Budaun express is an online news portal & news paper news in Budaun .Badaun to keep you updateed with tha latest news of your own district covering

Breaking

December 20, 2016

स्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को या किसी और को रोता देखना, जानिए क्या है अर्थ


सपने में रोने का मतलब


  • स्वप्न शास्त्र के अनुसार हर सपने का एक खास अर्थ होता है। हम सपने में कैसे दृश्य देखते हैं, क्या महसूस करते हैं, इस सबका हमारे जीवन के साथ कहीं ना कहीं संबंध होता है। जरूरत है तो केवल इन सपनों से मिलने वाले संदेशों को समझने की

  • आज हम बताएंगे कि अगर आप सपने में खुद को रोता देखते हैं या किसी और को रोता देखते हैं तो इसका क्या मतलब होता है।

  • स्वप्न शास्त्र की राय में सपनों को दो श्रेणियों में विभाजित किया जाता है: शुभ स्वप्न एवं अशुभ स्वप्न। तो चलिए जानते हैं रोने वाले सपने शुभ होते हैं या अशुभ।

  • अगर आप सपने में रोना देखते हैं तो स्वप्न शास्त्र के अनुसार यह असल जिंदगी में आपके मान सम्मान में वृद्धि करने वाला सूचक माना जाता है। यह सपना बताता है कि वे परिस्थितियां जल्द ही आने वाली हैं, जो समाज में आपके मान सम्मान को बढ़ा देंगी।

  • किंतु और भी कुछ संकेत हैं जो सपने में रोने जैसी अवस्था के कुछ अलग ही अर्थ निकालते हैं। अगर सपने में आप खुद को रोता हुआ पाते हैं तो यह आपकी मानसिक अवस्था को दर्शाता है।

  • हो सकता है कि सपने में ऐसा कोई दृश्य चल ही नहीं रहा जिसके कारण आपको रोना पड़े, लेकिन फिर भी आप रो रहे हैं। इसका अर्थ है कि असल जिंदगी में कोई ऐसी खास वजह है जो आपको सपने में रुला रही है।

  • सपने में खुद का रोना ‘दर्द’ को दर्शाता है। लेकिन साथ ही मनोवैज्ञानिकों का यह कहना है कि असल जिंदगी में जो लोग रो नहीं पाते, उनका यह दर्द सपने में रोने से कम हो जाता है। इसलिए सपने में खुद को रोता देखना और रोते हुए ही उठना मानसिक रूप से सही है।

  • अब बात करते हैं अगले संकेत की। स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने में किसी की मृत्यु पर खुद को रोता पाना उस व्यक्ति के दीर्घायु होने का सूचक है।


No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas