: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/03/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | विधानसभा चुनाव : एक नहीं, छह चेहरों पर बीजेपी ने लगाया यूपी में दांव






बीजेपी यूपी में एक या दो नहीं बल्कि आधा दर्जन चेहरे लेकर चुनाव मैदान में उतर रही है. चुनाव को व्यक्ति केंद्रित न बनाने की रणनीति लेकर पार्टी ने साफ कर दिया है कि वो इस चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं करेगी.

पांच नवंबर से सहारनपुर से शुरू हो रही पार्टी की परिवर्तन यात्राओं में रथों के ऊपर छह प्रमुख नेताओं के चेहरे लगाए जा रहे हैं. ये हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती, केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य.

पीएम और शाह के अलावा बाकी चार नेताओं के चेहरों को लगाने के पीछे बीजेपी की रणनीति जातीय समीकरण साधना है. जहां राजनाथ सिंह और कलराज मिश्र अगड़ों की नुमाइंदगी करते हैं वहीं उमा भारती और केशव प्रसाद मौर्य पिछड़े वर्ग की. बीजेपी अभी तक यही कहती आई है कि सीएम उम्मीदवार के बारे में संसदीय बोर्ड तय करेगा.

लेकिन परिवर्तन यात्राओं के पोस्टरों से साफ है कि बीजेपी किसी चेहरे को आगे नहीं करेगी. पार्टी महासचिव भूपेन्द्र यादव ने बताया कि परिवर्तन यात्राओं की शुरुआत 5 नवंबर से होगी. सहारनपुर से अमित शाह पहली यात्रा की शुरुआत करेंगे. 6 नवंबर को झांसी से दूसरी यात्रा, 8 को सोनभद्र से तीसरी और 9 नवंबर को बलिया से चौथी यात्रा शुरू होगी. ये सभी यात्राएं 24 दिसंबर को लखनऊ में समाप्त होंगी जहां परिवर्तन सभा को प्रधानमंत्री मोदी संबोधित करेंगे.


इन यात्राओं में कुल 17000 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी. यात्राओं के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की छह बड़ी सभाएं होंगी. साथ ही राष्ट्रीय नेताओं की 30 बड़ी सभाएं होंगी. इनमें शाह, राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र की 10-10 सभाएं और उमा भारती की 6 सभाएं होंगी. यादव के मुताबिक 75 जिला मुख्यालयों में 4500 स्वागत कार्यक्रम होंगे.

हर यात्रा प्रति दिन 100 किलोमीटर चलेगी. सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इसमें भारतीय युवा मोर्चा के 15000 कार्यकर्ताओं को परिवर्तन सारथी बनाया गया है. ये सभी पंचायतों में जाकर परिवर्तन चौपाल करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सपा-बसपा पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि 'सपा बसपा ने यूपी को ईस्ट बंगाल मोहन बाग़ान बना रखा है. एक बार हम एक बार तुम आएंगे.'

प्रसाद के मुताबिक, 'लोहिया का समाजवाद परिवार का बंधक हो गया और कांशीराम का दलित उत्थानवाद एक व्यक्ति का कल्याण बन कर रह गया.' प्रसाद ने कहा कि यूपी की पहचान परिवार, अहंकार, अत्याचार अपराध और भ्रष्टाचार बन कर रह गई है. आज यूपी को चाहिए गुड गवर्नेंस और आतंकवाद के खिलाफ एक स्वर में बोलना.

प्रसाद ने लोगों को कल्याण सिंह के शासन की याद दिलाई जब राज्य अपराधमुक्त था और राजनाथ सिंह के शासन की भी जिसमें दलित, पिछड़े वर्ग के कल्याण के लिए कार्यक्रम चलते थे. बीजेपी ने यूपी के लिए 'पूर्ण बहुमत, संपूर्ण विकास, भाजपा पर है विश्वास' का नारा दिया है.

केरल पुलिस का शर्मनाक चेहरा, रेप पीड़िता से पूछा- किसके साथ आया सबसे ज्यादा मजा?




तिरुवनंतपुरम | केरल में एक गैंगरेप पीड़िता के साथ पुलिस का शर्मनाक करने वाला चेहरा सामने आया है। पीड़िता ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसके पति के दोस्तों ने उसके साथ गैंगरेप किया था, लेकिन पुलिस के बेहूदे और शर्मनाक सवालों के कारण उसे अपनी शिकायत वापस लेनी पड़ी।

32 वर्षीय रेप पीड़िता ने यहां अपने पति के साथ संवाददाताओं को बताया कि पुलिस के अपमानित करने वाले सवालों ने उसे तोड़कर रख दिया था। पीड़ित महिला और उसके पति का चेहरा ढका हुआ था। 32 साल की पीड़िता ने कहा, 'मैं कोई मुकदमा लड़ना नहीं चाहती क्योंकि पुलिस हमें जानबूझकर परेशान कर रही है। यह रेप से भी ज्यादा दुखदायी है। पुलिस हमें धमकी देने के साथ-साथ बेइज्जत कर रही है।' पीड़ित के मुताबिक पुलिस के एक अधिकारी ने उससे पूछा कि रेप करनेवालों मे से सबसे ज्यादा आनंद किसके साथ आया। पीड़ित ने कहा कि पुलिस उसे सुबह से शाम तक पुलिस स्टेशन में बिठाकर रखती थी और शर्मसार करने वाले सवाल पूछती थी।

गौरतलब है कि महिला ने पहले डबिंग कलाकार भाग्यलक्ष्मी को इस बारे में बताया था। भाग्यलक्ष्मी ने एक फेसबुक पोस्ट के यह खुलासा किया। फेसबुक पर यह पोस्ट वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री पी विजयन के दफ्तर ने मामले पर संज्ञान लिया है और कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। भाग्यलक्ष्मी ने बताया कि त्रिशूर की रहने वाली महिला अपने पति के साथ उसके घर पर तीन हफ्ते पहले आई थी और रेप के बारे में बताते हुए रो पड़ी थी। कथित रेप की यह घटना दो साल पहले हुई थी, जिसमे एक स्थानीय नेता समेत चार लोग शामिल थे। ये सभी पीड़ित महिला के पति के दोस्त हैं। भाग्यलक्ष्मी ने फेसबुक पोस्ट पर पीड़ित के हवाले से लिखा कि शुरू में पीड़िता इस बारे में कोई शिकायत दर्ज नहीं करना चाहती थी लेकिन जब उसने शिकायत दर्ज की तो पुलिस ने उसका जीना हराम कर दिया। पीड़िता ने कहा कि पुलिस के सवाल मानसिक प्रताड़ना वाले थे। पीड़िता ने कहा कि अच्छा हुआ कि निर्भया, जीशा और सौम्या मर गई वरना उसे भी ऐसे सवालों से गुजरना पड़ता।

भाग्यलक्ष्मी के पोस्ट पर केरल के सीएम ने संज्ञान लेते हुए उनसे मामले के बारे में और जानकारी मांगी है। भाग्यलक्ष्मी ने कहा कि पीड़िता इतनी डरी हुई थी कि वह इस बारे में अपने पति को भी नहीं बताई थी। उन्होंने कहा, 'मैंने दो सप्ताह पीड़िता को समझाया तब वह इस मामले में बोलने के लिए तैयार हुई। इस बारे में और ज्यादा जानकारी जल्द ही दी जाएगी।' सीएम पी विजयन की विशेष सचिव प्रभा वर्मा ने कहा कि इस मामले को गंभीरता के साथ लिया जाएगा।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | रुदायन मे एक युबक का कत्ल





 रुदायन  |      कल रात रुदायन मे एक युबक का बड़ी ही बेरहमी से  कत्ल कर दिया गया कत्ल की बजह का अभी पता नही चला है । पोलिस छानबीन क्र रही है । इस्लामनगर पोलिस & उघती पोलिस  युबक के मडर का पता लगाने में जुटी है


बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | प्रधानमंत्री आवास योजनाः सस्ते घरों के लिए आज से करें आवेदन





नई दिल्ली। प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) (शहरी) के अंतर्गत सस्ते आवासों के लिए शहरी गरीब आज से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। देशभर में फैले दो लाख से अधिक कॉमन सर्विसिस सेंटर (सीएससी) में से लगभग 60 हजार सेंटर शहरी क्षेत्रों में हैं, जहां आज से मात्र 25 रुपये प्रति आवेदन की दर से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।
केंद्रीय आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय व इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कॉमन सर्विसिस सेंटर ई-गवर्नेस सर्विसिस इंडिया लिमिटेड ने इस संबंध में बुधवार को संबंधित मंत्रियों एम वैंकेया नायडू और रवि शंकर प्रसाद की उपस्थिति में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।
प्रधानमंत्री आवास योजनाः सस्ते घरों के लिए आज से करें आवेदन प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) (शहरी) के अंतर्गत सस्ते आवासों के लिए शहरी गरीब आज से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
एमओयू के अनुसार, कॉमन सर्विसिस सेंटर लाभार्थी को प्राप्ति रसीद भी उपलब्ध कराएगी, जिससे आवेदक को अपने आवेदन की स्थिति जानने में मदद मिलेगी। लाभार्थी ऑनलाइन पीएमएवाई (शहरी) के फायदे के बारे में जानकारी लेने के लिए नजदीकी सेंटर जा सकते हैं। अगर लाभार्थी के पास आधार कार्ड नहीं है तो सेंटर इसे पाने में लाभार्थी की मदद करेगा। ऑनलाइन आवेदन करने की यह प्रक्रिया ई-केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) समर्थ है, जिसका मतलब यह है कि यह आवेदन विधिवत सत्यापित करने के बाद प्रस्तुत किया गया है।
पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर। facebook like LIKE कीजिए IBNKhabar का FACEBOOK पेज।
इस अवसर पर नायडू ने कहा कि डिजिटल इंडिया मिशन देश में बदलाव ला रहा है। उन्होंने कहा है कि जहां 2005-14 के दौरान 13.70 लाख शहरी गरीबों के लिए किफायती आवासों के लिए मंजूरी दी गई थी, वहीं पिछले एक साल में शहरी गरीबों के लिए लगभग 11 लाख आवासों को मंजूरी दी जा चुकी है और ऑनलाइन आवेदन से यह संख्या और बढ़ेगी।
रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सीएससी डिजिटल इंडिया मिशन का अग्रदूत है। कौशल और ऑनलाइन सेवा आपूर्ति के जरिए यह समाज के विभिन्न वर्गो को सशक्त बना रहा है। आवास और शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय में संयुक्त सचिव अमृत अभिजात और सीएससी ई-गवर्नेस सर्विसिस इंडिया लिमिटेड के सीईओ दिनेश त्यागी ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | विएना मीटिंग से NSG में एंट्री को लेकर बढ़ सकती हैं भारत की उम्मीदें





राष्ट्रीय | न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (एनएसजी) के सलाहकार समूह की वियना में होने वाली बैठक में एनएसजी के विशेष प्रतिनिधि रफेल ग्रोसी नए देशों को समूह में शामिल करने को लेकर नई प्रक्रिया का सुझाव दे सकते हैं. 11-12 नवंबर को वियना में होने वाली इस बैठक में रफेल नन एनपीटी (न्यूक्लियर नन-प्रोलिफेरेशन ट्रीटी) देशों को एनएसजी में शामिल करने के लिए टू स्टेज प्रक्रिया का प्रस्ताव दे सकते हैं. इससे भारत जैसे देशों का समूह में शामिल होना आसान हो सकता है.
एनएसजी: चीन ने रोकी भारत की राह
भारत की NSG सदस्यता से घबराया चीन
इससे पहले भारत के एनएसजी में शामिल होने को लेकर चीन ने विरोध कर दिया था. इसके बाद दोनों देशों के प्रतिनिधियों की इस मुद्दे पर हुई बातचीत भी असफल रही थी. हालांकि, चीन वियना में होने वाली बैठक में शामिल होने पर सहमत हो गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि हम एक ऐसे समाधान की कोशिश करेंगे जिससे सभी नन एनपीटी देशों के लिए लागू किया जा सके, इसके बाद हम किसी खास देश के आवेदन पर भी विचार करेंगे. उन्होंने कहा कि वे इस बारे में भारत से बातचीत करते रहेंगे.

हालांकि, चीनी डिप्लोमेट्स ने यह भी सवाल उठाया है कि क्या रफेल ग्रोसी के प्रस्ताव को सभी देशों का समर्थन हासिल है. उधर, पिछले हफ्ते न्यूजीलैंड ने भारत के एनएसजी में शामिल होने पर अपने रुख में बदलाव का संकेत दिया था.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से भिड़ीं 20 से ज्यादा गाड़ि‍यां, कई घायल





मथुरा.यमुना एक्सप्रेस-वे पर गुरुवार सुबह घने कोहरे की वजह से 20 से ज्‍यादा गाड़ियां आपस में भिड़ गईं। हादसे में कई लोग घायल हुए हैं, जिन्हें नोएडा के हॉस्‍पिटल में एडमिट कराया गया है। प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक, हादसे में तीन लड़कियों को गंभीर चोट आई है। वहीं, एक बच्‍चे की जीभ भी कट गई। बता दें, बुधवार से ही दिल्ली और उससे सटे इलाकों में सुबह के वक्त घना कोहरे छा रहा है। धुंध का सबसे ज्यादा असर दिल्ली में...
- उत्तरी भारत में कोहरे की वजह से धुंध बढ़ता जा रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर दिल्ली में देखा जा रहा है।
- दिल्ली में इस वक्त एयर क्वालिटी इंडेक्स काफी खतरनाक लेवल पर है। बुधवार शाम यह 432 तक पहुंच गया।
- दिवाली के अगले दिन तो यह 445 तक पहुंच गया था।
- वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विजिबिलिटी 300 से 500 मीटर थी।
- इतनी कम विजिबिलिटी दिसंबर और जनवरी के महीने में पड़ने वाले कोहरे के दौरान होती है।
एयर क्‍वालिटी खराब
- एक्‍सपर्ट की मानें तो यह इमरजेंसी जैसी स्‍थि‍ति है, क्योंकि पिछले एक हफ्ते से एयर क्वालिटी लगातार काफी खराब बनी हुई है।
- बुधवार को दिल्ली में PM 2.5 जैसे प्रदूषित कणों का स्तर सुबह के वक्त खतरनाक स्तर पर पहुंच गया।
- दिल्‍ली के कई इलाकों में PM 2.5 का लेवल सुबह 7.30 बजे 700 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से ज्यादा हो गया था। वहीं, PM 10 जैसे प्रदूषित कणों का स्तर भी इन जगहों पर 1,600 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर पहुंच गया। दिन भर यह लेवल 1,000 माइक्रोग्राम से ज्यादा बना रहा।
- एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग एजेंसियों के वैज्ञानिकों ने कहा कि दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में क्रॉप बर्निंग और साथ ही दिवाली पर आतिशबाजी से हुए पॉल्‍यूशन की वजह से स्‍थि‍ति इतनी खराब हुई है।

खराब हुआ अखिलेश का 'रथ', CM बोले- पार्टी में मनमुटाव नहीं, महागठबंधन पर नेताजी लेंगे फैसला




उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की बहुप्रचारित रथ यात्रा गुरुवार को मुलायम सिंह के हरी झंडी दिखाने के साथ शुरू हो गई. हालांकि, यात्रा शुरू होने के कुछ देर बाद खबर आई है कि अखिलेश के 'रथ' में कुछ तकनीकी दिक्कत आ गई है. उन्हें कार में शिफ्ट किया गया है. अखिलेश ने 'आज तक' से बातचीत में कहा है कि ये रथ यात्रा का मकसद अपने कामों को जनता के बीच लेकर जाना है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को बताना पड़ेगा कि उन्होंने जनता के लिए क्या काम किया है. उन्होंने पार्टी में किसी तरह के मनमुटाव से इनकार किया.

रथ को हरी झंडी दिखाने के मौके पर मुलायम ने कहा कि वे पाकिस्तान के साथ युद्ध नहीं चाहते और चाहते हैं कि जवानों की जान भी न जाए. उन्होंने बीच का रास्ता अपनाने को कहा. उन्होंने ये भी कहा कि सपा की बहुमत से सरकार बननी चाहिए.
मुलायम सिंह ने कहा है कि सिर्फ नारों से काम नहीं चलेगा, काम भी करना होगा. शिवपाल यादव ने इस दौरान अखिलेश को शुभकामनाएं दी और रथ यात्रा को सफल बनाने की अपील की, लेकिन अखिलेश ने शिवपाल यादव के बारे में कुछ नहीं कहा. मुलायम सिंह ने कहा है कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने से ही परिवर्तन आएगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को शहीदों के परिवार से मुलाकात करनी चाहिए, हमारी सेना बेस्ट है. अखिलेश यादव ने कहा है कि यूपी की जनता इतिहास इस बार फिर दोहराएगी. उन्होंने कहा कि तीसरी बार यूपी में रथ चलाने का मौका मिल रहा है. उन्होंने रथ के जरिए ज्यादा से ज्यादा जनता के बीच जाने की बात कही. अखिलेश ने कहा कि यूपी चुनाव देश की दिशा तय करेगा. उन्होंने कहा कि लोगों ने साजिश की, जिससे हम डगमगाए.
अखिलेश के साथ मंच पर मुलायम सिंह यादव और शिवपाल भी पहुंचे. शिवपाल ने रथ यात्रा के लिए अखिलेश यादव को शुभकामनाएं दी और कहा कि उम्मीद है कि ये यात्रा सफल होगी. उन्होंने ये भी कहा है कि वे बीजेपी की सरकार नहीं बनने देंगे. रथ यात्रा शुरू होने से पहले ही समाजवादी पार्टी के समर्थक आपस में भ‍िड़ गए. सपा के समर्थकों ने लखनऊ में एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकीं.
हालांकि, रथ यात्रा समाजवादी पार्टी में जारी खींचतान पर विराम लगा पाएगी, इस पर संदेह अब भी बना हुआ है. इस रथ यात्रा से सपा में एकता के दावों की वास्तविकता भी सामने आ जाएगी.
इससे पहले शिवपाल ने अखिलेश की रथ यात्रा में हिस्सा लेने संबंधी सवालों को टालते हुए कहा था ‘मैं पांच नवंबर को सपा के रजत जयंती समारोह की तैयारियां कर रहा हूं. अगर तीन नवंबर को रथ यात्रा है तो पांच नवंबर को सपा का सिल्वर जुबली कार्यक्रम है.’
शिवपाल ने एक सवाल पर कहा था कि पार्टी कार्यकर्ताओं को समाजवाद का इतिहास पढ़ना चाहिये. पार्टी में अनुशासन होना बहुत जरूरी है. आपने 24 अक्तूबर को देखा कि जिन लोगों को बैठक में नहीं बुलाया गया था, वे भी उसमें चले आए.
रथ यात्रा के पहले चरण के प्रभारी साजन ने कहा कि रथ यात्रा के दौरान प्रत्येक दो किलोमीटर पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया जाएगा और वह विभिन्न स्थानों पर जनता को सम्बोधित भी करेंगे.
मुख्यमंत्री के काफिले में पांच हजार से ज्यादा वाहन शामिल होंगे. इस दौरान यह संदेश देने की कोशिश की जाएगी कि अखिलेश ही सपा का सर्वस्वीकार्य चेहरा हैं. लखनऊ से उन्नाव के बीच अखिलेश की रथ यात्रा के 60 किलोमीटर से ज्यादा लम्बे रास्ते पर दोनों ओर बैनर और पोस्टर की भरमार है. अखिलेश और शिवपाल की आपसी तल्खी जगजाहिर होने के बीच एक होर्डिंग में लिखा गया है- ‘शिवपाल कहें दिल से, अखिलेश का अभिषेक फिर से.’ वहीं, अनेक होर्डिंग और बैनर पर अखिलेश सरकार के कार्यों की तारीफ की गयी है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आपातकाल पर पुनर्विचार होता रहना चाहिए: मोदी





राष्ट्रीय  | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आपातकाल के बारे में बार बार विचार करने की ज़रूरत है ताकि कोई और नेता ऐसा करने की न सोचे.
इंडियन एक्सप्रेस के रामनाथ गोयनका पत्रकारिता अवार्ड के दौरान प्रधानमंत्री का यह बयान अख़बार की पहली खबर है.
अखबार के अनुसार प्रधानमंत्री ने कहा है कि विश्वसनीयता मीडिया की सबसे बड़ी चुनौती है और भारत को अपने वैश्विक ब्रांड स्थापित करने की ज़रूरत है.
इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप की ओर से दिए जाने वाले रामनाथ गोयनका अवार्ड के अवसर पर प्रधानमंत्री का कहना था, ''आज निष्पक्ष भाव से उस समय (आपातकाल) की मीमांसा हर पीढ़ी में होती रहनी चाहिए.''
हालांकि पत्रकारिता के लिए दिए जाने वाले प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका अवार्ड इस बार विवाद से अछूते नहीं रहे हैं.
इस बार सम्मान के लिए चुने गए पत्रकारों में से एक अक्षय मुकुल ने प्रधानमंत्री मोदी के कारण समारोह में शामिल होने से इंकार कर दिया है.

  • जानी मानी मैगजीन The Caravan के अनुसार अक्षय मुकुल ने कहा है कि 'वो इस तथ्य के साथ जी नहीं सकते कि वो और मोदी एक ही फ्रेम में हों.'
  • अक्षय मुकुल को उनकी पुस्तक के लिए सम्मानित करने की घोषणा हुई थी. अक्षय का कहना था कि वो अवार्ड मिलने से खुश हैं लेकिन उन्हें प्रधानमंत्री मोदी से अवार्ड लेने में समस्या है.
  • दिल्ली से छपे अख़बारों की अन्य खबरों में वन रैंक वन पेंशन के लिए भूतपूर्व सैनिक की आत्महत्या हर अखबार की सुर्खियों में है.
  • तस्वीरों में राहुल गांधी छाए हुए हैं जिन्हें बुधवार रात उस समय हिरासत में लिया गया जब वो सैनिक के परिवार से मिलने अस्पताल पहुंचे थे.
  • हिंदुस्तान टाइम्स लिखता है कि दिल्ली में भूतपूर्व सैनिक की आत्महत्या के बाद राजनीतिक तूफान आया.
  • द हिंदू की भी यही पहली खबर है और शीर्षक है ओआरओपी के मुद्दे पर आत्महत्या के बाद बड़ा ड्रामा.
  • टाइम्स ऑफ इंडिया ने दिल्ली के खराब होते मौसम को पहले पन्ने पर छापा है और लिखा है कि दिल्ली में नवंबर के मौसम में पहली बार इतना खराब मौसम देखने को मिला है.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सड़क में गड्ढे होने से आवागमन में परेशानी







बिल्सी विकास क्षेत्र अंबियापुर के गांव बेहटा गुसाईं से सिरातौल जाने वाले दो किमी प्री-मि¨क्सग सड़क में गहरे गड्ढे हो जाने से गांव के वा¨शदों को ट्रैक्टर-ट्रॉली, डनलप, दोपहिया वाहन निकास में परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं आए दिन गांव के लोगों के वाहनों के टायर पंक्चर हो जाते हैं। गांव के परेशान ग्रामीण सोनू गुप्ता, सुनील मिश्रा, सुमित गुप्ता, रामप्रकाश गुप्ता आदि ने जिलाधिकारी से सड़क की मरम्मत कराए जाने की मांग की है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिल्सी,सुबह तड़के ही दिल्ली के लिए सवारियां ढो रही प्राइवेट बसें






बिल्सी में उप संभागीय परिवहन निगम अधिकारियों की अनदेखी के कारण दर्जन से अधिक बसें डग्गामार में संचालित होकर दिल्ली के लिए सवारी ढोकर मुनाफा कमा रहे हैं। रोडवेज विभाग को प्रतिदिन हजारों की आय को चूना लगाया जा रहा है। सुबह साढ़े चार बजे से अ‌र्द्धरात्रि तक डग्गामार बसें बेरोक-टोक धड़ल्ले से दौड़कर सवारी ढोती हैं।
बिल्सी, इस्लामनगर, बहजोई, संभल, गजरौला के रास्ते दिल्ली के लिए सुबह तड़के साढ़े चार बजे से लेकर रात्रि 12 बजे तक डग्गामार प्राईवेट बसें रोडवेज से कम किराए पर 160 से 180 दिल्ली का किराया बिना टिकिट दिए धड़ल्ले से सवारियों को दिल्ली पहुंचा रहे हैं। दिल्ली वाडर पर खड़ी होकर यही बसें गजरौला, संभल, बहजोई, बिल्सी बिसौली, सहसवान के राते होकर बदायूं पहुंचती है। डग्गामार बसों पर उपसंभागीय परिवहन अधिकारी अपने कार्यालय बदायूं रोड स्थित पर जांच करें तो कई बसें डग्गामार हिरासत में आ सकती है। राजनैतिक पहुंच रखने वाले लोगों की बसें पुलिस के आर्थिक समझौता से आरटीओ बहजोई, अमरोहा, गजरौला, गाजियाबाद की अनदेखी के कारण धड़ल्ले से संचालित हो रही है। दिल्ली वार्डर से यात्री भर कर चलने वाली डग्गामार बसों में व्यापार कर विभाग को चूना लगाकर प्रतिदिन कारोबारी दिल्ली से खरीददारी कर प्राइवेट डग्गामार बसों से सामान लाते हैं। संभल, बहजोई, बिल्सी, इलामनगर, उघैती, बदायूं, में दिल्ली से खरीदा रेडीमेड व मोबाइल आदि समान उतारा जाता है। प्रतिदिन लाखों का सामान खरीदकर लाने वाले धंधेबाजों पर व्यापार कर विभाग भी अपना शिकंजा नहीं कस पा रहा है। प्राइवेट डग्गामार बसों पर अंकुश लग जाए तो दिल्ली जाने वाली रोडवेज बसों की आमदनी बदायूं, बरेली डिपो की डेढ़ गुनी हो जाएगी। फिर भी परिवहन निगम चुप्पी साधे हुए है।
-

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मुख्यमंत्री की रथयात्रा में शामिल होने लखनऊ गए सपाई





बदायूं : मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की रथ यात्रा में शामिल होने के लिए जिले से भी सभी विधायक, पदाधिकारी और हजारों कार्यकर्ता लखनऊ रवाना हुए।
शहर समेत जिले की हर विधानसभा क्षेत्र से पदाधिकारी और कार्यकर्ता लखनऊ गए हैं। जिलाध्यक्ष व एमएलसी बनवारी ¨सह के राज्यमंत्री ओमकार ¨सह यादव, विधायक आशुतोष मौर्य, आशीष यादव समेत पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता कार्यकर्ताओं के साथ रवाना हुए। कार्यकर्ताओं को तो बसों से पहले ही भेज दिया गया। अंबियापुर ब्लाक प्रमुख विजेता यादव पत्नी सपा युवजन सभा के पूर्व जिलाध्यक्ष सर्वेश यादव के नेतृत्व में जत्था लखनऊ में तीन अक्टूबर को प्रदेश मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा आयोजित विकास से विजय की ओर रैली में भाग लेने के लिए अंबियापुर ब्लाक क्षेत्र के गांवों से रवाना हुआ है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दिल्ली पुलिस का पुतला फूंका






बदायूं : जिला कांग्रेस कमेटी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी व अन्य कांग्रेसियों संग दिल्ली पुलिस के व्यवहार की कड़ी आलोचना की है। मामले में आक्रोश जाहिर करते हुए दिल्ली पुलिस की कार्यशैली की ¨नदा कर पुतला फूंका गया। जिलाध्यक्ष साजिद अली ने कहा कि पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने केंद्र सरकार के कुशासन से ही आहत होकर आत्महत्या की है। जब राहुल गांधी उनके पीडित परिवार से मिलने गए तो उनके साथ अभद्रता की गई। इस मौके पर प्रदेश सचिव सैयद आजम अली, उपाध्यक्ष महेश सक्सेना, प्रेमपाल शर्मा, अभिषेक पांडेय, अमन मयंक शर्मा, इगलास हुसैन, भगवान ¨सह, प्रतीक राठौर, जितेंद्र, मोहित, सुहैल, जीशान, केसी दीक्षित, आदि ने केंद्र सरकार व दिल्ली पुलिस की कार्यशैली की ¨नदा की। - See

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | हत्या कर युवक की लाश रेलवे ट्रैक पर फेंकी!




थाना फैजगंज बेहटा के गांव ढोरनपुर में जुए में हार-जीत को लेकर हुए विवाद में हर प्रसाद नाम के युवक की हत्या कर दी गई। शव गांव के बाहर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। उसके सिर पर गंभीर चोट के निशान थे। मृतक के परिवार वालों ने गांव के ही तीन सगे भाइयों पर हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि हरप्रसाद ने खुदकुशी की है। मामले में पड़ताल की जा रही है।  थाना फैजगंज बेहटा के गांव ढोरनपुर निवासी हर प्रसाद (35) पुत्र राधेश्याम कश्यप को गांव के ही तीन लोग मंगलवार शाम घर से बुलाकर ले गए थे। इसके बाद वह घर नहीं लौटा। बुधवार सुबह हरप्रसाद का शव गांव के पास रेलवे ट्रैक के निकट पड़ा मिला। मृतक की मां छोटी देवी का आरोप है कि सोमवार को हरप्रसाद का जुआ में हार-जीत को लेकर गांव के तीन सगे भाइयों से विवाद हुआ था। इसी विवाद में उसकी हत्या कर दी गई। इसे खुदकुशी साबित करने के लिए शव रेलवे ट्रैक के पास फेंक दिया गया। छोटी देवी ने तीन सगे भाइयों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए नामजद तहरीर थाने में दी है। इधर, एसओ फैजगंज बेहटा प्रदीप यादव का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की वजह साफ हो जाएगी।  
सोमवार शाम भी हुआ विवाद और मारपीट
आसफपुर। गांव के कुछ लोगों की मानें तो हरप्रसाद सोमवार को गांव के ही तीन लोगों के साथ पड़ोसी गांव सुरैनी पापड़ी गया था। यहां से इन लोगों ने यहां से शराब खरीदी। सभी लोग ने नगला जैत के पास शराब पी। यहां जुआ में हार-जीत के दो दिन पुराने विवाद पर दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। गांव के लोगों ने बीच-बचाव करा दिया था। तीनों सगे भाई इसके बाद मंगलवार रात हर प्रसाद को फिर से बुलाकर ले गए।  
प्रथम दृष्टयता मामला खुदकुशी का प्रतीत हो रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की वजह साफ हो जाएगी। अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। -प्रदीप यादव, एसओ फैजगंज बेहटा

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | रेलवे स्टेशन पर स्कूटी दौड़ाना पड़ा महंगा, वाहन सीज






बदायूँ | रेलवे स्टेशन परिसर को पिकनिक स्पॉट समझकर जाने वालों और प्लेटफार्म को रेसिंग कोर्ट समझकर वाहन दौड़ाने वालों को बुधवार को ऐसा करना काफी महंगा पड़ा। जीआरपी ने स्टेशन पर स्कूटी दौड़ा रहे युवकों को पकड़ लिया और एक स्कूटी को सीज कर दिया, जबकि दूसरे का चालान काट दिया।
बुधवार को दोपहर करीब 12 बजे बदायूं के मोहल्ला लालपुल के निवासी अफगान खां और शहबाजपुर के जुबैर अमीन तीन लोगों के साथ बैठाकर प्लेटफार्म नंबर दो पर तेज रफ्तार में स्कूटी दौड़ा रहे थे। जीआरपी ने दोनों स्कूटी कब्जे में लेकर थाने ले गई। वहां पर एसओ जीआरपी उमेश सिंह ने अफगान खां के पास कोई स्कूटी का कोई कागज न होने पर सीज कर दिया, जबकि जुबैर की स्कूटी का चालान काट दिया।
इधर, आरपीएफ ने मंगलवार को चेकिंग के दौरान चार लोगों को बगैर प्लेटफार्म टिकट के पकड़ लिया। इन लोगों का रेलवे एक्ट के तहत चालान कर दिया। आरपीएफ इंस्पेक्टर दिनेश चंद्र के मुताबिक बाद में चारों को जमानत पर छोड़ दिया गया।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | छुट्टी खत्म, अब मेले के काम में आई तेजी






रूहेलखंड का मिनी कुंभ कहलाए जाने वाला ककोड़ा मेले की तैयारियों को अमलीजामा पहनाने का काम शुरू कर दिया गया है। दीपावली के अवकाश में काम की गति में विराम लगने के बाद अब समाप्ति के बाद बुधवार को पुन: कार्य ने गति पकड़ ली है।

जिला पंचायत एएमए हरिपाल सिंह, अभियंता संजय शर्मा ने मेले स्थल पर पहुंचकर काम की प्रगति की जानकारी ली। ठेकेदारों को समय से काम पूरा करने के निर्देश दिए। गुरुवार को डीएम पवन कुमार मेले स्थल पर पहुंचकर विकास कार्य का निरीक्षण करेंगे। इस वर्ष मेले की व्यवस्थाओं पर अधिकारियों की पैनी नजर रहेगी। पांच नवंबर को कमिश्नर का भी दौरा होने की उम्मीद है। बुधवार को अवर अभियंता लालता प्रसाद कश्यप, रंजीत, राजेश सचान ने भी मौके पर जाकर निरीक्षण किया।
में लगे हुए हैं।
कोतवाली तैयार
मेले के लिए कोतवाली बनकर तैयार हो गई है। टेंट, हैंडपंप, शौचालय बनाने का काम भी शुरू हो गया है। लेकिन अभी तक मेले का इंचार्ज कोई नहीं बनाया गया है। पुलिस की कोई व्यवस्था न होने से लोगों में जंगल का क्षेत्र होने से भय का वातावरण है। वहीं अभी तक प्रकाश व्यवस्था भी नहीं की गई है
सैलानियों का किया अभिवादन
गंगा की धारा का आनंद लेते हुए छह नाव में सवार सैलानी कछला की ओर से गंगा तट पर पहुंचे तो वहां काम कर रहे लोगों ने हाथ हिलाकर उनका अभिवादन किया। गंगा तट पर लगे तंबु देख सैलानियों ने प्रसन्नता से लोगों का अभिवादन कर नाव को आगे बढ़ाया।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | दुकान-मकान से फिर माल उड़ाया






बदायूँ | चोरियों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार रात चोरों ने राजनगर कालोनी निवासी सफाई कर्मी के घर का निशाना बना लिया। खाली पड़े घर का ताला तोड़ कर चोर जेवरात समेत नकदी समेट ले गए। पंखा रोड पर खोखानुमा दुकान से बीड़ी-सिगरेट और पान मसाले पैकेट भी चोर निकाल ले गए।

मानकपुर रोड स्थित राजनगर कालोनी निवासी धनपाल समेत उसके घरवाले मंगलवार सुबह में घर का ताला डाल कर भैय्यादूज के लिए बाहर चले गए थे। सुबह में घर का ताला टूटा देख पड़ोसी ने धनपाल को कॉल कर बुला लिया। गृहस्वामी धनपाल ने घर में देखा तो कीमती सामान और जेवरात के अलावा करीब 50 हजार रुपया गायब थे। संभल जिले के गुन्नौर क्षेत्र के गांव ईसमपुर डांडा में तैनात सफाई कर्मी धनपाल ने पुलिस को भी मौके पर बुला लिया। पुलिस ने आसपास इलाके में छानबीन भी की लेकिन चोरों का सुराग नहीं लग पाया। करीब एक लाख रुपये का नुकसान बताते हुए धनपाल ने रिपोर्ट लिखाने के लिए कोतवाली में तहरीर दे दी है।
इससे पहले सोमवार रात चोरों ने पंखारोड पर राकेश शर्मा की खोखानुमा दुकान में नकब लगाकर सिगरेट, बीड़ी, पान मसाला के पाउच समेत गुल्लक से नकदी समेट ली। राकेश को भी चोरी की भनक सुबह में लगी। राकेश की दुकान से 35 हजार रुपये का सामान गया है। बता दें कि सोमवार से अब तक चोरों ने चार स्थानों पर घटनाओं को अंजाम दिया। दोपहर में पंजाबी कालोनी निवासी शिक्षक रामप्रकाश शर्मा के घर से करीब चार लाख रुपये का माल उड़ाने के बाद रात में किलाखेड़ा मोहल्ले में तुलसीराम मथुरिया के घर में हाथ साफ कर लिया था। चोरी की सिलसिलेवार घटनाओं से नागरिक भी दहशत में हैं।

पुलिस ने खंगाला पुराना रिकार्ड
उझानी। शिक्षक रामप्रकाश शर्मा समेत चारों स्थानों पर हुई चोरी की घटनाओं के बाद अचानक से बेचैन पुलिस ने चोरों तक पहुंचने के लिए हर हथकंडा अपनाना शुरू कर दिया। पुलिस ने आपराधिक प्रवृति के लोगों और युवकों के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए बुधवार को छानबीन की। पुरानी घटनाओं में लिप्त रहे युवकों का भी रिकार्ड खंगाला गया। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने संदिग्ध नजर आने पर तीन-चार युवकों से पूछताछ भी की है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | डीएम साहब:17 साल से दर्ज नहीं हुई विरासत






बदायूँ | भूमिधर खातेदार की मौत के बाद राजस्व अभिलेखों में विरासत दर्ज न करने के प्रकरणों को डीएम पवन कुमार ने गंभीरता से लेते हुए अविवादित विरासत दर्ज करने के मामलों में किसी प्रकार का अनावश्यक देरी न की जाए। उन्होंने कहा तहसील दिवस में प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध ढंग से गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किया जाना चाहिए। 

बुधवार को तहसील बिल्सी में आयोजित तहसील दिवस में एसएसपी महेंद्र यादव, सीडीओ अच्छेलाल सिंह यादव सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के डीएम ने जन शिकायतों को सुना। ग्राम सिरकीखेड़ा निवासी श्रीपाल ने छह वर्ष बाद भी विरासत दर्ज न होने, ग्राम दिधौनी के हीरालाल ने 17 साल, ग्राम बरनी पाठकपुर के महेंद्र ने विरासत दर्ज न होने की शिकायत की। विरासत दर्ज न होने से संबंधित एक साथ कई शिकायतें प्राप्त होने पर डीएम का पारा चढ़ गया। एसडीएम विधान जायसवाल से इसका कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि तहसील क्षेत्र अंतर्गत 211 गांवों में से 107 गांवों में चकबंदी प्रक्रिया जारी है और विरासत दर्ज करने की जिम्मेदारी चकबंदी विभाग की ही है। डीएम ने बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी भीमसेन यादव को अपने सम्मुख तलब कर कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देश दिए कि लंबित अविवादित विरासत के मामलों को अतिशीघ्र दर्ज कराकर उन्हें अवगत कराया जाए। 
ग्राम रिसौली के ओमप्रकाश, मूलचंद ने चकरोड तोड़कर अपने अवैध कब्जा करने की शिकायत की। डीएम ने चकबंदी एवं राजस्व विभाग के लेखपाल, कानूनगो के साथ पुलिस बल को वहां पहुंचकर चकरोड अवैध कब्जे से मुक्त कराने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कराने के निर्देश दिए। तहसील दिवस में 33 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमें पांच शिकायतों का मौके पर निस्तारण कराया गया। डीएम ने सभी शिकायतों को निर्धारित अवधि में गुणवत्तापूर्वक निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर डीएफओ समीर कुमार, सीएमओ डॉ सुनील कुमार, प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी जयसिंह यादव तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

19 अधिकारी गैरहाजिर, वेतन कटौती के आदेश 
बदायूं। बिल्सी में आयोजित तहसील दिवस में डीएम पवन कुमार के पहुंचने पर अधिकारियों की कुर्सियां खाली देखकर उनका पारा चढ़ गया। उन्होंने उपस्थिति पंजिका तलब की तो 19 अधिकारी अनुपस्थित पाए गए। डीएम ने अनुपस्थित अधिकारियों के वेतन कटौती के साथ प्रतिकूल प्रविष्टि भी दिए जाने के निर्देश दिए हैं। तहसील दिवस में सहायक निबंधक सहकारी समितियां, जिला गन्ना अधिकारी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, इस्लामनगर एवं सहसवान की सीडीपीओ, उद्योग, मनोरंजन, बाट माप, परियोजना अधिकारी डूडा एवं नेडा विभाग के अधिकारियों के साथ ही पंजाब नेशनल बैंक के एलडीएम, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी, जिला सेवायोजन अधिकारी, बिल्सी के मंडी सचिव सहित लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय एवं निर्माण खंड के अधिशासी अभियंता तथा ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशासी अभियंता अनुपस्थित पाए गए। 

