: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 08/26/16

शहर को घोषित किया गया हाई सर्विलांस जोन


बदायूं : जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था, यातायात कंट्रोल करने के साथ ही असामाजिक तत्वों की नकेल



बदायूं : जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था, यातायात कंट्रोल करने के साथ ही असामाजिक तत्वों की नकेल कसी जाएगी। सवारी गाड़ियों में क्षमता से अधिक सवारी बैठाने वालों और ओवरलो¨डग करने वाले वाहनों के साथ स्पीड नियंत्रण नियंत्रित भी की जाएगी। इसके लिए शहर को हाई सर्विलांस जोन घोषित किया गया है। शहर में 14 स्थानों पर लगे 42 सीसीटीवी कैमरों को वाई फाई के जरिए कनेक्ट कर सीसीआर कंट्रोल रूम से अटैच किया जाएगा। 42 कैमरों में 16 कैमरे चालू हालत में न होने पर डीएम सीपी त्रिपाठी एवं एसएसपी सुनील सक्सेना ने एक सप्ताह के अंदर सभी कैमरों को सुचारू कराने, दोषियों की धरपकड़ करने के कड़े निर्देश दिए।
गुरुवार को कलेक्ट्रेट में सीडीओ प्रताप ¨सह भदौरिया, एडीएम प्रशासन अशोक कुमार श्रीवास्तव, एडीएम वित्त राजेन्द्र प्रसाद यादव, एसपी सिटी अनिल कुमार यादव सहित एसडीएम और अन्य प्रमुख जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ डीएम और एसएसपी ने बैठक की। डीएम ने निर्देश दिए कि खराब कैमरों को सही कराकर प्रति दिन मॉनीटर का डेटा चेक किया जाए। इसके लिए नगर मजिस्ट्रेट अजय कुमार श्रीवास्तव, सीओ सिटी आनन्द कुमार पाण्डे, इंस्पेक्टर कोतवाली सन्त प्रसाद उपाध्याय और एसओ सिविल लाइन अशोक कुमार को जिम्मेदारी सौंपी है। बैठक में एसडीएम बिल्सी विधान जयसवाल, एसडीएम सदर जंग बहादुर ¨सह, एआरटीओ अभिताभ राय, डीआईओएस राकेश कुमार सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहें।
तेज रफ्तार चलने वाले वाहनों पर लगेगा विराम
सीसीआर कंट्रोल रूम से सभी सीसीटीवी कैमरे कनेक्ट होने के बाद वहीं बैठे बैठे देखी जा सकेगी कि आटोलिफ्टर कौन सा वाहन चुरा रहे हैं या किस मैजिक की छत पर सवारियां बिठाई जा रही हैं। अनाधिकृत स्थानों पर वाहन रोककर कौन सा वाहन सवारियां बिठा रहा है। किस बाइक पर दो से अधिक सवारियां बैठी हैं और कौन बिना हेलमेट के बाइक चला रहा है। सड़कों पर गुन्डागर्दी करने वालों पर पैनी नजर रखी जाएगी। कंट्रोल रूम से संबंधित पुलिस अधिकारियों को सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंचकर कड़ी कार्रवाई करेंगे।
प्रमुख स्थानों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
डीएम सीपी त्रिपाठी एवं एसएसपी सुनील सक्सेना ने संयुक्त रूप से सभी वाणिज्य संस्थानों के मालिकान व बैंकर्स से अपील की है कि वह अपने अपने संस्थानों में अपने निजी संसाधनों से सीसीटीवी कैमरे लगवाने की व्यवस्था कर लें, जिससे किसी भी प्रकार की घटना अथवा अप्रिय स्थिति होने पर मॉनीटर की सहायता से मुल्जिमों तक आसानी से पहुंचा जा सके।

डेढ़ सौ स्कूल, कॉलेजों में लगेंगे सीसीटीवी

बदायूं : स्कूल, कॉलेज कैंपस अब सीसीटीवी कैमरे से लैस होंगे। छात्राओं की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन


बदायूं : स्कूल, कॉलेज कैंपस अब सीसीटीवी कैमरे से लैस होंगे। छात्राओं की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग ने सभी स्कूल, कॉलेज में सप्ताह भर में कैमरे लगाने का फरमान जारी किया है, जिन स्कूल, कॉलेज में छात्र-छात्राएं दोनों पढ़ते हैं। उन स्कूल, कॉलेज में कैमरे लगाए जाएंगे। प्रधानाचार्य और प्राचार्यों को निर्देशित किया गया है कि वह 31 अगस्त तक स्कूलों में कैमरे लगवाकर शिक्षा विभाग को अवगत कराएं। गुरुवार को डीएम के निर्देश पर जिला विद्यालय निरीक्षक ने विद्यालयों को यह निर्देश जारी किए हैं।
स्कूल में अनुशासन बना रहे। छात्राओं की सुरक्षा और सम्मान रहे। इसके लिए प्रशासन ने माध्यमिक शिक्षा विभाग को निर्देशित किया है कि वह उन स्कूल कॉलेजों में कैमरे लगवाएं। जिनमें छात्र-छात्राएं दोनों पढ़ते हैं। गुरुवार को डीआइओएस राकेश कुमार ने स्कूलों को फरमान जारी किया। इसमें कहा गया है कि स्कूल, कैंपस के अंदर कैमरे लगवाएं। साथ ही गेट पर भी कैमरा लगवाया जाए। कैमरा लगाने के साथ उसकी नियमित मॉनीट¨रग होगी। रोजाना की रिकॉर्डिंग सुरक्षित रखी जाए। ताकि स्कूल, कॉलेज में अनुशासन बना रहे। आसामाजिक तत्वों पर लगाम लग सके। छात्राओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्कूलों की जिम्मेदारी है। इसलिए 31 अगस्त तक सभी प्रधानाचार्य कैमरे लगवाकर इसकी सूचना दें।


पुलिस लाइंस चौराहा पर भिड़े डग्गामार वाहन चालक



 बदायूँ : शहर के पुलिस लाइंस चौराहा पर तैनात ट्रैफिक पुलिसकर्मी डग्गामार वाहनों पर सवारियां भरवाने की कीमत वसूलते हैं। इससे चौराहा के इर्द-गिर्द हरदम तमाम सवारियां मैजिक, टैक्सी, टेंपो सहित तमाम वाहन खड़े रहते हैं। इससे न सिर्फ जाम लगता है, बल्कि झगड़ा भी हो जाता है। इस चक्कर में सवारियों को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, जबकि चौराहा पर खड़े ट्रैफिक पुलिस कर्मी और होमगार्ड वसूली करने के चलते उनका विरोध नहीं कर पाते हैं। गुरुवार को दोपहर में एक डग्गामार वाहन में सवारियां भरने के चक्कर में दो वाहनों के चालक और उनके परिचालक भिड़ गए। इससे वहां पर काफी देर तक तमाशा मचा रहा।

पुलिस लाइंस चौराहा पर सवारियां भरने के चक्कर में दो वाहनों के चालक और परिचालक भिड़ गए। बात आगे बढने पर दोनों पक्षों की ओर से डंडे भी निकल आए। इससे जाम भी लग गया। मामला बढने पर मौके पर खड़े होमगार्ड ने वाहनों को आगे बढ़ाने को कहा, तो वाहन चालक उस पर सीधा हो गया। डग्गामार वाहनों से रुपये वसूलने की वजह से ट्रैफिक होमगार्ड उसका खास विरोध नहीं कर सका, जबकि ट्रैफिक पुलिस दूर खड़ी तमाशबीन बनी रही। डग्गामार वाहन चालकों की इस लफड़ेबाजी से रोजाना सवारियों के खींचतान और अभद्रता होती है, लेकिन पुलिस वसूली के चलते इसका विरोध नहीं कर पाती है।



दादरी कांड : अख़लाक़ के भाई को छोड़ कर बाकी परिजनों की गिरफ्तारी कोर्ट की रोक



दादरी कांड पर शुक्रवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले से नया मोड़ आ गया है. कोर्ट ने मृतक अखलाक के परिजनों के खिलाफ दर्ज गोहत्या मामले में उसके भाई जान मोहम्मद को छोड़कर अन्य सभी आरोपियों की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. जस्ट‍िस रमेश सिन्हा और जस्टि‍स प्रभात चंद्र त्रिपाठी की बेंच ने जान मोहम्मद को राहत देने से इनकार कर दिया है.

अखलाक के परिवार ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. परिवार का दावा है कि उन्हें केस में फंसाया गया. हाल ही अखलाक के बेटे ने भी यूपी के डीजीपी से मुलाकात कर मामले की फिर से जांच की मांग की थी. परिवार ने दावा किया कि बरामद मांस के प्रकार को लेकर आई फॉरेंसिक रिपोर्ट से छेड़छाड़ की गई है. परिवार ने यही बात हाई कोर्ट को भी बताई.

गोमांस के आरोप में पीट-पीटकर हत्या
बता दें कि पिछले साल 28 सितंबर को दादरी के बिसाहड़ा गांव में गोहत्या करके मांस को घर में रखने का आरोप लगाते हुए भीड़ ने अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. उसके बेटे दानिश को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया था. इस मामले में कुछ स्थानीय लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच की गई थी.

रिपोर्ट में मांस को गोमांस बताया गया
गौतमबुद्ध नगर की एक अदालत में हाल ही दाखिल फॉरेंसिक रिपोर्ट में नमूने के कहा गया कि अखलाक के घर से बरामद मांस गोमांस ही था. इसके बाद अखलाक के परिजन के खिलाफ गोहत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था.

अंधियारी रात में हुआ उजाला, प्रगट भयौ दीनदयाला

बदायूं : लीलाधारी भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जिलेभर में श्रद्धा एवं उल्लास के


बदायूं : लीलाधारी भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जिलेभर में श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया गया। मंदिरों समेत विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम तो शाम से ही शुरू हो गए थे। मध्य रात्रि में मंदिरों के घंटे-घड़ियाल बज उठे। घरों में भी पूजा-अर्चना कर सोहर गीत गाए गए। पुलिस लाइंस में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कस्बों और गांवों में भी जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया।
शहर में बिरूआबाड़ी मंदिर, गौरीशंकर मंदिर, हरप्रसाद मंदिर, रघुनाथ मंदिर समेत सभी मंदिरों पर सजावट की गई थी। मंदिरों पर भजन और कीर्तन के कार्यक्रम शाम से ही शुरू हो गए थे। घरों में भी मंदिर सजा कर भगवान कृष्ण का पालना सजाया गया। हर किसी को भगवान कृष्ण के जन्म समय मध्य रात्रि 12 बजे का इंतजार था। जैसे ही घड़ी की सूई ने 12 बजाय मंदिरों में राधा, कृष्ण के जयकारे गूंज उठे। मंदिरों में पूजा-अर्चना कर प्रसाद वितरित किए गए। घरों में भगवान कृष्ण की पूजा करके प्रसाद ग्रहण किया गया। श्रीराम सरस्वती शिशु मंदिर में राधा कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मनमोहक स्वरूप में सजे बच्चों ने सभी का मन मोह लिया।



छापा मारा खनन की सूचना पर एसडीएम ने

बदायूं: गुरुवार दोपहर एसडीएम हरिशंकर यादव को सूचना मिली कि गांव जौनेरा के पास कुछ लोग महावा नदी में


बदायूं: गुरुवार दोपहर एसडीएम हरिशंकर यादव को सूचना मिली कि गांव जौनेरा के पास कुछ लोग महावा नदी में जेसीबी मशीन से अवैध बालू खनन कर रहे हैं। सूचना पर एसडीएम कोतवाल कश्मीर ¨सह यादव और फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन उससे पहले ही खनन कर रहे लोग जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर-ट्रॉलियां लेकर फरार हो गए। एसडीएम का कहना था कि क्षेत्र में कहीं भी अवैध बालू खनन नहीं होने दिया जाएगा। यदि कहीं खनन होता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

ग्यारह दिन बाद भी अगवा किशोरी का सुराग नहीं

बदायूं : बहला-फुसलाकर अगवा की गई किशोरी को पुलिस ग्यारह दिन बाद भी बरामद नहीं कर सकी है। पीड़ित ने प

बदायूं : बहला-फुसलाकर अगवा की गई किशोरी को पुलिस ग्यारह दिन बाद भी बरामद नहीं कर सकी है। पीड़ित ने पुत्री के साथ अनहोनी की आशंका जताते हुए अनुसूचित जाति आयोग समेत विभिन्न उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर पुत्री को बरामद कराए जाने की मांग की है।
मुजरिया थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी दलित व्यक्ति का कहना है कि 14 अगस्त की सुबह छह बजे उसकी पुत्री शौच करने जंगल में गई थी। तभी गांव का ही सर्वेंद्र तीन साथियों के साथ उसे बहला-फुसलाकर भगा ले गया। पीड़ित ने इस संबंध में थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई लेकिन अभी तक पुलिस ने न तो आरोपियों को गिरफ्तार किया है और न ही पुत्री को बरामद करने का प्रयास कर रही है। पीड़ित का यह भी आरोप है कि आरोपी दबंग है और जाति विशेष से ताल्लुक रखते हैं। इसलिए पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है। पीड़ित ने अनुसूचित जाति जनजाति आयोग, आइजी, एसएसपी समेत उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र भेजकर पुत्री को बरामद कराए जाने की मांग की है।



कुंवरगांव में बुखार ने निगल ली मासूम की ¨जदगी

      बदायूं : क्षेत्र में फैला बुखार अब जानलेवा होता जा रहा है। बुखार की चपेट में आने से एक मासूम की जान


बदायूं : क्षेत्र में फैला बुखार अब जानलेवा होता जा रहा है। बुखार की चपेट में आने से एक मासूम की जान चली गई। इससे मरीजों में दहशत फैली हुई है। संक्रामक रोगों की सूचना के बाद भी गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं पहुंची है। लोगों ने सीएमओ से स्वास्थ्य परीक्षण कैंप लगाए जाने की मांग की है।
सालारपुर के गांव दरावनगर में पिछले एक महीने से बुखार का प्रकोप जारी है। हर घर में एक दो लोग बुखार की चपेट में आ चुके हैं। बुखार की चपेट में आए गांव निवासी प्रमोद कुमार के चार वर्षीय पुत्र शिवम की मौत हो गई। उसके परिजनों ने बताया कि एक सप्ताह से तेज बुखार आ रहा था। उन्होंने कुंवरगांव के निजी चिकित्सक के यहां शिवम का इलाज करवाया लेकिन वह ठीक नहीं हुआ। इसी वजह से उसकी मौत हो गई। इसके अलावा गांव में पचास से अधिक लोग बुखार से पीड़ित चल रहे है। गांव के लोगों ने बताया कि कुंवरगांव स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर सूचना दी थी तब टीम ने आकर गांव में दवाइयां बांटी थीं लेकिन फिर बाद में किसी भी डॉक्टर ने आकर नहीं देखा, जिस वजह से बुखार का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है।
झोलाछाप काट रहे चांदी
बुखार और डायरिया की वजह से झोलाछापों की मौज आ रही है। क्षेत्र के गांव बनेई, बल्लिया, हरनाथपुर, कल्लिया काजमपुर, कसेर, पनौटा, बरौर, अहरूईय्या, दरावनगर आदि कई गांवों में पिछले कुछ दिनों से झोलाछाप सक्रिय हुए हैं। भीषण गर्मी में बुखार और डायरिया के मरीज बढ़ रहे हैं। सूचना के बाद भी डाक्टरों की टीम गांव में नहीं पहुंचती, जिस वजह से गांव के लोग झोलाछापों की शरण में जाते हैं। यहां कस्बा कुंवरगांव में झोलाछापों की संख्या में रोज इजाफा हो रहा है। इनकी दुकानों पर मरीजों की काफी भीड़ देखने को मिलती है।
गंगपुर में कम नहीं हो रहा बुखार का प्रकोप
संसू, सिलहरी : जगत ब्लॉक के गांव गंगपुर में संक्रामक बीमारी का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। करीब एक सप्ताह से फैली बीमारी दिन पर दिन अपने पांव पसार रही है। बुखार की चपेट में आने से भगवान देवी और 14 वर्षीय विकास पुत्र मुन्ना लाल की मौत हो चुकी है। गांव में नरेंद्र, कृष्णपाल, पुष्पेंद्र, नितिन, रेनू, अतर ¨सह, गजेंद्र, गीता, कोपेंद्र, पुष्पेंद्र, कोमल, अंशू, शकुंतला, रिषीपाल, कविता रोहित समेत दर्जनों लोग बुखार की चपेट में हैं।



आदेश मिला हाकिमों का तो शहर में दौड़े अफसर

बदायूं : डीएम और एसएसपी का फरमान जारी हुआ तो अधिकारी शहर में सीसीटीवी कैमरों की स्थिति देखने के लिए


