: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/02/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सिर में चोट लगने से एक व्यक्ति की मौत







कुँवरगावं थाना क्षेत्र में पेट्रोल पंप के पास गंज तिराहे पर एक व्यक्ति को मौत हो गई बताया जाता है कि आंवला निवासी घनश्याम पुत्र टीकाराम उम्र 40 वर्ष मंगलवार को अपनी पुत्री तारावती को दवाई दिलाकर कुवॅरगॉवसे टैंपो द्वारा बापस अपने घर आंवला को लौट रहे थे उसकी पुत्री तारावती टैंपो में अंदर बैठी थी और वह स्वयं खिड़की पर लटका हुआ था तभी गंज तिराहे पर पहुंच कर अचानक बह टैंपो से गिर गया गिरते ही उसके सिर में चोट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल पर पहुँचकर पुलिस ने मौके का जायजा लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। लड़की तारावती को टैंपो चालक घटनास्थल पर छोड़कर मौके से फरार हो गया। लड़की बहुत ही घबराई हुई थी इसलिए बह कुछ भी नहीं बता सकी। जब परिवार वालों को सूचना मिली तब परिजन मौके पर पहुंच गए और घटनास्थल पर जाम लगाने की कोशिश करने लगे लेकिन पुलिस ने सूझबूझ से काम लेते हुए परिजनों को बहां से हटवा दिया।
पुलिस की सांठगांठ से यह टैंपो चलते हैं और ओवर लोडिंग की बजह से आये दिन हादसे होते हैं। रोजाना यह टैंपो थाने के ठीक सामने से गुजरते हैं लेकिन पुलिस अभी तक खामोश है देखना है कि पुलिस अब इन टैंपो चालकों पर क्या कार्रवाई करती है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मेरठ हाईवे पर पकड़ा गौ मास से लदा ट्रक







बदायूं मेरठ हाईवे पर थाना जरीफनगर के समीप ग्राम बसियो ने पकड़ा गौ  मास से लदा ट्रक  up२७t ३६१२मौके पर पहुंची जरीफनगर पुलिस ने  ट्रक सहित चालक परिचालक को थाने ले आई।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | और देशों की तरह आप भी करें सुरक्षा बलो का सम्मान वीडियो जरूर देखै

  1. video


बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का विचार



आज का विचार

1) समस्या को हल करने की तुलना में बहुत से लोग ज्यादा समय और ताकत उस से जूझने में लगा देते है.

2) सुबह की ‘चाय’ और बड़ो की ‘राय’ वक्त पर ही लेते रहना चाहिए…!

3) खुद के लिए पैसा कमाना अच्छी बात है, और उससे किसी और का भी भला हो तो बहुत अच्छी बात है

4) हर रोज नीद से उठाने के बाद आपके पास अगर करने जेसा काम होंगा तो आपका जिंदगी से कभी झगडा नहीं होंगा.

5) मेरे पास पेड़ कटाने के लिए 10 घंटे है, तो उसमे से 7 घंटे मे कुल्हाड़ी को धार लगने में इस्तमाल करुगा.

जरुर पढ़े :-  आज के सर्वश्रेष्ठ विचार

6) आपके विचार आपके वाक्य तय करते है, आपके वाक्य आपके कृती में बदलते है, आपकी कृती आपकी आदत में बदलती है, आपकी आदते आपका व्यक्तिमत्व तय कराती है, और आपका व्यक्तिमत्व आपका कर्म.

7) नये विचार सुझाना ये दाढ़ी करने जैसा है, अगर ये रोज नहीं हुआ तो आप नालायक हो.

8) जिस चीज का आपको डर लगता है, वही चीज करो, डर हमेशा के लिए ख़तम हो जायेंगा.

9) इस बात की चिंता मत करो की लोग आपके बारे में क्या सोचते है, वो तो इसमे ही व्यस्त हे की आप उनके बारे मै क्या सोचते है.

10) जब दूसरो को बदलना मुश्किल होता है, तब खुद मै बदलाव करना ही अच्छा है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का विचार




आज का विचार

1) समस्या को हल करने की तुलना में बहुत से लोग ज्यादा समय और ताकत उस से जूझने में लगा देते है.

2) सुबह की ‘चाय’ और बड़ो की ‘राय’ वक्त पर ही लेते रहना चाहिए…!

3) खुद के लिए पैसा कमाना अच्छी बात है, और उससे किसी और का भी भला हो तो बहुत अच्छी बात है

4) हर रोज नीद से उठाने के बाद आपके पास अगर करने जेसा काम होंगा तो आपका जिंदगी से कभी झगडा नहीं होंगा.

5) मेरे पास पेड़ कटाने के लिए 10 घंटे है, तो उसमे से 7 घंटे मे कुल्हाड़ी को धार लगने में इस्तमाल करुगा.

जरुर पढ़े :-  आज के सर्वश्रेष्ठ विचार

6) आपके विचार आपके वाक्य तय करते है, आपके वाक्य आपके कृती में बदलते है, आपकी कृती आपकी आदत में बदलती है, आपकी आदते आपका व्यक्तिमत्व तय कराती है, और आपका व्यक्तिमत्व आपका कर्म.

