: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/23/16

सी वोटर सर्वे: 80% लोगों ने नोटबंदी पर किया पीएम मोदी के फैसले का समर्थन





मोदी सरकार की ओर से 500 और 1000 रुपये के नोटों पर पाबंदी लगाए जाने के बाद एक ओर जहां विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार को घेर रहा है वहीं घंटों लाइन में खड़े रहने के बाद भी आम जनता इस फैसले से खुश है. सी-वोटर की ओर से किए गए सर्वे में दावा किया गया है कि 80 फीसदी लोग सरकार के फैसले से खुश हैं.


अंग्रेजी अखबार 'द टाइम्स ऑफ इंडिया' के अनुसार रिहाइश, वेतन और आयु वर्ग के आधार पर जब लोगों से इस मामले में राय मांगी गई तो नोटबंदी के समर्थन का ग्राफ और बढ़ गया. शहरी और ग्रामीण इलाकों में 86 फीसदी लोगों ने माना कि जो परेशानी आ रही है वो बेहतर कल के लिए झेली जा सकती है. अर्ध-शहरी इलाकों में यह आंकड़ा 80.6 फीसदी है.

सर्वे में कहा गया है कि 80-86 फीसदी जनता मानती है कि नोटबंदी से थोड़ी परेशानी तो है लेकिन काले धन पर लगाम लगाने के लिए यह बहुत सही फैसला है. यह सर्वे देश की लगभग 200 से ज्यादा लोकसभा सीटों पर किया गया है. अंतराष्ट्रीय सर्वे एजेंसी ने सोमवार को यह सर्वे किया है.

ये है अमेरिका के होने वाले राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के 100 दिन का एजेंडा





वाशिंगटन : अमेरिका के होने वाले राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का एक वीडियो सामने आया है जिसे उन्होंने खुद यूट्यूब पर अपलोड किया. इस विडियो के माध्‍यम से उन्होने अमेरिकी जनता से सीधे संपर्क साधने का प्रयास किया है साथ ही लोगों को आपनी नीतियों से अवगत कराने का यह उनका अनोखा प्रयास है.
वीडियो में वे नई नौकरियों पैदा करने, व्यापारिक संधियों पर फिर से बातचीत करने, ऊर्जा उत्पादन पर लगे प्रतिबंधों को खत्म करने और लॉबिंग पर बैन लगाने का वादा करते दिखाई दे रहे हैं. आपको बता दें कि ट्रंप 20 जनवरी 2017 को राष्ट्रपति का पदभार संभालेंगे. इस वीडियो को सोमवार को अपलोड किया गया है.



इस विडियो में ट्रंप राष्ट्रपति पद संभालने के बाद लागू की जाने वाली अपनी अहम नीतियों के संबंध में लोगों को जानकारी देते नजर आ रहे हैं. उन्होंने वीडियो में जानकारी दी कि पदभार संभालने के बाद जिस दिन वह वाइट हाउस पहुंचेंगे, ठीक उसी दिन ट्रांस-पैसिफिक पार्टनरशिप (टीपीपी) से अमेरिका को अलग कर देंगे. यही नहीं उन्होंने कहा है कि इसके अलावा वह वर्किंग वीजा के दुरुपयोगों की भी जांच में अहम निर्णय लेंगे.


ट्रंप ने वीडियो के माध्‍यम से कहा है कि दूसरे देशों से आने वाले लोगों के अमेरिका में काम करने से अमेरिकी नागरिकों के लिए काम के मौके और नौकरियां लगातार कम हो रहीं है जो चिंता का विषय है. वाइट हाउस में अपने शुरुआती 100 दिनों की नीतियों की योजना के संबंध में भी ट्रंप ने इस वीडियो के माध्‍यम से जनता को अवगत कराया है.
यहां उल्लेख करते चलें कि टीपीपी दुनिया के अबतक के इतिहास की सबसे बड़ी व्यापारिक संधि है जिसमें प्रशांत महासागरीय क्षेत्र में आने वाले 12 देश शामिल हैं. इस संधि पर 2105 में मुहर लगी थी जिसमें अमेरिका, जापान, मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यू जीलैंड, कनाडा और मैक्सिको जैसे देश शामिल हैं. ट्रंप का ऐसा मानना है कि टीपीपी से अमेरिका को काफी नुकसान पहुंच रहा है. उन्होंने घोषणा की है कि वह 20 जनवरी को ही इस संधि से अमेरिका को बाहर निकालकर ले आयेंगे. 

जिले के 12 थानेदार इधर से उधर, दो का चार्ज छिना





एसएसपी महेंद्र यादव ने जिले के थानों में बड़ा फेरबदल किया है। 12 थानेदारों को इधर से उधर करने के साथ सोमवार रात एसएसपी ने दो थानेदारों से चार्ज भी छीन लिया। एसओ कुंवरगांव रहे राजेश कुमार को सदर कोतवाली और एसओ वजीरगंज नरेश कुमार को सहसवान कोतवाली का एसएसआई बनाया गया है।

हाल ही में चार्ज संभालने वाले इंस्पेक्टर सिविल लाइंस रामगोपाल शर्मा को इस्लामनगर थाने की कमान सौंपी गई है। नरेश सिंह यादव को पुलिस लाइंस से इंस्पेक्टर सहसवान का चार्ज दिया गया है। एसएसपी के रीडर जमीरुल हसन को सिवि लाइंस का इंस्पेक्टर बनाया है। एसओ जरीफनगर रहे नरेंद्र सिंह को इसी पद पर वजीरगंज भेजा गया है। कंट्रोल रूम में तैनात नरेशपाल सिंह को जरीफनगर एसओ बनाया है। कश्मीर सिंह को सहसवान से हटाकर फैजगंज बेहटा की जिम्मेदारी दी गई है। एसओ प्रदीप सिंह यादव को फैजगंज बेहटा से उघैती भेजा गया है। पुलिस लाइंस से कृष्णकांत यादव को बिनावर भेजा है। ललित मोहन सिंह को बिनावर से उसहैत का एसओ बनाया गया है। हरिभान सिंह को उसहैत से हटाकर कुंवरगांव का एसओ बनाया गया है।

श्रवण के भाई का सरेंडर, जेल भेजा गया
बदायूं। सराफा व्यापारी श्रवण गुप्ता की हत्या के मामले में आरोपी भाई पवन गुप्ता ने मंगलवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कोर्ट ने पवन गुप्ता को जेल भेज दिया है। दातागंज के सराफा व्यापारी श्रवण गुप्ता की आठ नवंबर 2015 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। श्रवण से करीब 35 लाख रुपये के नकदी-जेवर भी लूट लिए गए थे। मामले में अनिल, निर्वेश उर्फ डॉक्टर और नाजिम को पहले ही जेल भेजा जा चुका है। विवेचना में सामने आया था कि पवन गुप्ता का भी हत्या में हाथ है।

दो पक्षों में फायरिंग, एक घायल
फैजगंज बेहटा। थाना क्षेत्र के गांव सैद सराय में मंगलवार को दो पक्षों के बीच हुई फायरिंग में अनेक सिंह नाम का ग्रामीण घायल हो गया। गांव के अनेकपाल सिंह (32) पुत्र हरपाल सिंह का दो दिन पहले नाली के विवाद में वेदराम से झगड़ा हो गया था। मंगलवार को दोनों पक्षों में फायरिंग से अनेकपाल घायल हो गया। सिपट्टर, नेमपाल, नरेश और वेदराम के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

‘काले धन के गद्दों पर सोने वालों की नींद हराम’




भारतीय जनता पार्टी का जिला स्तरीय महिला सम्मेलन गांधी ग्राउंड में मंगलवार को संपन्न हुआ। इसमें भारी भीड़ होने से नोटबंदी से कमजोर महसूस कर रही भाजपा दोबारा से रिचार्ज नजर आई। मुख्य अतिथि के रूप महिला मोर्चा की प्रदेश मंत्री मंजू दिलेर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब से हजार और पांच सौ रुपये के नोट बंद किए, तब से काले धन के गद्दों पर सोने वाले लोगों की नींद हराम हो गई है। ऐसे लोग ही नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार पर हमलावर होते कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है, महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। भ्रष्ट और गुंडाराज फैलाने वाली सरकार को बदलने के लिए भाजपा को दो-तिहाई बहुमत से जिताना होगा।

दिलेर ने पीएम मोदी की उपलब्ध्यिां गिनाते हुए कहा कि उज्वला योजना और जन धन योजना से करोड़ों लोगों को फायदा पहुंचा है। बोलीं, पीएम मोदी के एक बार कहने पर भारी संख्या में लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ने का फैसला कर लिया। इससे पहले दिलेर ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया और महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सीमा राठौर ने पगड़ी पहनाकर एवं तलवार भेंट की। इस मौके पर दीपमाला गोयल, शुभ्रा गुप्ता, विमलेश गुप्ता, भाग्यश्री, मंजू सिंह, प्रेमवती, पूनम गुप्ता, विमलेश चौहान, राकेश कुमारी आदि मौजूद रहे।
पास हो गए राजेश्वर और शारदेंदु
बदायूं। भाजपा का जिला स्तरीय महिला सम्मेलन सफल बनाने की जिम्मेदारी जिला उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह और जिला महामंत्री शारदेंदु पाठक को दी गई थी। गांधी ग्राउंड में हुए सम्मेलन में भारी भीड़ होने पर सम्मेलन काफी हद तक सफल हो गया। इससे पार्टी पदाधिकारी कहते नजर आए कि राजेश्वर और शारदेंदु सफल हो गए। हमेशा की तरह पूर्व विधायक रामसेवक सिंह पटेल ने अपने साथ भारी भीड़ जुटाकर अपना दबदबा कायम रखा।
इनकी रही सहभागिता
बदायूं। भाजपा के महिला सम्मेलन को सफल बनाने के लिए बृज क्षेत्र के अध्यक्ष बीएल वर्मा, जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य, पूर्व विधायक प्रेमस्वरूप पाठक, रामसेवक सिंह पटेल, महेशचंद्र गुप्ता, अवनीश कुमार सिंह पप्पू भैया, राजीव कुमार सिंह बब्बू भैया, योगेंद्र सागर, उमेश सिंह राठौर, शैलेष पाठक, आरएस पाल, प्रीति सागर, सुधीर श्रीवास्तव, नेकपाल सिंह, कुशाग्र सागर, दमयंती वर्मा आदि पदाधिकारियों की सहभागिता रही।
बीच सभा में चली गईं मुस्लिम महिलाएं
बदायूं। भारतीय जनता पार्टी के महिला सम्मेलन में भाजपा के पदाधिकारियों ने मुस्लिम महिलाओं की खासी भीड़ जुटा ली थी। काफी देर से बैठी मुस्लिम महिलाएं मुख्य अतिथि मंजू दिलेर के भाषण के दौरान ही उठकर चल दीं। महिलाओं को रोकने के लिए कहा गया, लेकिन वे वहां से चली गईं।
भगवान सिंह की नामौजूदगी पर उठे सवाल
बदायूं। पूर्व मंत्री भगवान सिंह शाक्य ने महिला सम्मेलन को सफल बनाने के लिए काफी प्रयास किए थे, 

उघैती में, रास्ता नहीं बताने पर बुजुर्ग ग्रामीण को गोली से उड़ाया





रास्ता न बताने पर बदमाशों ने बुजुर्ग ग्रामीण को गोली से उड़ा दिया। उसकी मौके पर मौत हो गई। वारदात सोमवार रात उघैती थाने के गांव गोबरा में हुई। वारदात के करीब तीन घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंच सकी। मृतक चोब सिंह के बेटे धर्मपाल की ओर से अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

उघैती थाने के गांव गोबरा निवासी चोब सिंह (70) पुत्र छविराम का घेर उसके घर से कुछ ही दूरी पर है। सोमवार रात चोब सिंह अपने घर में सोया था। उसका बेटा धर्मपाल और पुत्रवधु घर पर थे। करीब करीब 11 बजे चार बदमाश चोब सिंह के घेर के पास से होकर निकल रहे थे। इनमें एक बदमाश ने चोब सिंह ने गांव दोहरा जाने वाला रास्ता पूछा। इस पर चोब सिंह ने खुद की बीमारी और नजर कमजोर होने का हवाला देते हुए रास्ता बताने से इंकार कर दिया। यह बात बदमाशों को नागवार गुजरी। एक बदमाश ने चोब सिंह के सीने पर गोली मार दी। उसकी मौके पर मौत हो गई।
फायर की आवाज होने पर गांव में जाग हो गई। चोब सिंह के परिवार वाले भी जाग गए। इससे पहले बदमाश वहां से भाग चुके थे। गांव के लोगों ने घटना की खबर पुलिस को देते के लिए एसओ का सीयूजी नंबर लगाया। करीब तीन घंटे के बाद सीयूजी नंबर पर बात हो सकी। इसके बाद गांव के लोगों ने सीओ बिल्सी आनंद कुमार पांडेय को खबर दी। सीओ ने वायरलैस से पुलिस को इस बारे में बताया। तब थाना पुलिस ने गांव पहुंच कर बदमाशों की तलाश में कांबिंग की। लेकिन, बदमाश पुलिस के साथ नहीं आए। चोब सिंह के परिवार वाले किसी से रंजिश की बात से इंकार कर रहे हैं। मृतक के  के पुत्र धर्मपाल ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।
लंबे समय से हो रही थी बदमाशों की आवाजाही
उघैती। गोबरा समेत आसपास के गांवों में कई दिनों से बदमाशों की आवाजाही हो रही थी। इस बारे में कई बार पुलिस को भी खबर दी गई। लेकिन, पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया। बता दें कि उघैती थाना गोकशी को लेकर बदनाम है। कई बार रात में मांस तस्कर यहां घुमंतू गोवंशीय पशुओं को निशाना बना चुके हैं। गोकशी के मामले में ही एसओ अवनीश यादव को पिछले महीने सस्पेंड किया गया था।

मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। शव पोस्टमार्टम को भेजा है। मैनें भी पूरी घटना की जानकारी ली है। थाना पुलिस को जल्द खुलासा करने का आदेश दिया गया है।-एके पांडेय, सीओ बिल्सी

आज का राशिफल 23/11/2016




  • मेष राशि

स्वामी – मंगल
अराध्य देव – श्री गणेशजी
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – अ, ल, इ
शुभ रत्न – मूंगा
शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी
मेष राशि के जातक जन्म से ही नेतृत्व में निपुण होते है. प्रायः ऊर्जा और अति- उत्साह से सभर रहते है. हालाँकि स्वच्छ प्रकृति के मगर अधिक आत्म केंद्रित रहते है. किसी भी कार्य को योजनापूर्वक करने में माहिर हैं. संघर्ष से उचित पद, इज्जत और नाम कमाते है. किसी को अपने पक्ष में खींचने में निपुण है. जो लोग आपके अनुसार कार्य नहीं करते उनके प्रति आपकी धारणा नकारात्मक रहती है. किन्तु मेष राशि के जातक जिन पर प्रसन्न हो जाते हैं उन पर जान भी न्योछावर कर देते हैं.


  • वृषभ राशि

स्वामी – शुक्र
अIराध्य देव – कुलस्वामिनी
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – ब, व और ऊ
शुभ रत्न – हीरा
शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष
वृषभ राशि के जातकों का स्वभाव गंभीर, स्थिर और व्यव्हार कुशल रहताहै. सौंदर्य से प्रेम करने वाले और शिष्टप्रिय होते है. पुराने विचारों में मानते है. धन और नाम हासिल करते हैं. अपने पुराने विचारों की वजह से लोगों से उंच नीच रहती है. प्रभावपूर्ण वाणी आपकी विेषेषता है. सफलता प्राप्त करने के बाद भी लोगों को साथ में रख कर चलना आपकी आदत है. आप भावुक और ह्रदय से सच्चे है. तत्काल लाभ की अभिलाष रखते हैं मगर उपेक्षा के पात्र बनते है.


  • मिथुन राशि

स्वामी – बुध
अIराध्य देव – कुबेर
तत्व – हवा
नाम के पहले अक्षर – क, छ, घ
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष
मिथुन राशि के जातकों में दुसरो की प्रकृति तथा व्यवहार को तीव्रता से समझ लेते हैं. मिलनसार स्वभाव की वजह से बहुत मित्र होते हैं. किसी भी कठिन बात को बुद्धिपूर्वक आसानी से बोल लेते हैं. आकर्षक और मनोरंजक व्यक्तित्व इनकी विशेषता हैं.

किन्तु अंद्रोनी तौर पर शुभ आचार विचार वाले और एकाग्र होते हैं. किन्तु बुरी सांगत को ले कर अपनी प्रतिभा को नुक्सान करते हैं. साथ ही कुछ मित्रों की संगत से मदद भी मिलती हैं. मिथुन राशि के जातक अधिकतम उदार दिल, बलशाली, चतुर तथा भोग विलास में रस रखनेवाले होते हैं.


  • कर्क राशि

स्वामी – चन्द्रमा
अIराध्य देव – शंकर भगवान
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – ड, ह
शुभ रत्न – मोती
शुभ रुद्राक्ष – दो मुखी रुद्राक्ष
इस राशि के लोग सौन्दर्यवान और घर परिवार से अत्यधिक मोह रखने वाले होते हैं. भावनात्मक रूप से अपने आप को सुरक्षित रहना चाहते है. इसी वजह से अपनी भावनाओं को सही मायने में प्रस्तुत करने से डरते है.

यह राशि वाले रिश्तों और परिवार में रचे रहते हैं. प्रकृति से लोगों को सुरक्षा देने वाले और अन्य लोगो को पालन पोषण देते हैं. जज्जबाती और देशभक्त तथा मातृभक्त रहते हैं. इनकी प्रकृति लोगों की समझ में जल्द नहीं आती. ऊपर से भावनाहीन मगर अंदर से मोम जैसा व्यक्तित्व और प्रेमी स्वभाव रहता हैं.


  • सिंह राशि

स्वामी – सूर्य
अIराध्य देव – सूर्य भगवान
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – म, ट
शुभ रत्न – माणिक्य
शुभ रुद्राक्ष – एक मुखी रुद्राक्ष
सिंह राशि के जातक किसी के सामने झुकना पसंद नहीं करते. स्वभाव से उत्साही, निर्भयी, क्रोधी, वीर, स्वतन्त्र और कठिन परिस्थितियों में भी विचलित न होने वाले व्यक्ति होते हैं. सन्तोषपूर्ण होने के कारन आर्थिक उन्नति नहीं कर पाते. अकेले रहना अधिक पसंद करते हैं जिसकी वजह से जीवन में कठिनाइयां रहती है. सिंह राशि के जातक अधिकतम अपने शोख़ को अपना पेश बनाते हैं. ह्रदय से आप दूसरों का भला हमेशा चाहते हैं मगर आपका अहंकार आपको दुसरो से जोड़ने में रुकावटें पैदा करता हैं. जन्म से ही आप संचालन और नेतृत्व की शक्तियां रखते हैं.


  • कन्या राशि

स्वामी – बुध
अIराध्य देव – कुबेर
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – प, ठ, ण
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – चार मुखी रुद्राक्ष
कन्या राशि के जातक स्वभाव से अधिक दृढ़ निश्चयी और कुछ अंश तक जिद्दी भी होते हों. एक बार जो सोच लेते है उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं. सञ्चालन में कुशल, कलाओं में निपुण और धनी रहते हैं. वाणी में मधुरता, बुद्धिमता, विचारशीलता और व्यवहारिकता इनकी खासियतें हैं. स्वच्छता के अति आग्रही और हर कार्य को व्यवस्थापूर्ण करना चाहते हैं. मेहनती और सफलता को तीव्रता से पाने वाले व्यक्ति हैं. किन्तु सांसारिक जीवन में भाग्यशाली नहीं होते. ह्रदय से रोमांटिक रहते हैं किन्तु भावनाओं को प्रदर्शित करने में विश्वास नहीं रखते. इसकी वजह से प्रेम सम्बन्धो और वैवाहिक सम्बन्धो में सफलता नहीं मिलते.

  • तुला राशि

स्वामी – शुक्र
अIराध्य देव – कुल स्वामिनी
तत्व – वायु
नाम के पहले अक्षर – र, त
शुभ रत्न – पन्ना
शुभ रुद्राक्ष – छह मुखी रुद्राक्ष
तुला राशि के जातक जन्मजात कुशल राजनीतिज्ञ, विचारशील और चतुर होते हैं. स्वभाव संतुलित रहता है और हर वस्तु को सम्पूर्ण समीक्षा और परिक्षण के बाद समझते हैं. आज्ञा के पालक रहते हैं. सौंदर्य और सुघड़ता को बहुत पसंद करते हैं. दूरदर्शिता से भरपूर आपका स्वभाव कार्य क्षेत्र में अच्छी तरक्की करवाता हैं.

वाणी और स्वभाव आनंदित रहने की वजह से लोगों में प्रिय बने रहते हैं. सभी राशियों में अत्यधिक आकर्षण पैदा करने वाला व्यक्तित्व रखते हैं. किन्तु कुछ परिस्थितियों में अत्यधिक हताश हो जाते हैं. निर्णय लेने से पहले आयाम और अंजाम के विषय में अत्यधिक सोचते हैं.


  • वृश्चिक राशि

स्वामी – मंगल
अIराध्य देव – गणेशजी
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – न, य
शुभ रत्न – माणिक्य
शुभ रुद्राक्ष – तीन मुखी रुद्राक्ष
वृश्चिक राशि के जातक तीक्ष्ण बुद्धि के मालिक होते है. बोले हुए वचन को दृढ़ता से पालनेवाले, थोड़े घमंडी, किसी भी विषय का बारीकी से निरिक्षण करने में निपुण और महत्वकांशी रहते हैं. धार्मिक विचार रखते हैं और हर कार्य को कुशलतापूर्वक करते हैं. अन्य लोगो के स्वभाव, शक्तियों और कमजोरियों को तीव्रता से समझने का गुण रखते हैं. मित्र बनाने के शौकीन और प्रशंसा पाने के अभिलाषी रहते हैं. इनकी दोस्ती जितनी लाभदायी रहती है उतनी ही इनकी दुश्मनी कष्टदायक रहती हैं. मन में जो विचार है उसे प्रस्तुत करने में हिचकिचाते नहीं. स्वभाव से ईर्ष्यालु भी रहते हैं.