बदायूं : डीएम और एसएसपी का फरमान जारी हुआ तो अधिकारी शहर में सीसीटीवी कैमरों की स्थिति देखने के लिए दौड़ पड़े।
नगर मजिस्ट्रेट अजय कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में सीओ सिटी आनन्द कुमार पाण्डे, इंस्पेक्टर कोतवाली सन्त प्रसाद उपाध्याय और एसओ सिविल लाइन अशोक कुमार ने जेल तिराहे पर लगे तीनों कैमरों को चेक किया। कचहरी चौकी में स्थापित मॉनीटर को भी देखा तो तीनो चालू हालत में पाए गए। नगर मजिस्ट्रेट ने निर्देश दिए कि बंदर कैमरों को क्षति न पहुंचाएं इस लिए कटीले तारों की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने कहा जेल तिराहे पर लगने वाले यातायात जाम पर मॉनीटर की सहायता से न•ार रखी जाए। धारा 144 प्रभावी होने के बावजूद भी यदि कोई शस्त्र लेकर जा रहा हो तो उसके विरूद्ध भी कार्रवाई की जाए। सीओ सिटी ने कहा कि जिन स्थानों पर मॉनीटर निजी जगह पर लगे हैं, उन्हें सरकारी भवनों में शीघ्र शिफ्ट कराया जाएगा। वर्ष 2014 में शहर की लालपुल पुलिस चौकी पर तीन, खेड़ा नवादा पुलिस चौकी चार, मथुरिया चौक चार, छह सड़का चार, लावेला चौक चार, महिला थाना चार तथा वर्ष 2015 में इंदिरा चौक चार, हलवाई चौक तीन, रोडवेज पुलिस चौकी चार, जेल तिराहा तीन, न्यायालय गेट तीन तथा जिला जेल में दो कुल 42 कैमरे लगे हुए हैं जिनमें 16 कैमरे चालू हालत में नहीं हैं।

29 को जंतर-मंतर पर धरना देंगे डाक कर्मचारी

  बदायूं : मुहल्ला कृष्णापुरी में भारतीय ग्रामीण डाक कर्मचारी संघ की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अशोक स


बदायूं : मुहल्ला कृष्णापुरी में भारतीय ग्रामीण डाक कर्मचारी संघ की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अशोक सक्सेना ने बताया कि 29 अगस्त को दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दिया जाएगा। बदायूं के डाक विभाग के कर्मचारी भी धरने में शामिल होने जाएंगे। उन्होंने ग्रामीण डाक कर्मचारियों को चेताया कि अधिकारों की लड़ाई में पीछे हटने पर उनका अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। कर्मचारियों पर अन्याय की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि अन्याय के विरुद्ध तमाम संघ ताल ठोंक चुके हैं, तो यहां के कर्मचारियों को भी पीछे नहीं हटना चाहिए। आरबी सक्सेना ने कहा कि कर्मचारियों के उत्पीड़न पर हर बार वह मजबूत हुए हैं। रुपेंद्र पटेल ने कहा कि ग्रामीण डाक कर्मचारियों को नजरअंदाज करने पर आगामी विधान सभा चुनाव में कर्मचारी तख्ता पलट करेंगे। उन्होंने बताया कि देश में शिक्षकों के बाद सबसे ज्यादा संख्या डाक विभाग के कर्मचारियों की है। बैठक में राहुल कुमार, जगदीश चंद्र, इकबाल, राजेंद्र कुमार, किशन लाल, भुवेंद्र कुमार, पुष्पराज, सौदान ¨सह, आराम ¨सह, राधेश्याम, विमल कुमार, आशीष सक्सेना, इमरान, सीताराम, अमन कुमार, डा. एमएल शर्मा आदि उपस्थित रहे।



महिला पर हमला करने के तीन आरोपियों को भेजा जेल

बदायूं : थाना पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए महिला पर हमलावर हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है


