: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/04/16

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | सरकार ने 11,000 से अधिक एनजीओ की मान्‍यता रद्द की







नई दिल्‍ली: सरकार ने 11,000 से अधिक एनजीओ की मान्यता समाप्त कर दी है. ये एनजीओ जून के अंत तक अपने पंजीकरण का नवीकरण कराने में विफल रहे थे. मान्यता समाप्त होने से ये एनजीओ विदेश से धन प्राप्त नहीं कर सकेंगे.

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि उसने उन 11,319 संगठनों का पंजीकरण रद्द कर दिया है जिन्होंने इस साल 30 जून तक एफसीआरए के तहत पंजीकरण के नवीकरण के लिए आवेदन नहीं किया था. ‘उनके पंजीकरण की वैधता एक नवंबर, 2016 से समाप्त मानी जाएगी.’

इस सूची में करीब 50 अनाथालय, सैकड़ों स्कूल और संस्थान जैसे भारतीय सांख्यिकी संस्थान और समाज के वंचित बच्चों के लिए काम करने वाले प्रतिष्ठित एनजीओ शामिल हैं.

वर्ष 2015 में गृह मंत्रालय ने 10,000 गैर सरकारी संगठनों के एफसीआरए पंजीकरण इसलिए रद्द किए थे क्योंकि इन्होंने लगातार तीन वर्षों के अपने सालाना रिटर्न दाखिल नहीं किए थे. इनमें से कई एनजीओ निष्क्रिय थे या किसी भी मामले में एफसीआरए पंजीकरण नहीं चाहते थे.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आगरा: भारत माता की मूर्ति तोड़ने पर तनाव, लगाया जाम






आगरा | भारत माता की प्रतिमा टूटने पर इलाके में तनाव पैदा हो गया है। जानकारी के मुताबिक, जिला न्यायालय के पास दीवानी चौक स्थित प्रतिमा को गुरुवार रात कुछ असामाजिक तत्वों ने तोड़ दिया।

प्रतिमा का बायां हाथ क्षतिग्रस्त किया गया, जिसमें राष्ट्रीय ध्वज लगा हुआ था। बताया गया कि बीते पांच दिनों में प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने की यह दूसरी घटना है। शुक्रवार सुबह से हिंदूवादी संगठनों में रोष फैल गया। हालात तब बिगड़े जब कुछ लोगों ने शहर के एमजी रोड को जाम कर दिया और जमकर हंगामा किया।

यूपी में बिहार जैसी 'हार' से बचने के लिए 30 केंद्रीय मंत्रियों के साथ रणनीति बना रहा है आरएसएस







नई दिल्ली: अगले साल की शुरुआत में होने जा रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति को अंतिम रूप देने की खातिर केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वैचारिक संरक्षक कहे जाने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, यानी आरएसएस के शीर्ष नेता शुक्रवार को लगभग 30 केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात कर रहे हैं. इस बैठक को समन्वय बैठक का नाम दिया गया है, और इसमें यही सुनिश्चित किया जा रहा है कि बीजेपी तथा आरएसएस के बीच महत्वपूर्ण चुनाव को लेकर पूरा सामंजस्य बना रहे.

आरएसएस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "ज़रूरत है कि बीजेपी तथा आरएसएस मिलकर उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए उसी तरह अपनी रणनीति का आकलन कर लें, जैसा हमने असम में चुनाव के वक्त किया था... आरएसएस नहीं चाहता कि (उत्तर प्रदेश में भी) बिहार जैसी स्थिति बने, जहां समन्वय में कमी ने नतीजों को प्रभावित किया था..."

एक केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आरएसएस उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए एक आचार संहिता भी निश्चित कर देना चाहती है. पिछले साल हुए बिहार चुनाव के दौरान आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत तथा जनरल वीके सिंह जैसे बीजेपी नेताओं की टिप्पणियों से पार्टी को वोटरों का मन जीतने में दिक्कतें पेश आई थीं, और बीजेपी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले गठबंधन से मिली करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था.

बीजेपी को उत्तर प्रदेश में बहुत साल बाद अपने लिए सरकार बनाने का यह बेहतरीन मौका लग रहा है, और इसीलिए उसका ज़ोर समन्वय पर है. पार्टी ने हालांकि अभी यह तय नहीं किया है कि चुनाव के लिए पार्टी का चेहरा कौन होगा, और फिलहाल वह चुनाव के लिए एजेंडा भी तलाश ही कर रही है, जिसके गिर्द वह अपने प्रचार अभियान की रूपरेखा बुनेगी.

एक मंत्री के अनुसार, बैठक का उद्देश्य सरकार की नीतियां बनाने वाले मंत्रियों तथा वोटरों तक संदेश पहुंचाने के लिए पार्टी द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले आरएसएस के बीच बेहतर संपर्क स्थापित करना भी है. शुक्रवार की बैठक में इस बात पर चर्चा की जाएगी कि नरेंद्र मोदी सरकार की गरीबों के लिए चलाई गई योजनाओं के बारे में जनता को कैसे जानकारी दी जानी चाहिए.

सूत्रों ने कहा कि बैठक में न सिर्फ उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए, बल्कि पंजाब और गुजरात जैसे अन्य राज्यों में वर्ष 2017 में होने जा रहे चुनाव के लिए भी रणनीति पर चर्चा की जा सकती है.

बताया जाता है कि बैठक की अध्यक्षता आरएसएस के उपप्रमुख दत्तात्रेय होसबोले कर रहे हैं, जो सुबह 8 बजे शुरू हो गई थीं, और छोटे-छोटे हिस्सों में की जा रही हैं. महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी बीच में पहुंच सकते हैं, और गृहमंत्री राजनाथ सिंह तथा वित्तमंत्री अरुण जेटली उन मंत्रियों में शामिल हैं, जो इस बैठक में शिरकत कर रहे हैं.

आरएसएस तथा बीजेपी के बीच इस तरह की समन्वय बैठकें हर साल होती हैं, हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुक्रवार को बैठक में शामिल होने की संभावना नहीं है, जबकि पिछले साल उन्होंने इस बैठक में शिरकत की थी.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | एनडीटीवी इंडिया को 24 घंटे तक प्रसारण बंद करने का जो आदेश





न्यूज़ चैनल एनडीटीवी इंडिया को 24 घंटे तक प्रसारण बंद करने का जो आदेश मिला है, उसे लेकर केंद्र सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है.
सरकार के इस फ़ैसले से मीडिया विश्लेषक सेवंती नैनन हैरान हैं.
उन्होंने बीबीसी हिंदी से कहा, "इस मामले में कई लोगों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है. लेकिन ऐसा लग रहा है कि एनडीटीवी पर दबाव है. कुछ हफ्ते पहले ही चिंदबरम को भी सेंसर किया गया था."
सेवंती ने कहा, "सरकार ने साफ़ कहा कि वह फ़ौज की आलोचना बर्दाश्त नहीं करेगी. अब यदि एनडीटीवी ने कुछ दिखाया है तो दूसरे चैनलों ने भी ऐसा ही कुछ किया होगा. लेकिन उन पर कोई एक्शन लिया गया या नहीं, इसकी अभी तक कोई जानकारी नहीं है."
सूचना प्रसारण मंत्रालय के एक पैनल ने पठानकोट में चरमपंथी हमले को लेकर एनडीटीवी के कवरेज को राष्ट्रीय सुरक्षा पर संकट वाला बताते हुए 24 घंटे की पाबंदी लगा दी है.
सरकार के इस फ़ैसले की एडिटर्स गिल्ड ऑफ़ इंडिया ने भी कड़ी निंदा की है.
एडिटर्स गिल्ड ऑफ़ इंडिया ने एक बयान जारी कर कहा है कि वो इस अप्रत्याशित फैसले की घोर निंदा करता है और मांग करता है कि इस फ़ैसले पर तुरंत रोक लगाई जाए.

सरकार के एनडीटीवी पर पाबंदी के फैसले से मीडिया विश्लेषक सेवंती नैनन भी हैरान हैं.
सरकार का दावा है कि पठानकोट हमले पर एनडीटीवी इंडिया की कवरेज से संवदेनशील सूचनाएं आतंकवादियों के पास पहुंचीं.
एनडीटीवी ने अपने जवाब में कहा कि उसने कोई भी गोपनीय सूचना सार्वजनिक नहीं की है.
चैनल का कहना है कि उसकी कवरेज में जो चीजें आईं, वो पहले से ही सार्वजनिक हैं.
सेवंती ने कहा कि एनडीटीवी पर प्रेशर ज्यादा है और यह फ़ैसला एकतरफा लिया गया है क्योंकि ऐसा किसी नियम के तहत नहीं किया गया.
उन्होंने बताया कि सरकार ने यह कदम एनडीटीवी के इस बात को स्पष्ट करने के बावजूद उठाया है कि वह सरकार की सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़े नहीं करेगी. सरकार का कहना है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ वह कोई कोताही नहीं बरतना चाहती है.
दूसरी तरफ़ सरकार के इस फ़ैसले के बाद कहा जा रहा है कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला कर रही है.
भारतीय सैनिक Indian ArmyImage copyrightAP

पंजाब के पठानकोट स्थित एयरबेस पर जनवरी में चरमपंथी हमला हुआ था.
इस सवाल पर कि क्या राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को चुनौती दी जा रही है? सेवंती नैनन ने कहा, "कुछ भी कह सकते हैं. सरकार के लिए मीडिया को काउंटर करना मुश्किल है. यह बिल्कुल सही है कि हमले की कवेरज के दौरान मीडिया को सावधान रहना चाहिए. लेकिन यह सरकार हर बात पर राष्ट्रीय सुरक्षा को मु्द्दा बना रही है."
नैनन ने बताया, "मोदी सरकार का जिस मीडिया हाउस के साथ बढ़िया सबंध है, उससे उन्हें कोई दिक्क़त नहीं है. लेकिन जो उनके साथ नहीं है, उनके प्रति सरकार का रुख़ आक्रामक रहा है."
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने भी इस फ़ैसले के लिए केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया.
वकील प्रशांत भूषण

वकील प्रशांत भूषण
प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर कहा, "कल मोदी ने अच्छी पत्रकारिता के लिए गोयनका अवॉर्ड बांटते हुए कहा था कि आपातकाल को हमें नहीं भूलना चाहिए और आज एनडीटीवी को बैन कर दिया. यह कैसा पाखंड है? यह मीडिया और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर करारा हमला है."
मानवाधिकार कार्यकर्ता और सुप्रीम कोर्ट की वकील इंदिरा जयसिंह ने भी सरकार से सवाल किया है कि आख़िर किस नियम के तहत एनडीटीवी पर पाबंदी लगाई गई है.
जनवरी में पंजाब के पठानकोट स्थित एयरबेस पर चरमपंथी हमला हुआ था. इसमें सुरक्षा बल के सात जवान और पांच चरमपंथी मारे गए थे.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | अखि‍लेश ने कुछ नया नहीं किया: मायावती

                      सपा जिनसे गठबंधन की कोशिश कर रही, उनका कोई आधार नहीं: मायावती




बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कहा है कि समाजवादी पार्टी इसलिए गठबंधन की कोशिश कर रही है क्योंकि उसने मान लिया है कि वह कमजोर हो गई है. मायावती ने यह भी कहा है कि सपा जिन पार्टियों से गठबंधन करने की कोशिश कर रही है, उनके पास उत्तर प्रदेश में कोई आधार नहीं है.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए मायावती ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक से बीजेपी को फायदा हो सकता था, अगर शांति हासिल हो जाती. लेकिन बॉर्डर पर लगातार फायरिंग हो रही है. बीजेपी आर्मी के हिस्से का क्रेडिट लेने की कोशिश कर रही है.

अखिलेश के साथ नए युवा नहीं
मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी के भीतर चल रही लड़ाई से यादवों का वोट बैंक बंट जाएगा और मुस्लिम वोटर्स भी उस पार्टी को वोट देंगे जो बीजेपी को हराने की स्थिति में है. अखिलेश यादव के युवाओं को अपने साथ करने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि अखिलेश के साथ वहीं युवा हैं जो मुलायम के साथ थे. अखिलेश ने कुछ भी नया नहीं किया है बल्कि पुरानी योजनाओं का नाम दल दिया है.

मायावती ने कहा कि रोहित वेमुला और उना में दलित के साथ हुआ मामला न सिर्फ यूपी चुनाव बल्कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भी असर डालेगा. क्या किसी दलित के प्रधानमंत्री बनने का समय 2019 में आ सकता है, मायावती ने कहा कि समय आने दीजिए. मायावती ने कहा कि बीजेपी के पास सीएम कैंडिडेट तो छोड़िए यूपी चुनाव में 403 सीट के लिए कैंडिडेट के नाम भी नहीं हैं.
मायावती ने सपा और बीजेपी दोनों पर हिन्दू-मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर मोदी को हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए, बल्कि मुस्लिमों में भी पढ़ी-लिखी महिलाएं हैं और इसे उनके ऊपर छोड़ देना चाहिए.

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | उ0प्र0 पुलिस,व्हाट्सएप्प (WhatsApp) द्वारा भी e-FIR का पंजीकरण सुविधा









  • (उ0प्र0 पुलिस तकनीकी सेवायें मुख्यालय, महानगर लखनऊ)
  • व्हाट्सएप्प (WhatsApp) द्वारा भी e-FIR का पंजीकरण

 उत्तर प्रदेश | उ0प्र0 पुलिस द्वारा आम जनता को FIR पंजीकृत कराने में होने वाली असुविधाओं को ध्यान मे रखते हुए  e-FIR की सेवा प्रारम्भ की गयी। e-FIR की सुविधा के तहत कोई भी व्यक्ति बिना थाने जाए, इन्टरनेट के माध्यम से किसी भी स्थान से उ0प्र0 पुलिस की वेबसाइट www.uppolice.gov.in पर जाकर अज्ञात अभियुक्तों और गैर संगीन अपराधों के मामलों में अपनी FIR पंजीकृत करवा सकता है।
इस सुविधा को और भी अधिक सुगम बनाते हुए अब व्हाट्सएप्प(WhatsApp)  द्वारा भी e-FIR पंजीकृत कराने का विकल्प उपलब्ध कराया जा रहा है। अज्ञात अभियुक्त तथा गैर-संगीन अपराधों में व्हाट्सएप्प(WhatsApp) के माध्यम से ई-एफआईआर(e-FIR) पंजीकृत कराने के लिए- ई-थाना प्रभारी को सम्बोधित करते हुए अपनी शिकायत को सादे कागज में टाइप करें या  लिखें  जिसमें निम्नलिखित जानकारियाँ दिया जाना अनिवार्य है-
1. घटना की जानकारी ( समय, दिनांक, स्थान व पुलिस स्टेशन सहित)
 2. Signature
3. नाम/ पता/ जनपद/  राज्य राष्ट्रीयता
 4.आधारकार्ड नम्बर / विदेशी  नागरिक(पासपोर्ट की प्रथम व आखिरी पृष्ठ एवं वीजा की काँपी)
5. . मोबाइल नम्बर एवं ई-मेल आई.डी(email ID)
शिकायत पत्र तथा आधार कार्ड  आईडी की फोटो खींचकर व्हाट्सएप नम्बर 9454401003 पर भेज दें।

कृपया इस संदेश को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाएं जिससे हर ज़रूरतमंद इस सुविधा का लाभ उठा सकें।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | भाजपा ने शुरू की युवा सम्मेलन की तैयारी






बदायूं : आगामी विधानसभा चुनाव में युवाओं को संगठित करने के लिए भाजपा ने युवा सम्मेलन की तैयारी शुरू कर दी है। जिले में आठ नवंबर को सम्मेलन होगा। इसके लिए जिम्मेदारी भी सौंप दी गई है। जिलाध्यक्ष समेत पदाधिकारियों ने जनसंपर्क कर कार्यकर्ताओं से आयोजन को सफल बनाने का आह्वान किया।
जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य ने बिसौली, बिल्सी, अंबियापुर मंडल का भ्रमण किया। उन्होंने कहा कि हर काम में युवाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। युवा जो मन में ठान लेते हैं वह काम जरूर पूरा होता है। 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में युवाओं ने अहम भूमिका निभाई। उसी तरह 2017 के विधानसभा चुनाव में भी युवा महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इस दौरान दुर्गेश वाष्र्णेय, सुभाष गौड़, पूर्व विधायक योगेंद्र सागर, गेंदनलाल मौर्य, अनिल रस्तोगी, मोहित गुप्ता, विवेक राठी, सर्वेश शाक्य, शैलेंद्र शर्मा आदि मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | रुदायन,पत्नी को बंधक बना युवक को काट डाला






इस्लामनगर थाना क्षेत्र के कस्बा रुदायन में दोस्त बनकर आए तीन हमलावरों ने घर के अंदर ही पत्नी को बंधक बनाकर सफाई कर्मचारी की गला रेतकर हत्या कर दी। नृशंस तरीके से घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर फरार हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने हत्या की वजह तलाशी लेकिन कोई वजह सामने नहीं आई। पुलिस ने मृतक की पत्नी की तहरीर के आधार पर तीनों अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।
कस्बा रुदायन निवासी 25 वर्षीय श्रीपाल पुत्र राधेश्याम अपने पिता के देहांत के बाद वहीं की न्यू पीएचसी पर बतौर सफाई कर्मचारी लग गया था। बुधवार की सुबह तीन लोग दो बाइकों से उसके घर पहुंचे और उसको इस्लामनगर में सुरेश चाचा का मकान दिखाने की बात कहकर ले गए। देर शाम वह तीनों उसके साथ घर लौटे और खाना खाया। खाना खाने के बाद तीनों ने उसे पीटना शुरू किया तो पत्नी प्रीति ने पति को बचाने की कोशिश की। इस बीच तीनों हमलावरों ने प्रीति को एक कमरे में बंद दिया। इसके बाद चाकुओं से गला रेतकर श्रीपाल को मौत के घाट उतार दिया। खूनी वारदात को अंजाम देने के बाद वह तीनों बाइक से ही फरार हो गए। देर रात किसी तरह प्रीति के परिजन मौके पर पहुंचे तो सिर कटी लाश देखकर उनके होश उड़ गए। कमरे में चीख रही प्रीति को बाहर निकाला गया तो उसने घटना के बारे में परिजनों को जानकारी दी। मामले की जानकारी होने पर कस्बा के तमाम लोग मौके पर पहुंच गए। मामले की जानकारी होने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने सुरेश चाचा या फिर हमलावरों के बारे में पूछताछ की तो वह कुछ भी नहीं बता पाई। घटना की वजह काफी देर तक तलाशने के बाद पुलिस ने कार्रवाई शुरू की। पुलिस मामले को लेकर कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं है।
श्रीपाल की हत्या के बाद पत्नी प्रीति के मुताबिक हमलावरों ने जब उसको कमरे में बंद कर दिया तो काफी देर तक मारपीट की आवाज आती रही। इस बीच श्रीपाल ने एक बार तेजी से आवाज देते हुए कहा कि प्रीति मोय बचाए ले इसके बाद उसकी कोई आवाज नहीं आई। वह तभी समझ गई थी कि उसके ¨सदूर का कत्ल हो गया।
मौत के घाट उतारे गए श्रीपाल के पिता राधेश्याम न्यू पीएचसी पर सफाई कर्मचारी थे। उनकी मौत के बाद मृतक आश्रित कोटे में उसको नौकरी मिली थी। घर में सबकुछ ठीकठाक चल रहा था। दीवाली का त्योहार अपने दोनों बच्चों और पत्नी के साथ उसने धूमधाम से मनाया था। मुहल्लेवासियों की मानें तो उसकी किसी से रंजिश भी नहीं थी फिर भी इतनी बेरहमी से उसको मौत के घाट उतार दिया गया यह बात सभी के जेहन में गूंज रही है।
मृतक की पत्नी की तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है, जल्द ही मामले का वर्कआउट कर दिया जाएगा। पुलिस तेजी से काम कर रही है।
  संजय राय, एसपी देहात

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बिना दान-दहेज किया कराया विवाह






उघैती कस्बे में सतलोक आश्रम के संस्थापक जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी शेर ¨सह दास ने अपनी पुत्री का विवाह बिना दान दहेज के प्रेम ¨सह दास पुत्र मनवीर दास निवासी राज बरौलिया के साथ की गई। इस विवाह को देखने के लिए कई गांवों के लोग उपस्थित रहे। इस दौरान राकेश दास व कौशलदास, नगर तहसील कोऑर्डिनेटर श्रवण दास, दातागंज तहसील कोऑडिनेटर धर्मपाल दास, बिल्सी तहसील कोऑर्डिनेटर चेतेंद्र दास, आशीष दास आदि मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार |नामजद दरोगा समेत तीनों भाइयों की तलाश में जुटी पुलिस






तीन दिन पहले लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष बोंदरी निवासी राजपाल सिंह को अगवा कर बेरहमी से पीटने के मामले में नामजद मैनपुरी में तैनात दरोगा और उसके भाइयों की तलाश में पुलिस ने बुधवार रात और बृहस्पतिवार को कई स्थानों पर दबिश दी। नामजदों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम दिल्ली भेजे जाने की चर्चा के बीच पुलिस ने आरोपियों के नजदीकी लोगों और रिश्तेदारों पर भी दवाब बनाना शुरू कर दिया है।
कोतवाली पुलिस की टीम बुहस्पतिवार सुबह में आरोपी दरोगा के पैतृक गांव पहुंची। पुलिस ने फरार दरोगा समेत उसके तीनों भाइयों की गिरफ्तारी के लिए पड़ोस के लोगों से उनके रिश्तेदारों और करीबियों के नाम और पते हासिल किए। सूत्रों की मानें तो कोतवाली पुलिस ने आरोपियों के एक रिश्तेदार पर दबाव बना लिया है। घरवालों को भी हिदायत दी गई है कि आरोपी फरार रहे तो विभागीय स्तर की कार्रवाई भी कराई जाएगी। चर्चा तो यहां तक है कि रात में पुलिस की एक टीम दिल्ली रवाना हो गई। नामजद दरोगा के एक भाई के दिल्ली में छिपे होने का शक है।
इस बीच, पुलिस कार्रवाई के बारे में अहिल्याबाई होल्कर यूथ ब्रिगेड के नेताओं में शीलेंद्र सिंह ने कोतवाल गोपीचंद्र यादव से फोन पर बात कर आरोपियों की गिरफ्तारी करने के लिए जोर दिया। शीलेंद्र ने बताया कि पुलिस को गिरफ्तारी करने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। गिरफ्तारी नहीं होने पर संगठन के कार्यकर्ता आंदोलन शुरू कर देंगे। इधर, पुलिस ने पूरी घटना की जड़ में शामिल नामजद दरोगा की गायब बहन को तलाशने में भी सक्रिय भूमिका निभानी शुरू कर दी है। बता दें कि तीन दिन पहले मैनपुरी में तैनात दरोगा ने राजपाल को उसके घर से पकड़कर अमानवीय यातनाएं दी थीं। उसकी गिरफ्तारी के लिए एक दिन पहले कोतवाली का घेराव भी किया गया था।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | साले का शव ला रहे जीजा की सड़क हादसे में मौत






गुजरात से साले का शव एंबुलेंस से लेकर लौट रहे जीजा की सड़क हादसे में मौत हो गई। रास्ते में अचानक बेकाबू होकर एबुंलेंस पेड़ से टकराने पर ये हादसा हुआ। जीजा-साले के शव गुरुवार को गांव लाए गए तो कोहराम मच गया।
सहसवान थाना क्षेत्र के गांव महमूदपुर ऊंधा निवासी अतर सिंह (45) पुत्र  रामसिंह अपने साले रमेश 35 पुत्र पाती निवासी ग्राम कुंवरगांव चंदौसी के  साथ गुजरात के आनंद शहर में फल व सब्जी बेचने का कार्य करते थे। सोमवार की  रात बीमारी के चलते रमेश की मौत हो गई। अतर सिंह रमेश के शव को एंबुलेंस से लेकर गांव लौट रहे थे। बताया जाता है कि लंबा रूट होने के कारण चालक को झपकी आ गई। चित्तौड़गढ़ के पास मंगलवार की रात एंबुलेंस पेड़ से टकरा गई। हादसे में अतर सिंह को गंभीर चोट आने से मौके पर ही मृत्यु हो गई। वहां बुधवार को पोस्टमार्टम होने के बाद जब जीजा-साले के शव गांव लाए गए तो कोहराम मच गया। परिजन बिलख-बिलखकर रोने लगे। अचानक हुई दो मौत ने परिजनों का हाल बेहाल कर दिया। उनका रो-रोकर बुरा हाल है।
लोग कह रहे थे कि ये होनी ही है कि शव को लाने वाले अतर खुद हादसे का शिकार हो गए और उनका भी गांव में शव आया। गांव के लोग भी इस अनहोनी से हतप्रभ हैं। उन्हें सहसा विश्वास नहीं हो रहा कि ऐसा भी हो चुका है।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | मेला ककोड़ा: पॉलीथिन, मांस, मदिरा, जुए पर प्रतिबंध







मिनी कुंभ कहलाए जाने वाले मेला ककोड़ा को जहां भव्यता प्रदान की जाएगी। वहीं पूर्ण सर्तकता भी बरतने के भी इंतजाम किए जा रहे हैं। इतना ही नहीं पॉलीथिन, मांस, मदिरा, जुए पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। निगहबानी के लिए वॉच टावर व सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे, ताकि गतिविधियों को कैद किया जा सके।

