: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 12/09/16

यूपी बोर्ड की सूचना को चुनाव आयोग ने किया नजरअंदाज, असमंजस में परीक्षार्थी






यूपी चुनावों को लेकर लखनऊ में बैठे मुख्य निर्वाचन कार्यालय के अधिकारियों की घोर लापरवाही सामने आई है.
ईटीवी प्रदेश18  के हाथ ऐसे दस्तावेज लगे हैं जिससे उनकी बड़ी लापरवाही उजागर हो रही है. दरअसल, यूपी बोर्ड परीक्षाओं का ऐलान गुरुवार को कर दिया था, लेकिन इसी बीच चुनाव आयोग ने इसपर रोक लगा दी है.
यूपी बोर्ड की सूचना को चुनाव आयोग ने किया नजरअंदाज, असमंजस में परीक्षार्थी
इस मामले में यूपी स्थित मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के अफसर फंसते नजर आ रहे हैं. 19 अक्टूबर को निर्वाचन अधिकारी की ओर से यूपी बोर्ड को लिखे गए इस पत्र से मामला उलझ गया है. इसमें लिखा गया है कि यूपी बोर्ड यदि तिथियों का एलान करे तो उन्हें इस बाबत बताए. इस चिट्ठी में तिथियों की घोषणा की कोई बात नहीं कही गई है.
इसके बाद यूपी बोर्ड की सचिव शैल यादव की तरफ से 7 नवम्बर को ही जवाब भेज दिया गया था. जिसमें बोर्ड परीक्षाओं की सम्भावित तिथि 15 से 20 नवम्बर बतायी गयी थी. लेकिन, एक माह तक निर्वाचन अधिकारी इस चिट्ठी को दबाये बैठे रहे.
जब यूपी बोर्ड ने तिथियों का एलान किया तो अब निर्वाचन अधिकारी अपने आप को बचाने में लगे हैं. गौरतलब है कि इस बार 16 फ़रवरी से 20 मार्च तक दसवीं और इंटर की परीक्षाएं पूरी करने का ऐलान बोर्ड ने किया था.

सरकार का फैसला- अब प्लास्टिक के करंसी नोटों की होगी छपाई






सरकार ने आज संसद को बताया कि प्लास्टिक करंसी नोटों की छपाई का फैसला लिया जा चुका है और इसके लिए जरूरी मटीरियल जुटाने का काम शुरू हो गया है। वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने एक सवाल के लिखित जवाब में लोकसभा को बताया, 'प्लास्टिक या पॉलिस्टर की परत वाले बैंक नोटों की छपाई का फैसला लिया गया है। मटीरियल की खरीद की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।' उनसे पूछा गया था कि क्या आरबीआई की तरफ से कागज के नोटों की जगह प्लास्टिक नोट लाने का कोई प्रस्ताव है?

दरअसल, रिजर्व बैंक फील्ड ट्रायल के बाद लंबे समय से प्लास्टिक करंसी नोट लाने पर विचार कर रहा है। फरवरी 2014 में सरकार ने संसद को बताया था कि फील्ड ट्रायल के तौर पर भौगोलिक और जलवायु विभिन्नताओं के आधार पर चयनित पांच शहरों में 10-10 रुपये के एक अरब प्लास्टिक नोट उतारे जाएंगे। इसके लिए कोची, मैसूर, जयपुर, शिमला और भुवनेश्वर का चयन किया गया था।

प्लास्टिक नोट औसतन पांच सालों तक सुरक्षित रहते हैं और इसका नकल करना भी कठिन होता है। इसके अलावा, ये कागज के नोटों की तुलना में ज्यादा साफ-सुथरे दिखते हैं। सबसे पहले ऑस्ट्रेया ने नोटों को नकल से सुरक्षित रखने के लिए प्लास्टिक नोट शुरू किया था।