बदायूं : थाना पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए महिला पर हमलावर हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है जबकि एक आरोपी अब भी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। घायल महिला अस्पताल में ¨जदगी मौत से जूझ रही है।
गत शनिवार को कस्बे के वार्ड दो की नन्ही पत्नी राधेश्याम ने परिवार के ही रघुराज, मुनीश, मनोज और देवकी पर मारपीट की रिपोर्ट लिखवाई थी। मुकदमा लिखे जाने पर आरोपी नन्ही से खफा हो गए और उस पर फैसले का दबाव बनाने लगे। लेकिन नन्ही ने फैसला करने से मना कर दिया। जिस पर यह लोग रंजिश मान गए और मौका पाकर मंगलवार रात चारों ने घर में घुसकर लाठी-डंडों से पीट दिया था। घायल महिला का जिला अस्पताल में उपचार हो रहा है। जहां उसकी हालत अब भी खतरे में हैं। उधर मारपीट करने के बाद से ही आरोपी फरार चल रहे थे। गुरुवार सुबह पुलिस ने रघुराज, मुनीश और देवकी को गिरफ्तार कर लिया और स्वास्थ्य परीक्षण कराके तीनों को जेल भेज दिया। एसओ रामनरेश माथुर का कहना है कि चौथे आरोपी को भी जल्द ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।



समाज को एकजुट रखने को सम्मेलन जरूरी

बदायूं : संत गाडगे समाजोत्थान समिति की बैठक में गाडगे समाज के सम्मेलन को लेकर चर्चा की गई। जिलाध्यक्


बदायूं : संत गाडगे समाजोत्थान समिति की बैठक में गाडगे समाज के सम्मेलन को लेकर चर्चा की गई। जिलाध्यक्ष रामकृष्ण वर्मा ने बताया कि आगामी विधान सभा चुनाव में गाडगे समाज के लोगों को एकजुट रखने के लिए सम्मलेन की जरूरत है। 28 अगस्त को होने वाली बैठक में सम्मेलन की रुपरेखा तैयार की जाएगी। महामंत्री नीरज कुमार चौधरी ने बताया कि बैठक सियाराम नगर में सुबह दस बजे से होगी। उन्होंने समाज के सभी लोगों से बैठक में पहुंचने का आह्वान किया। बैठक में कोषाध्यक्ष पूरनलाल, श्रीपाल वर्मा, अरुण प्रकाश, श्यामपाल, करुणानिधि, राजपाल, दिनेश माथुर, बब्लू, रामनिवास, वेदराम वर्मा, पप्पू, भानपाल वर्मा आदि उपस्थित रहे



कश्मीर.. अंग है भारत का यह अंग नहीं कटने देंगे

  बदायूं : अखिल भारतीय साहित्य परिषद ब्रजप्रांत की बदायूं इकाई के संयोजन एवं साहित्यिकार डा.रामबहादुर


बदायूं : अखिल भारतीय साहित्य परिषद ब्रजप्रांत की बदायूं इकाई के संयोजन एवं साहित्यिकार डा.रामबहादुर व्यथित के तत्वावधान में सिविल लाइंस स्थित विजय वाटिका में कवि गोष्ठी का आयोजन हुआ। बरेली से आए डा.शिवशंकर यजुर्वेदी के अभिनंदन ग्रंथ का लोकार्पण हुआ। वहीं उन्होंने मां शारदे के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित किया। संस्था के संरक्षक डा.रामबहादुर व्यथित, कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं वरिष्ठ कवियत्री डा.कमला कमल ने प्रतीक चिह्न, संरक्षक विष्णु प्रकाश मिश्र, आचार्य गुरुचरण मिश्र ने अंगवस्त्र, वरिष्ठ शायर सुरेंद्र नाज बदायूंनी ने बैज लगाकर व महला पहनाकर डा.शिवशंकर यजुर्वेदी का स्वागत किया। विजय माथुर ने सभी का आभार व्यक्त किया।वहीं वरिष्ठ कवि विशिष्ट अतिथि महेश मित्र एवं डा.इसहाक तबीब ने उनके कृतित्व पर प्रकाश डाला। काव्यगोष्ठी का शुभारंभ अजीत सुभाषित की सरस्वती वंदना से हुआ।
कवि सुरेंद्र नाज ने पढ़ा-
सारे मसाइल छोड़ दिए तय करना नाज अदालत पर,
अब हम चौपाल पे पंचायत घर में दरबार नहीं करते।
डा.रामबहादुर व्यथित ने कहा-
वतन की आन लिखता हूं, चमन की शान लिखता हूं,
लहू की रोशनाई से मैं ¨हदुस्तान लिखता हूं।
आचार्य गुरु चरण मिश्र ने पढ़ा-
अब तक बहुत छला है तुमने अब छलने का नाम न लेना,
नाना रंग रूप दिखलाए, अब कोई रंग दिखा न देना।
कामेश पाठक ने कहा-
कूटनीति की राजनीति में देश नहीं बंटने देंगे,
कश्मीर अंग है भारत का यह अंग नहीं कटने देंगे।
इसके अलावा अजीत सुभाषित, पवन शंखधार, षटदवदन, डा.इशहाक तबीब, अभिषेक अनंत, महेश मिश्र, डा.शिवाशंकर यजुर्वेदी, प्रदीप रायजादा विशाल ने भी काव्य पाठक किया। इस मौके पर कार्यक्रम में संस्कार भारती के जिला संयोजक प्रदीप विशाल, साहित्य परिषिद के जिला महामंत्री अभिषेक अनंत, संयुक्त मंत्री अजीत सुभाषित, ओजकवि षटवदन शंखधार, पवन शंखधार, आदि उपस्थित रहे।

व्यायाम शिक्षकों को प्रशिक्षण, बच्चों का अभ्यास नहीं

      बदायूं : परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं खेलों में जिले का नाम रोशन करें। पिछले वर्


बदायूं : परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं खेलों में जिले का नाम रोशन करें। पिछले वर्ष की तरह राज्यस्तर पर पदक जीतें। इसके लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने व्यायाम शिक्षकों को प्रशिक्षण देने की योजना तैयार की थी। जिसके बाद विद्यालयों में बच्चों को खेलों का अभ्यास कराया जाना था। सत्रह विकास क्षेत्रों के व्यायाम शिक्षकों को प्रशिक्षण दिए जाने के बाद भी न तो कहीं अभ्यास शुरु हुआ है और न ही इन परिषदीय खिलाड़ियों को खेलों के नियमों की जानकारी दी जा रही है। विभाग का ध्यान भी इस ओर नहीं जा रहा है। परिषदीय विद्यालयों में तैनात व्यायाम शिक्षक और अनुदेशकों को प्रशिक्षण दिया गया था। जिसमें दौड़, ऊंची कूद, लंबी कूद, भाला फेंक, चक्का फेंक आदि खेलों के नियमों की जानकारी दी गई। नियमों में होने वाले बदलाव भी बताए गए। निर्देश दिया गया कि विद्यालय में जाकर बच्चों को खेलों का अभ्यास कराएं। बताया गया कि अक्टूबर या नवंबर महीने में परिषदीय विद्यालयों की जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिताएं होंगी। जिसके लिए बच्चों का अभ्यास शुरू कर दें। उन्हें खेलों की हर जानकारी दें। जिससे वह जिला स्तर के बाद मंडलीय फिर राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पदक ला सकें। लेकिन बच्चों का अभ्यास शुरू न करने की वजह से जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भी बच्चों को समस्या होगी। जिला व्यायाम शिक्षक रामदास यादव ने बताया कि 17 विकास क्षेत्रों मे व्यायाम शिक्षक व अनुदेशकों को प्रशिक्षण दिया गया है। जगत विकास क्षेत्र में जल्द प्रशिक्षण होगा। सभी व्यायाम शिक्षक अपने विद्यालय में बच्चों को खेलों का अभ्यास कराते रहें।



एक सितंबर को शिक्षक संघ करेगा विस. का घेराव


बदायूं : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने सरकार पर शिक्षकों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए आंदोलन की

बदायूं : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने सरकार पर शिक्षकों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए आंदोलन की हुंकार भर दी है। गुरुवार को शिक्षक संघ की बैठक में तय हुआ कि एक सितंबर को विधानसभा का घेराव किया जाएगा। शिक्षक, कर्मचारियों की पेंशन बहाली और वित्तविहीन शिक्षकों को मानदेय के लिए आवाज उठाई जाएगी। सरकार ने शिक्षकों को मानदेय देने के नाम पर दिए गए आश्वासन को मजाक बताया गया। आह्वान किया गया है कि एक सितंबर को शिक्षक अपनी मांगों को लेकर लखनऊ पहुंचें। जिला संरक्षक रजनीश राठौर, जिलाध्यक्ष धनपाल ¨सह, राय ¨सह, सूरज मिश्रा, डॉ. योगेश चंद्र त्रिपाठी, सर्वेश, ललित कुमार, प्रेमपाल ¨सह, ओमकार ¨सह, कुलदीप, गणेश चंद्र शाक्य, धर्मपाल, राकेश जौहरी, आदि रहे।





zhakkas

zhakkas