: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/09/16

दैनिक राशिफल 09/11/2016




मेष
प्रतिष्ठितजनों से मेल-जोल बढ़ेगा। आर्थिक कार्य में प्रगति होगी। बुद्धि एवं तर्क से हर कार्य में सफलता मिलने के योग हैं। खान-पान पर संयम रखें।

वृष
व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा से दूर रहें। संतान की प्रगति होगी। पूर्व कर्म फलीभूत होंगे। क्रोध, आवेश से दूर रहें। आवास संबंधी समस्या रहेगी।

 मिथुन
आवास संबंधी समस्या का समाधान होगा। व्यापार के कार्य से बाहर जाना पड़ सकता है। व्यापार में कर्मचारियों पर अधिक ध्यान दें।

 कर्क
शत्रुओं की संख्या में वृद्धि होगी। कार्यों में विलंब होने से चिंता रहेगी। कर्ज लेना पड़ सकता है। कार्य के विस्तार की योजनाएं बनेंगी।

 सिंह
भागदौड़, बाधाओं के बाद कार्य क्षेत्र में सफलता की संभावना है। संतान के कार्यों से कष्ट होगा। विकास की योजनाएं बन सकती हैं।

 कन्या
लाभदायक सौदे होंगे। विपरीत परिस्थितियों का भी सफलता से सामना कर सकेंगे। परिजनों के स्वास्थ्य व सुविधाओं की ओर ध्यान दें।

 तुला
रुका धन मिलेगा। व्यापार अच्छा चलेगा। सामाजिक एवं राजकीय ख्याति में अभिवृद्धि होगी। परिवार की समस्याओं को अनदेखा न करें।

 वृश्चिक
आमदनी बढ़ेगी। नवीन कार्य में सफलता मिलेगी। कार्य की गति तीव्र होगी। लाभदायक समाचार प्राप्त हो सकेंगे। दिनचर्या व्यवस्थित रहेगी।

धनु
पारिवारिक सुख व संतोष रहेगा। व्यापार में प्रगति के योग हैं। आत्मविश्वास बढ़ेगा। अपनी वस्तुएं संभालकर रखें। विवादों से दूर रहना चाहिए।

 मकर
अपने कर्म पर विश्वास रखते हुए काम करें। विद्वानों के साथ रहने का अवसर मिलेगा। किसी नए कार्य में भाग लेने के योग हैं।

 कुंभ
आर्थिक अनुकूलता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय में लाभ प्राप्त कर सकेंगे। प्रसिद्धि एवं सम्मान में इजाफा होगा। परिवार में खुशी के अवसर आएंगे।

 मीन
नौकरों पर अतिविश्वास ठीक नहीं है। पठन-पाठन में रुचि बढ़ेगी। भोग-विलास में रुचि बढ़ेगी। रुका धन मिलने से धन संग्रह होगा।

गौरामई में काट दिए गोवंशीय पशु, दस तस्कर गिरफ्तार






बदायूं : अलापुर थाना क्षेत्र के गांव गौरामई में गोवंशीय पशुओं को काट दिया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से दस मांस तस्करों को गिरफ्तार करने के साथ ही करीब 25 कुंतल मांस और काटे गए पशुओं के अवशेष बरामद किए हैं। मामले की जानकारी होते ही तस्करों के करीबी सफेदपोशों का थाने पर जमावड़ा लग गया। एक सफेदपोश ने तस्करों को छुड़ाने का काफी प्रयास किया लेकिन मामला सुर्खियों में आने की वजह से पुलिस ने किसी भी तस्कर को नहीं छोड़ा। शाम के वक्त सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।
गौरामई निवासी इसरार पुत्र इकबाल के घर में दावत का कार्यक्रम था। मंगलवार को होने वाली दावत के लिए सोमवार की रात गोवंशीय पशुओं को काटा गया। दावत में मांस खिलाने की तैयारी के चलते घर के अंदर ही काटे जा रहे गोवंशीय पशुओं की सूचना किसी ने पुलिस को दे दी। सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स मौके की ओर रवाना हुआ। रात करीब तीन बजे इसरार के घर पर दबिश दी गई तो पुलिस को देख हड़कंप मच गया। पुलिस ने घर को चारों ओर से घेरने के बाद दस मांस तस्करों को दबोच लिया। इस दौरान तस्करों के परिजनों और पुलिस के बीच काफी नोकझोंक हुई। पुलिस ने सख्त दिखाई तो तस्करों के परिजन भाग खड़े हुए। पुलिस मौके से पशु काटने के उपकरण, अवशेष और मांस बरामद करने के बाद थाने पहुंची तो तस्करों को बचाने के लिए नेताओं का जमावड़ा लग गया।
कुछ ही देर में एक माननीय का फोन पुलिस के पास पहुंचा और तस्करों को छोड़ने का दबाव बनाया गया। सफेदपोश के दबाव में आई पुलिस शाम तक मामला टालती रही। बाद में अधिकारियों तक बात पहुंची तो पुलिस को सभी तस्करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए गए। तब जाकर हरकत में आई पुलिस ने हिरासत में लिए गए तस्कर मुसर्रफ पुत्र चुन्ने, इसरार पुत्र इकबाल, इब्राहीम पुत्र चुन्नू, जान मोहम्मद पुत्र मोहम्मद जान, रईस पुत्र आस मोहम्मद, इसहाक अली पुत्र इकबाल, सुजात खां पुत्र जाहिद खां, मल्लू खां पुत्र सबीर, आफाक खां के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।
पुलिस की यह बड़ी कामयाबी है। गौरामई के एक घर में गोवंशीय पशुओं को काटते हुए दस लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। सभी पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी। गोकशी किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं की जाएगी।
  अनिल कुमार यादव, एसपी सिटी


देवउठनी एकादशी पर होती है तुलसी-शालिग्राम की पूजा, जानिए महत्व






हिंदू मान्यता के अनुसार दिवाली के बाद आने वाली एकादशी पर देव उठ जाते हैं। इसे देवउठनी एकादशी कहते हैं। इस एकादशी में भगवान विष्णु नींद से जाग जाते हैं और सभी शुभ कार्य जो अब तक रुके हुए होते हैं, वे शुरू किए जा सकते हैं। इस बार 10 और 11 नवंबर दो दिन एकादशी है। इस एकादशी पर तुलसी का विवाह होता है। ऐसा माना जाता है कि ये अच्छा योग होता है, विवाहों में जो भी अर्चनें होती हैं, वो दूर हो जाती हैं और विवाह के लिए अच्छा योग बन जाता है।

क्यों की जाती है तुलसी पूजा और क्या है तुलसी विवाह का महत्व

तुलसी का पौधा वैसे भी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है और पूजन में तुलसी का इस्तेमाल काफी शुभ होता है। इस दिन यह संदेश भी दिया जाता है कि औषधीय पौधे तुलसी की तरह सभी के जीवन में हरियाली और ताजगी लौटे।

इस एकादशी पर तुलसी विवाह का सबसे ज्यादा महत्व होता है। दरअसल, इस एकादशी पर कहा जाता है कि देव अपने दरवाजे खोल देते हैं। देवउठनी एकादश को छोटी दिवाली के रूप में भी मनाया जाता है।

इस एकादशी से कई तरह की धार्मिक परंपराएं जुड़ी हैं। ऐसी ही एक परंपरा है तुलसी-शालिग्राम विवाह की। शालिग्राम को भगवान विष्णु का ही एक स्वरुप माना जाता है। तुलसी विवाह में तुलसी के पौधे और विष्णु जी की मूर्ति या शालिग्राम पाषाण का पूर्ण वैदिक रूप से विवाह कराया जाता है। पुराणों में तुलसी जी को विष्णु प्रिया या हरि प्रिया कहा जाता है। विष्णु जी की पूजा में तुलसी की भूमिका होती है।

जो व्यक्ति तुलसी के साथ शालिग्राम का विवाह करवाता है उनके दांपत्य जीवन में आपसी सद्भाव बना रहता है और मृत्यु के बाद उत्तम लोक में स्थान मिलता है। इस दिन शालिग्राम और तुलसी जी का विवाह कराकर पुण्यात्मा लोग कन्या दान का फल प्राप्त करते है।

जो इनका विवाह कराते हैं वो व्रत रखते हैं। शाम को तुलसी के पौधे को दुल्हन की तरह सजाया जाता है और फिर शालिग्राम के साथ तुलसी के पौधे को परिणय बंधन में बांधा जाता है।

शालिग्राम मूर्ति यानि विष्णु जी की काले पत्थर की मूर्ति की पूजा की जाती है। अगर आपका काला पत्थर न मिले तो आप विष्णु जी की तस्वीर भी रख सकते हैं। शाम के समय सारा परिवार इसी तरह तैयार हो जैसे विवाह समारोह के लिए होते हैं। तुलसी का पौधा एक चोकी पर आंगन, छत या पूजा घर में बिलकुल बीच में रखें। एक विवाह में जिन चीजों का इस्तेमाल होता है, वो सारी चीजें, महंदी,मोली, रोली,धागा, फूल, चंदन, चावल, मिठाई, शगुन की हर चीज पूजन सामग्री के रूप में रखी जाती है।


अमिताभ बच्‍चन ने बताया, क्‍यों है 2000 रुपये के नोट का रंग पिंक!





साउथ के सुपर स्‍टार रजनीकांत ने पीएम मोदी के इस कदम को सलाम किया है। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, 'नरेंद्र मोदी जी को सलाम।
नई दिल्ली। मंगलवार की रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक राष्ट्र को संबोधित करते हुए आधी रात से देश में 500 और 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को बंद करने का ऐलान किया। पीएम मोदी के इस कदम की काफी लोग सराहना कर रहे हैं। लोगों का मानना है कि यह कालाधन रखने वालों पर बड़ा वार है। फिल्म अभिनेता भी पीएम मोदी के इस कदम की सराहना कर रहे हैं।
फिल्मों में अब खूब देखने को मिलेंगे 'बोल्ड' और 'इंटीमेट' सीन्स, नहीं चलेगी कैंची!
साउथ के सुपर स्टार रजनीकांत ने पीएम मोदी के इस कदम को सलाम किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'नरेंद्र मोदी जी को सलाम। मोदीजी के इस कदम से लग रहा है कि नए भारत का जन्म हो रहा है। जय हिंद!!!'


यूपी चुनाव में तो लग गई कालेधन वालों की वाट, अफसर और माफिया भी मुश्किल में






मोदी सरकार के 500 तथा 1000 रुपये के नोट बंद करने के एलान का यूपी के चुनाव पर व्यापक असर पड़ना तय है। चुनाव के लिहाज से यह बहुत बड़ा फैसला है। धनबल के जरिये टिकट हासिल करने तथा चुनाव जीतने की मंशा पाले लोगों को तगड़ा झटका लगा है।
इस  फैसले से चुनाव के लिए एकत्र किए गए भारी मात्रा में कालेधन के बाहर आने की भी उम्मीद है। सत्ता में रहते हुए बीते साढ़े चार साल में चुनाव के लिए फंड इकट्ठा करने वाले नेताओं के मंसूबों पर तो पानी फिर गया है,  लेकिन चुनाव आयोग के लिए यह राहत भरा कदम होगा। इस बार यूपी चुनाव में उसे कालाधन पकड़ने को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी।

जानकारों की मानें तो मुंबई के बाद उत्तर भारत में लखनऊ काले धन के  कारोबार का बड़ा केंद्र है। चुनाव में टिकट हासिल करने से लेकर चुनाव जीतने तक, बड़े पैमाने पर कालेधन का इस्तेमाल किया जाता है। चुनाव में कालेधन की रोकथाम के लिए गठित फाइनेंशियल इंटलीजेंस यूनिट (एफआईयू) ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान चौंकाने वाला खुलासा किया था।

एफआईयू ने आशंका जताई थी कि नेताओं ने टिकट लेने, शक्ति प्रदर्शन करने और आला नेताओं को खुश करने में अरबों रुपये खर्च किए। एफआईयू के मुताबिक 2014 के लोकसभा चुनाव में चुनाव में सिर्फ यूपी में ही करीब 500 करोड़ रुपये के कालेधन का इस्तेमाल हुआ था।

इससे पहले 2012 के विधानसभा चुनाव में भी यह आंकड़ा 300 करोड़ रुपये के आसपास बताया जाता है। बता दें कि चुनाव आयोग के निर्देश पर फाइनेंशियल इंटेलीजेंस यूनिट का गठन किया गया है जिसमें आयकर व प्रवर्तन निदेशालय के अफसरों के साथ-साथ वित्तीय मामलों से जुड़े आला अधिकारी हैं।

LIVE: राष्ट्रपति बनने के करीब डोनाल्ड ट्रंप, 254 के मुकाबले हिलेरी के 215 वोट






दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र, अमेरिका में राष्ट्पति पद के लिए मतदान समाप्ति के बाद वोटों की गणना शुरू हो चुकी है। अमेरिका के 240 वर्ष के लोकतांत्रिक इतिहास में पहली बार कोई महिला या राजनीति से बाहर का कोई व्यक्ति व्हाइट हाउस पहुंचेगा।

कटुतापूर्ण चुनाव प्रचार के बाद अब दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले अमेरिका में हिलेरी और ट्रंप के बीच मुकाबले में एक-एक वोट दांव पर लगा है।  पढ़ें, LIVE अपडेट्स....