यूपी का पहला कैशलेस मंदिर कानपुर में





कानपुर में मौजूद यूपी का एक मात्र वैभव लक्ष्मी मंदिर में भक्तो को राहत देने के लिए हाईटेक तकनीक अपनाई गई है। मंदिर में दान पात्र की जगह paytm लगाने के साथ स्वाइप मशीन से दान की सुविधा देना शुरु कर दिया है। मंदिर प्रशासन की इस पहल ने नोटबंदी से लोगो को उबारने के साथ-साथ भगवान को भी इस नोट बंदी से दूर रखने की कोशिश की है ।

यूपी में 24 घंटे में ठंड से हुई 16 मौतें, लोगों की दिक्‍कतें बढ़ीं





यूपी के अवध क्षेत्र के जिलों में कोहरे का कहर जारी है। बलरामपुर श्रावस्ती गोंडा सुल्‍तानपुर बहराइच से लेकर अंबेडकरनगर तक धुंध और गलन से लोग परेशान हैं। - बाराबंकी में ठंड से एक की मौत हो गई। वहीं मिर्जापुर-सोनभद्र मार्ग पर बेला जंगल में बुधवार रात घने कोहरे के कारण तीन ट्रकों की टक्कर में दो ड्राइवरों अतीक व विजयकुमार और एक खलासी धर्मेंद्र की मौत हो गई।

वाराणसी में ठंड से पांच की मौत




वाराणसी. मौसम का गिरता तापमान बनारस और आसपास के क्षेत्रों में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया। तीन-चार दिन से लोग लगातार धूप के लिए तरस गए। पूरे दिन कड़ाके की ठंड से लोग आफिस, घर व दुकानों में दुबके हुए हैं। इसी दौरान ठंड से पांच की मौत हो गई। बता दें कि चोलापुर के गोसाईपुर के बिंदु मिश्रा, जीवबोध सिंह, गुलाबी देवी, संतोष राजभर व दीपू मौर्या की ठंड से मौत हो गई। ठंड के चलते आए दिन लोगों की हालत बिगड़ रही है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसी स्थिति अभी और कुछ दिनों तक बनी रहेगी। बताया जा रहा है कि अभी कोहरे एवं ठण्ड का असर ऐसे ही बना रहेगा।

...तो कैशलेस हो जाएंगी जिले की बैंक शाखाएं





नोटबंदी के बाद से जिले के लोगों को नोट एक्सचेंज करने और लेनदेन में सबसे आगे रहने वाली स्टेट बैंक की शाखाओं में यदि जल्द रुपये नहीं दिए गए, तो जिले में कैशलेस की किल्लत हो जाएगी, जिससे लोगों को रुपये मिलने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

जिले में पंजाब नेशनल बैंक लीड बैंक है। पीएनबी की मुख्य शाखा में अन्य शाखाओं का करेंसी चेस्ट होने के साथ सर्व यूपी ग्रामीण बैंक की 72 शाखाएं और आईडीबीआई बैंक समेत कई शाखाएं जुड़ी हुई हैं। इसमें पीएनबी और उससे जुड़ी बैंक शाखाओं में पहले से ही कैश की किल्लत चल रही है। इस दौरान जिले में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अधिकांश शाखाओं ने कैश का वितरण किया। इससे काफी हद तक लोगों को राहत मिलती रही, लेकिन एसबीआई के बैंक चेस्ट में केवल डेढ़ करोड़ के करीब ही कैश बचा है, जो शुक्रवार तक खत्म होने की उम्मीद है। वहीं, पीएनबी का कैश भी खत्म होने की कगार पर है। इन दोनों बैंकों का कैश खत्म होने से पहले आरबीआई या बैंक के क्षेत्रीय कार्यालयों से पर्याप्त धनराशि का इंतजाम नहीं किया गया, तो स्थित खतरनाक हो जाएगी। इस संबंध में एसबीआई की मुख्य शाखा के प्रबंधक मनोज कुमार ने कहा कि फिलहाल काम चल रहा है, लेकिन आगे दिक्कत हो सकती है। वहीं, लीड बैंक मैनेजर अनुराग रमन ने बताया कि यदि दो दिन के अंदर कैश नहीं मिला तो कैश वितरण मुश्किल हो जाएगा।

सहसवान में राजकीय डिग्री कॉलेज की मांग पूरी






लंबे समय के बाद सहसवान के लोगों की राजकीय डिग्री कॉलेज की मांग पूरी हो गई है। सांसद धर्मेंद्र यादव के प्रयासों के बाद शासन ने सहसवान में राजकीय डिग्री कॉलेज की स्थापना को हरी झंडी दे दी है। इधर, नगर पालिका ने भी कॉलेज स्थापना के लिए जमीन मुहैया कराने का ऐलान कर दिया है। पालिका बोर्ड ने इस पर मोहर लगा दी है। उम्मीद है कि राजकीय डिग्री कॉलेज का जल्द शिलान्यास होने के बाद निर्माण शुरू हो जाएगा।

सहसवान के लोग लंबे समय से राजकीय डिग्री कॉलेज की स्थापना की मांग कर रहे थे। इंटरमीडिएट के बाद यहां के विद्यार्थियों को स्नातक शिक्षा के लिए दूसरे स्थानों पर दौड़ लगानी होती थी। शासन से डिग्री कॉलेज स्थापना के लिए स्वीकृति मिल गई है। इधर, पालिका अध्यक्ष हाजी नूर उद्दीन की अध्यक्षता में हुई बोर्ड की बैठक में डिग्री कॉलेज को जमीन मुहैया कराने का प्रस्ताव रखा गया। बोर्ड ने इसके लिए स्वीकृति दे दी है। चेयरमैन नूर उद्दीन ने बताया कि नगर पालिका के एक बड़े भू-भाग पर कब्जा कर लिया था। इसे कब्जा मुक्त करा लिया गया है। इसी जमीन को डिग्री कॉलेज की स्थापना के लिए दिया गया है।

12 दिन और रहेगा ऐसा ही कोहरा , हाईवे पर चलना मुश्किल






सुबह-शाम और रात में हो रहे कोहरे की वजह से सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है। गलन की वजह से लोगों को सर्दी का एहसास ज्यादा होने लगा है। इससे आम जनजीवन प्रभावित होने लगा है। गलनभरी सर्दी बढने से बुजुर्गों और बच्चों को काफी परेशानी होने लगी है।

बुधवार रात से शुरू हुआ कोहरा गुरुवार सुबह करीब 11 बजे तक जारी रहा। इस दौरान शहर के बाहर सड़कों और हाईवे पर दृश्यता (विजुअल्टी) बहुत कम नजर आई। इससे वाहनों को चलाने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं, सर्दी बढने से सरकारी दफ्तरों के साथ ही घरों में चाय कॉफी खूब पी गई। नगर पालिका परिषद की ओर से शहर में कई स्थानों पर अलाव जलवाए गए, जबकि तमाम लोगों ने सर्दी से राहत पाने के लिए खुद ही अलाव जलवाए। कोहरा और गलन से अधिकतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस गिर गया, जबकि न्यूनतम तापमान में कोई गिरावट दर्ज नहीं की गई।

12 दिन और रहेगा ऐसा ही कोहरा 
बदायूं। सर्दी और कोहरे से लोगों को हो रही परेशानी से फिलहाल निजात मिलती नजर नहीं आ रही है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक करीब 12 दिन कोहरा साफ नहीं होगा। दिन में मामूली धूप खिलेगी। साथ गलन होने की वजह से लोगों को सर्दी का एहसास होता रहेगा। इससे दो चार दिन में कोहरा छंटने की उम्मीद लगाए लोगों को झटका लगा है।
बीते कई वर्षों की तुलना में इस वर्ष कोहरा करीब 15 दिन पहले से गिरने लगा है। कोहरे के साथ गलन होने की वजह से सर्दी में यकायक इजाफा हो गया है। इससे लोगों को परेशानी होने लगी है। कोहरे से होने वाली परेशानी से निजात पाने की उम्मीद लगाए बैठे लोगों को फिलहाल 12 दिन तक सुबह, शाम और रात में कोहरे से निजात मिलने की उम्मीद नहीं है। इस बारे में जानकारी देते हुए पंडित गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर की कृषि मौसम विज्ञानशाला के प्रभारी डॉ. एचएस कुशवाहा ने बताया कि 20 दिसंबर तक मौसम की स्थिति ऐसी ही रहेगी। कोहरा गिरने के साथ गलन भी रहेगी।




विद्युत विभाग ने डेढ़ लाख के बकायेदार की काटी आरसी







बदायूं : उपभोक्ताओं को भरपूर बिजली मुहैया कराने के साथ विद्युत विभाग ने वसूली के लिए भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। ककराला में एक आटा चक्की पर एक लाख 59 हजार रुपये का बकाया होने पर विभाग ने वसूली के लिए आरसी जारी कर दी है। अभियान के दौरान 113 बकायेदारों को नोटिस भी जारी किया गया है।
विद्युत विभाग ने ग्रामीण क्षेत्रों में वसूली अभियान चलाया। 113 लोगों को नोटिस जारी किया गया। निजी नलकूप स्वामियों ने एकमुश्त समाधान योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण कराना शुरू कर दिया है। अब तक 78 लोगों ने पंजीकरण करा लिया है जबकि 16 लोगों ने छूट का लाभ उठाते हुए बकाया भी जमा करा दिया है। अधिक बकाया होने पर 92 लोगों के कनेक्शन काटे गए जबकि 5.50 लाख रुपये की वसूली की गई।

भाकियू ने दी आंदोलन की चेतावनी






बदायूं : भारतीय किसान यूनियन ने रेलवे प्रशासन पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए 12 दिसबंर को आंदोलन करने की चेतावनी दी है। पंचायत में नोटबंदी से किसानों को हो रही समस्याएं भी उठाई गईं।
मालवीय आवास गृह पर पंचायत में वक्ताओं ने कहा कि विगत दिनों ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की मांग को लेकर आंदोलन किया गया था। डीआरएम ने आश्वासन भी दिया था, लेकिन अभी तक उस पर अमल नहीं किया गया है।
नई ट्रेनो का संचालन न करके इंटर सिटी को कासगंज टू दिल्ली चलाने सहित डीआरएम को लिखित नोटिस स्टेशन मास्टर के माध्यम से सौंपा। मालवीय आवास गृह पर रेल विभाग व ग्रामीण अंचल की बैंकों में पैसा न भेजने व सर्व यूपी ग्रामीण बैंक पर पैसा न भेजने को लेकर 12 दिसबंर को विशाल धरने का एलान किया। जिलाध्यक्ष धर्मपाल ¨सह ने कहा कि विगत माह में भाकियू ने बदायूं को नई ट्रेनों को लेकर आंदोलन किया था। जिसमें रेल रोको आंदोलन पूरे मंडल में होना था। परंतु इससे पूर्व बरेली के डीआरएम ने एक माह का समय ले लिया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। इस मौके पर राजेश सक्सेना, हारून गौस, रामाशंकर, आरिफ, कल्हन मियां, शिवपाल, ग्रीश, शिवदयाल आदि मौजूद रहे।

बुलंदशहर की घटना पर राजनीतिक रोटी सेंक रहे आजम : साध्वी





बदायूं : विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच भाजपा की परिवर्तन यात्रा यहां जिले में पहुंची है। पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह यात्रा का जोरदार स्वागत किया। जन सभाओं में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि आज कोई भी महिला सुरक्षित नहीं है। इधर, भाजपा सुकन्या समृद्धि योजना चला रही है, उधर आजम खां बुलंदशहर में हुई घृणित घटना पर राजनीतिक रोटी सेक रहे हैं। उन्होंने प्रशासन को चेतावनी दी कि वो सुधर जाए। भाजपा बदले की नहीं बदलाव की राजनीति करती है।
साध्वी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक कराने के साथ कूटनीति से पाकिस्तान को अलग-थलग कर उसे औकात बता दी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार को दैवीय आपदा में राहत के लिए धन दिया, लेकिन सरकार ने बंदरबांट कर दिया। उन्होंने सपा, बसपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, क्षेत्रीय अध्यक्ष बीएल वर्मा, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष जितेंद्र सक्सेना समेत यात्रा में शामिल पदाधिकारियों का शहर में इंदिरा चौक पर महिलाओं ने जोरदार स्वागत किया। जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य, पूर्व विधायक प्रेमस्वरूप पाठक, दया¨सधु शंखधार, महेश गुप्ता, रामसेवक ¨सह पटेल, दीपमाला गोयल, सुधीर श्रीवास्तव, ठाकुर अनूप ¨सह, अंकित मौर्य समेत सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। पूर्व विधायक रामसेवक पटेल के आवास पर भी यात्रा में शामिल पदाधिकारियों का स्वागत किया गया।
बिसौली में परिवर्तन यात्रा में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि प्रदेश में कोई भी महिला सुरक्षित नहीं है। प्रदेश महांमत्री अशोक कटारिया ने कहा कि अब ये कोहरा छटने वाला है और नया सूरज निकले वाला है। क्षेत्रीय अध्यक्ष वीएल वर्मा, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष प्रेमस्वरूप पाठक, जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य, अशोक कटारिया, आदि ने भी भीषण ठंड में बैठे लोगों का आभार जताया। इस मौके पर पूर्व विधायक योगेंद्र सागर, रामवीर ¨सह, दुर्गेश वाष्र्णेय, अक्कू रस्तोगी, अरूण धोबी, सुरेंद्र ¨सह, दमयंती वर्मा, राजाराम कोरी, मनोज टाटा, अशोक भारती, कुशाग्र सागर, पंकज ¨सह चौहान, केपी ¨सह, राकेश दीक्षित, मनोज ¨सह, रीतेश चौहान, अजय शर्मा, शिखिर मिश्र, कुलदीप ¨सह, ललित वाष्र्णेय आदि मौजूद रहे।
इस्लामनगर कस्बे में भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन यात्रा के पहुंचने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने बस में से ही संबोधित किया। महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष ऊषा वाष्र्णेय के नेतृत्व में सैकड़ों महिलाओं ने पहुंचकर सहभागिता की, परिवर्तन यात्रा का स्वागत करने में पूर्व विधायक दया¨सधु शंखधार, विनोद शर्मा, जितेंद्र गुप्ता, शरद बजाज, रामकिशन पहलवान, संजय शंखधार, चंदन वैश्य, राजरानी गुप्ता, जयदेवी शास्त्री, मुकेश राणा आदि भाजपाई मौजूद थे।


बदायूं शहर में अतिक्रमण पर चला प्रशासन का डंडा






बदायूं : शहर में अतिक्रमण की वजह से हो रही जाम की समस्या को खत्म करने के लिए एक बार फिर एसपी सिटी ने कमर कसी है। तमाम पुलिस फोर्स के साथ शहर में निकले एसपी सिटी ने काफी हद तक अतिक्रमण हटवाने के साथ ही दोबारा रोड पर सामान दिखाई देने पर कार्रवाई की चेतावनी दी।
एसपी सिटी अनिल कुमार यादव, सिटी मजिस्ट्रेट श्रीराम यादव के साथ लावेला चौक पहुंचे। इससे पहले सिविल लाइंस और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई। लावेला चौक पर मेडिकल स्टोर के बाहर बाइक खड़ी होने से लग रहे जाम को देखते हुए मेडिकल संचालक को चेतावनी दी गई। इसके बाद छह सड़का तक अतिक्रमणकारियों को खदेड़ा गया। अधिकारियों ने पुलिस को सख्त निर्देश दिए कि किसी भी सूरत में शहर के अंदर अतिक्रमण दिखाई नहीं देना चाहिए। उन्होंने दोबारा अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी।


zhakkas

zhakkas