बृहस्पतिवार को डीएम पवन कुमार तथा एसएसपी महेंद्र यादव समेत जिला स्तरीय अधिकारी मेला स्थल पर तैयारियों का जायजा लेनेे पहुंचे। उन्होंने संबंधित अधिकारियों की बैठक की। कहा कि क्षेत्र में मार्च पास्ट कर मुख्य मार्ग से अतिक्रमण हटाया जाए, ताकि आने-जाने वाले लोगों को कोई परेशानी न हो। साथ ही अस्थायी शौचालय बनाए जाने के निर्देश दिए। कहा कि इसके लिए लोगों को जागरूक भी किया जाए। एसएसपी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था चौकस रखने के लिए वॉच टॉवर व सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्थाएं दुरूस्त की जाएगी। अस्थायी कोतवाली के अलावा पर्याप्त पुलिस बल भी तैनात किया जाएगा। प्रतिबंधित वस्तुओं का प्रयोग न होने पाए इस ओर विशेष ध्यान दिए जाने के भी निर्देश दिए।

दो महिला चिकित्सक समेत 18 डॉक्टर होंगे तैनात
कादरचौक। मेला ककोड़ा में स्वास्थ्य विभाग की ओर से 20 बेड का अस्थाई चिकित्सालय स्थापित किया जाएगा। साथ ही दो स्त्री रोग विशेषज्ञ तथा 16 अन्य चिकित्सक लगाए जाएंगे। डीएम पवन कुमार ने मेला चिकित्सालय में कम से कम पांच एंबुलेंस की उपलब्धता कराने के निर्देश सीएमओ सुनील कुमार को दिए।

फॉगिंग की होगी समुचित व्यवस्था
कादरचौक। जिला मलेरिया अधिकारी की ओर से फॉगिंग भी कराई जाएगी। मेले में मिट्टी के तेल वितरण के लिए 15 सरकारी दुकानों भी लगाई जाएगी। इसके अलावा श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए यातायात व्यवस्था बनाने के लिए 15 राज्य सड़क परिवहन निगम की बसें और प्राइवेट वाहनों के समुचित इंतजाम किए जाएंगे।

स्नान घाट पर लगाया जाएगा खतरे का निशान
कादरचौक। डीएम ने स्नानघाट पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश दिए। कपड़े चेंजिंग के लिए पर्दे का उचित प्रबंध किया जाएगा। नावों और मल्लाहों की व्यवस्था के साथ स्नानघाट पर विशेष नजर रखी जाएगी। गंगा में सुरक्षा के लिए बल्लियां लगाकर रस्से के माध्यम से बैरीकेडिंग की जाएगी। खतरे के निशान के साइन बोर्ड भी लगाए जाने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि मेले में खाद्य वस्तुओं की गुणवत्ता को जांचने के लिए जिला खाद्य अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। डीएम ने मेला स्थल पर जिला पंचायत परिसर में स्थापित हैंडपंप को भी चलाकर देख पानी की स्थिति परखी। इस दौरान उन्होंने जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी हरिपाल सिंह को तैयारियों को लेकर निर्देश भी दिए।

सात को होगा झंडी पूजन
कादरचौक। सात नवंबर को झंडी पूजन के बाद मेला स्थल पर डीएम द्वारा दोपहर 12 बजे मेले की तैयारियों की पुन: समीक्षा की जाएगी। इस अवसर पर सीडीओ अच्छे लाल यादव डीआरडीए के पीडी रविंद्र नाथ सिंह यादव, एसडीएम सदर जंगबहादुर यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रेमचंद यादव, एआरटीओ अमिताब राय तथा जिला पंचायत के अभियंता संजय शर्मा आदि मौजूद रहे।

लोनिवि के काम पर नाराजगी
कादरचौक। पीडब्ल्यूडी के काम से असंतुष्ट दिखे डीएम ने नाराजगी जताई। उन्होंने सड़क का कार्य जल्द से जल्द पूरा करने को निर्देश दिया। साथ ही पटरी तथा साफ सफाई कराने को भी कहा।

स्काउट की टीम करेगी प्रेरित
कादरचौक। खुले में शौच न करने के लिए अपील भी होगी। स्काउट्स टोली बनाकर खुले में शौच करने वालों को ऐसा न करने के लिए प्ररित करेंगे। उन स्काउट की टोलियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। साथ ही महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग 25-25 की संख्या में शौचालयों के सेट बनाए जाएंगे। शौचालयों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

सात सेक्टरों में बांटा जाएगा मेला
कादरचौक। साफ सफाई की दृष्टि से मिनी कुंभ को सात सेक्टरों में बांटा जाएगा। प्रत्येक सेक्टर में 30 सफाई कर्मी होंगे। इसमें एक नोडल अधिकारी मॉनीटरिंग के लिए होगा। प्रभारी ईओ उझानी प्रसाद कुमार रहेंगे। सफाई कर्मियों को जिला पंचायत की ओर से ड्रेस भी उपलब्ध कराई जाएगी। जिसे ड्यूटी के दौरान पहनना अनिवार्य होगा।

12 नवंबर को 15 सौ क्यूसेक पानी रहने की आशंका
कादरचौक। बाढ़ खंड के अधिकारियों ने बताया कि इस समय छह हजार क्यूसेक पानी चल रहा है। जो आठ नवंबर से कम होगा। 12 नवंबर से 15 सौ क्यूसेक पानी रहेगा, जो स्नान के समय उचित होगा।

रुकुमपाल बने मेला इंचार्ज
कादरचौक। क्षेत्र के थानाध्यक्ष रुकुमपाल सिंह यादव को जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं को सुरक्षा प्रदान कराना पुलिस की प्राथमिकता में शामिल है। किसी भी तरह की अनियमितता नहीं होने दी जाएगी। एसएसपी ने मेला इंचार्ज 

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | रोगों की रोकथाम को नहीं किया खर्चा, सीएमओ को नोटिस






संक्रामक रोगों के नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार से मिले धन का सदुपयोग न कर पाने के मामले में वर्ष 2014 में तत्कालीन सीएमओ डॉ. एसपी अग्रवाल फंस सकते हैं। जांच में धन का उचित उपयोग न किए जाने की बात सामने आई है। इसके लिए राज्य कर्मचारी आचरण नियमावली 1956 के नियम तीन के उल्लंघन का आरोपी मानते हुए शासन ने डॉ अग्रवाल को नोटिस जारी किया है। डॉ. अग्रवाल इन दिनों मुरादाबाद में संयुक्त निदेशक चिकित्सा के पद पर तैनात हैं।

