: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 10/28/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मेले तक पहुंचने का कच्चा मार्ग तैयार





बदायूं : रुहेलखंड के मिनी कुंभ मेला ककोड़ा की तैयारियां जोर पकड़ने लगी हैं। पक्की सड़क से मेला स्थल तक कच्चा मार्ग बना दिया गया है। नगर पालिका, नगर पंचायतों से पानी के टैंक भी पहुंच गए हैं जिनसे पानी का छिड़काव शुरू करा दिया गया है। गंगा नदी में पानी का उतार-चढ़ाव बना हुआ है, इसको देखते हुए अभी स्नान घाट नहीं काटा जा रहा है। गंगा पूजन के बाद नदी की स्थिति को देखते हुए स्नान घाट तैयार कराया जाएगा।

विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच जिला पंचायत की ओर से लगाया जा रहे मेले को भव्य स्वरूप देने की तैयारी की जा रही है। सिरकी, पाल मेले में पहुंच चुकी है।मेला मार्ग तैयार हो जाने के बाद अब मेले के भीतर भी सड़क बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। तीन नवंबर को डीएम पवन कुमार खुद जाकर तैयारियां देखने की इच्छा जताई है इसको देखते हुए काम तेजी से चल रहा है। आगरा की टेंट के बजाय मध्य प्रदेश से टेंट मंगाया जा रहा है। मेले का माहौल धार्मिक बनाने के लिए भजन कीर्तन के कार्यक्रमों के साथ गंगा महाआरती की भी तैयारी की जा रही है। गंगा की रेती में लगने वाले इस मेले में धूल बहुत उड़ती है, इसलिए नगर पालिका बदायूं, उझानी, नगर पंचायत सैदपुर के पानी के टैंकर मेले में पहुंच गए हैं। बन रही सड़कों पर पानी का लगातार छिड़काव भी कराया जा रहा है। जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी हरिपाल ¨सह यादव ने अभियंता संजय शर्मा, प्रशासनिक अधिकारी विनोद कुमार यादव के साथ तैयारियों का जायजा लिया और ठेकेदार को काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। सात नवंबर को गंगापूजन होगा, जबकि 12 नवंबर को मेले का विधिवत उद्घाटन किया जाएगा। एएमए ने बताया कि नदी का पानी घट-बढ़ रहा है, गंगा पूजन के बाद ही नदी में पानी की स्थिति को देखते हुए स्नान घाट तैयार कराया जाएगा। स्नान घाट पर सुरक्षा के लिए गोताखोरों के अलावा पीएसी के जवान भी तैनात रहेंगे। उन्होंने बताया कि मेला उद्घाटन से पहले सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी।

देखिए पुलिस का असली चेहरा यह है हमारी पुलिस


बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | जाम में फंसा था 7000 करोड़ का मालिक, रिक्शेवाले ने सीएम हाउस पहुंचाया





लखनऊ। दुनिया कितनी भी मशीनी हो जाए लेकिन इंसान के परिश्रम और दिगाम कभी जीत नहीं पाएगी। 10 रुपए के मोबाइल रिचार्ज से करोड़ों रुपए के कैश ट्रांजेक्शन कराने वाली कंपनी paytm के सीईओ विजय शेखर की लक्झरी एसयूवी जाम में फंस गई थी। उन्हें सीएम हाउस जाना था। अपाइंटमेंट फिक्स था। लेट नहीं हो सकते थे परंतु क्या करते। तभी एक रिक्शे वाले ने मदद की। ठसाठस फंसे जाम से मात्र 50 रुपए में विजय शेखर को बाहर निकाला और तय समय पर सीएम हाउस भी पहुंचा दिया। शायद यह पहला रिक्शा था जो सीएम हाउस के भीतर तक गया।

रिक्शेवाला मणिराम जब किराए के 50 रुपए लेकर चलने को हुआ तो सीएम ने उसे रोका और 6000 हजार रुपए नगद, एक ई-रिक्शा व रहने के लिए एक घर तोहफे में दे दिया। खुद अखिलेश ने मणिराम की फोटाे ट्विटर पर पोस्ट करके इसकी जानकारी दी है।

paytm के सीईओ और यश भारती अवॉर्ड से सम्‍मानित विजय शेखर गुरुवार को सीएम अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे थे, लेकिन उनकी कार जाम में फंस गई। देर न हो जाए, यह सोचकर विजय शेखर ने रिक्शे से ही सीएम हाउस पहुंचने का फैसला किया। उन्होंने कालीदास मार्ग पर सड़क किनारे बैठे मणिराम को आवाज लगाई। पूछा, "सीएम हाउस चलोगे।" उसने झट से हां कर दी। उसे नहीं पता था कि वह जिस शख्स को अपने रिक्शे से सीएम हाउस ले जा रहा है वह 7000 करोड़ रुपए से ज्यादा की प्रॉपर्टी का मालिक है।

किस्मत ही मणिराम को बंगले में अंदर ले गई
मणिराम सीएम हाउस के बाहर से ही लौट जाना चाहता था, लेकिन विजय ने अंदर तक छोड़कर आने को कहा। सिक्युरिटी वालों ने पहले तो रिक्शा सीएम हाउस में ले जाने से मना कर दिया। फिर काफी पूछताछ के बाद इजाजत दे दी। विजय शेखर से जब किराए के पैसे लेकर मणिराम चलने को हुआ तो सीएम अखि‍लेश ने उसे बुला लिया। बात की और दीवाली के गिफ्ट के रूप में 6 हजार रुपए कैश। एक ई-रिक्‍शा और लखनऊ में घर दे दिया।

कौन हैं विजय शेखर?
38 साल के विजय शेखर का जन्म यूपी के अलीगढ़ में हुआ था। उन्होंने दिल्ली इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की है। वे पेटीएम के फाउंडर और सीईओ हैं। हुरून इंडिया 2016 रिपोर्ट में अमीरों की लिस्ट में उनके पास 7,300 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी बताई गई है। पिछले एक साल में उनकी कुल कमाई 162 गुना बढ़ी है।



धनतेरस 2016 पूजा शुभ मुहूर्त: स्वास्थ्य और समृद्धि के लिए इस तरह करें पूजा





धनतेरस पर पूजा का विशेष महत्व होता है इस दिन लक्ष्मी – गणेश और कुबेर की पूजा की जाती है पर इस दिन सबसे महत्वपूर्ण पूजा होती है स्वास्थ्य और औषधियों के देवता धनवन्तरी की इन सभी पूजाओं को घर में करने से स्वास्थ्य और समृद्धि बनी रहती है.

इसके लिए अपने घर के पूजा गृह में जाकर ॐ धं धन्वन्तरये नमः मंत्र का 108 बार उच्चारण करें ऐसा करने बाद स्वास्थ्य के भगवान धनवंतरी से अच्छी सेहत की कामना करें.

ऐसी मान्यता है कि इस दिन धनवन्तरी की पूजा करने से स्वास्थ्य सही रहता है धनवन्तरी की पूजा के बाद यह जरूरी है कि लक्ष्मी और गणेश का पूजन किया जाए इसके लिए सबसे पहले गणेश जी को दिया अर्पित करें और धूपबत्ती चढ़ायें.

इसके बाद गणेश जी के चरणों में फूल अर्पण करें और मिठाई चढ़ाएं इसके बाद इसी तरह लक्ष्मी पूजन करें इसके अलावा इस दिन धनतेरस पूजन भी किया जाता है और कुबेर देवता की पूजा की जाती है.

धनतेरस पूजन के लिए सबसे पहले एक लकड़ी का पट्टा लें और उस पर स्वास्तिक का निशान बना लें इसके बाद इस पर एक तेल का दिया जला कर रख दें.

दिये को किसी चीज से ढक दें.

दिये के आस पास तीन बार गंगा जल छिड़कें.

इसके बाद दीपक पर रोली का तिलक लगाएं और साथ चावल का भी तिलक लगाएं.

इसके बाद दीपक में थोड़ी सी मिठाई डालकर मीठे का भोग लगाएं.
फिर दीपक में 1 रुपया रखें। रुपए चढ़ाकर देवी लक्ष्मी और गणेश जी को अर्पण करें.

इसके बाद दीपक को प्रणाम करें और आशीर्वाद लें और परिवार के लोगों से भी आशीर्वाद लेने को कहें.

इसके बाद यह दिया अपने घर के मुख्य द्वार पर रख दें, ध्यान रखे कि दिया दक्षिण दिशा की ओर रखा हो धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक इन तीनों पूजन के समापन से घर में लक्ष्मी सदैव विद्यमान रहती हैं और स्वास्थ्य बेहतर रहता है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मालिक और नौकरानी के अफेयर में तोता बना विलेन, पत्नी से कर दी चुगली







तोते इंसानों की नकल में माहिर होते हैं, वह बिना किसी परेशानी के इंसानो की बोली बोल सकते हैं. लेकिन कुवैत में एक तोते की यही काबिलियत उसके मालिक को भारी पड़ गई. दरअसल इस शख्स का अपनी नौकरानी के साथ अफेयर चल रहा था, जिसका भंडाफोड़ उसके ही तोते ने कर दिया.
यह शख्स अपनी पत्नी की गैरमौजूदगी में अपनी नौकरानी के साथ रंगरेलियां मनाता था. इस दौरान ढेर सारी रोमांटिक बातें भी होती थीं जो वहां बैठा तोता सुनता रहता था.
महिला को पहले से ही अपने पति औऱ नौकरानी पर शक था, लेकिन जब एक दिन तोते ने महिला के सामने ही मालिक और नौकरानी की प्यार भरी बातें दुहराईं तो महिला का शक यकीन में बदल गया.
इसके बाद महिला ने अपने पति के खिलाफ कुवैत के हवाल्ली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई. महिला ने अपने पति पर धोखा देने का आरोप लगाया और साथ ही पुलिस को बताया कि एक दिन जब वह ऑफिस से जल्दी घर आई तो उसका पति घबरा गया था.
लेकिन पुलिस ने तोते के बयान को सबूत मानने से इनकार कर दिया. पुलिस का कहना था कि कोर्ट में यह साबित नहीं किया जा सकता कि तोते ने सच में यह सब उसके पति के मुंह से ही सुना है, किसी टीवी या रेडियो से नहीं.
इसके चलते उसे भरोसेमंद सबूत नहीं माना जा सकता और इस तरह यह शख्स जेल जाने से बच गया. कुवैत में मर्जी से भी किसी गैर महिला से शारीरिक संबंध बनाना गैरकानूनी है और ऐसा करने पर कड़ी सजा का प्रावधान है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | UPसरकार : विधवाओं के लिए सरकारी जॉब में आयु सीमा खत्म