7) नये विचार सुझाना ये दाढ़ी करने जैसा है, अगर ये रोज नहीं हुआ तो आप नालायक हो.

8) जिस चीज का आपको डर लगता है, वही चीज करो, डर हमेशा के लिए ख़तम हो जायेंगा.

9) इस बात की चिंता मत करो की लोग आपके बारे में क्या सोचते है, वो तो इसमे ही व्यस्त हे की आप उनके बारे मै क्या सोचते है.

10) जब दूसरो को बदलना मुश्किल होता है, तब खुद मै बदलाव करना ही अच्छा है.


  •   सर्वाधिक पढ़े गए 10 सुविचार 


11) होशियार इन्सान कोई भी काम करने से पहले सोचता हैं, और मुर्ख करने के बाद.

12) हमारी हर एक सोच हमारा भविष्य बनती है.

13) हमारे सपने सच करने का सबसे अच्छा रास्ता – नीद से जाग जाने का.

14) जिस दिन आप खुद पर हस सको, समज जाओ आप सफल होते जा राहे हो.

15) नसीब मतलब क्या ? मेहनत और मोके का मिलाप.

भारत में रह रहे आस्तीन के सांपों का भी सर्जिकल स्ट्राइक हो : साक्षी महाराज






अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद साक्षी महाराज ने एक बार फिर मुसलमानों पर विवादित टिप्पणी की है. साक्षी महाराज ने कहा कि हमेशा राष्ट्र विरोधी बातें बोलने वाले मुस्लिम नेता आजम खान और असदुद्दीन ओवैसी की जांच कराई जानी चाहिए. ये बयान साक्षी महाराज पाकिस्तानी जासूस होने के शक में गिरफ्तार किए गए समाजवादी पार्टी के सांसद चौधरी मुनव्वर सलीम के पीए फरहत को पूछे गए सवाल के जवाब में दिया. इसके साथ ही उन्होंने मुस्लिम नेताओं को आस्तीन के सांप की संज्ञा तक दे दी. उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि इन आस्तीन के सांपों का भी सर्जिकल स्ट्राइक होना चाहिए.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | एमपी सिमी एनकाउंटर मामले पर बोलीं मायावती, जेल से फरार होने की भी हो न्यायिक जांच






बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को मध्यप्रदेश के सिमी आतंकियों के मुठभेड़ मामले में कहा है कि उनके जेल से फरार होने की भी न्यायिक जांच होनी चाहिए.
गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह समेत कई अन्य नेताओं ने सोमवार को भोपाल में हुए एनकाउंटर को फर्जी करार दिया था. जिसके बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मध्य प्रदेश सरकार से पूरे मामले में रिपोर्ट तलब की  है.
एमपी सिमी एनकाउंटर मामले पर बोलीं मायावती, जेल से फरार होने की भी हो न्यायिक जांच
मायावती ने कहा कि  शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आरएसएस के एजेंडे पर पुलिस का इस्तेमाल हो रहा है. उन्होंने कहा कि खुनी व्यापमं घोटाला इसका ज्वलंत उदहारण है.
मायावती ने कहा, “बीजेपी शासित राज्यों में पुलिस का इस्तेमाल किया जा रहा है. बीजेपी अपने स्वार्थ के लिए पुलिस का इस्तेमाल कर रही है.”
गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की जेल से फरार होने से पहले सिमी के आतंकवादियों ने जेल में तैनात सिपाही की निर्मम मारकर हत्या कर दी थी. सिपाही की पहचान यूपी के बलिया के रहने वाले रमाशंकर के रूप में हुई.
भोपाल की जेल से फरार होने के पहले रात दो से तीन बजे जेल के बी ब्लॉक में बंद सिमी के आठ आतंकियों ने बैरक तोड़ने के बाद हेड कांस्टेबल रमाशंकर की हत्या कर दी . इसके बाद जेल में ओढ़ने के काम आने वाली चादर की मदद से आतंकी दीवार फांदकर फरार हो गए थे.
वहीं पुलिस ने नौ घंटे बाद सभी आठ सिमी आतंकी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं. पुलिस और आतंकियों के बीच जेल से करीब 10 किलोमीटर दूर एक ग्रामीण इलाके में यह मुठभेड़ हुई है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | इसी 'मर्सडीज़ रथ' से निकलेंगे अखिलेश, मुलायम हैं मौजूद, शिवपाल नदारद






मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 3 नवंबर से विकास से विजय की ओर रथ यात्रा पर निकल रहे हैं. इस विकास रथ की पहली झलक मंगलवार को देखने को मिली. इस हाईटेक बस का निर्माण ‘मर्सडीज़ बेंज’ ने की है. इस बस में सभी आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं.
लेकिन इस विकास रथ में भी चाचा-भतीजे के बीच चल रही तल्खी साफ़ नजर आई. इस रथ में मुलायम और अखिलेश की तस्वीर तो लगी है लेकिन प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल नदारद हैं.
इसी 'मर्सडीज़ रथ' से निकलेंगे अखिलेश, मुलायम हैं मौजूद, शिवपाल नदारद
जिसके बाद से चर्चाएं आम हैं कि अभी भी दोनों के बीच कुछ भी ठीक नहीं है और तनातनी जारी है.
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी विकास की योजनाओं को लेकर 3 नवंबर से रथ यात्रा पर निकल रहे हैं. इस यात्रा के पहले चरण में वे लखनऊ के गोमतीनगर होते हुए शहीद पथ के रस्ते उन्नाव और शुक्लागंज जाएंगे.
विकास रथ की क्या है खूबी?
मुख्यमंत्री की सुरक्षा को देखते हुए इस रथ को तैयार किया गया है. इस हाईटेक विकास यात्रा में एलईडी स्क्रीन पर सीएम अखिलेश की बड़ी तस्वीर होगी. जिसमें काम बोलता है कैंपेन वीडियो चलेगा.
इस रथ यात्रा में सीएम का मिनी ऑफिस भी जिसमें वे अपना काम भी निपटाएंगे. जिसके लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी, वाई-फाई जैसी सुविधाएं भी हैं. इसमें हाइड्रोलिक लिफ्ट की भी व्यवस्था है. इसके अलावा रथ में टॉयलेट और आराम की भी सुविधा मौजूद है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मायावती का मुस्लिम प्रेम सिर्फ नाटक: अफजाल अंसारी





मुसलमानों को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती के दिए बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि मुसलमानों के प्रति बसपा अध्यक्ष घड़ियाली आंसू बहा रही हैं. उन्होंने अपने फायदे के लिए मुसलमानों के साथ एक नहीं, कई बार विश्वासघात किया है.
पूर्व सांसद ने कहा कि यह जगजाहिर है कि मायावती अपने राजनैतिक फायदे के लिए कुछ भी कर सकती हैं.
मायावती का मुस्लिम प्रेम सिर्फ नाटक: अफजाल अंसारी
अफजाल ने कहा कि बसपा ने कभी भाजपा से हाथ मिलाकर प्रदेश में सरकार बनाई थी. गुजरात में नरेंद्र मोदी का प्रचार किया था, मेरठ के उपचुनाव में उन्होंने अपने बयान में खुद कहा कि मुसलमान कट्टरपंथियों को पसंद करता है. इन्हीं कट्टरपथियों को हराने के लिए हमने बसपा का वोट भाजपा को दिलवा दिया. मुसलमानों ने तो भाजपा को वोट नहीं दिया, लेकिन दलित, पिछड़े वर्ग और बसपा समर्थक सवर्ण विरादरी के लोगों ने भाजपा को वोट दिया.
अंसारी ने कहा, "2017 के विधानसभा चुनाव में बसपा की करारी हार देखते हुए बहन जी का यह मुस्लिम प्रेम केवल नाटक है. बहन जी प्रतिदिन मीडिया में यह बयान दे रही हैं कि मुसलमान उनको 2017 के विधानसभा में वोट कर रहा है, यह उनका भ्रम है. वह पहले मुसलमानों से वादा करें कि भविष्य में भाजपा के साथ हाथ नहीं मिलाएंगी."
उन्होंने कहा कि बसपा का जनाधार नाम मात्र का रह गया है. बड़ी तादाद में कुशवाहा, राजभर तथा अन्य बिरादरी के मतदाता बसपा से मुंह फेर चुके हैं. इस लिए अब उन्हें मुसलमानों की याद आ रही है. क्योंकि वह जानती है कि मुसलमान ही उनकी नाव को 2017 में पार लगा सकता है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | यूपी: तीन तलाक का विरोध करने पर बीवी को पीट-पीटकर किया अधमरा





जहां पूरे देश में तीन तलाक को लेकर बहस छिड़ी हुई है, वहीं उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में एक महिला को अपने शौहर द्वारा एकतरफ़ा तलाक दिए जाने का विरोध करना काफी महंगा पड़ा.
यूपी: तीन तलाक का विरोध करने पर बीवी को पीट-पीटकर किया अधमरा
महिला को उसके पति ने लात-घूंसों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. मामला कोतवाली देहात क्षेत्र का है. यहां शीबा (22) ने जब अपने बंजारी मोड़ निवासी शौहर साहिबे आलम के एकतरफा तलाक का विरोध किया गया तो उसके ससुराल वालों ने जमकर पीटा.
दरअसल, मंगलवार को मामले में सुलह को लेकर बातचीत चल रही थी. इसी दौरान साहिबे आलम ने अपना आप खो दिया और शीबा की पिटाई शुरू कर दी. इसमें साहिबे आलम के परिवार वालों ने भी उसका साथ दिया. इतना ही नहीं शीबा के पिता को भी उन लोगों को पीट दिया.

अखिलेश और मुलायम की ‘तीन-पांच’ के बीच सरकार और संगठन की शक्ति परीक्षा






मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 3 नवंबर से विकास से विजय की ओर रथ यात्रा लेकर निकल रहे हैं. दूसरी ओर समाजवादी पार्टी 5 नवंबर को अपने स्थापना की रजत जयंती जयंती समारोह को सफल बनाने के लिए जुटी है.
जहां एक ओर मुख्यमंत्री रथ यात्रा के जरिए शक्ति प्रदर्शन करेंगे, वहीं मुलायम और शिवपाल रजत जयंती के जरिए, जहां लोहियावादी और चौधरी चरणसिंह वादियों का जमावड़ा लगेगा.
रथ यात्रा को लेकर सपा कार्यकर्ताओं में असमंजस
हालांकि, अखिलेश ने साफ़ कर दिया है कि वह भी पार्टी के रजत जयंती समारोह में शिरकत करेंगे, लेकिन शिवपाल और मुलायम अखिलेश की रथ यात्रा के शुभारम्भ के मौके पर मौजूद होंगे की नहीं, इस पर सस्पेंस बरकरार है.
इस बीच मुलायम दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं और कहा जा रहा है कि वह रजत जयंती के अवसर पर ही आएंगे. दूसरी तरफ शिवपाल भी कह चुके हैं कि निमंत्रण मिलेगा तो जरूर जाएंगे.
ये भी पढ़ें- अखिलेश ने गायत्री प्रजापति और अमरसिंह को लेकर खोले ये राज
अब देखना यह है कि अखिलेश उन्हें आमंत्रित करते हैं कि नहीं, क्योंकि रजत जयंती के लिए सभी जिला इकाइयों को निमंत्रण भेजा गया है लेकिन रथ यात्रा को लेकर जिला इकाइयों में उहापोह की स्थिति बनी हुई है.
उन्हें इस संदर्भ में पार्टी संगठन की ओर से कोई पत्र नहीं गया है. ऐसे में 3 नवंबर को कौन और कितने लोग रथ यात्रा में शिरकत करते हैं देखना दिलचस्प होगा.
समर्थकों ने सड़कों को पोस्टरों से पाटा    
इस बीच राजधानी लखनऊ की सड़कों पर अखिलेश और शिवपाल समर्थकों के बीच पोस्टर वार छिड़ी है. अखिलेश और शिवपाल समर्थकों ने रथ यात्रा और रजत जयंती को लेकर पोस्टर लगाए हैं. इन पोस्टरों को देखकर साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि दोनों की बीच की दूरियां अभी भी बरक़रार है.
जहां एक ओर अखिलेश समर्थकों के लगाए पोस्टरों में शिवपाल गायब हैं तो रजत जयंती समारोह की पोस्टरों में अखिलेश भी नजर नहीं आ रहे हैं. जिसे लेकर राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि यह लड़ाई साफ़ तौर पर सरकार और संगठन में सर्वोपरि कौन है अब इसकी है.
दो खेमों में बंटी सपा से जनता लेगी हिसाब
बीजेपी के महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने कहा कि समाजवादी पार्टी दो धडों में बंटी है. एक तरफ अखिलेशवादी हैं तो दूसरी तरफ शिवपालवादी. आपसी लड़ाई में जनता पिस रही है. अब वक्त जनता का है. चुनावों में वह हिसाब लेगी.
ये भी पढ़ें- यूपी चुनाव में बीजेपी के लिए मास्टरस्ट्रोक साबित होगा सर्जिकल स्ट्राइक!
उन्होंने कहा, 'पूरा शहर रथयात्रा के पोस्टरों से पटा है लेकिन किसी भी पोस्टर में प्रदेश अध्यक्ष की फोटो नहीं है. इससे क्या पता चलता है? सरकार और संगठन का शक्ति प्रदर्शन चल रहा है.'
सपा में किसी तरह का शक्ति प्रदर्शन नहीं
समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता मोहम्मद शाहीद ने बीजेपी के आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा, 'सपा में किसी तरह का शक्ति प्रदर्शन नहीं और न ही पार्टी में किसी तरह का कोई बंटवारा है.'
उन्होंने कहा कि साम्प्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए महागठबंधन जरूरी है. शाहिद ने यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी को अपने विकास कार्यों पर पूरा भरोसा है जिसकी बदौलत वह दोबारा सत्ता में वापसी करेगी.
झगड़ा ख़त्म नहीं हुआ तो जनता सोचने को मजबूर होगी
दूसरी तरफ वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक हेमंत तिवारी ने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी में झगड़ा ख़त्म नहीं हुआ तो जनता सोचने को मजबूर होगी. उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव मझे हुए राजनेता हैं उनको आगे की रणनीति पता है.
महागठबंधन पर तिवारी ने कहा कि अगर कांग्रेस इसमें शामिल नहीं होती तो उसे बड़ा. नुकसान होगा. समाजवादी पार्टी से गठबंधन करना कांग्रेस के लिए फायदे की बात है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सुषमा चौहान ने उत्पीड़न की राज्यपाल से की शिकायत






बदायूं : उसावां थाना क्षेत्र के ग्राम नवीगंज निवासी सुषमा चौहान ने उत्पीड़न की शिकायत को लेकर लखनऊ जाकर राज्यपाल से मुलाकात की। उन्होंने अवगत कराया कि उसकी जमीन पर जबरन कब्जा किया जा रहा है और उसके निजी नलकूप से बिजली चोरी की जा रही है। शिकायत करने के बाद भी जिला स्तर के अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। राज्यपाल ने मुख्य सचिव को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
सुषमा की शिकायत है कि गांव में एक रिटायर पुलिस कर्मी का परिवार उत्पीड़न कर रहा है। आरोप है कि राजस्व विभाग के अधिकारियों और पुलिस की मिलीभगत से उनकी भूमि पर अवैध कब्जा कर निर्माण शुरू करा दिया गया है। उसके नलकूप की कोठरी भी तोड़ दी गई है और उसका रास्ता भी बंद कर दिया गया है। कुछ दिनों पहले उसने रिपोर्ट तो दर्ज कराई थी लेकिन उसमें कार्रवाई करने के बजाय फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई। उन्होंने राज्यपाल से 18 ¨बदुओं पर शिकायत की है, जिस पर राज्यपाल ने मुख्य सचिव को डीओ लिखकर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिल्सी,गंदगी से बीमारियां फैलने की आशंका






बिल्सी तहसील क्षेत्र के गांव बादशाहपुर में नालियों और गलियों व मुख्य मार्ग पर सफाई न होने के कारण गंदगी के ढेर गे हैं और नालियां कीचड़ से अटी होने के कारण बजबजा रही हैं जिससे उठती दुर्गंध से लोगों का जीना दुश्वार हो गया। जिस कारण गांव के लोगों को नालियों की बजबजाती गंदगी गलियों में फैले होने के कारण उसमें से ही होकर गुजरना पड़ रहा है। गांव में गंदगी फैली होने से बीमारियां फैलने की आशंका है। परेशान गांव के राजपाल यादव, दान¨सह यादव आदि ने बीडीओ अंबियापुर को शिकायती पत्र भेजकर गांव में सफाई कराए जाने की मांग की है।
नगर में नगर पालिका परिषद की सार्वजनिक पेयजल स्टैंड पोस्ट की कोई व्यवस्था न होने से बाजार में खरीदारी को आने वाली जनता को पेयजल इंडिया मार्का हैंडपंप व पेयजल स्टैंड पोस्ट ढूंढे नहीं मिल पाते हैं। नगर के मुख्य बाजार में भी लोगों को पेयजल की भारी किल्लत है जबकि यहां नगर पालिका परिषद ने पूर्व में खुली पेयजल स्टैंड पोस्ट सभी बंद करा दिए। जिससे बाजार के दुकानदारों समेत ग्रामीण क्षेत्र से आने वाली जनता को पानी पीने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। परेशान बाजार के लोगों ने जिलाधिकारी से बाजार में इंडिया मार्का हैंडपंप लगवाए जाने की मांग की है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | लोग दिवाली मनाने में मशगूल थे, वो फेंक गए दो नवजात ‌बच्चियां,





बदायूँ | दीपों के पर्व पर कई परिवारों में नन्हें मेहमानों के आगमन से घर में खुशियों ने दस्तक दी। बेटी के रूप में साक्षात लक्ष्मी के दर्शन हुए। वहीं, कुछ मात-पिता ऐसे भी हैं, जो नवजात को फेंक गए। दिवाली के दिन रविवार को अलग-अलग इलाकों में दो नवजात बच्चियां कूड़े के ढेर में पड़ी मिलीं। इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जबकि दूसरी को चाइल्ड लाइन के सिपुर्द कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक, गुडंबा के गढी क्षेत्र से भगवानदीन पुत्र मैकूलाल ने पुलिस को सूचना दी एक नवजात बच्ची गांव के एक गड्ढे में कपडे़ में लिपटी पड़ी है। सूचना पर पुलिस पहुंची तो बच्ची को देख हतप्रभ रह गई। गड्ढे में पानी भरा था और नवजात की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने नवजात के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दिल्ली रूट पर दौड़ती रहीं बसें, बाकी यात्री परेशान





बदायूँ  | वक्त के साथ बदल रही परिवहन निगम की सेवाएं अब केवल धनार्जन तक सीमित रह गई हैं। इसके चलते रोडवेज की अधिकांश बसें दिल्ली रूट पर दौड़ती रहीं, जबकि स्थानीय रूटों के यात्री बसों के इंतजार में परेशान होते रहे। यात्री थक हारकर निजी बसों से सफर करने को मजबूर नजर आए। रेलवे स्टेशन और बस अड्डे पर यात्री अपने गंतव्य की बसों का इंतजार करते नजर आए। परेवा को घरों से निकलने में अधिकांश लोग परहेज करते हैं। इसी वजह से मंगलवार को सुबह से भैयादूज पर बाइक, फोर-व्हीलरों के साथ ही पैदल यात्रियों की भारी भीड़ सड़कों पर नजर आईं। दिन में अधिकांश वक्त सन्नाटे में रहने वाली सड़कों पर सुबह से ही वाहनों की आवाज गूंजती नजर आई। दूरदराज गांवों से निकलकर यात्री किसी तरह सड़क तक को पहुंच गए, लेकिन वहां पर यात्रियों को घंटों तक इंतजार करना पड़ा। इधर रोडवेज ने निगम की अधिकांश बसों को विभिन्न रूटों से दिल्ली के लिए संचालित किया, जिससे निगम की आय को बढ़ाया जा सके। आय के चक्कर में बदायूं से फर्रुखाबाद, चंदौसी, दातागंज, शाहजहांपुर, कादरचौक, कासगंज बिल्सी रूट पर यात्रियों को बसें नहीं मिल सकीं, जो बसें संचालित भी हुईं, उनमें से अधिकांश बसें तो रोडवेज बस अड्डों एवं स्टॉपेज पर भर गईं। इससे बस चालकों ने रास्ते में सवारियों को बैठाने से परहेज किया। इससे बसों का इंतजार करने के लिए बैठे ग्रामीण अंचल के यात्री घंटों इंतजार करने के बाद प्राइवेट और डग्गामार बसों में बैठने को मजबूर हुए। डग्गामार वाहन चालकों ने चौतरफा कमाई की। पहले तो वाहनों में ठूंसकर यात्रियों को बैठाया गया। उसके बाद तमाम यात्रियों को लटकाकर ले गए। वहीं, किराया रोजाना की तुलना में डेढ़ गुना वसूल किया गया। रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को खासी ट्रेनों पर बैठने और उतरने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। ट्रेनों के रेलवे स्टेशन पर पहुुंचने पर ही यात्रियों का रेला बैठने के दौड़ पड़ता था, जिससे कि बोगी में घुसना लोगों के लिए मुश्किल हो गया। ट्रेनों में भीड़ का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पुरुषों के साथ महिला यात्री भी ट्रेन की आपातकालीन खिड़की में चढ़कर बोगियों में घुस गईं। तमाम यात्रियों ने कपलिंग पर बैठकर खतरनाक यात्रा की, जबकि प्रतिबंधित होने के बावजूद ट्रेन के पायदान पर तो यात्रियों की भीड़ लटकी रही। 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बदायूं जेल,छमता से कही ज्यादा है कैदियों की संख्या





मध्य प्रदेश की भोपाल सेंट्रल जेल से आठ खूंखार आतंकवादियों के फरार और कथित एनकाउंटर के बाद यूपी में भी जेलों में सुरक्षा को लेकर एलर्ट कर दिया गया है। इधर, बदायूं जेल के हालात पर गौर करें तो 529 बंदियों की क्षमता वाली जेल में चार गुना ज्यादा करीब 2200 बंदी और कैदी हैं। इनमें पूर्वांचल और पश्चिमी उप्र के 13 माफिया डॉन भी शामिल हैं। कैदियों की निगरानी के नाम पर सिर्फ 29 बंदी रक्षकों की तैनाती है।

बदायूं जेल की क्षमता 529 लोगों को रखने की है। सुरक्षा के लिए बंदीरक्षकों के 50 पद हैं, लेकिन सिर्फ 29 बंदीरक्षकों की तैनाती है। सूत्रों की मानें तो जेल में इस समय करीब 2200 बंदी और कैदी हैं। इनमें करीब 625 सजायाफ्ता और बाकी अंडरट्रायल हैं। ओवरलोड जेल में विभागीय लापरवाही भी साफ दिखती है। जेल में करीब 325 कैदी ऐसे हैं जिन पर कोई दूसरा मुकदमा नहीं है। इनको दूसरी जेलों में शिफ्ट करके लोड कुछ कम किया जा सकता है। लेकिन, उच्चाधिकारी इसको लेकर भी गंभीर नहीं हैं।
बदायूं जेल में ये हैं माफिया डॉन
ओवरलोड जेल में 13 माफिया-डॉन हैं। प्रशासनिक आधार पर इनको यहां शिफ्ट किया गया है। बदायूं जेल में बंद डबलू सिंह उर्फ कामेश्वर देवरिया का माफिया है। इसे गोरखपुर जेल से लाया गया था। दिनेश उर्फ रंपत उर्फ कोड़ा आजमगढ़ का डॉन है। इसे सुल्तानपुर से शिफ्ट किया गया था। मुख्तार अंसार का करीबी पंकज सिंह उर्फ विनय भी बदायूं जेल में है। इसे जौनपुर से बदायूं शिफ्ट किया गया था। पश्चिमी उप्र के जिलों के कई डॉन भी बदायूं जेल में हैं। विनोद बावला, अमित पवार, राहुल तिगड़ी, अमित मुखिया और जावेद मुजफ्फरनगर के खूंखार अपराधी हैं। जेल से गैंग चलाने के कई मामले सामने आने के बाद सभी को प्रशासनिक आधार पर पहले बुलंदशहर, बाद में बदायूं जेल में शिफ्ट किया गया है। गैंग चलाने वाला अनिल बागपत का है। प्रशासनिक आधार पर इसे मेरठ जेल से बदायूं में शिफ्ट किया गया है। पंकज उर्फ रविंद्र और सुमित दोनों मुरादाबाद के डॉन हैं। कोर्ट में बम धमाका और ब्लाक प्रमुख की हत्या के आरोपी हैं। शामली का नरेंद्र सिंह और अलीगढ़ का दिनेश चौधरी बदायूं जेल में शिफ्ट किए गए हैं।
हत्थे नहीं चढ़ा फरार माफिया चंदन सिंह
बदायूं। गोरखपुर जिले के चितुआताल का माफिया चंदन सिंह भी बदायूं जेल में बंद था। पेट में दर्द की शिकायत पर उसे 30 मई 2016 को आगरा मेडिकल कॉलेज भेजा गया था। यहां से चंदन सिंह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। पांच महीने के बाद भी यह डॉन पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है।
पूर्वांचल और पश्चिमी उप्र की जेलों से कई अपराधियों को प्रशासनिक आधार पर बदायूं जेल में शिफ्ट किया गया है। इनमें तमाम कुख्यात अपराधी हैं। इन खूंखार अपराधियों की विशेष निगरानी की जा रही है। कुख्यात अपराधी दूसरे कैदियों की संपर्क में न आएं इसके लिए समय-समय पर इनके बैरक भी बदले जा रहे हैं।-अरविंद पांडेय, जेलर
सभी बंदियों और कैदियों पर पूरी नजर रखी जा रही है। जेल में स्टाफ की कमी पूरी करने के लिए शासन को लिखा जाता है। उम्मीद है कि जल्द स्टाफ पूरा हो जाएगा। कुछ खूंखार अपराधियों को हाई सिक्योरिटी जेलों में शिफ्ट कराने के लिए भी उच्च अधिकारियों को लिखा गया है।-शशि श्रीवास्तव, डीआईजी जेल
एडीजी जेल के आदेश पर जेल में सघन तलाशी
बदायूं। भोपाल की घटना सामने आने के बाद सोमवार को ही शासन ने सूबे की सभी जेलों में अलर्ट कर दिया। एडीजी जेल जीएल मीणा के आदेश पर मंगलवार को जेल प्रशासन ने जेल में सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान जेल के चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई।


बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिल्सी-वजीरगंज रोड पर डग्गामार वाहनों की रही मन मानी




बिल्सी-वजीरगंज रोड पर प्राईवेट बसों का संचालन न होने के कारण यातायात का साधन डग्गामार टेंपो चालकों ने सवारियों को भूसे की तरह बैठाकर गंतव्य तक पहुंचाया। बिल्सी से बदायूं, इस्लामनगर रोड पर प्राईवेट बसों की संख्या कम होने के कारण डग्गामार वाहनों से यात्रा कर बहनें भाइयों की दूज करने पहुंचीं। बिल्सी-बिसौली रोड की यातायात सुविधा प्राईवेट बसों पर निर्भर है। बस चालकों की गुंडागर्दी यात्रियों पर भारी पड़ रही है। देर शाम तक थाना मोड़ तिराहे, अंबियापुर चौराहे, बदायूं व इस्लामनगर बस स्टैंड पर गंतव्य पहुंचने के लिए महिला पुरुष यात्री बसों एवं डग्गामार वाहनों के इंतजार में खड़े नजर आए।
बिसौली। भैयादूज के अवसर पर लगे भारी जाम के मौके  पर नगरवासियों को बाईपास की बहुत याद आयी। लगभग 11 बजे भैयादूज पर जाने वालों की भारी भीड़ के कारण इस्लामनगर चौराहे से लेकर चंदौसी रोड पर सर्वा गांव तक जाम लग गया, जिससे यात्रियों को भारी समस्या का सामना करना पड़ा। जाम में फंसी महिलाएं जाम देखकर कहती नजर आईं कि अगर घर से न आते तो बहुत अच्छे रहते। जाम लगने के एक घंटे के पहुंची पुलिस ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद जाम खुलवा पाया। जाम में फंसे स्थानीय लोग भी परेशान नजर आए। 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दरोगा ने प्रापर्टी डीलर को अगवा किया, बांधकर पीटा





कादरचौक | मैनपुरी में तैनात एक दरोगा ने बहन को भगाने की साजिश के शक में सोमवार रात कादरचौक थाने के गांव वोंदरी से एक प्रापर्टी डीलर को अगवा कर बेतहाशा पिटाई की। बाद में दरोगा उसे गंभीर हालत में उझानी कोतवाली में छोड़कर चला गया। पुलिस ने प्रापर्टी डीलर को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। यहां मंगलवार सुबह पहुंचे प्रापर्टी डीलर के भाई ने दरोगा समेत पांच लोगों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट कराई है। पीड़ित प्रापर्टी डीलर राजपाल लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड का जिलाध्यक्ष भी है।

उझानी थाने के एक गांव की किशोरी अपने प्रेमी के साथ चली गई थी। मामले में 18 अक्तूबर को उसके परिवार वालों ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस मामले में विवेचना उझानी थाने के दरोगा राजपाल कर रहे हैं। किशोरी का एक भाई भी पुलिस में दरोगा है। इन दिनों उसकी तैनाती मैनपुरी में है। किशोरी के दरोगा भाई को शक था कि उसकी बहन को भगाने में कादरचौक के गांव वोंदरी निवासी प्रापर्टी डीलर राजपाल पुत्र नरेंद्र पाल का हाथ है। दरोगा मैनपुरी से अवकाश लेकर अपने गांव आया हुआ था। सोमवार रात वह चार अन्य लोगों के साथ वोंदरी पहुंचा। यहां से उसने राजपाल को उसके घर से उठा लिया। उसे गाड़ी में डालकर हजरतगंज लाया। यहां पेड़ में बांधकर राजपाल को बुरी तरह पीटा। दरोगा वर्दी में था।
इसके बाद किशोरी का दरोगा भाई राजपाल को लेकर रात करीब 12 बजे उझानी कोतवाली पहुंचा। यहां उसने पुलिस को बताया कि उसकी बहन के अपहरण में राजपाल का हाथ है, लेकिन घायल राजपाल को बिना मेडिकल परीक्षण के कोतवाली में रखने से पुलिस ने इंकार कर दिया। रात में ही राजपाल को पुलिस ने जिला अस्पताल भेजा। यहां उसे भर्ती कर लिया गया। मंगलवार को राजपाल के भाई धर्मवीर की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराने को उझानी कोतवाली में तहरीर दी गई। तहरीर के आधार पर पुलिस ने दरोगा उसके दो भाइयों और एक अज्ञात के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
मैनपुरी में तैनात दरोगा की बहन लापता हो गई थी। इसकी रिपोर्ट उझानी कोतवाली में दर्ज है। दरोगा को राजपाल पर शक था। इसलिए वह उसे घर से उठा लाया। राजपाल की तहरीर के आधार पर दरोगा समेत तीन लोगों को नामजद करते हुए चार लोगों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की गई है।- गोपी चंद्र यादव, इंस्पेक्टर उझानी
बनवारी सिंह ने जाना राजपाल का हाल
उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के चेयरमैन, एमएलसी बनवारी सिंह यादव ने भी जिला अस्पताल पहुंचकर प्रापर्टी डीलर राजपाल का हाल जाना। उन्होंने राजपाल से पूरी घटना के बारे में पूछा। बाद में बनवारी सिंह ने इस संबंध में उच्च अधिकारियों से बात भी की।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दैनिक राशिफल .02/11/2016




  • मेष

आपकी बुद्धिमानी से समस्या का समाधान संभव है। सुख-समृद्धि बढ़ेगी। व्यापार अच्छा चलेगा। पठन-पाठन की ओर रुझान रहेगा।


  •  वृष

कामकाज के अवरोध दूर होंगे। सत्कार्यों में मन लगेगा। अर्थ के लेनदेन में सफलता मिलेगी। आजीविका में अपने लाभ की ओर प्रयत्नशील रहें।


  •  मिथुन

कार्य भार बढ़ेगा। दैनिक दिनचर्या में अनियमितता होगी। वाद-विवाद से बचे। आंख संबंधी परेशानी होना संभव, अतः स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहे।



  •  कर्क

अनुभवों का लाभ मिलेगा। पारिवारिक दृष्टि से दिन मध्यम रहने की संभावना है। विरोधी काम बिगाड़ने की चेष्टा करेंगे। धन लाभ होगा।


  •  सिंह

मान-प्रतिष्ठा में कमी आएगी। खर्च बढ़ने से आर्थिक तंगी हो सकती है। कानूनी मामलों में समय का ध्यान रखें। यात्रादि शुभ होगी।


  •  कन्या

आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। परिवार में शुभ कार्य का निर्णय होगा। जल्दबाजी में काम न करें। समय का दुरुपयोग न करें। सुख-शांति रहेगी।


  •  तुला

संतान के कार्यों पर नजर रखना होगी। सद्भाव से किए गए पुरुषार्थ का प्रतिफल मिलेगा। दाम्पत्य जीवन में अनुकूलता रहेगी।


  •  वृश्चिक

राज्य पक्ष के कामों में सफलता मिलेगी। व्यावसायिक निर्णय सोच-समझकर लें। मनोरंजन में समय व्यतीत होगा। व्यापार लाभदायक रहेगा।


  •  धनु

परिवार में सुख-शांति रहेगी। सामाजिक स्थिति अच्छी रहेगी। कार्यक्षेत्र विस्तृत होगा। किसी भी कार्य के लिए स्व-विवेक से सोच-समझकर निर्णय लें।


  •  मकर

मानसिक अस्थिरता दूर करके कार्यों को समय पर करने का प्रयत्न करें। व्यावसायिक बाधाएं प्रयासों से दूर होंगी। दूसरों पर बहुत अधिक विश्वास न करें।


  •  कुंभ

नए संबंध लाभकारी होंगे। व्यावसायिक सहयोग मिलेगा। ससुराल पक्ष में मांगलिक कार्यों की चर्चा होगी। आय-व्यय में संतुलन रहेगा।


  •  मीन

नई योजनाओं का श्रीगणेश होगा। भौतिक सुख-साधनों में रुचि बढ़ेगी। कार्यक्षमता में वृद्धि होगी। मन में उत्साह, ऊर्जा का संचार होगा।


zhakkas

zhakkas