केंद्र सरकार ने बदायूं को वर्ष 2014 में 5,45,962 रुपये की धनराशि पानी की वजह से फैलने वाले संक्रामक रोगों के रोकथाम के लिए दी थी। लेकिन कुल धनराशि में से सिर्फ 1,48,283 रुपये खर्च किए गए। जो केवल 27.16 प्रतिशत होता है। शेष 72.84 प्रतिशत यानि 3,97,679 रुपये कहां खर्च हुए? इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। पानी की वजह से फैलने वाले संक्रामक रोगों की रोकथाम पर केंद्र से मिली पूरी धनराशि को खर्च नहीं किया गया। इसका खामियाजा बदायूं को भुगतना पड़ा। वर्ष 2015 में जिले में संक्रामक रोगों ने करीब 180 लोगों की जान गई। सबसे ज्यादा स्थिति खराब जगत ब्लाक के गांव उपरैला में हुई थी। यहां 100 से ज्यादा लोगों की संक्रामक रोगों से मौत हुई थी।
जिले में संक्रामक रोगों से मौत पर शासन तक हिल गया था। शासन की पांच सदस्यों की टीम ने उपरैला समेत गई गांवों का दौरा किया था। चालू साल में भी जिले में संक्रामक रोगों ने कहर बरपाया। अब तक 100 से ज्यादा लोगों की जान चली गई हैं। जगत और कादरचौक ब्लाक में सबसे ज्यादा मौत हुई हैं। शासन ने माना है कि अगर केंद्र सरकार से मिली धनराशि का सही उपयोग हुआ होता, तो बदायूं में संक्रामक रोगों से इतने लोगों की जान नहीं जाती। चिकित्सा अनुभाग-दो के सचिव आलोक कुमार ने डॉ. एसपी अग्रवाल को राज्य कर्मचारी आचरण नियमावली 1956 के नियम तीन के उल्लंघन का आरोपी मानते हुए नोटिस जारी किया है। उनको सरकारी सेवक (अनुशासन एवं अपील) नियमावली 1999 के नियम 10 (2) के तहत 15 दिन में जवाब देने का आदेश दिया गया है।

बदायूं में विवादों से घिरे रहे थे डॉ. अग्रवाल
बदायूं। तत्कालीन सीएमओ डॉ. एसपी अग्रवाल बदायूं में तैनाती के दौरान विवादों से घिरे रहे थे। बदायूं में जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी के रूप में करीब 10 साल सेवाएं देने के बाद वह बदायूं में ही सीएमओ की कुर्सी पर काबिज होने में कामयाब हो गए थे। उनकी तैनाती के दौरान स्वास्थ्य विभाग में कई घोटाले सामने आए थे। इसके बाद शासन ने उनको यहां से हटा दिया था। डॉ. अग्रवाल के बतौर सीएमओ कार्यकाल में हुईं अनियमितताएं अब तक उनका पीछा नहीं छोड़ रही हैं।

हाईकोर्ट की फटकार के बाद शासन ने कराई जांच
बदायूं। सूबे में संक्रामक बीमारियों से हो रहीं मौत को लेकर हाईकोर्ट ने सख्त रवैया अपनाया है। प्रदेश सरकार से इन मौत की वजह पर हलफनामा दाखिल करने का आदेश दिया था। इसके बाद सरकार ने सूबे के संक्रामक रोगों से ग्रस्त जिलों में पड़ताल कराई। इस दौरान पता लगा कि बदायूं उन जिलों में शामिल है, जहां संक्रामक रोगों से निपटने के लिए दी गई रकम का सदुपयोग ही नहीं किया गया। इस संबंध में प्रदेश सरकार की ओर से हाईकोर्ट में हलफनामा भी दिया गया है।

शासन ने तत्कालीन सीएमओ डॉ. एसपी अग्रवाल को दायित्वों और कर्तव्यों के उल्लंघन का आरोपी माना है। उनकी तैनाती के दौरान बजट खर्च करने में अनियमितता सामने आई है। डॉ. अग्रवाल को नोटिस जारी किया गया है। यह बात मेरी जानकारी में है।
  •   डॉ. सुबोध शर्मा, एडी हेल्थ

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | स्वास्थ्य विभाग के सफाई कर्मी की गला रेतकर हत्या







स्वास्थ्य विभाग के सफाई कर्मी श्रीपाल की उसके ही घर में दोस्तों ने गला रेतकर हत्या कर दी। हत्या के वक्त श्रीपाल की पत्नी प्रीति भी घर पर मौजूद थी, लेकिन उसका कहना है कि वह किसी को नहीं पहचानती। श्रीपाल के चार दोस्त बुधवार रात उसके घर पर शराब पीने आए थे। प्रीति ने इन लोगों के लिए खाना भी बनाया। पुलिस मामले में पड़ताल कर रही है।

इस्लामनगर थाने के कस्बा रुदायन के वार्ड नंबर एक निवासी श्रीपाल (26) पुत्र राधेलाल रुदायन स्वास्थ्य केंद्र में स्वीपर था। बुधवार रात श्रीपाल के दो दोस्त उसके घर आए। कुछ देर रुकने के बाद वह दोनों श्रीपाल के साथ उसकी बाइक से चले गए। इसके बाद रात में करीब 11 बजे दो श्रीपाल की बाइक और एक अन्य बाइक से दो लोग फिर से श्रीपाल के घर आए। बकौल श्रीपाल की पत्नी प्रीति उससे पति ने कमरे में जाने को कह दिया। वह कमरे में चली गई। बाहर के कमरे में श्रीपाल और उसके दोस्त थे। सभी शराब पी रहे थे। रात में एक बजे तक वह जागती रही। इसके बाद वह सो गई।
गुरुवार सुबह जब प्रीति जागी, तो उसके कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। उसके शोर करने पर पड़ोस के पप्पू ने दरवाजा खोला। जब उसने दूसरे कमरे में देखा तो पति श्रीपाल मृत पड़ा था। उसकी गला रेतकर हत्या की गई थी। इसके बाद प्रीति ने खबर आंवला स्थित अपने मायके वालों को दी। इसी दौरान पुलिस भी आ गई। मौका मुआयना के बाद पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रीति की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है।

चौकाने वाले पहलू आ सकते हैं सामने 
रुदायन/इस्लामनगर। स्वास्थ्य विभाग के स्वीपर श्रीपाल की हत्या के पीछे कई ऐसी पहेलियां हैं, जिनको सुलझाना पुलिस के लिए आसान नहीं होगा। मृतक की पत्नी प्रीति का कहना है कि जो चार लोग बुधवार रात उसके घर आए उनको वह नहीं जानती। पड़ोसियों की मानें तो दो लोग अक्सर श्रीपाल के घर आते थे। पूरे मामले में गौर करने वाली बात यह है कि श्रीपाल की हत्या के दौरान उसकी पत्नी और दो मासूम बेटियां भी घर में थीं। खुद प्रीति का कहना है कि वह रात एक बजे तक जागती रही। उसने सभी लोगों के लिए खाना भी बनाया था। आखिर रात में किस तरह से श्रीपाल की हत्या की गई कि उसकी चीख तक नहीं निकली। इतना तो साफ है कि हत्यारे श्रीपाल के करीबी ही हैं। वारदात का खुलासा होने पर कई चौंकाने वाले पहलू भी सामने आने की बात से इंकार नहीं किया जा सकता। सवाल यह भी है कि श्रीपाल की पत्नी के कमरे का दरवाजा बाहर से किसने बंद किया।

मृतक आश्रित कोटा में मिली थी नौकरी
इस्लामनगर। श्रीपाल के पिता राधेश्याम भी स्वास्थ्य विभाग में स्वीपर थे। नौकरी के दौरान ही उनकी करीब पांच साल पहले मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद श्रीपाल को स्वास्थ्य विभाग में मृतक आश्रित कोटा के तहत नौकरी मिली थी। वह रुदायन स्वास्थ्य केंद्र पर ही तैनाती पाने में भी सफल हो गया था। मृतक की एक बेटी की उम्र करीब तीन और एक की डेढ़ साल है।

मामले में तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। घटना के संबंध में कुछ क्लू मिले हैं। हत्या की वजह साफ नहीं हो रही है। जल्द वर्कआउट कर दिया जाएगा।

  •   संजय राय, एसपी देहात

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | बालिकाओं ने सीखा स्ट्रेचर बनाना, ऊंचाई से उतारना






बदायूँ | अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज के तत्वावधान में चल रहे प्रखर बाल संस्कारशाला की ओर से कादरचौक क्षेत्र के प्राथमिक, माध्यमिक विद्यालय निधानपुरा में बालिकाओं को आत्मरक्षा और आग से दूसरों का जीवन बचाने के गुर सिखाए गए।

गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि बालिकाएं आत्मरक्षक बनें और प्राकृतिक आपदाओं से मुकाबला करने के लिए हमेशा तैयार रहें। आपदा कभी कहकर नहीं आती। प्रकृति थोड़े-थोड़े अंतराल में भूकंप की पुनरावृतियां करके चेतावनी देती है। ऐसे में प्रकृति से खिलवाड़ करना छोड़ दें। बालिकाओं ने आपदा के दौरान घायलों को प्राथमिक उपचार देना भी सीखा। प्रधानाध्यापक परमवीर सिंह दीवला ने कहा कि बच्चे राष्ट्र की प्रत्येक समस्या का समाधान हैं। प्रशिक्षण पाकर बालिकाएं आत्मरक्षक बनेंगी और राष्ट्र की सेवा के लिए सृजन सैनिकों के रूप में हमेशा तैयार रहेंगी।
बच्चों को मरीज को ले जाना, स्ट्रेचर बनाना, ऊंचाई से उतारना, गहराई से निकालना, भोजन तैयार करना आदि का ट्रेनिंग दी गई। शिक्षिका लतारानी ने कहा कि जैसी समस्या वैसे समाधान के लिए बालिकाएं आत्मरक्षक बनकर स्वयं को तैयार रखें। शिक्षिक हरिश्चंद्र ने बच्चों के कार्यों की प्रसंशा की। इस मौके पर शिक्षक नेत्रपाल शर्मा, पृथ्वीराज यादव, अर्चना, किरन, सीमा, शिवलेश, काजल, दीक्षा, रेखा, सपना, बबली, करिश्मा, बबिता, रूबी, क्रांति, निशा, पंकज, विवेक, विनयवीर, अंकित, उपेंद्र, शिवम, चरनजीत आदि मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | अखिलेश की रथयात्रा: सड़कों पर उमड़े कार्यकर्ता राजधानी जाम





उत्तर प्रदेश | सीएम अ‌ख‌िलेश यादव ने गुरुवार को समाजवादी रथयात्रा शुरू की।
सीएम के रथ को सपा सुप्रीमो मुलायम स‌िंह ने हरी झंडी द‌िखाकर रवाना क‌िया। हालांक‌ि कुछ दूरी पर जाकर रथ में तकनीक‌ी खराबी आ गई ज‌िसके बाद सीएम अपनी गाड़ी से आगे की यात्रा के ल‌िए न‌िकले।कार्यक्रम में मुलायम स‌िंह के साथ श‌िवपाल यादव भी पहुंचे और उन्होंने अख‌िलेश को शुभकामनाएं दी।
रथयात्रा कार्यक्रम शुरू होने के पहले ही लखनऊ में प्रदेशभर से कार्यकर्ता जुटे, ज‌िसके चलते जगह-जगह जाम की स्थ‌ित‌ि बन गई।
कार्यक्रम के दौरान ‌व‌िस अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय और मंत्री अहमद हसन ने भी अख‌िलेश यादव को शुभकामनाएं दीं।
सीएम ने युवा कार्यकर्ताओं का स्वागत क‌िया। उन्होंने कहा क‌ि रथयात्रा 3 अक्टूबर को शुरू हो जानी चाह‌िए थी लेक‌िन कुछ कारणों से शुरू नहीं हो सकी। लोगों ने सा‌ज‌िश की, हम डगमगाए लेक‌िन हम सरकार बनाएंगे।
कार्यक्रम में सीएम की पत्नी ड‌िंपल यादव भी मौजूद रहीं।अख‌िलेश यादव ने कहा क‌ि उन्हें बहुत खुशी है क‌ि इस कार्यक्रम में नेता जी और प्रदेश अध्यक्ष श‌िवपाल शाम‌िल हुए।
भारतीय वायु सेना की 84वीं वर्षगांठ पर बख्शी का तालाब एयरफोर्स स्टेशन में आयोजित एयर शो(एरोबेटिक डिस्प्ले) को देखने सीएम अखिलेश यादव के बच्चे भी पहुंचे।शो में सीएम के बच्चे अर्जुन, टीना और अदिति के साथ उनके दोस्त भी थे। इसके अलावा लामार्ट, द मिलेनियम, सोल, टेडर हार्ट, केंद्रीय विद्यालय बीकेटी के करीब आठ सौ छात्र-छात्राओं सहित 30 नौसेना अधिकारियों, 125 सैनिकों व एनसीसी के छात्र-छात्राएं भी मौजूद रहे।

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का सुविचार 04/11/216



  •  आज का विचार


1) मन ही मनुष्य को स्वर्ग या नरक में बिठा देता है | स्वर्ग या नरक में जाने की कुंजी भगवान ने हमारे हाथ में दे रखी है |

2) मन का धर्म है मनन करना, मनन में ही उसे आनंद है, मनन में बाधा प्राप्त होने से उसे पीड़ा होती है | –

3) मनुष्य तो दुर्बलताओं की प्रतिमा है जिसमें देवत्व और दानवत्व दोनों का ही समावेश है |

4) भगवान ने मनुष्य को अपने ही समान बनाया, पर दुर्भाग्य से इन्सान ने भगवान को अपने जैसा बना डाला |
 मानव का दानव होना उसकी हार है | मानव का महामानव होना उसका चमत्कार है और मनुष्य का मानव होना उसकी जीत है |


  •  सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक विचार


6) माँ के ममत्व की एक बूंद अमृत के समुद्र से ज्यादा मीठी है | –

7) तुम ये कभी मत सोचो कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है. ऐसा सोचना तो सबसे बड़ा अधर्म है. अगर कोई पाप है, तो वो यही है; की, ये कहना तुम निर्बल हो या अन्य लोग निर्बल हैं.

8) निरंतर विकास जीवन का एक नियम है, और जो भी व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार रखने की कोशिश करता है वो खुद को एक गलत स्थिति में पंहुचा देता है।

9) जब तक हम खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक हम भागवान पे विश्वास नहीं कर सकते. –

10) जो पुत्र पैदा ही न हुआ हो अथवा पैदा होकर मृत हो अथवा मुर्ख हो, इन तीनों में पहले दो ही बेहतर हैं, न की तीसरा, कारण यह है की प्रथम दोनों तो एक बार ही दुःख देते हैं, जबकि तीसरा पद-पद दुःखदायी होता है |

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का सुविचार 04/11/216



  •  आज का विचार


1) मन ही मनुष्य को स्वर्ग या नरक में बिठा देता है | स्वर्ग या नरक में जाने की कुंजी भगवान ने हमारे हाथ में दे रखी है |

2) मन का धर्म है मनन करना, मनन में ही उसे आनंद है, मनन में बाधा प्राप्त होने से उसे पीड़ा होती है | –

3) मनुष्य तो दुर्बलताओं की प्रतिमा है जिसमें देवत्व और दानवत्व दोनों का ही समावेश है |

4) भगवान ने मनुष्य को अपने ही समान बनाया, पर दुर्भाग्य से इन्सान ने भगवान को अपने जैसा बना डाला |
 मानव का दानव होना उसकी हार है | मानव का महामानव होना उसका चमत्कार है और मनुष्य का मानव होना उसकी जीत है |


  •  सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक विचार


6) माँ के ममत्व की एक बूंद अमृत के समुद्र से ज्यादा मीठी है | –

7) तुम ये कभी मत सोचो कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है. ऐसा सोचना तो सबसे बड़ा अधर्म है. अगर कोई पाप है, तो वो यही है; की, ये कहना तुम निर्बल हो या अन्य लोग निर्बल हैं.

8) निरंतर विकास जीवन का एक नियम है, और जो भी व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार रखने की कोशिश करता है वो खुद को एक गलत स्थिति में पंहुचा देता है।

9) जब तक हम खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक हम भागवान पे विश्वास नहीं कर सकते. –

10) जो पुत्र पैदा ही न हुआ हो अथवा पैदा होकर मृत हो अथवा मुर्ख हो, इन तीनों में पहले दो ही बेहतर हैं, न की तीसरा, कारण यह है की प्रथम दोनों तो एक बार ही दुःख देते हैं, जबकि तीसरा पद-पद दुःखदायी होता है |

बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार | आज का राशिफल 04/11/2016





  • मेष

व्यापार में नई योजनाओं का शुभारंभ होगा। आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। कार्यक्षेत्र में वांछित प्रगति की संभावना है। निवेश एवं बचत में वृद्धि होगी।


  •  वृष

जीवनसाथी से सहयोग और समर्थन मिलेगा। व्यवसाय में उन्नति होगी। साहस, पराक्रम बढ़ेगा। क्रोध, उत्तेजना पर संयम रखें।


  •  मिथुन

व्यापार की समस्याओं से मन परेशान रहेगा।अनावश्यक वाद-विवाद को टालें। शत्रु पक्ष आपकी छवि बिगाड़ने की कोशिश करेंगे।


  •  कर्क

संतान की चिंता रहेगी। अचानक आने वाली बाधाओं से मन परेशान रहेगा। परिश्रम का महत्व समझें। व्यापार, नौकरी में स्थिति मध्यम रहेगी।


  •  सिंह

उत्साह और उमंग का वातावरण रहेगा। महत्व के कार्य सिद्ध होंगे। समाज में आपका प्रभाव बढ़ेगा। खर्चों में कमी आवश्यक है।


  •  कन्या

व्यापार के सिलसिले में की गई यात्राएं लाभदायक होंगी। अधिकारियों से संबंध मधुर होंगे। परिवार की समस्याओं पर ध्यान दीजिए।

  •  
  •  तुला

सामाजिक कार्यों में सीमित रहना चाहिए। आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। आवास संबंधी समस्या रह सकती है।


  •  वृश्चिक

रुका पैसा मिलेगा। मित्रों के सहयोग से अधूरे कार्य पूर्ण होंगे। नई योजनाएं सफल होंगी। धैर्य, संयम रखकर काम करें। यात्रा के योग हैं।


  •  धनु

व्यापार में लाभदायक सौदे होने के योग हैं। माता का स्वास्थ्य ठीक रहेगा। कार्य में आशातीत सफलता मिलेगी। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

  •  
  •  मकर

राज्यपक्ष से लाभ होगा। भाग्योदय के कारण लाभ के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। कामकाज, व्यवसाय ठीक चलेगा। सहयोगी कर्मचारियों से मदद मिलेगी।


  •  कुंभ

जीवनसाथी से संबंधों में मधुरता आएगी। नए कार्यकलापों में सफलता मिलने के योग बनते हैं। व्यापार के क्षेत्र का विस्तार होगा।


  •  मीन

रुके हुए कार्य पूर्ण किए जा सकेंगे। भाइयों से खटपट हो सकती है। किसी की आलोचना, नकल न करें। वाहन सावधानी से चलाएं।


zhakkas

zhakkas