: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/01/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दिल्ली में मुफ्त,क्या उत्तर प्रदेश सरकार नहीं कर सकती है यह नेक काम ?

भाई दूज पर DTC बसों में बहनें कर पाएंगी मुफ्त यात्रा




नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने भैया दूज पर आवागमन करने के लिए महिलाओं एवं लड़कियों के लिए सभी बसें फ्री कर दी हैं। दिल्ली के परिहवन मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि भैया दूज यानी 1 नवबर को दिल्ली परिवहन निगम की एसी एवं नॉन एसी बसें तथा क्लस्टर बसें महिलाओ एवं लड़कियों के लिए फ्री रहेंगी।
बता दे कि यह पहली भैया दूज है जब दिल्ली सरकार ने महिलाओं के लिए सभी तरह की बसें फ्री कर दी हैं। इससे पहले इस पर्व पर नॉन एसी बसों में ही ये सुविधा मिलती थी। इस मौके पर डीटीसी की अधिक बसों को सड़क पर उतारा जाएगा।

  • उत्तर प्रदेश सरकार नहीं कर सकती है यह नेक काम   ?

1 नवंबर को भैया दूज की सुबह से शाम तक डीटीसी बसों में यात्रा करने वाली महिलाओं से किराया नहीं लिया जाएगा। दिल्ली परिहवन निगम ने सभी रीजनल मैनेजर तथा डिपो मैनेजर को निर्देश दिए है कि वे अपने अधिकार क्षेत्र का निरीक्षण करते रहें और जरूरत के अनुसार बसें उपलब्ध कराएं। यातायात निरीक्षकों को भी सक्रिय रहने के लिए कहा गया है।


बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | लोकल फेरा लगा कर ही दिल्ली जाएगी बसें





बदायूं : भाई दूज की तैयारी में रोडवेज और रेलवे दोनों ने ही तैयारी कर रखी हैं पर रोडवेज की तैयारी और प्ला¨नग काफी मजबूत दिखाई दे रही हैं। रेलवे ने तय किया है कि हर रेलवे कोच में आरपीएफ जवान की मौजूदगी रहे ताकि होने वाली छेड़छाड़ की घटनाओं पर पूरी तरह से पाबंदी लग सके। रोडवेज प्रबंधन ने तय किया है कि दिल्ली जाने वाली कुछ सेवाएं कैंसिल की जाएगी और जो सेवा दिल्ली जाएगी वो पहले एक फेरा लोकल में लगाएगी।

उप्र परिवहन निगम ने भाई दूज वाले दिन भाई बहनों को दिक्कत न हो इसके लिए प्रबंध करते हुए क्षेत्रीय सहायक प्रबंधक को अपनी तरह से निर्णय लेने को कहा है। यही नहीं रोडवेज बदायूं डिपो को अधिकाधिक मुनाफा कमा कर देने के निर्देश दिए गए हैं। रोडवेज में कंडक्टर ड्राइवर और कार्यशाला के कर्मियों के लिए प्रोत्साहन योजना भी रोडवेज सेवाओं को काफी बल दे रही हैं। माना जा रहा है कि आर्थिक रूप से प्रोत्साहित किए जाने के चलते ही इस बार कोई कर्मी अवकाश पर नहीं है और यातायात बेहतर और सुगम होकर चल रहा है। यात्रियों की सहूलियत के लिए सुबह चार बजे से बसों का पूरी ताकत के साथ संचालन किया जाएगा। हर पंद्रह मिनट पर बस देने का निर्णय लिया है ताकि भीड़ न लगे और यात्रियों को कोई दिक्कत न हो। चारों ही तरफ बसों को दौड़ाने के लिए प्ला¨नग कर ली गई है। सर्वाधिक दिल्ली के लिए बसों को संचालित किया जाएगा और दिल्ली की ही कुछ बसों को लोकल में भी दौड़ाने की तैयारी है। इससे यात्रियों को सहूलियत मिलेगी तो साथ ही में दिल्ली के लिए निकलने वाले यात्री भी मिलते जाएंगे।

दिल्ली जाने वाली बसों के लोकल में भी फेरे लगवाएंगे ताकि यात्रियों को कोई परेशानी न होने पाए। हमारो पास वर्तमान में 142 बसों की फ्लीट है। पूरी ताकत से इसमें जुटा जाएगा। हमारी टीम वैसे भी बेहतर कर रही है कोई शिकायत नहीं मिली है।

 राजेश ¨सह, एआरएम

बदायूं डिपो

भाई दूज के दिन सफर करने के दौरान रोडवेज ने पहल की है। तय किया है कि सफर करने वाली हर बहन को सीट दी जाएगी। स्टैं¨डग में बसें न ले जाने और अगली बस का प्रबंध कराने को भी कहा गया है ताकि मुनाफा भी बेहतर मिले और जनता में रिस्पासं भी बढि़या जाए। परिवहन सेवा को बेहतर करने की दिशा में यह अनूठा प्रयास करने की योजना है। एआरएम ने बताया कि सफर के दौरान महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। सीटें फुल हैं तो कंडक्टर को इसकी जानकारी संबधित डिपो से शेयर करने को कहा गया है।

रेलवे स्टेशन पर भी भाई दूज की तैयारी की गई है। कासगंज की तरफ तीन ट्रेनें और बरेली की तरफ दो ट्रेनों के संचालन के बाद अब जीआरपी और हमारी आरपीएफ की जिम्मेदारी बढ़ गई है। तीन ट्रेनें कासगंज और दो ट्रेनें बरेली की संचालित हैं। इनके जरिए लगातार ही आवाजाही हो रही है। पर कोशिश करेंगे हर कोच में आरपीएफ जवान की मौजूदगी पहुंचे ताकि असामाजिक तत्वों पर नकेल पड़ सके। कोई अवांछित तत्व सामने आएगा तो कड़ी कार्रवाई करेंगे। सुबह के वक्त पहली ट्रेन के समय में अतिरिक्त भीड़ रहती है।

दिनेश चंद, इंस्पेक्टर

आरपीएफ पोस्ट बदायूं

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | भोपाल कांड के बाद बदायूं जेल में अलर्ट





बदायूं : भोपाल सेंट्रल जेल में बंदी रक्षक की हत्या कर फरार हुए आठ सिमी आतंकियों की सूचना मिलते ही स्थानीय जिला कारागार में भी अलर्ट जारी कर दिया गया। सभी बंदी रक्षकों ने बैरकों में चे¨कग अभियान चलाया तो कुख्यात अपराधियों की निगरानी बढ़ा दी गई। सुरक्षा को लेकर गंभीर जिला कारागार प्रशासन ने हर मुलाकाती पर भी नजर रखी।
सोमवार को भोपाल कांड की सूचना मिलते ही जेल में अलर्ट जारी कर दिया गया। सबसे पहले जेल अधिकारियों ने आपस में वार्ता कर सुरक्षा के ¨बदुओं पर चर्चा की। जिला कारागार की दीवार के चारों ओर सुरक्षा के मानकों को देखा गया। पहरे पर तैनात जेल कर्मियों को सख्त हिदायत दी गई कि वह ड्यूटी के दौरान पूरी चौकसी बरतें। जेलर ने सभी बंदी रक्षकों को निर्देश दिया कि वह अपने-अपने बैरक में सभी की तलाशी लेने के साथ ही संदिग्ध वस्तुओं को बरामद करें। सभी ने अभियान को तेजी से चलाते हुए बैरकों की तलाशी ली तो बंदी और कैदियों को भी किसी भी तरह की हरकत करने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। जेल में बंद शातिर अपराधियों की मुलाकात को आने वाले सभी लोगों पर विशेष ध्यान दिया गया। हालांकि जेल में पूरी कार्रवाई के दौरान किसी भी प्रकार की कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हो सकी।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिल्सी पटाखों से तीन झुलसे, दो घर जले







बिल्सी नगर के मुहल्ला एक निवासी लव कुमार वाष्र्णेय एलआइसी जेडएम क्लब का सदस्य है। रविवार को दीपावली के त्योहार के मौके पर अनार छोड़ रहा था। इसी दौरान अचानक अनार बम उसके हाथ में ही फट गया। जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | भाजपा मोदी के नाम पर लड़ेगी यूपी में चुनाव








