: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बंगाल में जलाए जा रहे है हिन्दुओं के घर,ममता बनर्जी है मौन

बंगाल में जलाए जा रहे है हिन्दुओं के घर,ममता बनर्जी है मौन





ममता बनर्जी की सरकार में पश्चिम बंगाल में हिन्दू नई मुश्किल में फंस गए हैं। यह राज्य एक बार फिर साम्प्रदायिक दंगों की चपेट में हैं।

पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में धुलागढ़ क्षेत्र में एक शिव मंदिर को तोडा गया, जिसके बाद इलाके में तनाव का माहौल है। हालांकि इस मामले में सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया अभी तक नहीं आई है।

इस इलाके में तीन दिनों तक लोगो के घरों में हमले हुए, उन्हें लूटा गया। लोगों के साथ मारपीट की गयी। माहौल बिगड़ते देख पुलिस, आरएएफ और फायर ब्रिगेड तैनात किया गया है जो संयुक्त रूप से स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं।

इससे पहले 12 अक्टूबर को हिंसा की शुरुआत पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना ज़िले से हुई, जहां कथित तौर पर मुहर्रम के जुलूस में एक बम फेंका गया। हालांकि इसमें कोई जख्मी नहीं हुआ, लेकिन इसके बाद हिंसक भीड़ ने हिंदुओं के घरों को जला दिया। और देखते ही देखते हिंसा की ये आग 5 ज़िलों में फैल गई। पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना, हावड़ा, पश्चिमी मिदनापुर, हुगली और मालदा जिले हिंसाग्रस्त हुए थे।
पश्चिम बंगाल में हिन्दू
2011 की जनगणना ने खतरनाक जनसंख्यिकीय तथ्यों को उजागर किया है। जब अखिल स्तर पर भारत की हिन्दू आबादी 0.7 फीसदी कम हुई है तो वहीं सिर्फ बंगाल में ही हिन्दुओं की आबादी में 1.94 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जो कि बहुत ज्यादा है। राष्ट्रीय स्तर पर मुसलमानों की आबादी में 0.8 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जबकि सिर्फ बंगाल में मुसलमानों की आबादी 1.77 फीसदी की दर से बढ़ी है, जो राष्ट्रीय स्तर से भी कहीं दुगनी दर से बढ़ी है।

पश्चिम बंगाल की कुल आबादी 9.12 करोड़ है, जिसमें हिंदुओं की जनसंख्या 6.4 करोड़ या कहें कि 70.53 फीसदी है। जबकि, मुसलमानों की जनसंख्या 2.4 करोड़ या कहें कि 27.01 फीसदी है। जबकि साल 2001 की जनगणना के आंकड़ों की तुलना में बंगाल में जनसंख्या का धर्म विषमता का तेज होता प्रसार साफ तौर पर देखा जा सकता है।

मुस्लिमों की बढ़ती आबादी

बंगाल के तीन जिले जहां पर मुस्लिमों ने हिन्दुओं की जनसंख्या को भी तेजी से पीछे छोड़ते हुए अपना विस्तार किया है। वे जिले है मुर्शिदाबाद (47 लाख मुस्लिम और 23 लाख हिन्दू), मालदा (20 लाख मुस्लिम और 19 लाख हिन्दू), और उत्तरी दिनाजपुर (15 लाख मुस्लिम और 14 लाख हिन्दू )।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas