: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 11/25/16

काले धन पर प्रहार में सोना हो सकता है पीएम मोदी का अगला निशाना: रिपोर्ट






काले धन पर प्रहार में सोना हो सकता है पीएम मोदी का अगला निशाना: रिपोर्ट (सांकेत...
नई दिल्ली
काले धन पर प्रहार में 500 और 1,000 रुपये के बड़े नोटों के बाद सोना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अगला निशाना बन सकता है। इस संबंध में शुक्रवार को आई रिपोर्ट में इसका अंदेशा जताया गया है। हालांकि, वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस रिपोर्ट पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। पिछले सप्ताह गोल्ड की कीमत दो दा साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया क्योंकि जूलरों ने इस डर में सोने का भंडार बढ़ाना शुरू कर दिया कि मोदी सरकार घरेलू काले धन के खिलाफ लड़ाई के क्रम में नोटबंदी के बाद कहीं सोने के आयात पर कहीं रोक न लगा दे।

मनमोहन VS जेटली: नोटबंदी पर कौन, कितना सही?

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है और आकलन के मुताबिक इसके सालाना 1,000 टन की मांग की एक तिहाई के लिए पेमेंट ब्लैक मनी से होता है। काला धन नागरिकों की वह संपत्ति है जिसे सरकार की नजर से बचाकर टैक्स नहीं चुकाया जाता है। अधिकारियों ने कहा कि नोटबंदी से नकदी आधारित सोने की तस्करी बाधित हो चुकी है। नकदी की कमी और कीमतें घटने से इस तिमाही में स्क्रैप गोल्ड की आपूर्ति भी आधी रह जाने की उम्मीद है।



किसने तय्यारी की थी वो तो 6 नवेम्बेर ही को भाजपा के देशभक्त के पास 2000 का नोट दिखने से पता चलता है, बाकी आतंकवादियो के पास 2000 का नोट कहा से आया सोचने की बात है, देश मे आम जनता मे कोहराम मचा है और आतंकवादियो के पास नोट?
वहीं, राजनीतिक विरोधियों और नोटबंदी की मुखालफत करने वालों पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि विरोधियों को इस बात का दर्द नहीं है कि नोटबंदी लागू करने के लिए सरकार ने तैयारी नहीं की, बल्कि वो इसलिए परेशान हैं क्योंकि उन्हें तैयारी (काले धन को पाक साफ बनाने) का मौका नहीं मिला। एक पुस्तक विमोचन समारोह में पीएम मोदी ने कहा, 'कुछ लोग यह कहकर आलोचना कर रहे हैं कि सरकार पर्याप्त तैयारी नहीं की। मुझे लगता है कि मुद्दा यह नहीं है कि सरकार ने उचित तैयारी नहीं की, बल्कि ऐसे लोगों का असली दर्द इस बात का है कि सरकार ने उन्हें किसी तैयारी का मौका नहीं दिया।'

जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला ने पाकिस्‍तान अध‍िकृत कश्‍मीर (पीओके) पर विवादित बयान





श्रीनगर : जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री और नैशनल कॉन्‍फ्रेंस चीफ फारूक अब्‍दुल्‍ला ने पाकिस्‍तान अध‍िकृत कश्‍मीर (पीओके) पर भारत के दावे को लेकर विवादित बयान दिया है। अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि पीओके भारत की बपौती नहीं है जिसे वह हासिल कर लें। साथ ही उन्‍होंने नरेंद्र मोदी सरकार को चुनौती दी कि वह पाकिस्‍तान के कब्‍जे से पीओके को लेकर दिखाएं।

 चेनाब घाटी में एक कार्यक्रम के दौरान फारूक अब्‍दुल्‍ला ने पीओके पर संसद के प्रस्‍ताव का हवाला देते हुए कहा कि क्‍या यह तुम्‍हारे बाप का है। इस कार्यक्रम में उनके बेटे और राज्‍य के मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला भी मौजूद थे। इस मौके पर फारूक ने कहा कि पीओके फिलहाल पाकिस्‍तान के कब्‍जे में है। यह भारत की पुरखों की संपत्ति नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि भारत सरकार के पास पीओके को पाकिस्तान से छीनने की हिम्मत नहीं है और न ही पाकिस्तान के पास कश्मीर को भारत से छीनने की हिम्मत है। उन्‍होंने कहा कि कश्‍मीर मुद्दे में पाकिस्‍तान एक पक्ष है और भारत सरकार भी ऐसा मान चुकी है। इस मुद्दे पर एक प्रस्‍ताव था जिसमें कहा गया था कि पीओके भारत का हिस्‍सा है।

अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि भारत सरकार के पास पाकिस्‍तान के साथ बातचीत करने के अलावा और कोई चारा नहीं है ताकि जम्‍मू-कश्‍मीर के लोग जिस पीड़ा के दौर से गुजर रहे हैं उसे खत्‍म किया जा सके।

कॉलेजों में मनाया जाएगा संविधान दिवस





बदायूं : माध्यमिक शिक्षा विभाग के कॉलेजों में 26 नवंबर को डॉ. भीमराव अंबेडकर की 126वीं वर्षगांठ द्वितीय संविधान दिवस के रुप में मनाई जाएगी। विद्यालयों में सांस्कृतिक, भाषण, वाद-विवाद आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। कार्यक्रम के समापन के बाद फोटो सहित सूचना जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय को भेजी जाएगी। जिला विद्यालय निरीक्षक राकेश कुमार ने सभी प्रधानाचायरे को निर्देशित किया है।

कानूनी शिकंजे से नहीं बच पाएंगे निजी डॉक्टर






बदायूं : मच्छर जनित बीमारियों के नाम पर भय दिखाकर मरीजों से मोटी रकम वसूलने वाले डॉक्टर अब कानूनी शिकंजे से नहीं बच पाएंगे। शासन ने इस ओर सख्त कदम उठाते हुए स्वास्थ्य विभाग का अधिकार क्षेत्र बढ़ाया है। सभी निजी अस्पतालों को इस तरह के मरीजों का सैंपल सुरक्षित रखने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट देनी होगी। इस बीच संदेह होने पर किसी भी वक्त उस सैंपल की दोबारा जांच कराई जा सकती है। सरकारी लैब में होने वाली जांच में बीमारी की पुष्टि न होने पर संबंधित डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा भवन निर्माण के दौरान कहीं पर गंदगी और पानी जमा किया गया तो भवन स्वामी पर भी जुर्माना डाला जाएगा। शासन ने सख्ती से इस दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए हैं। शासन के इस फरमान के बाद निजी अस्पताल संचालकों के होश उड़ गए हैं।

संक्रामक रोगों के नाम पर भय फैलाने की तमाम शिकायतों के बाद इस ओर संज्ञान लेते हुए शासन ने सख्ती शुरू कर दी है। सबसे ज्यादा इस नए आदेश से निजी अस्पतालों के डॉक्टर कार्रवाई के घेरे में आएंगे। इस साल डेंगू, मलेरिया और कालाजार का भय दिखाकर मरीजों की संख्या काफी बताई गई थी। सबसे ज्यादा निजी अस्पतालों में सामान्य बीमारी में गंभीर बीमारी बताकर मरीजों की संख्या को बढ़ाया गया तो प्रशासनिक अमले से लेकर शासन तक हड़कंप मच गया। हाल ही में जारी शासनादेश में कहा नियम बनाया गया कि सभी निजी डॉक्टर इस तरह के मरीजों का इलाज करते हैं तो उनके ब्लड सैंपल प्रिजर्व रखेंगे। ब्लड सैंपल प्रिजर्व रखने के साथ ही वह सीएमओ कार्यालय में मरीज का नाम पता और मोबाइल नंबर देने के साथ बताएंगे कि उसको क्या बीमारी थी। इस दौरान अगर गलत रिपोर्ट दी गई तो कानूनी कार्रवाई के साथ जुर्माना भी डाला जाएगा। इसके साथ ही इमारतों को बनाते वक्त उसके आसपास कचरा या फिर गड्ढा खोदकर पानी जमा करने वालों पर भी जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। ताकि मच्छर जनित बीमारियों पर काबू किया जा सके। प्रभारी सीएमओ डॉ. नरेंद्र कुमार ने बताया कि संक्रामक बीमारियों का भय दूर करने और बीमारी पर काबू पाने के लिए विभाग की यह अच्छी पहल है। इससे मच्छर जनित बीमारियों का भय दिखाकर मरीजों को लूटने वालों पर कार्रवाई की जा सकेगी। जल्द ही नोडल अधिकारी की नियुक्ति कर छापेमारी की जाएगी।

अमोनिया गैस रिसाव की सूचना से हड़कंप





बदायूं : कोल्ड स्टोरेज से अमोनिया गैस के रिसाव की सूचना मिलने से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सरकारी अमला मौके पर पहुंच गया। प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना किया। अधिकारियों के पहुंचने के बाद स्थिति सामान्य हुई।
बुधवार देर रात किसी ने पुलिस को सूचना दी कि श्याम नगर स्थित कोल्ड स्टोरेज से अमोनिया गैस निकल रही है। सूचना थी कि गैस की वजह से आसपास के लोगों को दिक्कतें हो रही हैं। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों सर्तक हो गए। कुछ ही देर में पुलिस फोर्स के साथ एसपी सिटी अनिल कुमार यादव मौके पर पहुंच गए। एसपी सिटी की सूचना पर एडीएम प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव भी मौके पर पहुंचे तो मामले की तहकीकात शुरू कर दी। कोल्ड स्टोरेज स्टाफ से काफी देर तक पूछताछ की गई। जांच के बाद पुलिस अधिकारी वहां से दिशा-निर्देश देने के बाद चले आए। बाद में कोल्ड स्टोरेज का तकनीकी मुआयना कराया गया। एडीएम ने बताया कि जिला उद्यान अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है।


छह डाक घरों के 26 खातों से हुआ 72 लाख का गबन



डाक विभाग में एटीएम कार्ड चोरी करने के बाद खातों से किए गए करीब 72 लाख रुपये के गबन मामले में कई नए तथ्य उजागर हुए हैं। डाक विभाग के जिम्मेदार अधिकारी पूरे मामले में कार्रवाई के नाम पर भेदभाव कर रहे हैं। गबन के आरोप में निलंबित किए गए 12 डाक कर्मियों के निलंबन की मियाद को 180 दिन और बढ़ा दिया गया है। डाक विभाग में यह घोटाला जुलाई के पहले सप्ताह में सामने आया था। घोटाला खुलने के बाद सचिन वर्मा नाम के एक डाक कर्मी ने फांसी लगाकर खुदकुशी भी कर ली थी।
डाक विभाग ने पिछले साल एटीएम सेवा शुरू की थी। डाक विभाग के कुछ कर्मचारियों ने बंद हो चुके 26 खातों को मुख्य डाक घर में ट्रांसफर किया। यह खाते दातागंज, सहसवान, बिल्सी, बिसौली, गुन्नौर और बबराला उप डाक घरों के थे। बाद में इन खातों में ऑनलाइन किया गया। इनमें मोटी रकम होना दर्शा कर इनके एटीएम जारी कराए और इन एटीएम के जरिए करीब 72 लाख रुपये गबन कर लिए। मामले में अब तक 13 लोगों को सस्पेंड किया जा चुका है। गौर करने वाली बात यह है कि विभाग ने कार्रवाई के मामले में भी भेदभाव किया है। दातागंज और सहसवान के डाक कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। जबकि बिल्सी, बिसौली, गुन्नौर और बबराला में अब तक किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। ऐसे में जांच की निष्पक्षता सवालों के घेरे में है। जांच के दौरान कई चीजें साफ हो गई हैं। छह उप डाकघरों से 26 खातों को मुख्य डाक घर में ट्रांसफर किया गया था। इसमें विभाग के तीन सिस्टम मैनजर की भूमिका संदिग्ध पाई गई है।
- कहां कितना गबन
उप डाकघर    खाते    रमक
दातागंज    3    12.50 लाख
गुन्नौर        3    13.43 लाख
बबराला    3    9.56 लाख
सहसवान    4    19 लाख
बिल्सी        3    10 लाख
बिसौली    10    2.75 लाख
एटीएम जारी करने वालों पर कार्रवाई नहीं
बदायूं। गबन के लिए कुल 26 खातों का इस्तेमाल किया गया। इन खातों के एटीएम दो डाक कर्मियों की आईडी से जारी किए गए। एक आईडी से 10 और दूसरी से 16 एटीएम जारी हुए। सूत्रों की मानें तो एटीएम कार्ड चोरी करने के बाद एटीएम से रुपये निकालने वाले कुछ डाक कर्मियों की वीडियो फुटेज भी है। पोस्ट मास्टर जनरल के कार्यालय में यह वीडियो फुटेज सुरक्षित है। एटीएम कार्ड जारी करने वाले डाक कर्मियों पर भी कार्रवाई नहीं हुई है। घोटाला साइबर क्राइम की श्रेणी में आता है। लेकिन, डाक विभाग ने अब तक साइबर क्राइम सेल से भी मदद नहीं मांगी है।
----
निलंबित किए गए डाक कर्मियों के निलंबन की मियाद को बढ़ा दिया गया है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है उसी प्रकार से मामले में कार्रवाई चल रही है। जन कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध पाई गई है उनको सस्पेंड किया जा चुका है। उच्च अधिकारियों की जानकारी में पूरा प्रकरण है। मैं इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कह सकता।
-अरविंद कुमार शर्मा, मुख्य डाक अधिक्षक

पीएम मोदी बोले, पाक जाने वाला बूंद-बूंद पानी रोककर किसानों को देंगे



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों और गरीबों के कल्याण कि लिए प्रतिबद्ध है। हम पाकिस्तान जाने वाला बूंद-बूद पानी रोककर पंजाब के किसानाें को देंगे। स्कूल, अस्पताल सरकार की प्राथमिकता है। सरकार गरीबों-किसानों के साथ है। हम उनके जीवन में बदलाव लाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए हर मुमकिन कदम उठाएंगे। उन्हाेंने बठिंडा में एम्स का शिलान्यास किया।
प्रधानमंत्री ने पंजाब के बठिंडा में एम्स का शिलान्यास किया
इस मौके पर आयोजित रैली में मोदी ने कहा कि देश के विकास में रोड बने, एयरपोर्ट बने, रेल चले इसका जितना महत्व है उससे भी ज्यादा सामान्य नागरिकों के लिए सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर स्कूल, अस्पताल जरूरी है। इस ढांचे के मजबूत होने से समाज ताकतवर बनता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इसी दिशा में काम कर रही है। इसी के तहत बठिंडा में लगभग एक हजार करोड़ रुपये की लागत से एम्स का निर्माण होने जा रहा है।
कहा- काला धन खत्म करने के लिए की नोटबंदी, लोग सहयोग दें
उन्होंने कहा कि काले कारोबार को खत्म करने के लिए 500 व 1000 के नोट बंद किए। इसके कारण लोगों को कुछ समय परेशानी हुई, लेकिन सबने इसे भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए जरूरी बताया। उन्होंने इस काम में मदद देने के लिए जनता का शुक्रगुजार किया। उन्होंने कहा कि यह कठिनाइयों भरा रास्ता था, लेकिन भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए जनता ने उनका साथ दे रही है। मोबाइल फोन को खुद का बैैंक बनाएं। लेनदेन मोबाइल फोन के जरिये करें।
मोदी ने कहा कि जाली नोट ने युवाओं को बर्बाद किया है। इसका खात्मा करना जरूरी है। उन्होंने काला धन खत्म करने के लिए लोगों से मदद मांगी। उन्होंने कहा कि देश में कभी सबसे युवा मुख्यमंत्री बादल थे और अब वरिष्ठ मुख्यमंत्रियों में भी प्रकाश सिंह बादल की चर्चा होती है। उन्होंने कहा कि पंजाब के उज्ज्वल भविष्य के लिए केंद्र सरकार पंजाब के साथ है।
कैश के नाम पर खेल नहीं करने देंगे, मध्यम वर्ग व गरीबों का शोषण बंद करांएगे
प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे किसानों, मध्यम वर्ग व गरीबों का शोषण बंद करवाना है। कैश के नाम पर खेल नहीं चलते देंगे। नए नोट आ रहे हैं। लोगों ने नोटबंदी में जो कठिनाई झेली है, उसका धन्यवाद करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। लेकिन इस परिवर्तन से उन्हें और देश को आने वाले दिनों में बेशुमार फायदा होगा।

बठिंडा में रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
उन्होंने कहा कि इस एम्स में डॉक्टरी, पैरामेडिकल व नर्सिग की शिक्षा भी दी जाएगी। इससे पंजाब के युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि जिस काम का शिलान्यास मोदी सरकार करती है उसका उद्घाटन भी यही सरकार करती है। पिछली सरकारें नींवपत्थर रखती थी अब की सरकार काम पूरा करती है।
पाकिस्तान की जनता से करना चाहता हूं बात
मोदी ने कहा कि सीमा पार से होने वाले जुल्म सीमावर्ती गांवों के लोग सहते रहते थे। हमारे सेना का जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक की तो सीमा पार हड़कंप मच गया। उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान की आवाम से बात करना चाहते हैैं। यह भारत है जब पेशावर में बच्चों को मारा जाता है तो सवा सौ करोड़ भारतीयों की आंखों में आंसू होते हैैं। इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तानी जनता को संदेश दिया कि अगर लडऩा है तो भ्रष्टाचार, कालेधन व गरीबी के खिलाफ लड़ो, भारत के खिलाफ लड़कर आप गुनाहगार बनते चले जा रहे हो।
गरीबी से मुक्ति चाहती है पाक की जनता, लेकिन वहां की सरकार उल्लू सीधा करने में जुटी है
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की जनता भी गरीबी से मुक्ति चाहती है। लेकिन, पाकिस्तान सरकार अपना राजनीतिक उल्लू सीधा करने के लिए तनाव पैदा करती है। उन्होंने कहा कि सतलुज, व्यास, रावी में से जो हिंदुस्तान के हक का पानी भारत के हिस्से में नहीं आ रहा यह पाकिस्तान के रास्ते समुद्र में बह रहा है। अब बूंद-बूंद पानी रोककर यह पानी देश के किसानों को दिया जाएगा। अब हिंदुस्तान के खेत पानी से लबालब होंगे। उन्होंने कहा कि इसके लिए मिल बैठकर रास्ता निकाला जाएगा।
पाकिस्तान पानी जाता रहा और पहले की सरकारें सोती रहीं
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लिए पानी चला जाता है और अब तक की केंद्र सरकारें सोती रही। पंजाब के किसानों को यदि पानी मिल जाए तो वे मिट्टी में से सोना निकाल सकते हैैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विजय सांपला मौजूद हैैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने बठिंडा आने का वादा पूरा किया। पंजाब के विकास के लिए उनकी सरकार हरसंभव कोश्ािश करेगी और मदद देती रहेगी। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि आज एेतिहासिक दिन है जब राज्य में इलाज के 

राज्यसभा में जोरदार हंगामा, विपक्ष ने कहा- पीएम ने सबको भ्रष्टाचारी बता दिया, माफी मांगें






नोटबंदी को लेकर संसद में हंगामा जारी है. शुक्रवार सुबह 11 बजे से लोकसभा-राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई. राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों ने पीएम को बुलाने की मांग के साथ फिर हंगामा किया, जिसके बाद सदन को 2.30 बजे तक स्थगित कर दिया गया. वहीं हंगामे के चलते लोकसभा को 28 नवंबर तक स्थगित कर दिया गया है. इस बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मोदी जी पहले हंस रहे थे, फिर रोने लगे. अपनी भावनाएं संसद में आकर दिखाएं पीएम.

zhakkas

zhakkas