बदायूँ   |  केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि भाजपा यूपी में विधानसभा चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि यूपी में मुख्यमंत्री पद के लिए चेहरा तलाशने की कवायद चल रही है। अगर चुनाव से पहले कोई नाम तय नहीं हुआ तो मोदी के नाम पर चुनाव लड़ा जाएगा और पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। सरदार पटेल जयंती पर भाजपा के कार्यक्रम में शामिल होने आए संतोष गंगवार यहां मीडिया से बात कर रहे थे। जेएनयू से लापता बदायूं के छात्र नजीब के मामले में उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस अपना काम कर रही है। पूरे मामले में धैर्य रखने की जरूरत है। मोदी के चीन बार्डर पर सैनिकों के साथ दिवाली बनाने पर मायावती के कटाक्ष पर गंगवार ने उन्हें को हिदायत दी कि वह अपने गिरेबान में झांककर देखें। गंगवार ने कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा का यूपी में वजूद खत्म हो गया है। यूपी में किसी भी राजनीतिक दल से गठबंधन की बात से भी केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री ने इंकार किया।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | शिक्षक के घर से दिनदहाड़े तीन लाख की चोरी




  •                                             बदायूँ



एपीएम पीजी कॉलेज के सचिव और राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त शिक्षक रामप्रकाश शर्मा का घर चोरों दिनदहाड़े खंगाल लिया। शिक्षक समेत किरायेदार परिवार के सभी सदस्य पड़ोस में चल रहे भंडारे में व्यस्त थे। लौटे तो गेट का ताला टूटा मिला। चोरी गए सामान में सोने की कीमती जेवरात, नगदी और घरेलू सामान शामिल है।
घटना सोमवार दोपहर करीब दो बजे की है। पंजाबी कालोनी निवासी शिक्षक रामप्रकाश शर्मा करीब 12 बजे घर में ताला डालकर पड़ोस के मोहल्ला श्रीनारायनगंज में चल रहे भंडारे में परिवार के साथ गए थे। किरायेदार आदित्य मिश्र भी साथ थे। दोपहर बाद आदित्य की पत्नी रानी भंडारे से लौटी तो घर का ताला टूटा हुआ था। उन्होंने फोन कर पति समेत शिक्षक के बेटे महावीर शर्मा को जानकारी दी। खबर मिलने पर बाकी लोग भी पहुंच गए। चोरों ने इत्मिनान से पूरा घर खंगाल लिया। रामप्रकाश शर्मा के बेटे महावीर के मुताबिक चोर करीब एक सौ ग्राम सोने की तगड़ी, पत्नी का मंगलसूत्र, सोने की चेन, चूड़ियां, चांदी की पाजेब और 20 हजार रुपया नगद समेट ले गए। किराएदार आदित्य के कमरे से भी हजारों रुपये का सामान समेट लिया। शिक्षक के घर में चोरी की सूचना पर दरोगा राजपाल सिंह और राकेश कुमार ने फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर मुआयना किया। रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दे दी गई है। देर शाम तक पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी।
कोई करीबी या परिचित हो सकता है सूत्रधार
शिक्षक रामप्रकाश शर्मा की अगुवाई में गोवर्धन पूजन पर हर साल भंडारे का आयोजन कराया जाता है। संभव है कि चोरों को यह बात पहले से पता रही हो। गृहस्वामी और उनके परिवार के सदस्य घर के मेनगेट पर ताला डाल कर निकले तो किसी न किसी ने उन्हें जाते हुए जरूर देखा होगा। शिक्षक के घर की दीवार गुरुद्वारे से सटी है। गुरुद्वारे की वजह से इलाके में पंजाबी समाज के लोगों की आवाजाही भी रहती है। रेकी करके ही ताला तोड़ा गया। संभव यह भी है कि चोरों में से ही कोई भंडारे में शामिल होकर शिक्षक और उनके परिवार पर नजर रखे हो। पुलिस इन बिंदुओं पर जांच करे तो खुलासा जल्द संभव हो सकता है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आसफपुर पुलिस पिकेट के पास राहगीरों से लूटपाट