LIVE UPDATES:

पेन्सिलवेंनिया और मिशिगन में ट्रंप आगे चल रहे हैं। ट्रंप 254 और हिलेरी 215 पर आगे।

- डोनाल्ड ट्रंप 270 इलेक्ट्रोरव वोट्स के जादुई आंकड़े के करीब पहुंच गए हैं। हिलेरी के 209 वोट्स के मुकाबले 244 पर पहुंचे ट्रंप।

- रुझानों के हिसाब से मुकाबला कांटे का बना हुआ है। हिलेरी के 209 इलेक्ट्रोरल वोट के मुकाबले रिपब्लिकन उम्मीदवार ट्रंप 228 पर जीत रहे हैं।

- भारतीय-अमेरिकी कमला हैरिस ने रचा इतिहास, कैलिफोर्निया से सीनेट सीट जीतीं। डेमोक्रेटिक पार्टी से जुड़ीं हैं हैरिस।

बदायूँ,पांच सौ और हजार का नोट लेकर दौड़े लोग







बदायूँ, | मंगलवार को टेलीविजन पर पांच सौ और हजार के नोट पर प्रतिबंध की खबर खलबली मचा दी। एक तरफ तो लोगों ने काला धन को बाहर लाने को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के इस कदम की सराहना की। दूसरी ओर अपने पांच सौ और हजार के नोट को बदलने को लेकर चिंतित हो गए। पेट्रोल पंप पर लोगों की भीड़ लग गई।

बड़ें नोटों पर प्रतिबंध को लेकर देर रात तक अफरातफरी का माहौल रहा। लोगों की दो तरह की चिंताएं रहीं। नौ को होने की खबर के चलते एटीएम से पैसा निकालने वालों की भीड़ रही। दूसरी तरफ वे लोग हैरान रहे, जिनके पास पांच सौ और हजार की नगदी ज्यादा रही। क्योंकि लोगों ने इन नोटों का तुरंत लेना बंद कर दिया। सोशल साइट्स पर जैसे ही यह खबर वायरल हुई तो तमाम लोगों ने अखबार के दफ्तरों में इसकी पुष्टि करने के लिए बार-बार कॉल करते रहे। बैंक की ई-लॉबी में रुपये जमा करने वालों की भारी भीड़ रही, जिससे कि रुपयों को जमा कर सकें। पेट्रोल पंप पर तो यह हालत हुई कि पैसा वापस करने के चक्कर में कई पंप समय से पहले बंद कर दिए गए। सराफा मार्केट में इसे लेकर खासी चर्चा रही। उन लोगों ने भी चिंता जताई, जिनके यहां शादी होनी वाली है।
‘पांच सौ और एक हजार रुपये के नोट पर प्रतिबंध लगाने की जानकारी टेलीविजन से मिली है। आधिकारिक सूचना नहीं है। पीएम मोदी के इस फैसले से काला धन बाहर आएगा। नौ नवंबर को बैंक बंद होने की जानकारी है और कल विस्तृत जानकारी हो सकेगी।’
 अनुराग रमन, लीड बैंक मैनेजर
विपक्षी बोले, तुगलकी है फरमान  
‘पीएम मोदी का फैसला सही है, लेकिन इससे गांवों और गरीब किसानों को बहुत परेशानी होगी, क्योंकि उन लोगों तक समय से जानकारी नहीं पहुंच पाएगी। वक्त देना चाहिए था।’
 साजिद अली, कांग्रेस जिलाध्यक्ष 
‘यह पीएम मोदी का तुगलकी फरमान है। इससे गरीब लोगों के रुपये जल्द जमा नहीं हो सकेंगे। इससे लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ेगा। बाकी जनता खुद बता देगी।’
 हेमेंद्र गौतम, बसपा जिलाध्यक्ष
‘यह तुगलकी फरमान है, लोकतंत्र में आम सहमति से फैसले लिए जाते हैं। प्रधानमंत्री को अन्य दलों से विचार विमर्श कर निर्णय लेना चाहिए था। एकदम फैसला थोपने से देश में अस्थिरता फैलेगी।’
 सुरेशपाल सिंह तोमर, सपा जिला महासचिव