... जब ग्राम्य विकास अधिकारी को डीएम ने भगाया 
तहसील दिवस में डीएम ने ब्लॉक सहसवान के बीडीओ को तलब किया तो तहसील दिवस में उनके प्रतिनिधि के रूप में पहुंचे ग्राम विकास अधिकारी छत्रपाल डीएम के सामने हाजिर हुए। डीएम ने जब उससे पद के संबंध में पूछा तो उन्होंने पद बताया। डीएम ने उसे तहसील दिवस से बाहर जाने के निर्देश देते हुए बीडीओ सहसवान का जवाब-तलब कर उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई अमल में लाने के निर्देश दिए हैं। कहा कि उनकी बैठकों, तहसील दिवस में वरिष्ठ अधिकारी स्वयं उपस्थित हों।

ग्रामीणों की शिकायतें सुनीं
सहसवान। अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व एवं हवलदार यादव की अध्यक्षता में आयोजित तहसील दिवस में 29 शिकायती प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए। इसमें एक का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। जबकि शेष प्रार्थना पत्रों को निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को सौंप दिए। तहसील दिवस में एसपी देहात संजय राय, सीओ केके सरोज, तहसीलदार अहिवरन सिंह, नायब तहसीलदार राजकुमार, वीरेंद्रपाल, विचित्रपाल सिंह, चेतेंद्र शर्मा, खुशहाल सिंह आदि मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिनावर,गैर इरादतन हत्या में दो सगे भाई समेत छह लोगों को सजा






 बिनावर  | अपर जिला सत्र न्यायाधीश ने गैर इरादतन हत्या में नामजद पिता-पुत्र व दो सगे भाइयों सहित छह लोगों को 10-10 साल की कैद समेत प्रत्येक को साढे़ 22 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। साथ ही घायलों को जुर्माना की आधी रकम दिए जाने का आदेश भी दिया है।
घटना एक जून 2001 की है। थाना बिनावर के गांव रहमा निवासी समरउद्दीन एडवोकेट पुत्र नाजिर हुसैन ने रिपोर्ट लिखाई थी, कि उनके भतीजे तौकीर रजा पुत्र मेहंदी हसन का गांव के निसार अहमद से रास्ते से ट्रैक्टर हटाने को लेकर कहासुनी हो गई थी। इसी रंजिश के चलते एक जून 2001 की शाम करीब साढे़ छह बजे जब वह लोग अपने घर की बैठक में बैठे थे। तभी निसार अहमद, मुकीम, शमीम, नसीम, तसलीम और मुन्ना अपने हाथों में लाठी और नाजायज असलहा लेकर आ गए और उनके भतीजे तौकीर, मेहंदी हसन व नाजिर हुसैन को मारपीट कर लहूलुहान कर दिया। तौकीर बेहोश हो गया। उसको बरेली स्थित अस्पताल में भर्ती कराया। दिल्ली ले जाते हुए तौकीर की रास्ते में मृत्यु हो गई।
विद्वान न्यायाधीश ने पत्रावली पर मौजूद साक्ष्यों का अवलोकन किया। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद गैर इरादतन हत्या में नामजद आरोपी निसार, मुकीम, शमीम, तसलीम, नसीम और मुन्ना को दोषी पाकर 10-10 साल कैद समेत प्रत्येक पर साढे़ 22 हजार रुपये का जुर्माना ठोका है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | छात्रा से ठगा लैपटॉप






बदायूँ | कादरचौक क्षेत्र के गांव प्रेमीनगला में डीआईओएस कार्यालय का कर्मचारी बताकर पहुंचे युवक ने महिला से उसकी बेटी का लैपटॉप ठग लिया। इसका अहसास छात्रा को उस वक्त हुआ जब वह सच्चाई का पता लगाने के लिए डीआईओएस कार्यालय पहुंची। डीआईओएस ने ठगी करने वाले युवक का सेलफोन नंबर अंकित कर कार्रवाई के लिए एसएसपी को पत्र लिखा है।
मामला दीपावली से तीन दिन पहले का है। कादरचौक क्षेत्र के गांव प्रेमीनगला निवासी कोमिल सिंह की बेटी रीना बदायूं के राजकीय महाविद्यालय की छात्रा है। उसे इंटर की पढ़ाई पूरी करने पर अखिलेश यादव की सरकार से नि:शुल्क लैपटॉप दिया गया था। आरोप है कि उसके पिता के सेलफोन पर अज्ञात व्यक्ति कॉल कर कर कहा था कि वह डीआईओएस कार्यालय से बोल रहा है। रीना को जो लैपटॉप मिला है, उसमें तकनीकी खामी है। लैपटॉप ठीक कराने के लिए भेजा जाएगा। कोमिल के कहने पर रीना की मां ने लैपटॉप कॉल करने वाले अज्ञात व्यक्ति को सौंप दिया।
छात्रा को घर पहुंचने पर लैपटॉप के बारे में जानकारी हुई तो उसने अगले दिन डीआईओएस कार्यालय जाकर सच्चाई का पता लगाया। सभी कर्मचारी ने लैपटॉप के बारे में जानकारी होने से इंकार कर दिया। ठगी का अहसास होने पर रीना ने डीआईओएस को भी दास्तां सुनाई। डीआईओएस ने ठगी से जुड़े अजीब मामले में अपनी ओर से एसएसपी को भी पत्र लिखा है। उन्होंने एसएसपी से ठगी करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामलादर्ज कराने की भी संस्तुति की है।

कॉल करने पर स्विच ऑफ बोलता है सेलफोन
उझानी। ठगी की शिकार छात्रा रीना की पैरोकारी में खड़े सत्योदय शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज वनगवां के प्रबंधक सत्येंद्रपाल ने बताया कि रीना और उसके परिवार के लोगों ने उस नंबर पर कई बार कॉल की जिससे फोन आया था लेकिन वह उसी वक्त से स्विच ऑफ बोल रहा है। ठगी करने वाले अज्ञात व्यक्ति का सेलफोन नंबर पुलिस को भी बता दिया गया है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | होल्कर यूथ ब्रिगेड का कोतवाली में प्रदर्शन





बदायूँ | गायब लड़की के मामले में अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह को अमानवीय यातनाएं देने के विरोध में बुधवार को राजपाल समर्थकों ने कोतवाली में प्रदर्शन किया। उन्होंने कोतवाली में तैनात एक दरोगा और कादरचौक थाने के दो पुलिस कर्मियों पर भी नामजद दरोगा समेत उसके घरवालों का सहयोग करने का आरोप लगाया। लोगों ने एसएसपी से भी मुलाकात कर आरोपी दरोगा व अन्य के गिरफ्तारी की मांग की।

ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजू पाल के नेतृत्व में होल्कर समाज के लोगों ने कोतवाली में तैनात एक दरोगा और कादरचौक थाने के दो सिपाहियों की भूमिका संदिग्ध ठहराते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन और घेराव के दौरान गुस्साए लोगों ने कोतवाल गोपीचंद्र यादव से घटनाक्रम को लेकर पहले तो बातचीत की फिर हंगामा शुरू कर दिया। आरोप है कि राजपाल को शक में पकड़ कर मैनपुरी जिले में तैनात दरोगा ने महज इसलिए अमानवीय यातनाएं दी कि गायब लड़की उसकी बहन है। उनका कहना है कि उक्त दरोगा ने राजपाल की पहले अपने गांव फिर कोतवाली में विवेचक दरोगा के कमरे में बांधकर पिटाई की।
बता दें कि लड़की भगाने के आरोपी युवकों की सरंक्षण देने के शक में लड़की के भाई मैनपुरी जिले में तैनात दरोगा समेत परिवार के सदस्यों ने राजपाल को बेरहमी से पीटा था। पिटाई से घायल राजपाल को उसके घरवालों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस ने अगले दिन ही आरोपी दरोगा समेत उसके भाईयों के खिलाफ अपहरण, लूट और मारपीट में नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। हालांकि नामजद अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने बताया कि नामजद दरोगा को पकड़ने के लिए पुलिस ने पकड़ने में दिलचस्पी ही नहीं दिखाई। प्रदर्शनकारियों में शामिल घायल राजपाल के भाई धर्मवीर ने बताया कि दरोगा को पकड़कर और पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

पुलिस के कब्जे में नामजद दरोगा की कार
उझानी। बोंदरी निवासी राजपाल को पकड़ कर लाने में जिस कार का इस्तेमाल किया गया, वह इस वक्त कोतवली में है। प्रदर्शनकारियों ने कार को खोलकर देखा तो उसके अंदर लोहे की रॉड, डंडे और मैनपुरी में तैनात नामजद दरोगा की टोपी भी मिली। लोगों ने पुलिस से भी कहा कि जब वह राजपाल को कोतवाली पुलिस के हवाले करने लाया तो उसे मौके पर ही पकड़ा क्यों नहीं गया।

दरोगा की बहन को गायब करने में नामजद है चार युवक
उझानी। मैनपुरी में तैनात दरोगा की बहन 16 अक्तूवर से गायब है। इस मामले में गुमशुदगी दर्ज हुई, जिसमें कोतवाली क्षेत्र के गांव कुडानरसिंहपुर के राधेश्याम शंभूनाथ, अलीगढ़ में इगलास थाना क्षेत्र के गांव गिरीश शर्मा और उसके अज्ञात भाई को नामजद कराया था। इसकी विवेचना कोतवाली में तैनात दरोगा राजपाल सिंह को सौंपी गई थी। सूत्रों की मानें तो आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े तो लड़की के दरोगा भाई ने खुद ही छानबीन शुरू कर दी। यह बात विवेचक को भी पता थी। लड़की के दरोगा भाई को शक रहा कि बोंदरी का राजपाल आरोपियों को सरंक्षण प्रदान कर रहा है। जिस वक्त राजपाल को पकड़ा गया, तब भी आरोपी दरोगा वर्दी में था। दबिश के बाद उसने विवेचक से भी फोन पर बात की थी।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का विचार & सुविचार




  •  आज का विचार



1) समस्या को हल करने की तुलना में बहुत से लोग ज्यादा समय और ताकत उस से जूझने में लगा देते है.

2) सुबह की ‘चाय’ और बड़ो की ‘राय’ वक्त पर ही लेते रहना चाहिए…!

3) खुद के लिए पैसा कमाना अच्छी बात है, और उससे किसी और का भी भला हो तो बहुत अच्छी बात है

4) हर रोज नीद से उठाने के बाद आपके पास अगर करने जेसा काम होंगा तो आपका जिंदगी से कभी झगडा नहीं होंगा.

5) मेरे पास पेड़ कटाने के लिए 10 घंटे है, तो उसमे से 7 घंटे मे कुल्हाड़ी को धार लगने में इस्तमाल करुगा.

  आज के सर्वश्रेष्ठ विचार

6) आपके विचार आपके वाक्य तय करते है, आपके वाक्य आपके कृती में बदलते है, आपकी कृती आपकी आदत में बदलती है, आपकी आदते आपका व्यक्तिमत्व तय कराती है, और आपका व्यक्तिमत्व आपका कर्म.

7) नये विचार सुझाना ये दाढ़ी करने जैसा है, अगर ये रोज नहीं हुआ तो आप नालायक हो.

8) जिस चीज का आपको डर लगता है, वही चीज करो, डर हमेशा के लिए ख़तम हो जायेंगा.

9) इस बात की चिंता मत करो की लोग आपके बारे में क्या सोचते है, वो तो इसमे ही व्यस्त हे की आप उनके बारे मै क्या सोचते है.

10) जब दूसरो को बदलना मुश्किल होता है, तब खुद मै बदलाव करना ही अच्छा है.


  •  सर्वाधिक पढ़े गए 10 सुविचार 


11) होशियार इन्सान कोई भी काम करने से पहले सोचता हैं, और मुर्ख करने के बाद.

12) हमारी हर एक सोच हमारा भविष्य बनती है.

13) हमारे सपने सच करने का सबसे अच्छा रास्ता – नीद से जाग जाने का.

14) जिस दिन आप खुद पर हस सको, समज जाओ आप सफल होते जा राहे हो.

15) नसीब मतलब क्या ? मेहनत और मोके का मिलाप.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का राशिफल 03/11/2016





  • मेष राशि

स्वामी – मंगल
अराध्य देव – श्री गणेशजी
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – अ, ल, इ
शुभ रत्न – मूंगा
शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी
मेष राशि के जातक जन्म से ही नेतृत्व में निपुण होते है. प्रायः ऊर्जा और अति- उत्साह से सभर रहते है. हालाँकि स्वच्छ प्रकृति के मगर अधिक आत्म केंद्रित रहते है. किसी भी कार्य को योजनापूर्वक करने में माहिर हैं. संघर्ष से उचित पद, इज्जत और नाम कमाते है. किसी को अपने पक्ष में खींचने में निपुण है. जो लोग आपके अनुसार कार्य नहीं करते उनके प्रति आपकी धारणा नकारात्मक रहती है. किन्तु मेष राशि के जातक जिन पर प्रसन्न हो जाते हैं उन पर जान भी न्योछावर कर देते हैं.


  • वृषभ राशि

स्वामी – शुक्र
अIराध्य देव – कुलस्वामिनी
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – ब, व और ऊ
शुभ रत्न – हीरा
शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष
वृषभ राशि के जातकों का स्वभाव गंभीर, स्थिर और व्यव्हार कुशल रहताहै. सौंदर्य से प्रेम करने वाले और शिष्टप्रिय होते है. पुराने विचारों में मानते है. धन और नाम हासिल करते हैं. अपने पुराने विचारों की वजह से लोगों से उंच नीच रहती है. प्रभावपूर्ण वाणी आपकी विेषेषता है. सफलता प्राप्त करने के बाद भी लोगों को साथ में रख कर चलना आपकी आदत है. आप भावुक और ह्रदय से सच्चे है. तत्काल लाभ की अभिलाष रखते हैं मगर उपेक्षा के पात्र बनते है.


  • मिथुन राशि

स्वामी – बुध
अIराध्य देव – कुबेर
तत्व – हवा
नाम के पहले अक्षर – क, छ, घ
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष
मिथुन राशि के जातकों में दुसरो की प्रकृति तथा व्यवहार को तीव्रता से समझ लेते हैं. मिलनसार स्वभाव की वजह से बहुत मित्र होते हैं. किसी भी कठिन बात को बुद्धिपूर्वक आसानी से बोल लेते हैं. आकर्षक और मनोरंजक व्यक्तित्व इनकी विशेषता हैं.

किन्तु अंद्रोनी तौर पर शुभ आचार विचार वाले और एकाग्र होते हैं. किन्तु बुरी सांगत को ले कर अपनी प्रतिभा को नुक्सान करते हैं. साथ ही कुछ मित्रों की संगत से मदद भी मिलती हैं. मिथुन राशि के जातक अधिकतम उदार दिल, बलशाली, चतुर तथा भोग विलास में रस रखनेवाले होते हैं.


  • कर्क राशि

स्वामी – चन्द्रमा
अIराध्य देव – शंकर भगवान
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – ड, ह
शुभ रत्न – मोती
शुभ रुद्राक्ष – दो मुखी रुद्राक्ष
इस राशि के लोग सौन्दर्यवान और घर परिवार से अत्यधिक मोह रखने वाले होते हैं. भावनात्मक रूप से अपने आप को सुरक्षित रहना चाहते है. इसी वजह से अपनी भावनाओं को सही मायने में प्रस्तुत करने से डरते है.

यह राशि वाले रिश्तों और परिवार में रचे रहते हैं. प्रकृति से लोगों को सुरक्षा देने वाले और अन्य लोगो को पालन पोषण देते हैं. जज्जबाती और देशभक्त तथा मातृभक्त रहते हैं. इनकी प्रकृति लोगों की समझ में जल्द नहीं आती. ऊपर से भावनाहीन मगर अंदर से मोम जैसा व्यक्तित्व और प्रेमी स्वभाव रहता हैं.


  • सिंह राशि

स्वामी – सूर्य
अIराध्य देव – सूर्य भगवान
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – म, ट
शुभ रत्न – माणिक्य
शुभ रुद्राक्ष – एक मुखी रुद्राक्ष
सिंह राशि के जातक किसी के सामने झुकना पसंद नहीं करते. स्वभाव से उत्साही, निर्भयी, क्रोधी, वीर, स्वतन्त्र और कठिन परिस्थितियों में भी विचलित न होने वाले व्यक्ति होते हैं. सन्तोषपूर्ण होने के कारन आर्थिक उन्नति नहीं कर पाते. अकेले रहना अधिक पसंद करते हैं जिसकी वजह से जीवन में कठिनाइयां रहती है. सिंह राशि के जातक अधिकतम अपने शोख़ को अपना पेश बनाते हैं. ह्रदय से आप दूसरों का भला हमेशा चाहते हैं मगर आपका अहंकार आपको दुसरो से जोड़ने में रुकावटें पैदा करता हैं. जन्म से ही आप संचालन और नेतृत्व की शक्तियां रखते हैं.


  • कन्या राशि

स्वामी – बुध
अIराध्य देव – कुबेर
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – प, ठ, ण
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष
कन्या राशि के जातक स्वभाव से अधिक दृढ़ निश्चयी और कुछ अंश तक जिद्दी भी होते हों. एक बार जो सोच लेते है उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं. सञ्चालन में कुशल, कलाओं में निपुण और धनी रहते हैं. वाणी में मधुरता, बुद्धिमता, विचारशीलता और व्यवहारिकता इनकी खासियतें हैं. स्वच्छता के अति आग्रही और हर कार्य को व्यवस्थापूर्ण करना चाहते हैं. मेहनती और सफलता को तीव्रता से पाने वाले व्यक्ति हैं. किन्तु सांसारिक जीवन में भाग्यशाली नहीं होते. ह्रदय से रोमांटिक रहते हैं किन्तु भावनाओं को प्रदर्शित करने में विश्वास नहीं रखते. इसकी वजह से प्रेम सम्बन्धो और वैवाहिक सम्बन्धो में सफलता नहीं मिलते.


  • तुला राशि

स्वामी – शुक्र
अIराध्य देव – कुल स्वामिनी
तत्व – वायु
नाम के पहले अक्षर – र, त
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष
तुला राशि के जातक जन्मजात कुशल राजनीतिज्ञ, विचारशील और चतुर होते हैं. स्वभाव संतुलित रहता है और हर वस्तु को सम्पूर्ण समीक्षा और परिक्षण के बाद समझते हैं. आज्ञा के पालक रहते हैं. सौंदर्य और सुघड़ता को बहुत पसंद करते हैं. दूरदर्शिता से भरपूर आपका स्वभाव कार्य क्षेत्र में अच्छी तरक्की करवाता हैं.

वाणी और स्वभाव आनंदित रहने की वजह से लोगों में प्रिय बने रहते हैं. सभी राशियों में अत्यधिक आकर्षण पैदा करने वाला व्यक्तित्व रखते हैं. किन्तु कुछ परिस्थितियों में अत्यधिक हताश हो जाते हैं. निर्णय लेने से पहले आयाम और अंजाम के विषय में अत्यधिक सोचते हैं.


  • वृश्चिक राशि

स्वामी – मंगल
अIराध्य देव – गणेशजी
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – न, य
शुभ रत्न – माणिक्य
शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी रुद्राक्ष
वृश्चिक राशि के जातक तीक्ष्ण बुद्धि के मालिक होते है. बोले हुए वचन को दृढ़ता से पालनेवाले, थोड़े घमंडी, किसी भी विषय का बारीकी से निरिक्षण करने में निपुण और महत्वकांशी रहते हैं. धार्मिक विचार रखते हैं और हर कार्य को कुशलतापूर्वक करते हैं. अन्य लोगो के स्वभाव, शक्तियों और कमजोरियों को तीव्रता से समझने का गुण रखते हैं. मित्र बनाने के शौकीन और प्रशंसा पाने के अभिलाषी रहते हैं. इनकी दोस्ती जितनी लाभदायी रहती है उतनी ही इनकी दुश्मनी कष्टदायक रहती हैं. मन में जो विचार है उसे प्रस्तुत करने में हिचकिचाते नहीं. स्वभाव से ईर्ष्यालु भी रहते हैं.


  • धनु राशि

स्वामी – बृहस्पति
अIराध्य देव – दत्तोत्रय
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – भ, ध, फ, ढ
शुभ रत्न – पुखराज
शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष
धनु राशि के लोग शांतिप्रिय, स्पष्टवक्ता, सत्य के आग्रही, मिलनसार, निडर, वफादार और जिज्ञासु रहते हैं. सत्य और ज्ञान की खोज आपकी प्रकृति है. नेतृत्व का कौशल रखते हैं. मौज शौख के शौकीन होते है और जहाँ जाते हैं लोगों के आकर्षण का केंद्र बनते हैं. अपने कौशल्य और स्वभाव से इन्हे दूसरों पर अधिकार जाताना काफी अच्छा लगता है. शौकीन और दूसरों का ख्याल रखने की प्रकृति निजी सम्बन्धो में सफलता दिलाती है. ह्रदय से बहुत दयालु और मदद करने की भावना रखते हैं.


  • मकर राशि

स्वामी – शनि
अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – ख, ज
शुभ रत्न – नीलम
शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष
मकर राशि वाले धनि और सुन्दर होते हैं. कार्य को अपना जीवन मानते हैं और कार्यस्थल पर समय व्यतीत करना अधिक पसंद करते हैं. मौज शौख में काम रूचि रहती है. इस राशि के लोग दोहरे विचार रखते हैं. अपने लक्ष्य के प्रति सम्पूर्ण सम्भान और प्रयत्नशील रहते हैं. रहस्यों और आध्यात्मिक बातों में रूचि रखते हैं. कार्यों को स्वयं पूरा करने में विश्वास रखते हैं. दूसरों का हस्तक्षेप पसंद नहीं करते. ऊँचे विचार वाले और धन कमाने का अच्छा सामर्थ्य रखते हैं. उपकारों को कभी भूलते नहीं.


  • कुम्भ राशि

स्वामी – शनि
अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
तत्व – वायु
नाम के पहले अक्षर – ग, स, श, ष
शुभ रत्न – नीलम
शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष
कुम्भ राशि के लोग अधिकतर परोपकारी और प्रेमी स्वभाव के होते है. किसी पर जल्दी मोहित हो जाते है. परोपकारी होने पर भी किसी के विरुद्ध षड़यंत्र रच सकते है. ह्रदय की बातों को छुपाने में माहिर होते है. कला, संगीत, शिल्प और साहित्य में रूचि रखने वाले हैं. भावनाओं और बातों को गुप्त रखने की वजह से मानसिक और शारीरिक रूप से कष्ट उठाते है. सौंदर्य के पुजारी होते है और आगे बढ़ने की इच्छा हमेशा रखते हैं. जो भी कार्य करते है उसे पुरे दिल से संपन्न करते हैं. किन्तु तीव्र क्रोध आपका सबसे बड़ा अवगुण है.


  • मीन राशि

स्वामी – बृहस्पति
अIराध्य देव – दत्तोत्रय
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – द, च, थ, झ
शुभ रत्न – पुखराज
शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष
मीन राशि के लोग अत्यंत शांत, सौम्य, करुणामय स्वभाव के और आकर्षक व्यक्तित्य के मालिक हैं. अपनी हर गलती पर माफ़ी मांग लेते हैं. अध्यात्म और ईश्वर भक्ति में लीन रहते हैं. गंभीर और दोहरे स्वभाव के बावजूद भी आपके विचार हमेशा सरल और अच्छे रहते हैं. दूसरों के बारे में इतना अधिक सोचते हैं की दुसरो के दर्द को स्वयं बर्दाश्त कर लेते है. अन्य के लिए अपने खुशियों को त्यागना पसंद करते हैं. गलत और सही के बीच में निर्णय लेने में हमेशा मानसिक रूप से त्रस्त रहते हैं. किन्तु सहानुभूति, बेफिक्र और उदार स्वभाव की वजह से लोगों में प्रिय रहते हैं.


zhakkas

zhakkas