: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : नोटबंदी : PM नरेंद्र मोदी शाम 7.30 बजे राष्ट्र को करेंगे संबोधित, किसानों-मजदूरों को दे सकते हैं राहत

नोटबंदी : PM नरेंद्र मोदी शाम 7.30 बजे राष्ट्र को करेंगे संबोधित, किसानों-मजदूरों को दे सकते हैं राहत



नई दिल्ली: नोटबंदी को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी अाज शाम साढ़े सात बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे. नोटबंदी पर पीएम द्वारा रिपोर्ट कार्ड पेश किया जाएगा. BJP ने भी इस बाबत ट्वीट कर जानकारी दी है.

प्रधानमंत्री द्वारा अपने भाषण में अर्थव्यवस्था के लिए एक रोडमैप पेश किए जाने की उम्‍मीद है. बीते 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद किए जाने की घोषणा के बाद यह पीएम मोदी का राष्‍ट्र के नाम दूसरा संबोधन होगा.

सूत्रों के मुताबिक, नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने के मौके पर पीएम देश की जनता को धन्यवाद देंगे, जिन्होंने कठिनाई के बावजूद संयम बनाए रखा. साथ ही इन 50 दिनों में सरकार ने क्या-क्या कदम उठाए उनका ब्यौरा भी दिया जाएगा. नोटबंदी से हुए फायदों का ब्योरा भी दिया जा सकता है.

प्रधानमंत्री इसके साथ ही नोटबंदी को लेकर आए नए-नए आदेशों पर सफाई भी दे सकते हैं कि आखिर इतने बदलाव क्यों किए गए. दरअसल, विपक्ष लगातार आरोप लगा रहा है कि नोटबंदी से देश को नुकसान हुआ है. साथ ही बार-बार आए आदेशों से जनता को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.


पुराने नोटों पर बैन के बाद खजाने के बाद कितने रुपये आए इसका लेखा-जोखा भी देश के सामने रख सकते हैं. उम्मीद तो यह भी की जा रही है कि पीएम किसानों और मजदूरों के लिए बड़ा ऐलान कर सकते हैं. डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए नए कदम और रियायतों पर भी फोकस रह सकता है.

इससे पूर्व शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल पेमेंट्स को आसान बनाने के लिए मोबाइल ऐप BHIM लॉन्च किया है. इस ऐप का नाम डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के नाम पर 'भीम' रखा गया है. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि तकनीक अमीरों का ही नहीं गरीबों का भी खजाना है. कैशलेस अर्थव्यवस्था पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि आपका अंगूठा, आपका बैंक और आपका अंगूठा आपकी पहचान है.

भीम ऐप एक तरह से यूपीआई ऐप का नया अवतार है जिसकी मदद से कोई भी सीधे अपने बैंक अकाउंट से डिजिटल भुगतान कर सकता है. यूपीआई पर आधारित इस ऐप की मदद से कोई भी यूज़र ऑनलाइन बैंकिंग के ज़रिए भुगतान और पैसे पा सकते हैं. यह पेमेट वॉलेट से बिल्कुल अलग है जिसके लिए आपको ऐप इंस्टॉल करके इस्तेमाल में लाने के लिए पैसे डालने पड़ते हैं.

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas