add by google

add

TIME: मोदी की जीत का सेहरा ट्रंप के सिर पर





नईदिल्ली। TIME मैग्जीन के पर्सन ऑफ द ईयर की ऑनलाइन रीडर्स पोल में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जीत गए थे लेकिन मैग्जीन ने पर्सन ऑफ द ईयर का ताज अमेरिका के ताजा निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सिर पर रख दिया है। इतना ही नहीं सेकेंड रनरअप हिलेरी क्लिंटन को बनाया गया है। हिलेरी यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में ट्रम्प के सामने थीं। वे चुनाव हार चुकी हैं। दावेदारों में नरेंद्र मोदी भी शामिल थे। वे ऑनलाइन रीडर्स पोल जीत चुके थे। उसमें उनके ट्रम्प से 11% ज्यादा वोट थे। अगर मोदी जीत जाते तो यह खिताब पाने वाले दूसरे भारतीय बन जाते। इससे पहले 1930 में गांधीजी को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर चुना गया था।

टाइम ने ट्रम्प को क्यों चुना...
ट्रम्प को चुने जाने की वजह के बारे में टाइम ने लिखा कि एक एंटी-एस्टैब्लिशमेंट शख्स और पॉपुलिस्ट कैंडिडेट के तौर पर कैम्पेन चलाने के बाद 70 साल के ट्रम्प यूएस के 45वें प्रेसिडेंट के तौर पर चुने गए हैं। उन्होंने चुनाव जीतकर अपने अभियान को शानदार तरीके से पूरा किया।

ट्रम्प ने क्या पहले ही लीक कर दिया था रिजल्ट?
ट्रम्प ने टाइम पर्सन ऑफ द ईयर के रिजल्ट का एलान होने से कुछ देर पहले ही ट्वीट कर दिया था, ''7.30 बजे @TODAYshow में मेरा इंटरव्यू आएगा। इससे सवाल उठे कि ट्रम्प जानते थे कि वे चुने जाएंगे, इसलिए उनका इंटरव्यू फिक्स हुआ और इन्फॉर्मेशन लीक की। हालांकि, बाद में उन्होंने इस बारे में सवाल पूछे जाने पर कहा कि यह मॉडर्न-डे कम्युनिकेशन है। इसमें कुछ गलत नहीं है।

रीडर्स पोल में किसे कितने वोट मिले थे
नरेंद्र मोदी :18%
बराक ओबामा :7%
जुलियन असांजे :7%
डोनाल्ड ट्रम्प :7%
हिलेरी क्लिंटन :4%
मार्क जुकरबर्ग : 2%

मोदी के लिए TIME ने क्या कहा था?
टाइम मैग्जीन ने 2016 में दावेदारों के उस वक्त का एनालिसिस किया था, जब-जब वो सबसे ज्यादा चर्चा में रहे। मोदी ने 16 अक्टूबर को गोवा में हुए ब्रिक्स देशों के समिट के दौरान पाकिस्तान को आतंकवाद का ‘निर्यातक’ देश कहा था। इस दौरान मोदी सबसे ज्यादा चर्चा में रहे। मोदी के नोटबंदी के फैसले की भी दुनियाभर में चर्चा रही। मीडिया में इसकी तारीफ भी हो चुकी है। टाइम मैग्जीन ने मोदी के बारे में कहा- भारत के पीएम देश की इकोनॉमी को ऐसी स्थिति में ले गए हैं जो ‘उभरते बाजार के तौर पर दुनिया की सबसे पॉजिटिव स्टोरी है।’

Comments

add by google

advs