आसफपुर। थाना फैजगंज बेहटा में रविवार शाम फिर राहजनी की वारदात हुई। घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर पुलिस पिकेट तैनात रही। आधा दर्जन बदमाशों ने रोड पर पेड़ डालने के बाद राहगीरों को निशाना बनाया। लुटे लोग पिकेट के पास पहुंचे तो उनको हड़काकर भगा दिया गया। ओरछी-आसफपुर रोड पर एक सप्ताह में राहजनी की यह तीसरी वारदात है। फैजगंज बेहटा थाने के गांव दूंदपुर निवासी हाफिज मोहम्मद असलम और कौशर रविवार को चंदौसी गए थे। दोनों बाइक से शाम को वापस लौट रहे थे। रास्ते में ओरछी तिराहा-आसफपुर रोड पर देवस्थान के पास बदमाशों ने रोड पर पेड़ डालकर दोनों को रोक लिया। बदमाशों ने असलहों के बल पर असलम से 55 सौ रुपये, मोबाइल और कौशर से आठ सौ रुपये, मोबाइल लूट लिया। इसके बाद बदमाशों ने नहडोली के अवधेश यादव और भूरे यादव को निशाना बनाया। बदमाशों ने दोनों से मोबाइल के साथ अवधेश से सात हजार और भूरे से दो हजार रुपये लूट लिए। गौर करने वाली बात यह है कि ओरछी चौराहे पर पुलिस पिकेट की तैनाती रहती है। पिकेट के बावजूद बदमाश यहीं पर नहीं रुके। रामपुर के थाना शाहबाद के गांव ढकिया निवासी रजनेश सिंह और पप्पू सिंह को भी बदमाशों ने निशाना बनाया। दोनों से 20 हजार रुपये और मोबाइल लूट लिए। रजनेश का एक रिश्तेदार चंदौसी में भर्ती है। वह पप्पू के साथ उसी रिश्तेदार को खर्च के लिए रुपये देने जा रहे थे। करीब एक घंटा तक बदमाश राहजनी करते रहे, ओरछी चौराहे पर तैनात पुलिस पिकेट को भनक तक नहीं लगी।
यहीं तैनात है चर्चित सिपाही
आसफपुर। फैजगंज बेहटा थाने में करीब सात साल से तैनात एक चर्चित सिपाही इसी पिकेट में तैनात है। गौर करने वाली बात यह है कि विवादों से घिरे इस सिपाही को ओरछी चौराहे की पुलिस पिकेट में स्थायी रूप से तैनात कर दिया गया है। पिकेट की तैनाती से चंद फलांग की दूरी पर बदमाश आए दिन लूटपाट कर रहे हैं। ऐसे में पिकेट पर अंगुली उठना लाजिमी है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सफाई के त्योहार पर शहर में गंदगी का अंबार






बदायूँ | रोशनी और साफ सफाई के पर्व दिवाली पर इस बार शहर के लोगों में खासा रोष है। सफाई के प्रतीक त्योहार पर लोगों के घरों के आसपास, गलियों, तिराहों, चौराहों, नुक्कड़ सभी जगहों पर कूड़ों के ढेर लगे हुए हैं। इससे न सिर्फ पालिका प्रशासन बल्कि सफाईकर्मियों के प्रति भी लोगों में रोष बढ़ता जा रहा है।

दिवाली पर लोग घरों की सफाई करने के साथ ही रंग-रोगन भी करते हैं। इससे सामान्य दिनों की अपेक्षा घरों से कूड़ा अधिक फेंका जाता है। ऐसे में सफाईकर्मियों की हड़ताल से घरों से निकला कूड़ा गलियों और सड़कों पर फैला घूम रहा है। इससे बाजार में आने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नवदुर्गा के दिवाली पर सफाई कर्मियों की हड़ताल होने से लोगों में रोष व्याप्त है। शहरियों ने शहर में सफाई व्यवस्था दुरुस्त किए जाने की मांग की है, जिससे कि दिवाली सफाई भरे माहौल में मनाई जा सके।
गंदगी होने से व्यापारियों में भी उबाल
बदायूं। उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल (मिश्रा गुट) के जिलाध्यक्ष संदीप गुप्ता का कहना है कि त्योहारों पर सफाई का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। ऐसे वक्त में हड़ताल करने से लोगों को परेशानी होती है। इस मामले की शिकायत डीएम से की जाएगी। उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल (कंछल गुट) के जिलाध्यक्ष नवनीत गुप्ता शोंटू का कहना उद्योग बंधुओं की बैठक में भी इस मुद्दे को उठाया था। इस मामले में व्यापारी चुप नहीं बैठेंगे। व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष मनोज कृष्ण गुप्ता ने कहा कि नाले की सफाई को लेकर भी आंदोलन कर चुके हैं। किसी भी कीमत पर शहर में गंदगी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
 तीसरे दिन भी धरने पर रहे सफाई कर्मी
उत्तर प्रदेशीय सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले तीसरे दिन भी सफाई कर्मचारी नगर पालिका परिषद के प्रांगण में हड़ताल पर डटे रहे। महासचिव रमेश डी लाल ने कहा कि कर्मचारियों को एसीपी एरियर, बोनस व वेतन नहीं बांटा गया है। आरोप लगाया कि नगर पालिका प्रशासन नहीं चाहता कि सफाई कर्मचारियों के बच्चे दिवाली मनाएं। कालीचरन वाल्मीकि ने कहा कि दिवाली जैसे पर्व पर सफाई कर्मचारियों के बच्चे भूखे हैं, उन्हें वेतन भी नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने इसे हिटलरशाही बताया। सभा में श्यामबिहारी, सिकंदर, राकेश, वीरू, रेखादास, मालती देवी, रामप्यारी, विक्की, राजू, रंजीत आदि मौजूद रहे।
दिवाली से पहले सफाई कर्मियों की हड़ताल को समाप्त कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस बारे में दो बार उनके प्रतिनिधि मंडल से वार्ता करने के प्रयास किए जा चुके हैं। उम्मीद है कि जल्द ही शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त हो जाएगी।
-श्रीराम यादव, सिटी मजिस्ट्रेट, प्रभारी ईओ

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | ककोड़ा मेला: दिवाली से पहले पहुंचा टेंट






बदायूँ,। मिनी कुंभ कहलाने वाले ककोड़ा मेला में चहलपहल अभी से शुरू हो गई है। मेले में आगरा के टेंट गोदाम में आग लगने के बाद आननफानन में भिंड (मध्यप्रदेश) से टेंट मंगाया गया है। सिरकी पाल के बेड़ा बनाने का काम शुरू कर दिया गया है।

मेले में करीब साढे़ तीन सौ शौचालय भी बनाए जाएंगे। जिला पंचायत की ओर से पहली बार गंगा किनारे 50 शौचालय बनाए जाएंगे। एक समर्सिबल भी लगेगा। हैंडपंप की खेप भी मेला स्थल पहुंच गई है। पांच टैंकरों से मेले के कच्चे मार्ग का छिड़काव कराया जा रहा है। हालांकि लाइट की व्यवस्था अभी नहीं हो पाई है। लोग जंगल में अंधेरे में रहने को मजबूर हैं।
रोशनी और सुरक्षा के इंतजाम नहीं
मेला स्थल पर जहां लाखों रुपये कीमत का सामान पहुंच गया है। वहीं कुछ लोग भी पहुंच गए हैं। बिजली व्यवस्था अभी दुरुस्त नहीं हो सकी है। सुरक्षा के इंतजाम भी नहीं हो सके हैं। पुलिस की ओर से कोई इंतजाम दिखाई नहीं दे रहे हैं। जानकारों की मानें तो दो वर्ष पूर्व तक मेला क्षेत्र कादरचौक थाने का हुआ करता था, लेकिन दो वर्ष से मेला लगने वाला क्षेत्र कासगंज जिले के सिकंदरपुर वैश्य थाने में पहुंच गया है। राजस्व भी वहीं का है। पहले कादरचौक पुलिस रात्रि गश्त करती थी। वहीं मेले की सुरक्षा को लेकर रात्रि गश्त के लिए थानाध्यक्ष सिकंदरपुर वैश्य देवेंद्र कुमार त्यागी ने मना किया है। उन्होंने कहा कि मेला उनके क्षेत्र में जरूर है, लेकिन वह रात्रि गश्त नहीं कराएंगे। थानाध्यक्ष कादरचौक रुकुमपाल सिंह ने कहा कि मेले का चार्ज अभी नहीं मिला है। फिर भी रात को कादरचौक पुलिस ही गश्त कराएगी।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का राशिफल 01/11/2016



मेष राशि
  • स्वामी – मंगल
  • अराध्य देव – श्री गणेशजी
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – अ, ल, इ
  • शुभ रत्न – मूंगा
  • शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी

मेष राशि के जातक जन्म से ही नेतृत्व में निपुण होते है. प्रायः ऊर्जा और अति- उत्साह से सभर रहते है. हालाँकि स्वच्छ प्रकृति के मगर अधिक आत्म केंद्रित रहते है. किसी भी कार्य को योजनापूर्वक करने में माहिर हैं. संघर्ष से उचित पद, इज्जत और नाम कमाते है. किसी को अपने पक्ष में खींचने में निपुण है. जो लोग आपके अनुसार कार्य नहीं करते उनके प्रति आपकी धारणा नकारात्मक रहती है. किन्तु मेष राशि के जातक जिन पर प्रसन्न हो जाते हैं उन पर जान भी न्योछावर कर देते हैं.

वृषभ राशि
  • स्वामी – शुक्र
  • अIराध्य देव – कुलस्वामिनी
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – ब, व और ऊ
  • शुभ रत्न – हीरा
  • शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष

वृषभ राशि के जातकों का स्वभाव गंभीर, स्थिर और व्यव्हार कुशल रहताहै. सौंदर्य से प्रेम करने वाले और शिष्टप्रिय होते है. पुराने विचारों में मानते है. धन और नाम हासिल करते हैं. अपने पुराने विचारों की वजह से लोगों से उंच नीच रहती है. प्रभावपूर्ण वाणी आपकी विेषेषता है. सफलता प्राप्त करने के बाद भी लोगों को साथ में रख कर चलना आपकी आदत है. आप भावुक और ह्रदय से सच्चे है. तत्काल लाभ की अभिलाष रखते हैं मगर उपेक्षा के पात्र बनते है.

मिथुन राशि
  • स्वामी – बुध
  • अIराध्य देव – कुबेर
  • तत्व – हवा
  • नाम के पहले अक्षर – क, छ, घ
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष

मिथुन राशि के जातकों में दुसरो की प्रकृति तथा व्यवहार को तीव्रता से समझ लेते हैं. मिलनसार स्वभाव की वजह से बहुत मित्र होते हैं. किसी भी कठिन बात को बुद्धिपूर्वक आसानी से बोल लेते हैं. आकर्षक और मनोरंजक व्यक्तित्व इनकी विशेषता हैं.

किन्तु अंद्रोनी तौर पर शुभ आचार विचार वाले और एकाग्र होते हैं. किन्तु बुरी सांगत को ले कर अपनी प्रतिभा को नुक्सान करते हैं. साथ ही कुछ मित्रों की संगत से मदद भी मिलती हैं. मिथुन राशि के जातक अधिकतम उदार दिल, बलशाली, चतुर तथा भोग विलास में रस रखनेवाले होते हैं.

कर्क राशि
  • स्वामी – चन्द्रमा
  • अIराध्य देव – शंकर भगवान
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – ड, ह
  • शुभ रत्न – मोती
  • शुभ रुद्राक्ष – दो मुखी रुद्राक्ष

इस राशि के लोग सौन्दर्यवान और घर परिवार से अत्यधिक मोह रखने वाले होते हैं. भावनात्मक रूप से अपने आप को सुरक्षित रहना चाहते है. इसी वजह से अपनी भावनाओं को सही मायने में प्रस्तुत करने से डरते है.

यह राशि वाले रिश्तों और परिवार में रचे रहते हैं. प्रकृति से लोगों को सुरक्षा देने वाले और अन्य लोगो को पालन पोषण देते हैं. जज्जबाती और देशभक्त तथा मातृभक्त रहते हैं. इनकी प्रकृति लोगों की समझ में जल्द नहीं आती. ऊपर से भावनाहीन मगर अंदर से मोम जैसा व्यक्तित्व और प्रेमी स्वभाव रहता हैं.

सिंह राशि
  • स्वामी – सूर्य
  • अIराध्य देव – सूर्य भगवान
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – म, ट
  • शुभ रत्न – माणिक्य
  • शुभ रुद्राक्ष – एक मुखी रुद्राक्ष

सिंह राशि के जातक किसी के सामने झुकना पसंद नहीं करते. स्वभाव से उत्साही, निर्भयी, क्रोधी, वीर, स्वतन्त्र और कठिन परिस्थितियों में भी विचलित न होने वाले व्यक्ति होते हैं. सन्तोषपूर्ण होने के कारन आर्थिक उन्नति नहीं कर पाते. अकेले रहना अधिक पसंद करते हैं जिसकी वजह से जीवन में कठिनाइयां रहती है. सिंह राशि के जातक अधिकतम अपने शोख़ को अपना पेश बनाते हैं. ह्रदय से आप दूसरों का भला हमेशा चाहते हैं मगर आपका अहंकार आपको दुसरो से जोड़ने में रुकावटें पैदा करता हैं. जन्म से ही आप संचालन और नेतृत्व की शक्तियां रखते हैं.

कन्या राशि
  • स्वामी – बुध
  • अIराध्य देव – कुबेर
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – प, ठ, ण
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष

कन्या राशि के जातक स्वभाव से अधिक दृढ़ निश्चयी और कुछ अंश तक जिद्दी भी होते हों. एक बार जो सोच लेते है उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं. सञ्चालन में कुशल, कलाओं में निपुण और धनी रहते हैं. वाणी में मधुरता, बुद्धिमता, विचारशीलता और व्यवहारिकता इनकी खासियतें हैं. स्वच्छता के अति आग्रही और हर कार्य को व्यवस्थापूर्ण करना चाहते हैं. मेहनती और सफलता को तीव्रता से पाने वाले व्यक्ति हैं. किन्तु सांसारिक जीवन में भाग्यशाली नहीं होते. ह्रदय से रोमांटिक रहते हैं किन्तु भावनाओं को प्रदर्शित करने में विश्वास नहीं रखते. इसकी वजह से प्रेम सम्बन्धो और वैवाहिक सम्बन्धो में सफलता नहीं मिलते.


तुला राशि
  • स्वामी – शुक्र
  • अIराध्य देव – कुल स्वामिनी
  • तत्व – वायु
  • नाम के पहले अक्षर – र, त
  • शुभ रत्न – पन्ना
  • शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष

तुला राशि के जातक जन्मजात कुशल राजनीतिज्ञ, विचारशील और चतुर होते हैं. स्वभाव संतुलित रहता है और हर वस्तु को सम्पूर्ण समीक्षा और परिक्षण के बाद समझते हैं. आज्ञा के पालक रहते हैं. सौंदर्य और सुघड़ता को बहुत पसंद करते हैं. दूरदर्शिता से भरपूर आपका स्वभाव कार्य क्षेत्र में अच्छी तरक्की करवाता हैं.

वाणी और स्वभाव आनंदित रहने की वजह से लोगों में प्रिय बने रहते हैं. सभी राशियों में अत्यधिक आकर्षण पैदा करने वाला व्यक्तित्व रखते हैं. किन्तु कुछ परिस्थितियों में अत्यधिक हताश हो जाते हैं. निर्णय लेने से पहले आयाम और अंजाम के विषय में अत्यधिक सोचते हैं.

वृश्चिक राशि
  • स्वामी – मंगल
  • अIराध्य देव – गणेशजी
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – न, य
  • शुभ रत्न – माणिक्य
  • शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी रुद्राक्ष

वृश्चिक राशि के जातक तीक्ष्ण बुद्धि के मालिक होते है. बोले हुए वचन को दृढ़ता से पालनेवाले, थोड़े घमंडी, किसी भी विषय का बारीकी से निरिक्षण करने में निपुण और महत्वकांशी रहते हैं. धार्मिक विचार रखते हैं और हर कार्य को कुशलतापूर्वक करते हैं. अन्य लोगो के स्वभाव, शक्तियों और कमजोरियों को तीव्रता से समझने का गुण रखते हैं. मित्र बनाने के शौकीन और प्रशंसा पाने के अभिलाषी रहते हैं. इनकी दोस्ती जितनी लाभदायी रहती है उतनी ही इनकी दुश्मनी कष्टदायक रहती हैं. मन में जो विचार है उसे प्रस्तुत करने में हिचकिचाते नहीं. स्वभाव से ईर्ष्यालु भी रहते हैं.

धनु राशि
  • स्वामी – बृहस्पति
  • अIराध्य देव – दत्तोत्रय
  • तत्व – अग्नि
  • नाम के पहले अक्षर – भ, ध, फ, ढ
  • शुभ रत्न – पुखराज
  • शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष

धनु राशि के लोग शांतिप्रिय, स्पष्टवक्ता, सत्य के आग्रही, मिलनसार, निडर, वफादार और जिज्ञासु रहते हैं. सत्य और ज्ञान की खोज आपकी प्रकृति है. नेतृत्व का कौशल रखते हैं. मौज शौख के शौकीन होते है और जहाँ जाते हैं लोगों के आकर्षण का केंद्र बनते हैं. अपने कौशल्य और स्वभाव से इन्हे दूसरों पर अधिकार जाताना काफी अच्छा लगता है. शौकीन और दूसरों का ख्याल रखने की प्रकृति निजी सम्बन्धो में सफलता दिलाती है. ह्रदय से बहुत दयालु और मदद करने की भावना रखते हैं.

मकर राशि
  • स्वामी – शनि
  • अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
  • तत्व – पृथ्वी
  • नाम के पहले अक्षर – ख, ज
  • शुभ रत्न – नीलम
  • शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष

मकर राशि वाले धनि और सुन्दर होते हैं. कार्य को अपना जीवन मानते हैं और कार्यस्थल पर समय व्यतीत करना अधिक पसंद करते हैं. मौज शौख में काम रूचि रहती है. इस राशि के लोग दोहरे विचार रखते हैं. अपने लक्ष्य के प्रति सम्पूर्ण सम्भान और प्रयत्नशील रहते हैं. रहस्यों और आध्यात्मिक बातों में रूचि रखते हैं. कार्यों को स्वयं पूरा करने में विश्वास रखते हैं. दूसरों का हस्तक्षेप पसंद नहीं करते. ऊँचे विचार वाले और धन कमाने का अच्छा सामर्थ्य रखते हैं. उपकारों को कभी भूलते नहीं.

कुम्भ राशि
स्वामी – शनि
अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
तत्व – वायु
नाम के पहले अक्षर – ग, स, श, ष
शुभ रत्न – नीलम
शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष
कुम्भ राशि के लोग अधिकतर परोपकारी और प्रेमी स्वभाव के होते है. किसी पर जल्दी मोहित हो जाते है. परोपकारी होने पर भी किसी के विरुद्ध षड़यंत्र रच सकते है. ह्रदय की बातों को छुपाने में माहिर होते है. कला, संगीत, शिल्प और साहित्य में रूचि रखने वाले हैं. भावनाओं और बातों को गुप्त रखने की वजह से मानसिक और शारीरिक रूप से कष्ट उठाते है. सौंदर्य के पुजारी होते है और आगे बढ़ने की इच्छा हमेशा रखते हैं. जो भी कार्य करते है उसे पुरे दिल से संपन्न करते हैं. किन्तु तीव्र क्रोध आपका सबसे बड़ा अवगुण है.

मीन राशि
  • स्वामी – बृहस्पति
  • अIराध्य देव – दत्तोत्रय
  • तत्व – जल
  • नाम के पहले अक्षर – द, च, थ, झ
  • शुभ रत्न – पुखराज
  • शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष

मीन राशि के लोग अत्यंत शांत, सौम्य, करुणामय स्वभाव के और आकर्षक व्यक्तित्य के मालिक हैं. अपनी हर गलती पर माफ़ी मांग लेते हैं. अध्यात्म और ईश्वर भक्ति में लीन रहते हैं. गंभीर और दोहरे स्वभाव के बावजूद भी आपके विचार हमेशा सरल और अच्छे रहते हैं. दूसरों के बारे में इतना अधिक सोचते हैं की दुसरो के दर्द को स्वयं बर्दाश्त कर लेते है. अन्य के लिए अपने खुशियों को त्यागना पसंद करते हैं. गलत और सही के बीच में निर्णय लेने में हमेशा मानसिक रूप से त्रस्त रहते हैं. किन्तु सहानुभूति, बेफिक्र और उदार स्वभाव की वजह से लोगों में प्रिय रहते हैं.

zhakkas

zhakkas