  • धनु राशि

स्वामी – बृहस्पति
अIराध्य देव – दत्तोत्रय
तत्व – अग्नि
नाम के पहले अक्षर – भ, ध, फ, ढ
शुभ रत्न – पुखराज
शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष
धनु राशि के लोग शांतिप्रिय, स्पष्टवक्ता, सत्य के आग्रही, मिलनसार, निडर, वफादार और जिज्ञासु रहते हैं. सत्य और ज्ञान की खोज आपकी प्रकृति है. नेतृत्व का कौशल रखते हैं. मौज शौख के शौकीन होते है और जहाँ जाते हैं लोगों के आकर्षण का केंद्र बनते हैं. अपने कौशल्य और स्वभाव से इन्हे दूसरों पर अधिकार जाताना काफी अच्छा लगता है. शौकीन और दूसरों का ख्याल रखने की प्रकृति निजी सम्बन्धो में सफलता दिलाती है. ह्रदय से बहुत दयालु और मदद करने की भावना रखते हैं.


  • मकर राशि

स्वामी – शनि
अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
तत्व – पृथ्वी
नाम के पहले अक्षर – ख, ज
शुभ रत्न – नीलम
शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष
मकर राशि वाले धनि और सुन्दर होते हैं. कार्य को अपना जीवन मानते हैं और कार्यस्थल पर समय व्यतीत करना अधिक पसंद करते हैं. मौज शौख में काम रूचि रहती है. इस राशि के लोग दोहरे विचार रखते हैं. अपने लक्ष्य के प्रति सम्पूर्ण सम्भान और प्रयत्नशील रहते हैं. रहस्यों और आध्यात्मिक बातों में रूचि रखते हैं. कार्यों को स्वयं पूरा करने में विश्वास रखते हैं. दूसरों का हस्तक्षेप पसंद नहीं करते. ऊँचे विचार वाले और धन कमाने का अच्छा सामर्थ्य रखते हैं. उपकारों को कभी भूलते नहीं.


  • कुम्भ राशि

स्वामी – शनि
अIराध्य देव – शनिदेव, हनुमानजी
तत्व – वायु
नाम के पहले अक्षर – ग, स, श, ष
शुभ रत्न – नीलम
शुभ रुद्राक्ष – सात मुखी रुद्राक्ष
कुम्भ राशि के लोग अधिकतर परोपकारी और प्रेमी स्वभाव के होते है. किसी पर जल्दी मोहित हो जाते है. परोपकारी होने पर भी किसी के विरुद्ध षड़यंत्र रच सकते है. ह्रदय की बातों को छुपाने में माहिर होते है. कला, संगीत, शिल्प और साहित्य में रूचि रखने वाले हैं. भावनाओं और बातों को गुप्त रखने की वजह से मानसिक और शारीरिक रूप से कष्ट उठाते है. सौंदर्य के पुजारी होते है और आगे बढ़ने की इच्छा हमेशा रखते हैं. जो भी कार्य करते है उसे पुरे दिल से संपन्न करते हैं. किन्तु तीव्र क्रोध आपका सबसे बड़ा अवगुण है.


  • मीन राशि

स्वामी – बृहस्पति
अIराध्य देव – दत्तोत्रय
तत्व – जल
नाम के पहले अक्षर – द, च, थ, झ
शुभ रत्न – पुखराज
शुभ रुद्राक्ष – पांच मुखी रुद्राक्ष
मीन राशि के लोग अत्यंत शांत, सौम्य, करुणामय स्वभाव के और आकर्षक व्यक्तित्य के मालिक हैं. अपनी हर गलती पर माफ़ी मांग लेते हैं. अध्यात्म और ईश्वर भक्ति में लीन रहते हैं. गंभीर और दोहरे स्वभाव के बावजूद भी आपके विचार हमेशा सरल और अच्छे रहते हैं. दूसरों के बारे में इतना अधिक सोचते हैं की दुसरो के दर्द को स्वयं बर्दाश्त कर लेते है. अन्य के लिए अपने खुशियों को त्यागना पसंद करते हैं. गलत और सही के बीच में निर्णय लेने में हमेशा मानसिक रूप से त्रस्त रहते हैं. किन्तु सहानुभूति, बेफिक्र और उदार स्वभाव की वजह से लोगों में प्रिय रहते हैं.

zhakkas

zhakkas