: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 10/11/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | वजीरगंज पुलिस ने जनता के सहयोग से बचायी लाइनमैन की जान






वजीरगंज | कस्बा वजीरगंज में हरि सिंह पुत्र ओमपाल सिंह निवासी नगला दम्पत थाना बिल्सी जनपद बदायूॅ बिजली घर पर लाइमैन का कार्य करता है। आज कस्बा वजीरगंज की लाइन खराब होने की सूचना पर वह बिजली घर से लाइन काटकर जहाॅ पर लाइन खराब थी खम्बे पर चढकर लाइन सही करने लगा। तभी बिजली घर पर दूसरा लाइनमैन आ गया और उसके द्वारा बिना देखे कि किस कारण लाइन कटी हुयी है कुछ छण के लिये जौड दी गयी। उस समय हरि सिंह खम्बे पर चढकर लाइन ठीक कर रहा था। कुछ छण के लिये करन्ट आ जाने के कारण उसे तेज करन्ट लगा। जिससे उसकी खम्बे पर चीख निकल गयी और बेहोश हो गया। मेन रोड होने के कारण जनता के लोग वहा तुरन्त एकत्र हो गये और घटना की सूचना जरिये मोबाईल थाना प्रभारी वजीरगंज श्री नरेश कस्यप को दी। सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुये थाना प्रभारी वजीरगंज श्री नरेश कस्यप मय फोर्स बहुत तेजी से घटना स्थल पर पहुचे। जहा उनके द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये लाइनमैन हरिसिंह को बचेने हेतु बस एवं सीडी का इन्तजाम कर जनता की मदद से उसे नीचे उतारा गया। उसके पश्चात् उसे अस्पाल में भर्ती कराया गया। खतरे से बाहर होने के उपरान्त उसे बरेली रेफर कर दिया गया जो इस समय बरेली के अस्पाल में आईसीयू में भर्ती है तथा खतरे से बाहर है।
 वजीरगंज पुलिस द्वारा तत्परता से किये गये उपरोक्त सराहनीय कार्य की वजीरगंज की जनता एवं लाइनमैन हरि सिंह के परिवार ने सराहना की एवं थाना प्रभारी श्री नरेश कुमार कस्यप द्वारा भी जनता द्वारा की गयी लाइनमैन की जान बचाने में मदद पर आभार व्यक्त किया।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | लखनऊ में खुला समाजवाद का म्यूजियम, बिग बी की आवाज में सुनाई देगा लिटरेचर





लखनऊ | समाजवादी पहचान और उससे जुड़ी यादों को सहेजने के लिए लखनऊ में पहला समाजवादी म्यूजियम मंगलवार जो जनता के लिए खोल दिया गया. ये म्यूजियम ठीक अंबेडकर पार्क के सामने बनाया गया है, ताकि जो लोग मायावती के बनाए अंबेडकर पार्क को देखने और उसकी विचारों से प्रभावित होकर आते है वो समाजवाद के प्रतीकों को भी देख सकें और उससे रु-ब-रु हो सकें.

समाजवाद की इस खास म्यूजियम की खासि‍यत इसमें बनी डिजिटिल लाइब्रेरी है. इसमें इंट्री लेते ही अमिताभ बच्चन की आवाज में लिटरेचर सुनाई देंगे. साथ ही आप ओपेन थिएटर का मजा भी ले सकेंगे. सपा लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जंयती ‘लोकतंत्र रक्षा दिवस’ के रूप में मना रही है.

जयप्रकाश नारायण की जंयती के मौके पर सीएम अखिलेश यादव ने जयप्रकाश नारायण संग्रहालय का उद्घाटन किया. इस मौके पर मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद रहे. मुलायम और शिवपाल सिंह के जाने के बाद सीएम ने म्यूजियम को बारीकी से देखा.



बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | लखनऊ: रामलीला में पीएम मोदी ने कहा- आतंकवाद को पनाह देने वाले बख्शे नहीं जाएंगे





लखनऊ: प्रधानमंत्री मोदी आज विजय दशमी के मौके पर लखनऊ के ऐशबाग रामलीला में शामिल हुए. पीएम मोदी ने मंत्रों के उच्चारण के बीच भगवान राम को तिलक लगाया.
इसके बाद पीएम मोदी ने राम दरबार की आरती उतारी. रामलीला कमेटी की तरफ से पीएम मोदी को धनुष-बाण भेंट किया गया. इसके साथ तुलसीदास जी का एक मात्र चित्र भी भेट किया गया. पीएम मोदी ने प्रतीक के तौर पर धनुष-बाण को चलाया और चक्र को भी धारण किया.

हमें मिलकर आतंकवाद रूपी रावण तो खत्म करना है: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के साथ भाषण की शुरुआत की.  पीएम मोदी ने कहा, ”मुझे आज अति प्रचीन रामलीला में शामिल होने का सौभाग्य मिला. इस धरती से भगवान राम और श्री कृष्ण मिले. इस धरती को आकर प्रणाम करने का सौभाग्य मिला.”

पीएम ने कहा, ”हम रावण को तो हर वर्ष जलाते हैं. रावण को जलाते समय एक संकल्प होना चाहिए कि हम भी अपने भीतर जो भी बुराइयां हैं इन्हें ऐसे ही खत्म करेंगे. हर साल इस संकल्प को और मजबूत बनाना चाहिए.”

पीएम ने कहा, “आज का रावण शायद पहले जैसा ना हो, राम-रावण की लड़ाई पहले जैसी ना हो लेकिन हमारे भीतर एक द्वंद चलता है. दशहरा का मतलब होता है कि हम अपने भीतर की दस बुराइयों को खत्म करें. ईश्वर ने हर किसी को बुराई खत्म करने का सामर्थ दिया है. अपने भीतर की बुराइयों को खत्म करते राष्ट्र को श्रेष्ठ बनाना है.”

लोकमान्य बालगंगाधर तिलक को याद करते हुए पीएम ने कहा, ”जिस प्रकार लोकमान्य ने गणेश उत्सव को समाज का पर्व बनाया उसी प्रकास इस रामलीला कमेटी ने एक प्रेरणाश्रोत रामलीला का आयोजन किया.”

आतंकवाद पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा, ”आतंकवाद मानवता का दुश्मन हैं. भगवान राम मानवता का प्रतिनिधित्व करते हैं. भगवान राम मर्यादाओं को रेखांकित करते हैं. त्याग और तपस्या की मिशाल भगवान राम ने मिसाल पेश की.”

आतंकवाद बोलते हुए पीएम ने कहा, ”रामायण गवाह कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ने का काम सबसे पहले जटायू ने किया. एक स्त्री का अपहरण करके ले जा रहे सामर्थवान रावण से लड़ना आतंकवाद से लड़ने जैसा ही था. हम अगर राम नहीं बन सकते तो कम से जटायू बनकर आतंकवाद पर नजर तो रख सकते हैं.”

पीएम मोदी ने कहा, ”एक बार जब मैं एक अमेरिका के एक बड़े अधिकारी से बात कर रहा था तो उन्होंने कहा कि ये आपके लॉ एंड ऑर्डर की समास्या है. लेकिन 26/11 के बाद पूरी दुनिया ने आतंकवाद को समस्या माना. आतंकवाद की कोई सीमा नहीं है.”

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा, ”जो लोग आज आतंकवाद को पनाह दे रहे हैं उन्हें छोड़ा नहीं जा सकता है. आतंकवाद को खत्म किए बिना मानवता की रक्षा संभव नहीं है. ”

पीएम ने कहा, ”आंतकवाद और दुराचार भी आतंकवाद का एक रूप हैं. इन्हें खत्म करने के लिए हमें संकल्पबद्ध होना पड़ेगा.” लोगों को स्वच्छता का महत्व बताते हुए पीएम ने कहा, ”गंदगी भी रावण का एक छोटा सा रूप है. ये हमारे छोटे छोटे गरीब बच्चों की जान ले रही है. हमें मिलकर इस गंदगी रूपी रावण को खत्म करना होगा.”

वर्ल्ड गर्ल्स चाइल डे को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ”एक सीता माता पर अत्याचार हुआ तो हम हर साल रावण को जलाते हैं लेकिन हर साल गर्भ में ना जानें कितनी सीताओं को मार दिया जाता है. इसे कैसे बर्दास्त कैसे किया जा सकता है. बेटा पैदा होने पर जितनी खुशी मनाते हैं बेटी पैदा होने पर उससे कई गुना खुशी मनानी चाहिए.”

पीएम ने कहा, ”श्री कृष्ण के जीवन में भी युद्ध था और राम के जीवन में भी युद्ध था. लेकिन हम वो लोग हैं जो युद्ध से बुद्ध की और जा रहे हैं. ये देश सुदर्शनचक्र धारी कृष्ण को भी युग पुरुष मानता है और चरखाधारी मोहन को भी युग परुष मानता है.”  पीएम ने भाषण के अंत में भी ‘जय श्री राम’ का जयघोष करवाया.

पीएम मोदी ने भारत का सिर ऊंचा किया- राजनाथ सिंह

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी का स्वागत करते हुए कहा, ”पीएम मोदी ने अंतरराष्‍ट्रीय जगत में भारत का सिर ऊंचा किया.  लखनऊ मेरा संसदीय क्षेत्र है इसलिए मैं उनका स्वागत करता हूं.”

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | इंडिया टीम टेस्ट में बेस्ट बनी






इंदौर: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में जीत के बाद आईसीसी रैंकिंग में नंबर के लिए आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप गदा सौंपी गई. भारत की न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में 321 रन की जीत से सीरीज में 3-0 से क्लीनस्वीप करने के बाद पूर्व भारतीय कप्तान और आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम रहे सुनील गावस्कर ने एक समारोह में कोहली को यह प्रतिष्ठित गदा सौंपी.

भारत ने कोलकाता में दूसरे टेस्ट मैच में जीत दर्ज करके आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में अपना नंबर एक स्थान पक्का कर दिया था. टेस्ट टीम रैंकिंग सीरीज समाप्त होने के बाद ही अपडेट की जाती है और इसलिए भारत ने इंदौर टेस्ट समाप्त होने के बाद औपचारिक तौर पर पाकिस्तान को शीर्ष से हटाया.

कोहली ने कहा, ‘‘आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप गदा हासिल करना सम्मान की बात है और यह गौरवशाली क्षण है. किसी भी टीम के लिए खेल के पारंपरिक प्रारूप में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम के रूप में मान्यता हासिल करना सबसे अच्छा है और हर कोई इसका सपना देखता है.’’

महेंद्र सिंह धोनी के बाद कोहली दूसरे भारतीय और ओवर ऑल दसवें कप्तान हैं जिन्होंने गदा हासिल की. कोहली के कप्तान बनने के बाद भारत हालांकि रैंकिंग तालिका में तीसरी बार शीर्ष पर पहुंचा है. भारत इस साल जनवरी फरवरी और फिर अगस्त में कुछ समय के लिए शीर्ष पर रहा था.


 Follow
 BCCI ✔ @BCCI
ON TOP OF THE WORLD, AGAIN #Champions @Paytm Test Cricket #INDvNZ #JaiHind
5:27 PM - 11 Oct 2016
  666 666 Retweets   1,141 1,141 likes
भारतीय टीम सबसे लंबे समय तक नवंबर 2009 से अगस्त 2011 तक नंबर एक रही थी. तब धोनी टीम के कप्तान थे. जिन अन्य कप्तानों ने अब तक टेस्ट गदा हासिल की है, उनमें स्टीव वॉ, रिकी पोंटिंग, माइकल क्लार्क, स्टीव स्मिथ (सभी ऑस्ट्रेलिया), एंड्रयू स्ट्रास (इंग्लैंड), ग्रीम स्मिथ, हाशिम अमला (दोनों साउथ अफ्रीका) और मिसबाह उल हक (पाकिस्तान) शामिल हैं.

कोहली ने टीम को शीर्ष पर पहुंचाने के लिये अपने साथी खिलाड़ियों के लगातार अच्छे प्रदर्शन को श्रेय दिया.

उन्होंने कहा, ‘‘व्यक्तिगत प्रदर्शन महत्वपूर्ण है लेकिन आखिर में वह प्रदर्शन मायने रखता है जो टीम के काम आये. यदि हम विश्व में सर्वश्रेष्ठ टीम बन पाये तो इसकी वजह टीम के सदस्यों के बीच अच्छा तालमेल और मुश्किल परिस्थितियों में किसी का बेहतर प्रदर्शन करना रहा है. इससे हम शीर्ष टीम बने. ’’

कोहली ने कहा, ‘‘मैं सभी खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ का आभार व्यक्त करता हूं जो सभी हमारी टीम का हिस्सा है क्योंकि मुझे लगता है कि सभी पक्षों के योगदान से ही इस तरह की उपलब्धि हासिल की जा सकती है. टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने के लिये काफी कड़ी मेहनत की जरूरत होती है. ’’

गावस्कर ने कहा कि इस तरह की उपलब्धि को वर्षों तक याद रखा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘मैं हमेशा यह मानता हूं कि टेस्ट क्रिकेट आपकी हर तरह से परीक्षा लेता है. इसमें शीर्ष पर काबिज होना बहुत बड़ी उपलब्धि है. यह भिन्न परिस्थितियों में भी अच्छा प्रदर्शन करने का परिणाम है. ’’

आईसीसी मुख्य कार्यकारी डेविड रिचडर्सन ने भी भारत को पाकिस्तान से कुछ सप्ताह के अंदर ही टेस्ट नंबर एक स्थान हासिल करने के लिये बधाई दी. उन्होंने कहा, ‘‘मैं भारत को इस शानदार प्रदर्शन के लिये बधाई देता हूं जिससे वह आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप गदा हासिल करने में सफल रहा. पिछले तीन महीनों में तीन बार नंबर एक रैंकिंग में बदलाव हुआ है जिससे टेस्ट क्रिकेट में कड़ी प्रतिस्पर्धा का पता चलता है. यह खिलाड़ियों और प्रशंसकों के लिये अच्छा है. ’’

भारत के अभी 115 अंक हैं लेकिन चोटी की चार टीमों के बीच केवल सात अंक का अंतर है. दूसरे स्थान पर काबिज पाकिस्तान (111 अंक), तीसरे नंबर की टीम ऑस्ट्रेलिया (108) और चौथे नंबर की इंग्लैंड (108) सभी आगामी टेस्ट सीरीज में खेलेंगी.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | उत्तर प्रदेश,सीएम नहीं, पीएम के फेस पर चुनाव लड़ेगी भाजपा






उत्तर प्रदेश, | केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय ने ये साफ कर दिया है कि भाजपा 2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले किसी को मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट कर चुनाव नहीं लड़ेगी बल्कि ये चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फेस को आगे रखकर सामूहिक नेतृत्व में लड़ा जाएगा। चुनावों के बाद चुने गए विधायक तय करेंगे कि मुख्यमंत्री कौन होगा।
रविवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि 14 साल के सपा बसपा के शासनकाल में प्रशासनिक मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया गया। जनता अब परिवर्तन का मन बना चुकी है। केंद्र सरकार के कामों के बल पर विधानसभा चुनाव में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा। सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीतिक दलों की बयानबाजी पर उन्होंने कहा कि पहले के जिम्मेदार लोग अपने निकम्मेपन को स्वीकार नहीं कर रहे। मंत्री के अनुसार केंद्र सरकार ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने की कोशिश में जुटी है। ऑनलाइन अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं को 20 प्रतिशत अतिरिक्त क्रेडिट मिलेगा। शिक्षा को रोजगारपरक बनाने की कवायद बड़े स्तर पर चल रही है जिसके नतीजे एक-दो साल में देखने को मिलेंगे। यूपी के प्राथमिक, माध्यमिक स्कूलों में शिक्षा की स्थिति बदहाल बताते हुए उन्होंने कहा कि इससे केंद्रीय विद्यालयों में एडमीशन का प्रेशर बढ़ रहा है। राज्य सरकारें अगर चाहें तो केंद्र प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को प्रशिक्षण देने को तैयार है। रामरमण को नोएडा विकास प्राधिकरण में दोबारा भेजने को गलत परंपरा बताते हुए बोले-सपा नेता अपने स्वार्थों की पूर्ति के लिए पोस्टिंग ट्रांसफर में लगे हुए हैं। जनता समय आने पर जवाब देगी। वार्ता में विधायक राजेश अग्रवाल, डा. राघवेंद्र शर्मा, उमेश कठेरिया, यतिन भाटिया, मोहित कपूर आदि मौजूद थे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बरेली,लेडी सुल्तान ने चित किया लखनऊ का नबाव






बरेली : जोगी नवादा स्थित श्री बाबा वनखडी नाथ मंदिर में आयोजित दंगल में दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट उस समय थम गयी। जब देहरादून की महिला पहलवान नेहा तोमर ने बीच दंगल में पहुंच कर कुश्ती के लिए चैलेंज कर दिया। पहले तो लेडी सुल्तान से टकराने का कोई पहलवान साहस नहीं जुटा सका। बाद में पहलवान नबाव ने नेहा की चुनौती को स्वीकार किया। उत्तराखंड के देहरादून की रहने वाली नेहा तोमर कुश्ती की नेशनल स्तर की खिलाड़ी हैं। पिछले दो वर्षो से स्थानीय मेला के दंगल में कुश्ती लड़ने आती है। मेला कमेटी की ओर से नेहा को 51 सौ रुपये का पुरुस्कार दिया।

पांच मिनट में किया नबाव को चित
सोमवार को साढ़े तीन बजे शुरू हुई कुश्ती में महज पांच मिनट में नेहा ने लखनऊ के नबाव पहलवान को चारों खाने चित कर दिया।
दिल्ली के हारून से मुकाबला
कुश्ती खत्म होने पर महिला पहलवान नेहा तोमर के एक और मुकाबले का एलान किया। वह मंगलवार को दिल्ली के हारून पहलवान से भिड़ेंगी।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बरेली,जिनका कोई नहीं उनका है कोर्ट : शक्ति सिंह





बरेली : जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जनपद न्यायाधीश राजा राम सरोज के निर्देशन में सोमवार को मानसिक अस्पताल में अंतरराष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर विधिक जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) शक्ति सिंह ने की। उन्होंने विधिक सेवा प्राधिकरण की जरूरत क्यों पड़ी, इसके बारे में विस्तार से बताया। मानसिक रूप से विक्षिप्त व बीमार लोगों के अधिकारों व कानून में उनके लिए दिए गए प्रावधानों की भी जानकारी दी। बताया कि मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति अपने विधिक अधिकारों के लिए विधिक सहायता ले सकता है। उन्होंने बताया कि ऐसे लोग जिनका कोई नहीं उनके लिए कोर्ट है। उनके अधिकारों को कोर्ट उन्हें दिलाता है। उन्होंने बताया कि प्राधिकरण में कोई भी मरीज या उसका पैरोकार मदद को पहुंच सकता है। डा. एसआर वर्मा ने मानसिक बीमारियों के बारे में बताया। फार्मेसिस्ट डा. पीपी सिंह ने सभी का स्वागत व डा. राजीव अग्रवाल ने सबका आभार व्यक्त किया। संचालन शांतनु रोहतगी ने किया। इस दौरान राजेश राय भटनागर, राजकुमार, नौशाद अली खां, अनवर समेत कई कर्मचारी, मरीज व उनके अभिभावक मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दशहरा पर्व का क्या है महत्व? असत्य पर विजय का त्यौहार क्यों है दशहरा?





दशहरा (विजयदशमी या आयुध-पूजा) हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। अश्विन (क्वार) मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को इसका आयोजन होता है। दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी के परित्याग की सद्प्रेरणा प्रदान करता है। भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था। इसे असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है। इसीलिये इस दशमी को विजयादशमी के नाम से जाना जाता है। दशहरा पर्व वर्ष की तीन अत्यन्त शुभ तिथियों में से एक है, अन्य दो हैं चैत्र शुक्ल की एवं कार्तिक शुक्ल की प्रतिपदा। इसी दिन लोग नया कार्य प्रारम्भ करते हैं, शस्त्र-पूजा की जाती है। प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे। इस दिन जगह-जगह मेले लगते हैं। रामलीला का आयोजन होता है। रावण का विशाल पुतला बनाकर उसे जलाया जाता है। दशहरा अथवा विजयदशमी भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाए अथवा दुर्गा पूजा के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति-पूजा का पर्व है, शस्त्र पूजन की तिथि है। हर्ष और उल्लास तथा विजय का पर्व है। भारतीय संस्कृति वीरता की पूजक है, शौर्य की उपासक है। व्यक्ति और समाज के रक्त में वीरता प्रकट हो इसलिए दशहरे का उत्सव रखा गया है। विजय पर्व दशहरे पर्व शक्ति और शक्ति का समन्वय बताने वाला उत्सव है। नवरात्रि के नौ दिन जगदम्बा की उपासना करके शक्तिशाली बना हुआ मनुष्य विजय प्राप्ति के लिए तत्पर रहता है। इस दृष्टि से दशहरे अर्थात विजय के लिए प्रस्थान का उत्सव का उत्सव आवश्यक भी है। भारतीय संस्कृति सदा से ही वीरता व शौर्य की समर्थक रही है। प्रत्येक व्यक्ति और समाज के रुधिर में वीरता का प्रादुर्भाव हो कारण से ही दशहरे पर्व मनाया जाता है। यदि कभी युद्ध अनिवार्य ही हो तब शत्रु के आक्रमण की प्रतीक्षा ना कर उस पर हमला कर उसका पराभव करना ही कुशल राजनीति है। भगवान राम के समय से यह दिन विजय प्रस्थान का प्रतीक निश्चित है। भगवान राम ने रावण से युद्ध हेतु इसी दिन प्रस्थान किया था। मराठा रत्न शिवाजी ने भी औरंगजेब के विरुद्ध इसी दिन प्रस्थान करके हिन्दू धर्म का रक्षण किया था। भारतीय इतिहास में अनेक उदाहरण हैं जब हिन्दू राजा इस दिन विजय-प्रस्थान करते थे। इस पर्व को भगवती के ‘विजया’ नाम पर भी ‘विजयादशमी’ कहते हैं। इस दिन भगवान रामचंद्र चौदह वर्ष का वनवास भोगकर तथा रावण का वध कर अयोध्या पहुँचे थे। इसलिए भी इस पर्व को ‘विजयादशमी’ कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि आश्विन शुक्ल दशमी को तारा उदय होने के समय ‘विजय’ नामक मुहूर्त होता है। यह काल सर्वकार्य सिद्धिदायक होता है। इसलिए भी इसे विजयादशमी कहते हैं। ऐसा माना गया है कि शत्रु पर विजय पाने के लिए इसी समय प्रस्थान करना चाहिए। इस दिन श्रवण नक्षत्र का योग और भी अधिक शुभ माना गया है। युद्ध करने का प्रसंग न होने पर भी इस काल में राजाओं (महत्त्वपूर्ण पदों पर पदासीन लोग) को सीमा का उल्लंघन करना चाहिए। दुर्योधन ने पांडवों को जुए में पराजित करके बारह वर्ष के वनवास के साथ तेरहवें वर्ष में अज्ञातवास की शर्त दी थी। तेरहवें वर्ष यदि उनका पता लग जाता तो उन्हें पुनः बारह वर्ष का वनवास भोगना पड़ता। इसी अज्ञातवास में अर्जुन ने अपना धनुष एक शमी वृक्ष पर रखा था तथा स्वयं वृहन्नला वेश में राजा विराट के यहँ नौकरी कर ली थी। जब गोरक्षा के लिए विराट के पुत्र धृष्टद्युम्न ने अर्जुन को अपने साथ लिया, तब अर्जुन ने शमी वृक्ष पर से अपने हथियार उठाकर शत्रुओं पर विजय प्राप्त की थी। विजयादशमी के दिन भगवान रामचंद्रजी के लंका पर चढ़ाई करने के लिए प्रस्थान करते समय शमी वृक्ष ने भगवान की विजय का उद्घोष किया था। विजयकाल में शमी पूजन इसीलिए होता है। आश्विनस्य सिते पक्षे दशम्यां तारकोदये। स कालो विजयो ज्ञेयः सर्वकार्यार्थसिद्धये॥ मम क्षेमारोग्यादिसिद्ध्‌यर्थं यात्रायां विजयसिद्ध्‌यर्थं गणपतिमातृकामार्गदेवतापराजिताशमीपूजनानि करिष्ये। यत्र योगेश्वरः कृष्णो यत्र पार्थों धनुर्धरः। तत्र श्रीर्विजयो भूतिर्ध्रुवा नीतिर्मतिर्मम॥ सामाजिक महत्त्व दशहरे का सांस्कृतिक पहलू भी है। भारत कृषि प्रधान देश है। जब किसान अपने खेत में सुनहरी फसल उगाकर अनाज रूपी संपत्ति घर लाता है तो उसके उल्लास और उमंग का पारावार नहीं रहता। इस प्रसन्नता के अवसर पर वह भगवान की कृपा को मानता है और उसे प्रकट करने के लिए वह उसका पूजन करता है। समस्त भारतवर्ष में यह पर्व विभिन्न प्रदेशों में विभिन्न प्रकार से मनाया जाता है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | श्री कृष्ण के प्रेम में यह अमेरिकी महिला इस कदर हुई दीवानी, छोड़ दिया अपना सबकुछ







बैतूल। कृष्ण की भक्ति ने अमेरिकी महिला एनजी की जिंदगी ही बदल दी है। वह पूरी तरह कृष्ण के प्रेम में रंग गई है और अब उसने अपना नाम बदलकर 'अंजलि' रख लिया है। उसकी गोद में हमेशा श्री कृष्ण की छोटी मूर्ति होती है। वह उसे हमेशा दुलारती नजर आती है। इन दिनों वह मध्य प्रदेश के बैतूल स्थित रुक्मणि बालाजी मंदिर (बालाजीपुरम) में रह रही है।
एनजी ने श्री कृष्ण के प्रेम में बदल दिया अपना नाम

अमेरिका के सैन फ्रांसिसको की निवासी एनजी (35) जो अब अपने को अंजलि बताती है, पिछले दो माह से बैतूल के रुक्मणि बालाजी मंदिर में भगवान की भक्ति में लीन है और अपनी गतिविधियों से वह अपने को 'आधुनिक राधा' होने का अहसास करा जाती है।

पेशे से ग्राफिक डिजायनर अंजलि कृष्ण के प्रेम में इतनी पागल हुई कि वह सैन फ्रांसिस्को में अपना घर, मां-बाप, भाई-बहन और अपनी नौकरी छोड़कर हिंदुस्तान आ गई। यहां वह बालाजीपुरम में रहकर कृष्ण के साथ अठखेलियां करती है तो कभी अपने प्रीतम के श्रृंगार में जुट जाती है। कभी कृष्ण की मूर्ति को गोद में उठाए घुमाने निकल पड़ती है। अंजलि की मानें तो कृष्णा उसके प्रेमी हैं। वर्ष 2012 से वह कन्हैया की दीवानी है।

सपने में दिखा था मंदिर, अमेरिका छोड़कर आ गयी हिन्दुस्तान

एनजी उर्फ अंजलि की कृष्ण भक्ति की दास्तान भी अजीब है। नवंबर 2015 में उसे बालाजीपुरम का मंदिर स्वप्न में दिखा था, जिसे ढूंढ़ते हुए वह अमेरिका से रामेश्वरम पहुंच गई, लेकिन वहां स्वप्न में देखे मंदिर को न पाकर उसने फिर मंदिर की तलाश शुरू की और एक दिन इंटरनेट पर रुक्मणि बालाजीपुरम मंदिर मिल गया, जो हूबहू स्वप्न में दिखे मंदिर जैसा था।

इसके बाद उसका ईमेल के जरिए बालाजीपुरम के संस्थापक एनआरआई सैम वर्मा से संपर्क हुआ और वह बैतूल के बालाजीपुरम पहुंच गई। तब से अब तक वह बैतूल में ही रह रही है।

मंदिर के संस्थापक सैम वर्मा बताते हैं कि अंजलि साधारण परिवेश में अपने दिन गुजार रही है। न किसी से मिलना जुलना, न कहीं जाना। बस भक्ति में उसका सारा दिन गुजरता है। सुबह उठना अपने प्रियतम और पति का नाश्ता तैयार करना, उनके साथ हंसी ठिठौली करना, उन्हें घुमाने निकल पड़ना और कभी मंदिर में बैठकर भगवान भक्ति में डूब जाना।

सांवले सलोने की इस प्रेमिका की दिन भर यही दिनचर्या है। कृष्ण की मूर्ति को सजाना-संवारना और उनके प्रेम में डूब जाना। मंदिर के मुख्य पुजारी असीम पंडा के मुताबिक, अंजलि जैसी भक्ति उन्होंने अब तक नहीं देखी। उसके लिए जन्माष्टमी का दिन खास है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दैनिक राशिफल 11/10/2016 { दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएँ }






  •  मेष

व्यापार में नए प्रस्ताव समृद्धि के संकेत देंगे। यात्रा प्रवास में लाभ की संभावना बनती है। राजकार्य अथवा शासन सत्ता से मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी।



  •  वृष

अपने काम से काम रखें। आलस्य न करें। परिवार के सदस्यों की मदद रहेगी। रुका पैसा अचानक ही प्राप्त होगा। वाहन सावधानी से चलाएं।