आतंकवाद की फंडिंग के लिए इस्तेमाल हो रहे थे बड़े नोट, RBI ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर






काले धन पर अंकुश लगाने के लिए पीएम मोदी के ऐलान के बाद आरबीआई ने प्रेस ब्रीफिंग की. रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि 500 और 1000 के मौजूदा नोटों का चलन आधी रात से बंद कर दिया गया है. इनकी जगह पर अब नए नोट आएंगे.

संबंधित खबरें

ब्‍लैक मनी पर मोदी की सर्जिकल स्‍ट्राइक, देशभर में अफरा-तफरी... 500 और हजार के नोट बंद
RBI में 31 मार्च तक जमा कर सकते हैं पुराने नोट
पटेल ने कहा कि बड़े नोटों का दुरुपयोग हो रहा था. आतंकवाद की फंडिंग में बड़े नोटों का इस्तेमाल हो रहा था. नए नोट जल्द आएंगे.

पटेल ने कहा कि 500 और 2000 के नए नोटों का उत्पादन बढ़ा दिया गया है और जल्द से जल्द नए नोट मुहैया कराए जाएंगे.

वित्त सचिव शशि‍कांत दास ने कहा कि पीएम मोदी ने देश को संबोधि‍त किया है और काले धन पर अंकुश के लिए बड़े कदमों की घोषणा की है. काला धन रोकने के लिए निर्णायक कदम है. अर्थव्यवस्था के लिए यह फैसला जरूरी है. बीते पांच सालों में बड़े नोटों का सर्कुलेशन बढ़ गया था.
वित्त सचिव ने कहा है कि नए नोट 10 नवंबर से सामने आ जाएंगे. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वो 500 और 1000 के नोट बदलने के लिए किसी के बहकावे में न आएं. बैंकों में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. नोटों के चलन से जुड़ी किसी भी दिक्कत के समाधान के लिए रिजर्व बैंक ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. मुंबई का नंबर है 022-22602201 और दिल्ली का नंबर है 011-23093230

Full Information: 500-1000 के नोट बंद, आपके ज़ेहन में उठने वाले सारे सवालों के जवाब






नई दिल्लीः देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही 500-1000 रुपये के नोट बंद करने की घोषणा की देश में इस फैसले को लेकर सैंकड़ों सवाल उठ खड़े हुए. मसलन अब घरों में और लोगों के पास पड़े हुए 500-1000 रुपये के नोटों का क्या होगा. क्या उनकी मेहनत की कमाई के नोट अब बेकार हो जाएंगे? कल रात 12 बजे के बाद 500-1000 के नोट बंद हो चुके हैं और इन नोटों की कीमत महज कागज के टुकड़े जितनी ही रह गई है. इस तरह के ढेरों सवाल आपके मन में भी उठ रहे हैं तो परेशान ना हों. यहां आपको 500-1000 रुपये के नोटों से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी.



1. जिन्हें तुरंत पैसे चाहिए और 500-1000 के नोट ही हैं वो क्या करें?
आप अपने 500-1000 रुपये के नोट बैंकों में या पोस्ट ऑफिस ले जाएं और तुरंत पान कार्ड, आधार कार्ड, राशन कार्ड या सरकारी वोटर कार्ड जैसे डॉक्यूमेंट दिखाकर तुरंत आप इनके बदले नए नोट ले सकते हैं जो अब से देश में चलन में हैं.

2. कैसे बदलें नोट?
30 दिसंबर 2016 तक किसी भी बैंक में जाकर पुराने 500 और 1000 के नोट बदल सकते हैं.

3. बड़े नोट से छोटे नोट का एक्सचेंज कब तक होगा?
बड़े नोट से छोटे नोट का एक्सचेंज 10 नवंबर यानी कल से 24 नवंबर 2016 तक ही हो पाएगा. यानी एक्सचेंज के लिए आपके पास सिर्फ 15 दिन हैं लेकिन इससे कोई परेशानी नहीं होगी. अगर आप 500-1000 रुपये के नोट जमा कराना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास 30 दिसंबर 2016 तक का टाइम है.

4. आप कितने रुपये तक के नोट एक्सचेंज करा सकते हैं?
आप एक दिन में सिर्फ 4000 रुपये तक के 500-1000 रुपये के नोटों को छोटे नोटों में बदल सकते हैं. यानी 10 से 24 नवंबर के बीच आप सिर्फ 60,000 रुपये के नोट ही एक्सचेंज करा सकते हैं.

5. 11 नवंबर को एटीएम खुलने के बाद कितने पैसे निकाल सकेंगे?
18 नवंबर तक रोजाना एटीएम से सिर्फ 2000 रुपये ही निकाल पाएंगे और बाद में इसकी लिमिट बढ़ाई जाएगी. वहीं बैंक से एक दिन में 10,000 रुपये और हफ्ते में कुछ दिनों तक 20,000 रुपये तक निकाल सकेंगे. एटीएम और बैंक से पैसे निकालने की सीमा कब बढ़ेगी अभी ये तय नहीं है लेकिन मान सकते हैं कि नोटों की मांग सामान्य आने के बाद कैश विद्ड्रॉल की सीमा बढ़ा दी जाएगी.

6. जरूरी काम के लिए पैसे कहां से लाएं
रेलवे, सरकारी बस काउंटर, एयरलाइंस, अस्पताल, एयरपोर्ट और पेट्रोल पंपों (इंडियन ऑयल, एचपी, बीपी) पर 500-1000 रुपये के नोट 11 नवंबर आधी रात तक खरीदारी कर सकते हैं. इसके अलावा सरकारी ऑथराइज्ड दूध के बूथ, क्रिमिशन हाउस (शवदाह गृह) पर भी ये नोट 11 नवंबर की आधी रात तक लिए जाएंगे तो आपके जरूरी कामों में किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी. आप कतई परेशान ना हों.

7. क्या 1 ही दिन अलग-अलग बैंकों से पैसे एक्सचेंज करा सकते हैं?
नहीं, जिस बैंक में आपका खात है सिर्फ आप वहीं नोट एक्सचेंज कर सकेंगे और अगर दूसरे बैंक जाएंगे तो आपको अपने खाते की डीटेल्स और अपना आईडी कार्ड दिखाना होगा. अगर किसी के पास खाता ही नहीं है तो वो किसी दोस्त या रिश्तेदार से लिखित में मंजूरी लेकर उसके खाते वाले बैंक में नोट एक्सचेंज कर पाएंगे.

8. अगर 30 दिसंबर तक नोट जमा नहीं किए तो क्या पैसे डूब जाएंगे?
नहीं! अगर किसी वजह से 30 दिसंबर तक 500-1000 रुपये के नोट जमा नहीं कर पाए तो 31 मार्च 2017 तक का समय है, रिजर्व बैंक इसके लिए अलग सेंटर या ऑफिस तय करेगा जहां जाकर आप ये नोट जमा करा सकते हैं. बस वजह बतानी होगी कि पहले क्यों नहीं जमा कराए और पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड दिखाना होगा.

9. कब बंद रहेगा एटीएम और बैंक
9 और 10 नवंबर को एटीएम बंद रहेंगे. 9 नवंबर को बैंक बंद रहेंगे

10. पुराने नोट कब तक और कहां इस्तेमाल हो सकेंगे?
11 नवंबर की रात 12 बजे तक सरकारी अस्पताल, पेट्रोलपंप, हवाई टिकट जैसी जगहों पर ये पुराने नोट लिए जाएंगे.

11. क्यों लिया सरकार ने ये फैसला?
काले धन पर शिकंजा कसने के लिए मोदी सरकार ने ये बेहद बड़ा कदम उठाया हैं. तो जिनके पास काला धन नहीं हैं उन्हें घबराने की बिलकुल जरूरत नहीं है. पीएम मोदी ने भी इस बारे में आपको भरोसा दिलाया है.

12. नए नोटों से जुड़ी जानकारी?
आरबीआई ने साफ बताया है कि नए नोट 500 और 2000 रुपये के होंगे. 10 नवंबर से ये नोट बैंकों में आ जाएंगे तो आप आसानी से जाकर नोट ले सकते हैं


zhakkas

zhakkas