उत्तर प्रदेश सरकार ने विधवा और तलाकशुदा महिलाओं को दिवाली का बड़ा गिफ्ट दिया है। सरकारी नौकरी में आवेदन करने के लिए उनकी ऊपरी आयु सीमा को समाप्त कर दिया गया उत्तर प्रदेश सरकार ने विधवा और तलाकशुदा महिलाओं को दिवाली का बड़ा गिफ्ट दिया है। सरकारी नौकरी में आवेदन करने के लिए उनकी ऊपरी आयु सीमा को समाप्त कर दिया गया है। लखनऊ की दस सफल महिलाओं को सम्मानित करने के लिए आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसका ऐलान किया। उन्होंने बताया कि इस फैसले का मकसद उन महिलाओं के लिए वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करना है, जिनको ज्यादा कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इस मौके पर अखिलेश यादव तीन तलाक के मामले को लेकर बीजेपी को भी निशाना बनाने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी किसी समुदाय के धार्मिकउन्होंने कहा कि उनकी पार्टी किसी समुदाय के धार्मिक




UP: विधवाओं के लिए सरकारी जॉब में आयु सीमा खत्म

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सूरत के हीरा कारोबारी ने कर्मचारियों के लिए गिफ्ट में कार ,और






सूरत: अपने कर्मचारियों को दीवाली बोनस के रूप में कार और अपार्टमेंट देकर पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित करने वाले सूरत के व्यापारी सावजी ढोलकिया एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार भी उन्होंने अच्छा प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को कार और फ्लैट गिफ्ट किए हैं.

हीरा कारोबारी ढोलकिया ने अपनी कंपनी हरे कृष्णा एक्सपोर्ट्स के कर्मचारियों को दिवाली बोनस के रूप में 400 फ्लैट्स और 1,260 कारें गिफ्ट की है. कंपनी ने अपने कर्मचारियों के बोनस पर 51 करोड़ रुपये खर्च किए है.

ढोलकिया कहते हैं, 'हमने इस साल कंपनी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले 1716 कर्मचारियों को चुना. इनमें जिन लोगों के पास कार है, उन्हें घर दे रहे हैं, जबकि जिनके पास अपने वाहन नहीं उन्हें कार दे रहे हैं.'
हालांकि इंस्टॉलमेंट पर ली गई इन गाड़ियों और फ्लैट के लिए कंपनी अपनी तरफ से पांच साल तक हर महीने 5000 रुपये देगी, बाकी के पैसे कर्मचारियों को ही भरने होंगे.
ढोलकिया बताते हैं कि 1100 स्क्वेयर फीट वाले ये 400 फ्लैट कंपनी की खुद की हाउसिंग स्कीम में एलॉट किए गए हैं. इसके साथ ही वह कहते हैं, 'यह फ्लैट मिट्टी के मोल पर बस 15 लाख रुपये में दिए जा रहे हैं और पांच साल बाद कर्मचारियों को इसके लिए 11,000 रुपये का मासिक इंस्टॉलमेंट देना होगा.'
ढोलकिया 2011 के बाद से हर साल कर्मचारियों को इसी तरह के दिवाली बोनस देते रहे हैं. पिछले साल उनकी कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर 491 कार और 200 फ्लैट बांटे थे.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूं,खत्म हुई बाबा की भूख हड़ताल






बदायूं : भाकियू नेताओं की बरेली में डीआरएम से हुई वार्ता के बाद छठे दिन बाबा गरीब दास की भूख हड़ताल खत्म हो गई। रेलवे प्रशासन ने कासगंज से बदायूं तक चलाई जा रही ट्रेनों को नवंबर के आखिर तक बरेली तक चलवाने का आश्वासन दिया है। भाकियू ने चेतावनी दी है कि नवंबर तक ट्रेनें बरेली तक नहीं चलीं तो दिसंबर में फिर आंदोलन शुरू कर देंगे।

रेलवे स्टेशन पर आमरण अनशन पर बैठक बाबा गरीब दास ने गुरुवार को समाधि लेने का एलान कर दिया था। इसके बाद रेलवे प्रशासन और जिला प्रशासन में खलबली मच गई थी। रात में ही रेलवे और प्रशासनिक अधिकारियों ने उनसे वार्ता की थी। आज भाकियू नेताओं ने बरेली जाकर डीआरएम से वार्ता की, उनके आश्वासन पर भाकियू नेताओं के लौटने पर बाबा का अनशन खत्म हुआ। एडीएम प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव ने जूस पिलाकर अनशन खत्म कराया। भाकियू जिलाध्यक्ष धर्मपाल ¨सह और बीकेडी जिलाध्यक्ष राजेश कुमार सक्सेना ने कहा कि रेलवे प्रशासन के आश्वासन पर आंदोलन स्थगित कर दिया गया है। वादे के मुताबिक कार्रवाई नहीं हुई तो फिर आंदोलन छेड़ा जाएगा। इस मौके पर सौदान ¨सह, रामाशंकर शंखधार, नरेंद्र सक्सेना, हारून गौस, कल्लन मियां, बाबू खां, रईस अहमद, चंद्रमोहन वर्मा, हाजी कमाल, परवेज आलम, आरिफ गाजी, पप्पू सैफी, सुरेंद्र यादव, शिवदयाल, नूरउद्दीन, फैशल, कृष्णवीर ¨सह, ज्ञानेंद्र मिश्रा, किशनवीर ¨सह, ब्रजपाल सेठी, सुरेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आरोपी इशरत की जमानत अर्जी खारिज




बदायूं : प्रभारी डीजीसी हत्या कांड के पांचवें आरोपी इशरत की जमानत याचिका प्रभारी जिला जज एवं सत्र न्यायाधीश नलिन कुमार श्रीवास्तव ने खारिज की।

मालूम हो कि 23 मई 2016 की शाम साढ़े छह बजे प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा कचहरी का कामकाज निपटाने के बाद शाम साढ़े छह बजे निवास स्थान उझानी स्कूटी से जा रही थीं। स्कूटी नौकर बिहारी चला रहा था। वह पीछे बैठी थीं। जिरौलिया के पास कार ने पीछे से स्कूटी में टक्कर मार दी, जिससे वह गिर गईं बाद में उनकी मृत्यु हो गई। उझानी थाने में उनकी छोटी बहन विपर्णा गौड़ एडवोकेट ने हत्या करने के आरोप में उझानी थाने में पीसी, मस्ताना, राजू, ¨पटू, इशरत, गिरीश, यासीन बाबा आदि के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई थी। विवेचना में शिथिलता होने के कारण विपर्णा ने विवेचना को क्राइम ब्रांच बरेली को स्थानांतरित करा दिया था। उक्त मामले में पीसी, मस्ताना, गिरीश, यासीन बाबा आदि आरोपियों की जिला एवं सत्र न्यायाधीश नरेंद्र कुमार जौहरी ने जमानत याचिकाएं खारिज कर दी थीं। गुरुवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश नरेंद्र कुमार जौहरी ने न्यायालय की सभी जमानत अर्जियां अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश नलिन कुमार श्रीवास्तव के यहां ट्रांसफर कर दीं। श्री श्रीवास्तव ने इशरत की जमानत अर्जी की सुनवाई की। बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने बहस नहीं की। अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी जवाहर ¨सह यादव व विपर्णा गौड़ एडवोकेट ने बहस की। उन्होंने न्यायालय के समक्ष आरोपियों की कॉल डिटेल में दर्शाई गई कॉलों की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि घटना से पहले व घटना के पश्चात सभी आरोपियों से एक-दूसरे से वार्तालाप हुई है। इसके अलावा इशरत के पास से रुपये बरामद हुए तब कोर्ट ने जमानत प्रार्थना पत्र खारिज करने के आदेश दिए।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार |बिसौली ,पूर्व प्रधान के घर में घुस कर मारी गोली





बिसौली | बिसौली में पूर्व प्रधान के घर में घुसकर गांव के ही चार हमलावरों ने गोली मारकर पुत्र और साले को घायल कर दिया। पुलिस ने घटना की नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

कोतवाली के क्षेत्र के गांव करखेड़ी में पूर्व प्रधान जयवीर ¨सह के घर की छत पर उनका साला मुकेश और पुत्र धीरेंद्र सो रहे थे। इसी दौरान पुरानी रंजिश के चलते गांव के ही अतर ¨सह, वीरेंद्र, राजवीर ¨सह सहित चार लोगों ने छत पर सो रहे मुकेश और उसके पुत्र धीरेंद्र पर फाय¨रग की। गोली लगने से मुकेश घायल हो गया। शोर होने पर गांव वाले आ गए। तभी हमलावर हथियार लहराते हुए भाग गए। घायल मुकेश की हालत गंभीर होने पर बरेली रेफर किया गया है। पूर्व प्रधान का साला मुकेश बरेली थाना के अय्यापुर बिथरी चैनपुर का रहने वाला है। घटना की पुलिस ने देर शाम रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | शाह ने इटावा संकल्प रैली में सपा-बसपा के खिलाफ भरी हुंकार





उत्तर प्रदेश,  || भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मुलायम के गृह जिले इटावा में गुरुवार को विराट रैली की। इस बीच उन्होंने सपा-बसपा व कांग्रेस पर एकसाथ निशाना साधा। उन्होंने कहा तीनों पार्टियों के शासन से राज्य की जनता त्रस्त हो चुकी है। ऐसे में अब प्रदेश के लोगों ने ठाना है कि वे इस बार राज्य में बड़ा बदलाव करने जा रहे हैं।

शाह ने कहा, यूपी का तीन साल का खर्च है 12 लाख करोड़ है, लेकिन यह पैसा सपा, बसपा और कांग्रेस मिल बांटकर खा गए। अब फिर से राज्य में भ्रष्टाचार फैलाने के लिए ये जनता से वोट मांग रहे हैं। सपा सरकार गरीबों, मजदूरों, दलितों व किसानों तक केंद्र की योजनाओं का लाभ नहीं पहुंचने दे रही।

यूपी में फैले गुंडाराज का खात्मा कर वे राज्य में भाजपा को बहुमत दिलाने वाले है। शाह ने गुंडाराज के सफाए के लिए प्रदेश के युवाओंं से आह्ववान कर कहा, चुनाव में बूथ कैप्चरिंग जैसी घटनाओंं से निपटने के लिए उन्हें आगे आना होगा।

उन्होंने कहा भाजपा के पक्ष में 2014 के चुनावी माहौल से ज्यादा 2017 का चुनावी माहौल बनता नजर आ रहा है। अगर सभा स्थल की फोटो व्हाटस एप के जरीए इंटरनेट पर शेयर की जाए तो विरोधियों को पता चल जाएगा कि भाजपा को इस बार यूपी में बहुमत मिलने जा रहा है।  

शाह ने इटावा को वीरो की भूमि बताते हुए शहीद नीतीन यादव को याद कर कहा, इटावा के इस जवान के बलिदान को पूरा देश नमन करता है।
साथ ही उन्होंने जनता को 'सर्जिकल स्ट्राइक' की याद दिलाते हुए पीएम मोदी की तारीफ भी की।

वहीं देश की सीमा पर कांग्रेस के शासन काल में शहीद का सिर काटकर ले जाने वाली घटना का जिक्र करते हुए शाह बोले, एक जमाना था जब केंद्र में कांग्रेस, बसपा व सपा की मिलिजुली सरकार थी, और आए दिन सरहद पर हमले होते थे। आज केंद्र में भाजपा की सरकार है इसलिए सरहद पर हमला होते ही दुश्मन को मुंह तोड़ जवाब दिया जाता है।

राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए शाह ने कहा कि 'एक तरफ 'मोदी जी' हैं तो दूसरी तरफ 'राहुत बाबा'। बीते दिनों राहुल ने यूपी यात्रा के दौरान कहा था कि वे प्रदेश में आलू की फैक्ट्री लगाएंगे, मगर उन्हें यह नहीं मालूम कि आलू फैक्ट्री में नहीं उगता बल्कि जमीन में उगता है। शाह ने कहा आलू तो राज्य की जनता खुद उगा लेती है, उन्हें जरूरत है तो प्रदेश में चिप्स की फैक्ट्री की... और यह सपना साकार करेगी भाजपा की सरकार।'

इसके अलावा शाह ने पीएम मोदी के किए वादों को गिनाते हुए कहा यदि प्रदेश में उनकी सरकार बनती है तो वे राज्य में एम्स, रोजगार,बिजली समस्या जैसे गंभीर मुद्दों पर काम करेगी। उन्होंने जनता से कहा आपके बलबूते ही सरकार आएगी। फैसला आपको करना है। इसका बाद रैली का समापन कर वे लखनऊ निकल गए।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | यूपी: पुलिस प्रशासन में फेरबदल, 17 ASP के तबादले





यूपी में बुधवार को पुलिस प्रशासन में बड़े फेरबदल किए गए हैं। यहां देखें तबादलों की लिस्ट

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आबिद पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार





बदायूँ | अपहरण और फिरौती के मामले में सपा से निष्कासित शहर विधायक आबिद रजा को हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली है। कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर स्टे और एफआईआर रद करने की मांग खारिज कर दी है। हाईकोर्ट से झटका मिलने के बाद विधायक और उनके पीए पर गिरफ्तारी का खतरा मंडराने लगा है।

बिनावर थाने के गांव कुतुबपुर थरा निवासी निहालउद्दीन ने सदर कोतवाली में सात अक्तूबर को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि विधायक आबिद रजा और उनके पीए अजहर सिद्दीकी ने उसके बेटे पप्पू को अगवा कर लिया। आरोप लगाया था कि पप्पू को छोड़ने के बदले उससे 25 लाख रुपये फिरौती वसूली। इसमें 20 लाख रुपये विधायक आबिद रजा ने और पांच लाख रुपये अजहर ने लिए। कोतवाली पुलिस ने एसपी सिटी अनिल यादव के आदेश पर सदर विधायक आबिद रजा और उनके पीए अजहर सिद्दीकी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए आबिद रजा की ओर से अधिवक्ता वीपी श्रीवास्तव ने हाईकोर्ट में अर्जी दी। श्रीवास्तव ने विधायक और उनके पीए की गिरफ्तारी पर स्टे के साथ एफआईआर रद् करने की मांग की थी।
इधर, पप्पू की ओर से अधिवक्ता रवि त्रिपाठी ने गिरफ्तारी पर स्टे का विरोध किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद विद्वान न्यायाधीश कोर्ट नंबर 36 ने विधायक आबिद रजा और उनके पीए की गिरफ्तारी पर स्टे के साथ एफआईआर रद् करने से इंकार कर दिया है। इस मामले में जब विधायक आबिद रजा से बात करने की कोशिश की गई, तो उनका मोबाइल स्विच ऑफ था।
यह माननीय न्यायालय का मामला है। कोर्ट का आदेश सर्वमान्य है। विधायक और उनके पीए के खिलाफ दर्ज एफआईआर में पड़ताल चल रही है। न्यायिक प्रक्रिया में सभी बराबर हैं।
-अनिल यादव, एसपी सिटी
प्रतिवादी पक्ष की मांग को न्यायाधीश ने खारिज कर दिया है। कोर्ट का निर्णय स्वागत योग्य है। इससे पीड़ितों का भरोसा न्याय व्यवस्था पर और कायम होगा।
 एपी तिवारी, वरिष्ठ अधिवक्ता, हाईकोर्ट

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ10,280 वर्गमीटर में बनेगा रोडवेज वर्कशॉप





बदायूँ  | शहर में रोडवेज चौराहे पर लग रहे जाम के झाम से निजात दिलाए जाने के लिए रोडवेज की वर्कशॉप दातागंज रोड पर बनेगी। यह वर्कशॉप 10280 वर्गमीटर में बनाई जाएगी। इसका शिलान्यास शुक्रवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लखनऊ में करेंगे। 
रोडवेज वर्कशॉप बनाने के लिए दातागंज रोड पर स्थित गांव अतापुर में करीब 16 माह पहले 26 जून 2015 को पुराने कोल्ड स्टोरेज की जमीन खरीदी गई थी। गाटा संख्या 309 और 311 की 10280 मीटर जमीन खरीदने के बाद वर्कशॉप बनाए जाने का प्रस्ताव तैयार करके अगस्त 2015 में शासन को भेजा गया था। वहां पर कुछ पेड़-पौधों के अलावा जर्जर टिनशेड और कोल्ड स्टोरेज खंडहर में तब्दील हो चुका है।
वर्कशॉप बनाए जाने का प्रस्ताव पास होने में करीब 14 माह का वक्त लग गया। प्रस्ताव पास होने के साथ ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 28 अक्तूबर को वर्कशॉप का शिलान्यास करने की घोषणा कर दी। इससे जल्द ही वहां पर निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। वर्कशॉप में टिन शेड, डग, वाशिंग प्लांट, डीजल पंप, मेंटीनेंस रूम, वेल्डिंग प्लांट, टायर सेक्शन, इलेक्ट्रिक सेक्शन, सीनियर फोरमैन रूम, एआरएम कैंप कार्यालय आदि बनाया जाएगा।
वर्कशॉप बनने से होंगे यह फायदे 
बदायूं। दातागंज रोड पर वर्कशॉप बन जाने से न सिर्फ आम लोगों को रोडवेज चौराहा पर लगने वाले जाम से निजात मिलेगी। बल्कि डिपो के अंदर ही सारी बसें खड़ी हो सकेंगीं। इसके साथ ही नया वर्कशॉप बनने से बस डिपो के अंदर जाम नहीं लगेगा, मेंटीनेंस में सुधार होगा, डीजल औसत बढ़ेगा, लोड फैक्टर एवं बसों की उपयोगिता में सुधार होगा।
वर्कशॉप की जमीन 16 माह पहले ही खरीद ली गई थी। शासन से प्रस्ताव पास हो चुका है, तो जल्द ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। वर्कशॉप बनने से डिपो और शहर में जाम के झाम से निजात मिलने के साथ ही अन्य तमाम फायदे होंगे।

  •  राजेश कुमार, एआरएम 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूँ,धनतेरस आज, सजा बाजार





बदायूँ | धनतेरस से एक दिन पहले सड़कों पर बाजार सजा नजर आया। गणेश लक्ष्मी की मूर्तियों से लेकर माला, बर्तन, दीए, सर्राफ की दुकानें सजीं नजर आईं। तमाम दुकानें तो सड़कों पर नजर आईं। ग्राहकों की खासी भीड़ बाजार में नजर आई। इससे शहर के मुख्य बाजारों में निकलना मुश्किल हो गया।

धनतेरस से एक दिन पहले बाजार बर्तनों और सर्राफ की दुकानों से सजा नजर आया। बाजार में सुबह से ग्राहकों की खासी भीड़ शुरू होने लगी। इससे पुलिस ने छह सड़का से लेकर घंटाघर तक वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी। इसके बावजूद बाजार में भारी भीड़ मौजूद रही, जिससे लोगों का बाजार से निकलना मुश्किल हो गया। बर्तन बाजार, सर्राफ की दुकानों और शोरूम के साथ सड़कों पर गणेश लक्ष्मी एवं अन्य देवी देवताओं की मूर्तियों की दुकानें सजी नजर आईं। 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का राशिफल 28/10/2016






  • मेष राशि
  • स्वामी – मंगल
  • अराध्य देव – श्री गणेशजी
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – अ, ल, इ
  • शुभ रत्न – मूंगा
  • शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी

मेष राशि के जातक जन्म से ही नेतृत्व में निपुण होते है. प्रायः ऊर्जा और अति- उत्साह से सभर रहते है. हालाँकि स्वच्छ प्रकृति के मगर अधिक आत्म केंद्रित रहते है. किसी भी कार्य को योजनापूर्वक करने में माहिर हैं. संघर्ष से उचित पद, इज्जत और नाम कमाते है. किसी को अपने पक्ष में खींचने में निपुण है. जो लोग आपके अनुसार कार्य नहीं करते उनके प्रति आपकी धारणा नकारात्मक रहती है. किन्तु मेष राशि के जातक जिन पर प्रसन्न हो जाते हैं उन पर जान भी न्योछावर कर देते हैं.


  • वृषभ राशि
  • स्वामी – शुक्र
  • अIराध्य देव – कुलस्वामिनी
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – ब, व और ऊ
  • शुभ रत्न – हीरा
  • शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष

वृषभ राशि के जातकों का स्वभाव गंभीर, स्थिर और व्यव्हार कुशल रहताहै. सौंदर्य से प्रेम करने वाले और शिष्टप्रिय होते है. पुराने विचारों में मानते है. धन और नाम हासिल करते हैं. अपने पुराने विचारों की वजह से लोगों से उंच नीच रहती है. प्रभावपूर्ण वाणी आपकी विेषेषता है. सफलता प्राप्त करने के बाद भी लोगों को साथ में रख कर चलना आपकी आदत है. आप भावुक और ह्रदय से सच्चे है. तत्काल लाभ की अभिलाष रखते हैं मगर उपेक्षा के पात्र बनते है.


  • मिथुन राशि
  • स्वामी – बुध
  • अIराध्य देव – कुबेर
  • तत्व – हवा
  • नाम के पहले अक्षर – क, छ, घ
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष

मिथुन राशि के जातकों में दुसरो की प्रकृति तथा व्यवहार को तीव्रता से समझ लेते हैं. मिलनसार स्वभाव की वजह से बहुत मित्र होते हैं. किसी भी कठिन बात को बुद्धिपूर्वक आसानी से बोल लेते हैं. आकर्षक और मनोरंजक व्यक्तित्व इनकी विशेषता हैं.

किन्तु अंद्रोनी तौर पर शुभ आचार विचार वाले और एकाग्र होते हैं. किन्तु बुरी सांगत को ले कर अपनी प्रतिभा को नुक्सान करते हैं. साथ ही कुछ मित्रों की संगत से मदद भी मिलती हैं. मिथुन राशि के जातक अधिकतम उदार दिल, बलशाली, चतुर तथा भोग विलास में रस रखनेवाले होते हैं.


  • कर्क राशि
  • स्वामी – चन्द्रमा
  • अIराध्य देव – शंकर भगवान
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – ड, ह
  • शुभ रत्न – मोती
  • शुभ रुद्राक्ष – दो मुखी रुद्राक्ष

इस राशि के लोग सौन्दर्यवान और घर परिवार से अत्यधिक मोह रखने वाले होते हैं. भावनात्मक रूप से अपने आप को सुरक्षित रहना चाहते है. इसी वजह से अपनी भावनाओं को सही मायने में प्रस्तुत करने से डरते है.

यह राशि वाले रिश्तों और परिवार में रचे रहते हैं. प्रकृति से लोगों को सुरक्षा देने वाले और अन्य लोगो को पालन पोषण देते हैं. जज्जबाती और देशभक्त तथा मातृभक्त रहते हैं. इनकी प्रकृति लोगों की समझ में जल्द नहीं आती. ऊपर से भावनाहीन मगर अंदर से मोम जैसा व्यक्तित्व और प्रेमी स्वभाव रहता हैं.


  • सिंह राशि
  • स्वामी – सूर्य
  • अIराध्य देव – सूर्य भगवान
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – म, ट
  • शुभ रत्न – माणिक्य
  • शुभ रुद्राक्ष – एक मुखी रुद्राक्ष

सिंह राशि के जातक किसी के सामने झुकना पसंद नहीं करते. स्वभाव से उत्साही, निर्भयी, क्रोधी, वीर, स्वतन्त्र और कठिन परिस्थितियों में भी विचलित न होने वाले व्यक्ति होते हैं. सन्तोषपूर्ण होने के कारन आर्थिक उन्नति नहीं कर पाते. अकेले रहना अधिक पसंद करते हैं जिसकी वजह से जीवन में कठिनाइयां रहती है. सिंह राशि के जातक अधिकतम अपने शोख़ को अपना पेश बनाते हैं. ह्रदय से आप दूसरों का भला हमेशा चाहते हैं मगर आपका अहंकार आपको दुसरो से जोड़ने में रुकावटें पैदा करता हैं. जन्म से ही आप संचालन और नेतृत्व की शक्तियां रखते हैं.


  • कन्या राशि
  • स्वामी – बुध
  • अIराध्य देव – कुबेर
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – प, ठ, ण
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष

कन्या राशि के जातक स्वभाव से अधिक दृढ़ निश्चयी और कुछ अंश तक जिद्दी भी होते हों. एक बार जो सोच लेते है उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं. सञ्चालन में कुशल, कलाओं में निपुण और धनी रहते हैं. वाणी में मधुरता, बुद्धिमता, विचारशीलता और व्यवहारिकता इनकी खासियतें हैं. स्वच्छता के अति आग्रही और हर कार्य को व्यवस्थापूर्ण करना चाहते हैं. मेहनती और सफलता को तीव्रता से पाने वाले व्यक्ति हैं. किन्तु सांसारिक जीवन में भाग्यशाली नहीं होते. ह्रदय से रोमांटिक रहते हैं किन्तु भावनाओं को प्रदर्शित करने में विश्वास नहीं रखते. इसकी वजह से प्रेम सम्बन्धो और वैवाहिक सम्बन्धो में सफलता नहीं मिलते.


  • तुला राशि
  • स्वामी – शुक्र
  • अIराध्य देव – कुल स्वामिनी
  • तत्व – वायु
  • नाम के पहले अक्षर – र, त
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष

तुला राशि के जातक जन्मजात कुशल राजनीतिज्ञ, विचारशील और चतुर होते हैं. स्वभाव संतुलित रहता है और हर वस्तु को सम्पूर्ण समीक्षा और परिक्षण के बाद समझते हैं. आज्ञा के पालक रहते हैं. सौंदर्य और सुघड़ता को बहुत पसंद करते हैं. दूरदर्शिता से भरपूर आपका स्वभाव कार्य क्षेत्र में अच्छी तरक्की करवाता हैं.

वाणी और स्वभाव आनंदित रहने की वजह से लोगों में प्रिय बने रहते हैं. सभी राशियों में अत्यधिक आकर्षण पैदा करने वाला व्यक्तित्व रखते हैं. किन्तु कुछ परिस्थितियों में अत्यधिक हताश हो जाते हैं. निर्णय लेने से पहले आयाम और अंजाम के विषय में अत्यधिक सोचते हैं.


  • वृश्चिक राशि
  • स्वामी – मंगल
  • अIराध्य देव – गणेशजी
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – न, य
  • शुभ रत्न – माणिक्य
  • शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी रुद्राक्ष

वृश्चिक राशि के जातक तीक्ष्ण बुद्धि के मालिक होते है. बोले हुए वचन को दृढ़ता से पालनेवाले, थोड़े घमंडी, किसी भी विषय का बारीकी से निरिक्षण करने में निपुण और महत्वकांशी रहते हैं. धार्मिक विचार रखते हैं और हर कार्य को कुशलतापूर्वक करते हैं. अन्य लोगो के स्वभाव, शक्तियों और कमजोरियों को तीव्रता से समझने का गुण रखते हैं. मित्र बनाने के शौकीन और प्रशंसा पाने के अभिलाषी रहते हैं. इनकी दोस्ती जितनी लाभदायी रहती है उतनी ही इनकी दुश्मनी कष्टदायक रहती हैं. मन में जो विचार है उसे प्रस्तुत करने में हिचकिचाते नहीं. स्वभाव से ईर्ष्यालु भी रहते हैं.


  • धनु राशि
  • स्वामी – बृहस्पति
  • अIराध्य देव – दत्तोत्रय
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – भ, ध, फ, ढ
  • शुभ रत्न – पुखराज
  • शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष

धनु राशि के लोग शांतिप्रिय, स्पष्टवक्ता, सत्य के आग्रही, मिलनसार, निडर, वफादार और जिज्ञासु रहते हैं. सत्य और ज्ञान की खोज आपकी प्रकृति है. नेतृत्व का कौशल रखते हैं. मौज शौख के शौकीन होते है और जहाँ जाते हैं लोगों के आकर्षण का केंद्र बनते हैं. अपने कौशल्य और स्वभाव से इन्हे दूसरों पर अधिकार जाताना काफी अच्छा लगता है. शौकीन और दूसरों का ख्याल रखने की प्रकृति निजी सम्बन्धो में सफलता दिलाती है. ह्रदय से बहुत दयालु और मदद करने की भावना रखते हैं.


  • मकर राशि
  • स्वामी – शनि
  • अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – ख, ज
  • शुभ रत्न – नीलम
  • शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष

मकर राशि वाले धनि और सुन्दर होते हैं. कार्य को अपना जीवन मानते हैं और कार्यस्थल पर समय व्यतीत करना अधिक पसंद करते हैं. मौज शौख में काम रूचि रहती है. इस राशि के लोग दोहरे विचार रखते हैं. अपने लक्ष्य के प्रति सम्पूर्ण सम्भान और प्रयत्नशील रहते हैं. रहस्यों और आध्यात्मिक बातों में रूचि रखते हैं. कार्यों को स्वयं पूरा करने में विश्वास रखते हैं. दूसरों का हस्तक्षेप पसंद नहीं करते. ऊँचे विचार वाले और धन कमाने का अच्छा सामर्थ्य रखते हैं. उपकारों को कभी भूलते नहीं.


  • कुम्भ राशि
  • स्वामी – शनि
  • अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
  • तत्व – वायु
  • नाम के पहले अक्षर – ग, स, श, ष
  • शुभ रत्न – नीलम
  • शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष

कुम्भ राशि के लोग अधिकतर परोपकारी और प्रेमी स्वभाव के होते है. किसी पर जल्दी मोहित हो जाते है. परोपकारी होने पर भी किसी के विरुद्ध षड़यंत्र रच सकते है. ह्रदय की बातों को छुपाने में माहिर होते है. कला, संगीत, शिल्प और साहित्य में रूचि रखने वाले हैं. भावनाओं और बातों को गुप्त रखने की वजह से मानसिक और शारीरिक रूप से कष्ट उठाते है. सौंदर्य के पुजारी होते है और आगे बढ़ने की इच्छा हमेशा रखते हैं. जो भी कार्य करते है उसे पुरे दिल से संपन्न करते हैं. किन्तु तीव्र क्रोध आपका सबसे बड़ा अवगुण है.


  • मीन राशि
  • स्वामी – बृहस्पति
  • अIराध्य देव – दत्तोत्रय
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – द, च, थ, झ
  • शुभ रत्न – पुखराज
  • शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष

मीन राशि के लोग अत्यंत शांत, सौम्य, करुणामय स्वभाव के और आकर्षक व्यक्तित्य के मालिक हैं. अपनी हर गलती पर माफ़ी मांग लेते हैं. अध्यात्म और ईश्वर भक्ति में लीन रहते हैं. गंभीर और दोहरे स्वभाव के बावजूद भी आपके विचार हमेशा सरल और अच्छे रहते हैं. दूसरों के बारे में इतना अधिक सोचते हैं की दुसरो के दर्द को स्वयं बर्दाश्त कर लेते है. अन्य के लिए अपने खुशियों को त्यागना पसंद करते हैं. गलत और सही के बीच में निर्णय लेने में हमेशा मानसिक रूप से त्रस्त रहते हैं. किन्तु सहानुभूति, बेफिक्र और उदार स्वभाव की वजह से लोगों में प्रिय रहते हैं.

zhakkas

zhakkas