  •  मिथुन

वाहन तेज गति से न चलाएं। रुपयों के लेनदेन में सावधानी रखें। संतान के कार्यों से समाज में आपकी आलोचना हो सकती है।


  •  कर्क

उच्चाधिकारियों से व्यर्थ विवाद की स्थिति को टालें। व्यर्थ के दिखावे एवं आडंबरों से दूर रहें। साझेदारी की समस्या का निराकरण होगा।


  • सिंह

नए कार्यों को करने से लाभ के मार्ग प्रशस्त होंगे। महत्वपूर्ण कार्यों में प्रतिबद्ध होकर स्वयं सक्रिय होना आवश्यक है। वैवाहिक प्रस्ताव आएंगे।


  •  कन्या

पूंजी निवेश एवं बचत में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय के क्षेत्र में आशानुकूल लाभ होने की संभावना बनती है। अन्यथा साहस नहीं करें।



  •  तुला

नौकरीपेशा में पदोन्नति की संभावना है। पुरानी उधारी, लेनदारी में सफलता मिलेगी। नवीन कार्य रचनाओं को साकार रूप दे सकते हैं।



  •  वृश्चिक

परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धन-संपत्ति में बढ़ोतरी होकर आत्मप्रसन्नता का अनुभव होगा। विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए।


  •  धनु

अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। साझेदारी की समस्या का निराकरण होगा। पुरानी उधारी, लेनदारी में सफलता मिलेगी। क्रोध, उत्तेजना पर नियंत्रण रखें।



  •  मकर

आर्थिक स्थिति उत्तम रहेगी। कामकाज में आशानुकूल अवसर प्राप्त होंगे। विरोधी अपने मंतव्य में कामयाब नहीं हो पाएंगे। स्वास्थ्य पर ध्यान दें।



  •  कुंभ

व्यापार में नई योजनाओं का क्रियान्वयन होगा। मौके का लाभ उठा सकेंगे। मधुर संबंध बनेंगे, जो लाभदायी रहेंगे। जरूरत से ज्यादा संग्रह नहीं करें।


  •  मीन

सामाजिक आयोजनों में रुचि लेंगे। भागीदारी में नए अनुबंध लाभकारी होंगे। मौके का फायदा उठाना आपके हाथ में है। संतान से सुख मिलेगा।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | क्रिकेट,गौतम गंभीर तेज फिफ्टी लगाकर आउट, टीम इंडिया की बढ़त 350 पार





क्रिकेट,|  भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच इंदौर के होलकर स्टेडियम में 3 टेस्ट मैचों की सीरीज के अंतिम मैच के चौथे दिन का खेल जारी है. भारत ने दूसरी पारी में लंच के बाद 1 विकेट पर 133 रन बना लिए हैं. चेतेश्वर पुजारा (55 रन, 101 गेंद, 4 चौके) और विराट कोहली (3) क्रीज पर हैं. टीम इंडिया की कुल बढ़त 391 रन हो गई है. पुजारा ने सीरीज में अपनी चौथी फिफ्टी पूरी की, जबकि उनके करियर की यह 11वीं फिफ्टी है. गौतम गंभीर ने 54 गेंदों में 6 चौकों की मदद से अपनी 22वीं फिफ्टी बनाई, लेकिन गेंद बाद ही इसी स्कोर पर उठाकर मारने के चक्कर में मार्टिन गप्टिल को कैच थमा बैठे. गंभीर ने शुरू से ही तेज खेलना शुरू किया और कई आकर्षक शॉट खेले. गंभीर ने पुजारा के साथ 75 रनों की भागीदारी की. हालांकि, वह तीसरे दिन दूसरी पारी में बल्लेबाजी के दौरान वह 6 रन पर रिटायर्ड हर्ट हो गए थे. उन्होंने पहली पारी में भी अच्छी शुरुआत की थी, लेकिन 29 रन पर ही आउट हो गए थे.

टीम इंडिया - विकेट पतन : 1/34 (मुरली विजय- 19 रन), 2/110 (गौतम गंभीर- 50 रन)
सुबह टीम इंडिया के स्कोर में 16 रन ही जुड़े थे कि मिचेल सैंटनर की गेंद पर मुरली विजय (19) रन लेने के लिए दौड़ पड़े और आधी पिच तक निकल गए, इस बीच पुजारा उनको लौटने के लिए चिल्लाते रहे, विजय वापस लौटे, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और रनआउट हो गए. गंभीर ने 50 रनों की तेज पारी खेली, लेकिन अतिउत्साह में विकेट गंवा बैठे. उन्हें जीतन पटेल की गेंद पर मार्टिन गप्टिल ने लपका.

तीसरे दिन का अपडेट : आर अश्विन की फिरकी में फंसे कीवी
तीसरे दिन टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर आर अश्विन की फिरकी का कमाल देखने को मिला. जहां पहले और दूसरे दिन कीवी टीम के स्पिनरों को पिच से कोई मदद मिलती नहीं दिख रही थी, वहीं तीसरे दिन आर अश्विन ने अपनी स्पिन गेंदबाजी का खूबसूरत नमूना पेश किया. उन्होंने 27.2 ओवर में 81 रन देकर 6 विकेट चटकाए, जबकि दूसरे स्पिनर रवींद्र जडेजा ने दो विकेट अपने नाम किए. अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में 20वीं बार एक पारी में 5 या अधिक विकेट लिए हैं. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ एक पारी में 5 बार 5 या अधिक विकेट लिए हैं. रवींद्र जडेजा को दो विकेट मिले. टीम इंडिया के पहली पारी के 557 रनों के जवाब में न्यूजीलैंड की पहली पारी चायकाल के बाद 299 रन पर सिमट गई. इस प्रकार टीम इंडिया को पहली पारी के आधार पर 258 रन की बढ़त हासिल हुई. भारत के पास फॉलोऑन खिलाने का मौका था, लेकिन मैच में अभी दो दिन बचे होने और गेंदबाजों की थकान के कारण कप्तान कोहली ने फिर से बल्लेबाजी का फैसला किया. कीवी टीम की ओर से मार्टिन गप्टिल ने 72, टॉम लाथम ने 53 और जेम्स नीशाम ने 71 रन की पारी खेली.

3 साल बाद विदेशी ओपनरों की शतकीय साझेदारी
भारतीय धरती पर 3 साल बाद विदेशी ओपनरों ने शतकीय साझेदारी निभाई. मार्टिन गप्टिल और टॉम लाथम के बीच हुई 118 रनों की भागीदारी से पहले ऑस्ट्रेलिया के एड कोवान और डेविड वॉर्नर ने 2013 में मोहाली टेस्ट में ऐसा किया था. इस मैच में टीम इंडिया ने टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना तीसरा सबसे बड़ा स्कोर 557 रन भी बनाया. भारत का कीवी टीम के खिलाफ सर्वोच्च स्कोर 7 विकेट पर 583 रन है, जो उसने अहमदाबाद में 1999-00 में बनाया था, जबकि दूसरा बड़ा स्कोर 566/8 नागुपर में 210-11 में खड़ा किया था.

टीम इंडिया पर लगी पेनल्टी, कीवी टीम को मिले 5 अतिरिक्त रन

भारतीय बल्लेबाजी के दौरान कीवी टीम को 5 रन अतिरिक्त दिए गए, क्योंकि रवींद्र जडेजा ने बल्लेबाजी के दौरान पिच के डेंजर एरिया में दौड़ लगा दी. उन्होंने ऐसा 4 बार किया और उन्हें 2 आधिकारिक चेतावनी मिली, जिससे अंपायर ने 5 रन की पेनल्टी लगा दी. इस प्रकार न्यूजीलैंड ने 0 की बजाय 5 रन से अपनी पारी की शुरुआत की.

दूसरा दिन : कोहली ने जमाया करियर का दूसरा दोहरा शतक
कोहली-रहाणे के बीच 365 रन 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | राष्ट्रीय,विजयदशमी पर संघ प्रमुख ने की पीएम मोदी की तारीफ, बताया- यशस्‍वी नेतृत्‍व






राष्ट्रीय,| विजयदशमी के मौके पर आज संघ प्रमुख नागपुर में सभीपदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी की जमकर तारीफ की।
 आरएसएस के स्थापना दिवस पर आज नागपुर में संघ प्रमुख मोहन भागवत स्वयंसेवकों को दिए अपने संबोधन में पीएम मोदी के काम की जमकर सराहना की। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी को यशस्वी नतृत्व बताया। संघ प्रमुख मोहन भागवत भी सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर प्रसन्न नजर आए। उन्होंने कहा कि देश के यशस्वी नेतृत्व ने पाक को दुनिया में अलग-थलग करने का सराहनीय काम किया है। इस सरकार से लोगों में विश्वास जगा है कि वो कुछ करेंगे। इस दौरान संघ के सभी पदाधिकारी समेत समस्त कार्यकर्ता अपनी नई ड्रेस में मौजूद रहे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणनवीस भी वहां मौजूद थे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर सभी आरएसएस कार्यकर्ताओं को विजयदशमी की बधाई दी है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ ,विजय दशमी 2016: दशहरे का शुभ मुहूर्त एवं पूजन की विधि, ऐसे करेंगे पूजा तो मिला पूरा फल





बदायूँ । विजयादशमी अर्थात दशहरा की धूम संपूर्ण भारत-वर्ष में देखी जाती है. सत्य की जीत का प्रतीक दशहरा अनेक महत्वपूर्ण संदेश देता है. विजय दशमी का पर्व आश्विन माह की शुक्ल पक्ष की दशमी को मनाया जाता है. दशहरा या विजयादशमी असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है. अधर्म एवं बुराई को समाप्त करके धर्म की स्थापना और शांति का प्रतीक है. क्षत्रियों के यहां शस्त्रों की पूजा होती है, इस दिन नीलकंठ का दर्शन बहुत शुभ माना जाता है. दशहरा या विजया दशमी नवरात्रि के पश्चात दसवें दिन मनाया जाता है.

  • इस साल का शुभ मुहूर्त

विजय मुहूर्त = 14:02 से 14:48
अवधि = 0 घण्टे 45 मिनट्स
अपराह्न पूजा का समय = 13:16 से 15:33
अवधि = 2 घण्टे 17 मिनट्स
दशमी तिथि प्रारम्भ = 10/अक्टूबर/2016 को 22:53 बजे
दशमी तिथि समाप्त = 11/अक्टूबर/2016 को 22:28 बजे
दशहरा अबूझ मुहूर्त
दशहरा एक अबूझ मुहूर्त है. दशहरे के दिन नए व्यापार या कार्य की शुरुआत करना अति शुभ होता है. यह अत्यंत शुभ तिथियों में से एक है, इस दिन वाहन, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम, स्वर्ण, आभूषण नए वस्त्र इत्यादि खरीदना शुभ होता है. दशहरे के दिन नीलकंठ भगवान के दर्शन करना अति शुभ माना जाता है. दशहरा के दिन लोग नया कार्य प्रारम्भ करते हैं, शस्त्र-पूजा की जाती है. प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे. इस दिन जगह-जगह मेले लगते हैं. दशहरा का पर्व समस्त पापों काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, अहंकार, हिंसा आदि के त्याग की प्रेरणा प्रदान करता है.

  • कैसे करें पूजन

दशहरे के दिन सुबह दैनिक कर्म से निवृत होने के पश्चात स्नान आदि करके स्वच्छ वस्त्र धारण किए जाते हैं. घर के छोटे-बडे़ सभी सदस्य सुबह नहा-धोकर पूजा करने के लिए तैयार हो जाते हैं. उसके बाद गाय के गोबर से दस गोले अर्थात कण्डे बनाए जाते हैं. इन कण्डो पर दही लगाई जाती है. दशहरे के पहले दिन जौ उगाए जाते हैं. वह जौ दसवें दिन यानी दशहरे के दिन इन कण्डों के ऊपर रखे जाते हैं. उसके बाद धूप-दीप जलाकर, अक्षत से रावण की पूजा की जाती है. कई स्थानों पर लड़कों के सिर तथा कान पर यह जौ रखने का रिवाज भी दशहरे के दिन होता है. भगवान राम की झांकियों पर भी यह जौ चढा़ए जाते हैं.
ये है कथा
इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था. रामायण के अनुसार राम तथा सीता के वनवास के दौरान रावण, राम की पत्नी सीता का अपहरण कर लंका ले जाता है. तब भगवान राम अपनी पत्नी सीता को रावण के बंधन से मुक्त कराने हेतु राम ने भाई लक्ष्मण, भक्त हनुमान एवं वानर सेना के साथ मिलकर रावण के साथ एक बड़ा युद्ध करते हैं. युद्ध के दौरान राम नौ दिनों तक युद्ध की देवी मां दुर्गा की पूजा करते हैं तथा दशमी के दिन रावण का वध करते हैं और सीता को बंधन से मुक्त कराते हैं.

  • कैसे मनाते हैं दशहरा

इसलिए विजयदशमी एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण दिन है. इस दिन रावण, उसके भाई कुम्भकरण और पुत्र मेघनाद के पुतले जगह-जगह में जलाए जाते हैं. सुबह के समय पूजा करने के बाद संध्या समय में जब "विजय" नामक तारा उदय होता है तब रावण का दाह संस्कार पुतले के रुप में किया जाता है. रावण के पुतले जलाने का कार्य सूर्यास्त से पहले समाप्त किया जाता है, क्योंकि भारतीय संस्कृति में हिन्दु धर्म के अनुसार सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं किया जाता है.
  • बहुत कुछ होता है खास

विजय दशमी या दशहरे के त्यौहार पर अनेक संस्कारों, अनेक संस्करणों को पूर्ण किया जाता है इस त्यौहार के अंतर्गत अनेक प्रकार के रीति-रिवाज़ों का प्रचलन है. जैसे कृषि -महोत्सव या क्षात्र-महोत्सव, सीमोल्लंघन का परिणाम दिग्विजय तक पहुंचा, शमीपूजन, अपराजितापूजन एवं शस्त्रपूजन जैसी कुछ महत्वपूर्ण धार्मिक कृतियां की जाती हैं. दशहरे का एक सांस्कृतिक महत्व भी रहा है. इस समय भारत वर्ष में किसान फसल उगाकर अनाज रूपी संपत्ति घर लाता है और उसी शुभ उमंग के अवसर पर वह उसका पूजन करता है. समस्त भारतवर्ष में यह पर्व विभिन्न प्रदेशों में विभिन्न प्रकार से मनाया जाता है.

  • शिव ने पार्वती को बताई थी ये कथा

प्रचलित किदवंति है कि एक बार कि बात है माता पार्वती जी ने भगवान शिव से विजयादशमी त्यौहार के विषय में तथा इस पर्व का क्या फल प्राप्त होता है जानना चाहा. पार्वती जी के कथन को सुन भगवान भोलेनाथ उनसे कहते हैं कि आश्व्नि शुक्ला दशमी को संध्या समय में तारा उदय होने के समय विजय नामक काल होता है. यह सभी मनोरथों को पूर्ण करने वाला होता है और शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने हेतु इसी समय प्रस्थान करने से विजय की प्राप्ति होती है. यदि इस दिन श्रवण नक्षत्र बने तो यह और भी शुभ होता है. भगवान श्री राम जी ने इसी विजय काल समय लंका पर चढ़ाई की थी व विजय प्राप्त की थी इस कारण यह दिन बहुत पवित्र माना जाता है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूं ,सेंटर हटाना था तो क्यों लिया प्रवेश






बदायूं : एनएमएसएन दास कॉलेज से इग्नू का परीक्षा केंद्र हटाए जाने से नाराज अभ्यर्थियों ने सांसद को नामित ज्ञापन उनके प्रतिनिधि को दिया। मुलायम ¨सह यादव यूथ ब्रिगेड के पदाधिकारियों के साथ मिलकर अपने समस्याओं से अवगत कराया। दास कॉलेज से इग्नू का सेंटर हटाए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

सूत्रों ने बताया कि कई वर्षों से दास कॉलेज में इग्नू की कक्षाएं बंद करने की प्रक्रिया चल रही थी, लेकिन नैक के निरीक्षण की वजह मैनेजमेंट ने कुछ और दिन कक्षाएं चलाने का निर्णय लिया, लेकिन अब पूरी तरह से कक्षाएं बंद कर दी गई हैं। जिससे नाराज एमए, बीएड के छात्र-छात्राओं ने अभ्यर्थियों ने रविवार को भी कॉलेज जाकर हंगामा किया था और समस्या को लेकर सोमवार को सांसद धर्मेंद्र यादव से मिलने पहुंचे। सांसद से मुलाकात न होने की वजह से प्रतिनिधि अवधेश यादव, विपिन यादव को समस्या बताई। उन्होंने तुरंत जिलाधिकारी व क्षेत्रीय उच्च शिक्षाधिकारी को छात्र-छात्राओं की समस्या से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि प्राचार्य ने इग्नू के रीजनल आफिस को कक्षाएं संचालित न करने की मांग की है। यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष स्वाले चौधरी ने कहा कि इग्नू का सेंटर दास कॉलेज में ही रहना चाहिए। जिससे छात्र-छात्राओं को समस्या का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि इग्नू के सेंटर से को किसी प्रकार का फायदा नहीं होता। प्राचार्य छात्र-छात्राओं का अहित चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इग्नू का सेंटर न रखने की बात प्रवेश लेने से पहले सोचनी चाहिए थी। सेंटर बदले जाने पर छात्र-छात्राओं संग संगठन आंदोलन करेगा। इस मौके पर मनोज कुमार, मोहित पाल, शैलेंद्र, आंचल गुप्ता, प्रियंका अरोरा, निधा ओबेस, देवेंद्र, निहार आदि उपस्थित रहे। इग्नू हेड मधु ने बताया कि सेंटर हटाने की प्रक्रिया पहले से चल रही थी। यह फैसला मैनेजमेंट का है।

खेत पर गए किसान की चक्कर आने से मौत







 बिसौली |  बिसौली में खेत पर काम कर रहे युवा किसान की अचानक मौत हो गई। एसडीएम आरडीराम ने मौके पर पहुंचकर पूरे मामले की जांच की। परिवार वालों ने पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया।

थाना बिल्सी के गांव अहमदगंज निवासी सुखलाल 30 पुत्र पन्नालाल सोमवार को सुबह अपने खेत पर गया था, तभी वह चक्कर खाकर जमीन पर गिर गया। जब तक आसपास खेतों में काम कर रहे किसान कुछ समझ पाते तक सुखलाल की मौत हो चुकी थी। थोड़ी देर में परिवार वाले भी आ गए। सूचना पर एसडीएम आरडीराम और ब्लॉक प्रमुख रामवीर ¨सह यादव, वीरेश यादव भी मौके पर पहुंच गए। परिवार वालों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। एसडीएम ने पूरे मामले की जांच कर आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण एसडीएम और ब्लॉक प्रमुख ने हरसंभव आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिया है। मृतक किसान के दो बच्चे हैं।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूं,अद्धवार्षिक परीक्षाओं की तैयारियों पर हुआ मंथन





बदायूं : जिला परियोजना कार्यालय में अद्धवार्षिक परिक्षाएं संपन्न कराने के लिए जनपद स्तरीय दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। बीएसए प्रेम चंद यादव ने कहा कि परिषदीय विद्यालयों में कक्षा एक की मौखिक परीक्षाएं तीस अंक की होंगी। कक्षा दो और तीन में पंद्रह के अंक की लिखित व पंद्रह के अंक की मौखिक परीक्षा होगी। कक्षा चार व पांच में बीस अंक की लिखित व दस अंक की मौखिक परीक्षा होगी। कक्षा छह व सात और आठ में तीस अंक की परीक्षा होगी। परीक्षा के लिए तैयारियां शुरू करा कर प्रश्न पत्र विद्यालयों के हैंडओवर करने पर भी मंत्रणा की गई। इस मौके पर गौरव सक्सेना, सीमा राजन, सुशील कुमार, पीयूष कुमार, फरहत हुसैन, राजेश सक्सेना, राकेश शर्मा, लाखन ¨सह, विजय मिश्रा, मंजू राठौर, प्रियंबदा राठौर, अंजुम, श्यामलाल आदि मौजूद रहे। बीएसए ने कहा कि टीम वर्क के साथ काम करके परीक्षाओं को सफलतापूर्वक संपन्न कराएं।

सयद गालिब अली तालिब अली मैमोरियल इंटर कालेज में ट्रस्ट की ओर से छात्र छात्राओं के नाना नानी का सम्मान किया गया। वृद्धजनों के सम्मान समारोह में जुटे लोगों ने कहा कि बुजुर्ग हमेशा ही हमारे उन छायादार पौधे की तरह होते हैं जो हमे तेज धूप में छाया और राहत देते हैं। प्रबंध कमेटी की तरफ से साजिद अली ने कहा कि समाज बुजुर्गों की अहमियत को समझे। बुजुर्गों को हमेशा ही सम्मान देना चाहिए। इस मौके पर सयद साजिद अली, सयद फतेह अली, सयद अहसान अली, सयद सद्दाम अली, प्रधानाचार्य दाऊद अली, महफूज अली, सचिन, प्रियांशु, अजहर, आपाज, प्रदीप शर्मा, विनोद शर्मा, प्रमोद शर्मा, शिल्पी, अंजना, मीना गुप्ता, प्रेमलता मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ,फिल्म में दिखेगी बदायूं की अनामिका






बदायूं : शहर की अनामिका मौर्य को इंडियन मोशन पिक्चर्स एसोसिएशन की सदस्यता प्रदान की गई है। सुभाष घई, अमिताभ बच्चन, आदित्य चोपड़ा, फरहान अख्तर, मुकेश भट्ट, मधुर भंडारकर, करण जौहर जैसी दिग्गज भी एसोसिएशन के सदस्य हैं। बरेली मंडल से पहली बार किसी महिला को यह गौरव प्राप्त हुआ है। उनकी फिल्म प्यार ही ¨जदगी है को सेंसर बोर्ड ने यू सार्टिफिकेट दिया है। जो सप्ताह भर में सिनेमाघरों में दिखाई जाएगी। लखनऊ में जन्मी, अब बदायूं निवासी अनामिका मौर्य ने कहा कि फिल्म निदेशक शिक्षाविद डॉ. योगेंद्र के निर्देशन, सुमित मंजीत के संगीत की यह फिल्म परिवार के साथ देखने योग्य होगी।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिसौली,दो पक्षों के विवाद में हुई फाय¨रग, दो घायल




बिसौली : गांव में दो पक्षों हुई फाय¨रग में एक युवक घायल हो गया जबकि दूसरे पक्ष के एक युवक के लाठी लगने से सिर में गंभीर चोट आई है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। गांव में पुलिस तैनात कर दिया गया है।
क्षेत्र के गांव लक्ष्मीपुर में कई दिनों से कल्लू और मुजीब पक्षों के बीच में विवाद चल रहा था। रविवार को भी दोनों पक्षों के बीच में विवाद हुआ। पुलिस ने शांतिभंग की कार्रवाई भी की लेकिन इसके बावजूद भी सोमवार को दोनों पक्ष आमने सामने आ गए। पहले तो दोनों पक्षों में लाठी-डंडे चले। बाद में दोनों पक्षों के बीच हुई फाय¨रग में मुजीब के गले में छर्रे लगने से घायल हो गया, वहीं पर लाठी लगने से कल्लू का सिर फट गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति को संभाला लिया। जबकि सोमवार को नवरात्र पर मां दुर्गा की शोभायात्रा निकाली गई थी जिस कारण गांव में पुलिस तैनात की गई थी। कोतवाल जमीरूल हसन ने बताया कि किसी भी स्थिति में माहौल को बिगड़ने नहीं दिया जाएगा।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | वजीरगंज में पांच घरों से चोरी






वजीरगंज : कस्बे में चोरों ने पांच घरों से चोरी की घटना को अंजाम देकर दहशत फैला दी है। बीते एक सप्ताह में हुई चोरी और लूट की घटनाओं ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिए हैं
रविवार की रात चोरों ने कस्बे के वार्ड संख्या पांच के मुहल्ला बघौल को निशाना बनाया। चोर सबसे पहले मुहल्ला निवासी कुंदन के घर में दीवार के सहारे घुसे। यहां नकदी समेत हजारों का सामान चोरी करने के बाद चोरों ने पड़ोसी होरी लाल, फतेहराम, साधुराम, ज्ञान प्रकाश के घरों को निशाने पर ले लिया। एक के बाद एक सभी पांच घरों से सामान समेटने के बाद चोर फरार हो गए। सोमवार की सुबह घटना की जानकारी होने पर लोगों में हड़कंप मच गया। घटना की तहरीर पुलिस को दी गई लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया है। इससे पहले डॉक्टर समेत दो घरों में हुई डकैती की घटनाओं को दबाने के लिए भी पुलिस ने मामूली धाराओं में केस दर्ज किया जिसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ,राजनीति में चरित्र और नैतिक पतन पर मुखर होंगे छात्र





बदायूं : तुलसी साहित्यिक एवं सामाजिक संस्था की बैठक में जनपद स्तरीय भाषण प्रतियोगिता कराने का निर्णय लिया गया। संस्था के संरक्षक डॉ. विष्णु प्रकाश मिश्रा ने कहा कि संस्था की ओर से समाज से जुड़े बहुत से कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इसी क्रम में राजनीति में चरित्र और नैतिक पतन, मंथन, समाधान विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाएगा। जिसका अधिकतम समय तीन मिनट रहेगा। प्रतियोगिता दो वर्ग जूनियर व माध्यमिक में होगी। इच्छुक अभ्यर्थी जोगीपुरा स्थित शक्ति टेंट हाउस, डीएम रोड स्थित सतेती हाउस से आवेदन फार्म प्राप्त कर सकते हैं। पहले तीन स्थान पाने वाले अभ्यर्थियों को सम्मानित भी किया जाएगा। संस्था के सचिव पवन शंखधार ने कहा कि ज्यादातर छात्र-छात्राओं ने फार्म प्राप्त कर संस्था कार्यालय पर जमा कर दिए हैं। अतुल कुमार ने कहा कि बालकों का मंच देने के लिए ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जिससे उनका बौद्धिक, मानसिक रुप से विकास हो सके। प्रतियोगिता के लिए सीमा चौहान को संयोजक नियुक्त किया गया है। बैठक का संचालन षटवदन शंखधार ने किया। नरेंद्र नाज, राजबेटा यादव, जितेंद्र यादव, बब्लू यादव, देवेंद्र ¨सह, विनोद कुमार, शिवम कुमार आदि उपस्थित रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ,त्योहारों की शुरुआत और एटीएम की हालत पतली





बदायूं : अभी हफ्ता भर भी नहीं बीता कि जब केंद्र सरकार ने त्योहारी सीजन में सभी बैंकों के एटीएम अपडेट रहने के लिए गाइड लाइन जारी की थी। त्योहारों की शुरूआत में ही बैंकों के एटीएम की हालत पतली निकली। अगर यही आलम रहा तो आने वाले त्योहारों की फेहरिस्त नवरात्र, दशहरा, करवाचौथ और फिर दीवाली पर लोगों को परेशानी उठानी पड़ सकती है। आज जब बैंकों की एटीएम व्यवस्था की नब्ज की पड़ताल की गई तो व्यवस्था का दम फूला हुआ दिखाई दिया। कहीं एटीएम पर मशीन खराब होने का टैग लगा हुआ था तो कहीं एटीएम का शटर ही गिरा मिला। यही नहीं कुछ एटीएम पर कैश पूरी तरह से निल था। ऐसे में नवरात्र के त्योहार पर लोगों को कैश लेने में काफी दिक्कतें हुईं। बैंक बंद थे ऐसे में केंद्र सरकार की जारी एडवायजरी में स्मार्ट वर्किंग के अंतर्गत बैंकों की स्मार्ट व्यवस्था की पोल खुल गई है। बदायूं शहर में पंडित जी पेट्रोल पंप के नजदीक एसबीआइ का एटीएम हो या फिर बदायूं बरेली हाईवे पर यूनियन बैंक, यूको बैंक और ¨सडीकेट बैंक सभी में कैश खत्म था और शटर गिरा हुआ था। पुलिस लाइन के नजदीक पीएनबी के एटीएम में मशीन खराब है का टैग लगा हुआ लोगों को मुहं सा चिढ़ा रहा था।

स्मार्ट बैं¨कग के अंतर्गत जो गाइड लाइन दी गई थी वो तो पूरी होनी चाहिए। एटीएम में कैश नहीं मिला इससे परेशानी हुई।

 राजीव ¨सह, सिविल लाइंस

कल रात भी मैं इंद्रा चौक की तरफ वाले एटीएम पर गया। पर वहां कैश था ही नहीं जब पुलिस लाइंस के पास वाले एटीएम पर गया तो वहां मशीन खराब का टैग लगा हुआ था।

 जितिन त्यागी, जवाहरपुरी

शुक्रवार को कैश लोड किया गया था, अब रविवार के बाद सोमवार है। ऐसे में कैश हो सकता है कि खत्म हो गया हो। मैं इस बारे में अधीनस्थों को जरूरी निर्देश देता हूं ताकि लोगों को समस्या न आए और इसे चेक किया जाए।

अनुराग रमन, एलडीएम

zhakkas

zhakkas