है तो नए ब्लैक मनी नियमों के तहत कार्रवाई होगी।


रोहित टंडन की लॉ फर्म का एक दफ्तर द्वारका में भी है। छत्तरपुर में रोहित का एक फॉर्म हाउस भी है। इन दोनों जगहों पर भी जांच शुरू हो गई है। सूत्रों की मानें तो रोहित से मिले कैश का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।
रविवार को लॉ फर्म में छापे के दौरान पुलिस ने 13 करोड़ 65 लाख रुपये बरामद किए, जिसमें 2 करोड़ 60 लाख के नए नोट थे। साथ ही 100-100 के नोट के 3 करोड़ रुपये थे जबकि 1000 रुपये के नोट में 7 करोड़ रुपये थे और 50-50 को नोट में 1 करोड़ रुपये मिले थे।
सूत्रों की मानें तो बरामद रकम में 100 के नोट के कई पैकेट कोरियर के जरिए व्हाइट हाउस में आए थे। इससे एक बात तो साफ हो जाती है कि लंबे समय से काली कमाई को सफेद करने का यहां काम चल रहा था। अब पुलिस ये पता करने में जुटी है कि बरामद की गई नई करंसी कहां से कैसे यहां तक आई और उसे भेजना कहां था?
सूत्रों के मुताबिक 2014 में रोहित टंडन ने दिल्ली के जोरबाग इलाके में करीब 100 करोड़ रुपये की इमारत खरीदी थी। इतनी रकम बरामद होने के बाद अब आयकर विभाग के साथ साथ प्रवर्तन निदेशालय भी रोहित टंडन के खिलाफ जांच कर रहा है।
कौन है रोहित टंडन?
रोहित टंडन पेशे से वकील है। वह सुप्रीम कोर्ट में वकालत करता है। 2005 में इसने  जेईयूएस नाम की एक लॉ फर्म खोली थी। 2014 में इसने टंडन एंड टंडन नाम की लॉ फर्म खोली। ये फर्म होटल,  बिल्डर और बड़ी-बड़ी कंपनियों के कानूनी मामले सुलझाने का काम करती है।
दिल्ली और आसपास के इलाको में रोहित टंडन की कई संपत्तियां हैं। 6 अक्टूबर को भी आयकर विभाग ने रोहित टंडन के दफ्तर पर छापा मारा था, जिसके बाद उसने 125 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति का खुलासा किया था। इसके बाद से ही ये आयकर विभाग के रडार पर था।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas