: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : यहां होती है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पूजा

यहां होती है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पूजा



ग्वालियर।पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मंदिर भी है। ग्वालियर में उनके मंदिर में रोज संध्या-आरती होती है। हिंदी दिवस और अटल जी के जन्मदिन पर यहां विशेष पूजा की जाती है। अटल जी के जन्मदिन पर यहां सर्वधर्म प्रार्थना और भजन गाए जाते हैं। इसके बाद अटल जी की आरती की जाती है। जन्मदिन पर प्रशंसकों ने की पूर्व प्रधानमंत्री के मंदिर पर पूजा....

- ग्वालियर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मंदिर भी है। उनके मंदिर में रोज संध्या-आरती होती है।
- इस मंदिर को स्थापित करने वाले विजय सिंह चौहान के मुताबिक अटलजी हिंदी माता के सपूत संत हैं।
- इसी लिये उनका मंदिर हिंदी माता मंदिर के नजदीक बनाया गया है। हिंदी दिवस और अटल जी के जन्मदिन पर यहां विशेष पूजा की जाती है।
- आज उनका जन्मदिन है, लिहाजा उनके भक्त विजय सिंह और दूसरे साथियों ने विशेष पूजा अर्चना की।

अटल के प्रधानमंत्री बनने से पहले ही बन गया था मंदिर
- विजय सिंह चौहान ने शहर के सत्यनारायण टेकरी मंदिर पर हिंदी माता का मंदिर स्थापित करने के लिए जमीन खरीदी।
- वहां हिंदी माता का मंदिर बनाया। इसके बाद 1995 में नजदीक ही संयुक्त राष्ट्र संघ में अटल जी के हिंदी में भाषण की स्मृति में उनका मंदिर बना दिया।
अब बन रही है अटल जी की प्रतिमा
- विजय सिंह ने बताया कि मंदिर के लिए अटल बिहारी की प्रतिमा बनवाई जा रही है, जिसे इस मंदिर में स्थापित किया जाएगा।
- विजय सिंह के मुताबिक ऋग्वेद में कहा गया है कि निष्काम जीवन जीने वाले ऊर्जावान व्यक्ति को पूजनीय मानते हुए प्रतीक के रूप में उसकी प्रतिमा भी बनाई जा सकती है।
- विजय सिंह का मानना है कि कई संतों के मंदिर देश में पहले से बने हुए हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी भी उनमें से एक संत ही हैं।
- विजय सिंह चाहते हैं कि आने वाली पीढ़ी अटल बिहारी के बारे में जान सके, इसलिए यह मंदिर बनाया गया है।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas