add by google

add

यूपी बोर्ड की सूचना को चुनाव आयोग ने किया नजरअंदाज, असमंजस में परीक्षार्थी






यूपी चुनावों को लेकर लखनऊ में बैठे मुख्य निर्वाचन कार्यालय के अधिकारियों की घोर लापरवाही सामने आई है.
ईटीवी प्रदेश18  के हाथ ऐसे दस्तावेज लगे हैं जिससे उनकी बड़ी लापरवाही उजागर हो रही है. दरअसल, यूपी बोर्ड परीक्षाओं का ऐलान गुरुवार को कर दिया था, लेकिन इसी बीच चुनाव आयोग ने इसपर रोक लगा दी है.
यूपी बोर्ड की सूचना को चुनाव आयोग ने किया नजरअंदाज, असमंजस में परीक्षार्थी
इस मामले में यूपी स्थित मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के अफसर फंसते नजर आ रहे हैं. 19 अक्टूबर को निर्वाचन अधिकारी की ओर से यूपी बोर्ड को लिखे गए इस पत्र से मामला उलझ गया है. इसमें लिखा गया है कि यूपी बोर्ड यदि तिथियों का एलान करे तो उन्हें इस बाबत बताए. इस चिट्ठी में तिथियों की घोषणा की कोई बात नहीं कही गई है.
इसके बाद यूपी बोर्ड की सचिव शैल यादव की तरफ से 7 नवम्बर को ही जवाब भेज दिया गया था. जिसमें बोर्ड परीक्षाओं की सम्भावित तिथि 15 से 20 नवम्बर बतायी गयी थी. लेकिन, एक माह तक निर्वाचन अधिकारी इस चिट्ठी को दबाये बैठे रहे.
जब यूपी बोर्ड ने तिथियों का एलान किया तो अब निर्वाचन अधिकारी अपने आप को बचाने में लगे हैं. गौरतलब है कि इस बार 16 फ़रवरी से 20 मार्च तक दसवीं और इंटर की परीक्षाएं पूरी करने का ऐलान बोर्ड ने किया था.

Comments

add by google

advs