: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 09/01/16

राज्य में जाने को नहीं है धन, बेटियों ने मंडल में दिखाया दम

      बदायूं : रियो ओलंपिक में साक्षी ¨सधू ने पदक जीतकर बेशक बेटियों की क्षमता साबित की है। पर यहां                        बेटिया


बदायूं : रियो ओलंपिक में साक्षी ¨सधू ने पदक जीतकर बेशक बेटियों की क्षमता साबित की है। पर यहां बेटियां प्रतिभावान होने के बावजूद भी खेलने को लेकर संघर्ष कर रही हैं। जिले की दो लड़कियों का मंडल की टीम में स्टेट खेलने के लिए चयन हुआ है। मगर उनके स्कूल इन खिलाड़ियों को भेजने से कन्नी काट रहे हैं। वजह सिर्फ इतनी कि वह खिलाड़ियों को भेजने का खर्च उठाने को राजी नहीं है। मंडल में चयन के बाद राज्य में जीत की हसरत लिए दोनों खिलाड़ियों ने जिला विद्यालय निरीक्षक से गुहार लगाई है कि उन्हें राज्य प्रतियोगिता खेलने के लिए भेजा जाए। यह हाल तब है जब विद्यार्थियों को पंद्रह रुपये क्रीड़ा शुल्क भी अदा करना होता है।
राजाराम महिला इंटर कॉलेज की कक्षा ग्यारह की छात्रा दीक्षा साहू का वेटलि¨फ्टग की 48 किलो भार वर्ग प्रतियोगिता के लिए मंडल टीम में चयन हुआ है। जबकि चंद्रिका देवी इंटर कॉलेज बहेड़ी की छात्रा संतोष कुमार का भी वेटलि¨फ्टग में मंडल टीम में चयन हुआ। छह सितंबर को मुरादाबाद में राज्य प्रतियोगिता होगी। खिलाड़ियों का दर्द है कि स्कूल उन्हें खेलने भेजना नहीं चाहते। वह खर्च नहीं दे रहे हैं। लिहाजा उनका राज्य में खेलने का सपना टूट जाएगा। खिलाड़ियों को बमुश्किल बारह-बारह सौ रुपये की दरकार है। जाहिर है कि राज्य प्रतियोगिता खेलने जा रही खिलाड़ियों के प्रति स्कूलों के रवैये से ही उनकी खेल में रुचि स्पष्ट हो जाती है। दीक्षा साहू का कहना है कि वह नेशनल तक खेलकर जिले का नाम रोशन करेंगी। बस मुझे खेलने तो भेजा जाए। डीआइओएस राकेश कुमार ने कहा कि दोनों खिलाड़ियों को राज्य प्रतियोगिता में खेलने के लिए भेजा जाएगा। इस संबंध में प्रधानाचार्यों से बात की जाएगी। खिलाड़ी निराश न हों। अपनी तैयारी करें।

अधूरी रह गई ,घर में दुल्हन लाने की हसरत

   बदायूं : एक साथ दम तोड़ने वाले दंपती अपने दो जवान बेटों की शादी का ख्वाब आंखों में बसाए दुनिया से                                                                                                                                                                  विद

बदायूं : एक साथ दम तोड़ने वाले दंपती अपने दो जवान बेटों की शादी का ख्वाब आंखों में बसाए दुनिया से विदा हो गए। बड़ी बेटी की शादी के बाद वह दोनों बेटों का ब्याह रचाने की प्ला¨नग कर रहे थे। उनका सपना था कि वह इसी साल दोनों बेटों का रिश्ता तय कर उनकी शादी कर देंगे। इसके लिए उन्होंने अपने रिश्तेदारों से भी बातचीत शुरू कर दी थी।

कछला के पास मौजूद गांव खेड़ा हुसैनपुर में किराने की दुकान के साथ ओमकार और उनकी पत्नी नन्हीं खेती किसानी करते थे। कुछ वर्ष पहले उन्होंने बड़ी बेटी गुड़िया की शादी की थी। शादी के बाद उनका बेटा विश्नू अलीगढ़ में काम करने चला गया और कल्लू दिल्ली में। बेटे अपने पैरों पर खड़े हुए तो ओमकार को उनकी भी ¨चता नहीं रही। दोनों पति-पत्नी अपनी किराने की दुकान और खेतीबाड़ी से ¨जदगी अच्छी तरह बिता रहे थे। मंगलवार शाम दोनों बेटों से दंपती ने बात की तो सबकुछ ठीक ठाक था। बुधवार सुबह उनके परिवार पर ऐसी मनहूस बनकर आई कि एक के बाद एक दोनों की मौत हो गई। उनकी मौत की खबर जब बेटों ने सुनी तो वह हैरत में पड़ गए। शाम के वक्त तक दोनों बेटे घर पर आ चुके थे।


सतर्क रहे, बदलते मौसम में डेंगू वाले मच्छर से

    बदायूं : जिला संक्रामक रोग नियंत्रण अधिकारी डॉ.कौशल कुमार गुप्ता ने बताया कि मौसम का उतार चढ़ाव      डेंग



बदायूं : जिला संक्रामक रोग नियंत्रण अधिकारी डॉ.कौशल कुमार गुप्ता ने बताया कि मौसम का उतार चढ़ाव डेंगू वाले मच्छरों के लिए अनुकूल वातावरण मुहैया कराता है। इस मौसम में मच्छरों से सतर्क रहें, संक्रामक रोगों की जड़ मच्छर ही हैं, इसलिए मच्छरों से बचाव करें। आसपास पानी एकत्रित न होने दें और जहां जलभराव है वहां मिट्टी का तेल और मोबिल आयल डालकर मच्छरों के लार्वा को नष्ट कराएं। उन्होंने लोगों को सुझाव दिया है कि बचाव के उपाय करके अपना और अपने परिवार को संक्रामक रोगों से दूर रखा जा सकता है। बुधवार को वह जागरण प्रश्न पहर में लोगों के सवालों का जवाब दे रहे थे। दूरभाष पर उनकी लोगों से हुई बातचीत के प्रमुख अंश-
सवाल : डेंगू वाले मच्छर कब और कैसे पनपते हैं, इनसे कैसे बचाव किया जा सकता है। - अजय कुमार, पटियाली सराय
जवाब : जब दिन में मौसम गर्म और रात में ठंडा होता है तो डेंगू वाले मच्छरों के लिए अनुकूल मौसम होता है। मच्छरों से बचाव करें, कहीं जलभराव है तो उसमें लार्वा न पनपने दें।
सवाल : संक्रामक रोग कैसे पनपते हैं और इनसे बचाव के लिए क्या करना चाहिए। - किशन लाल, उझानी, सुवेंद्र यादव, खैरपुर
जवाब : सभी संक्रामक रोग मच्छरों से ही पनपते हैं, इसलिए मच्छरों से बचाव करके संक्रामक रोगों से बचाव किया जा सकता है।
सवाल : सोथा मुहल्ले में कूड़ा पड़ा रहता है, जिससे मच्छरों की संख्या बढ़ गई है। - इकबाल, सोथा
जवाब : यह समस्या नगर पालिका की है, पालिका के अधिकारियों से मिलकर सफाई व्यवस्था में सुधार कराने की कोशिश की जानी चाहिए।
सवाल : मालपुर ततेरा गांव में बीमारी फैली है, तमाम लोगों को बुखार आ रहा है। - अमित सक्सेना, मालपुर ततेरा
जवाब : दहगवां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम भेजकर दिखवाते हैं, जरूरत पड़ी तो जिले से भी टीम भेजी जाएगी।
सवाल : सिर में दर्द बना रहता, बुखार नहीं आ रहा है। क्या करना चाहिए। - वसीम रजा, उदयपुर
जवाब : जिला अस्पताल आकर फिजिशियन से परामर्श लें, सही कारण पता करके ही उपचार किया जाएगा।
सवाल : रेड क्रास सोसायटी की गतिविधियां जिले में नहीं दिख रही हैं, इसकी क्या वजह है। - डा.विष्णु प्रकाश मिश्र, पटियाली सराय
जवाब : जिले में रेड क्रास सोसायटी के अध्यक्ष जिलाधिकारी और सचिव मुख्य चिकित्साधिकारी हैं, इसकी ज्यादा जानकारी मुझे नहीं है।
सवाल : थायराइड की समस्या है, इसका किस तरह उपचार कराना चाहिए। - गिरीश, गुलड़िया
जवाब : जिला अस्पताल में इसकी मुफ्त जांच होती है, जांच कराकर ही सही उपचार कराना बेहतर होगा।
सवाल : डेंगू से बचाव के लिए विभाग की ओर से क्या उपाय किए जा रहे हैं। - रामदास, उझानी
जवाब : डेंगू की जांच अभी लखनऊ से करानी पड़ रही है, बरेली में एलाइजा रीडर लगवाने के लिए विभाग की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं।

रिमांड पर लेने को दी अर्जी , पीसी व इशरत को

    बदायूं : प्रभारी डीजीसी हत्याकांड के आरोपी पीसी शर्मा व इशरत को रिमांड पर लेने के लिए विवेचक ने सीजे




बदायूं : प्रभारी डीजीसी हत्याकांड के आरोपी पीसी शर्मा व इशरत को रिमांड पर लेने के लिए विवेचक ने सीजेएम कोर्ट में अर्जी दी है। अर्जी पर सुनवाई आज होगी।
प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा की हत्या 23 मई 2016 को स्कूटी में टक्कर मारकर कर दी गई थी। जब यह कचहरी से कामकाज निपटाकर शाम को अपने घर उझानी वापस जा रही थीं। उनकी छोटी बहन विपर्णा गौड़ एडवोकेट ने उनकी हत्या करने को लेकर पीसी शर्मा, मस्ताना, ¨पटू, इशरत, यासीन बाबा के विरुद्ध उझानी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाद में विपर्णा गौड़ एडवोकेट के प्रयास से विवेचना क्राइम ब्रांच बरेली को ट्रांसफर हो गई। विगत दिनों क्राइम ब्रांच बरेली ने पीसी शर्मा को इलाहाबाद से लौटते वक्त मलिहाबाद व लखनऊ के बीच गिरफ्तार किया था। अगले दिन सीजेएम के यहां उन्हें पेश किया गया। तब से वह 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल में हैं। बुधवार को क्राइम ब्रांच बरेली के प्रभारी विवेचक एसएस पवार ने पीसी शर्मा व इशरत को पुलिस रिमांड पर लेने के लिए सीजेएम मोहम्मद असलम सिद्दीकी के यहां अर्जी दी। जिस पर सुनवाई के लिए सीजेएम ने आज की तारीख नियत कर दी है।



डाकघर में आवेदन फॉर्म डेढ़ घंटा देरी से जमा हुए

डाकघर में आवेदन
           बदायूं : नगर पंचायत व नगर पालिका में संविदा कर्मचारियों के आवेदन करने को प्रधान डाकघर पर               आवेदकों    की


बदायूं : नगर पंचायत व नगर पालिका में संविदा कर्मचारियों के आवेदन करने को प्रधान डाकघर पर आवेदकों की भीड़ रही। तकरीबन आठ सौ आवेदकों ने आवेदन फार्म जमा किए। डाकघर में खजाना प्रक्रिया संचालित होने की वजह से आवेदकों को लगभग डेढ़ घंटे का इंतजार करना पड़ा। साढ़े ग्यारह बजे फार्म जमा करने का सिलसिला शुरु हुआ और शाम तक चला।
कई दिनों से चल रहा फार्म जमा करने का सिलसिला बुधवार को समाप्त हो गया। आवेदन फार्म जमा करने की आखिरी तारीख पर आवेदकों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। रोज की तरह उन्हें डाकघर के चैनल के भीतर तो लिया गया, लेकिन अंदर डेढ़ घंटें तक बिठाए रखा तो बाहरी लंबी कतार में लगे आवेदक धूप में खड़े रहे।

zhakkas

zhakkas