: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 12/12/16

उम्मीदवारों की सूची पर अखिलेश-शिवपाल में फिर खींच सकती हैं 'तलवारें'!






लखनऊ। समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की ओर से शनिवार को जारी प्रत्याशियों की सूची एक बार फिर चाचा-भतीजे के बीच कलह की वजह बन सकती है क्योंकि गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी के भाई और एक अन्य माफिया अतीक अहमद के नामों पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सहमति संभवत: नहीं बने।
शिवपाल ने विधानसभा चुनाव के लिए शिनवार 23 उम्मीदवारों की सूची जारी की। अंसारी के भाई और कौमी एकता दल के वर्तमान विधायक सिगबततुल्लाह अंसारी को मोहम्मदाबाद (गाजीपुर) सीट से प्रत्याशी बनाया गया है। वह फिलहाल इसी सीट से विधायक हैं।
कौमी एकता दल के सपा में विलय का मुख्यमंत्री ने खुलकर विरोध किया था। सूची में एक अन्य विवादित नाम अतीक अहमद का है, जिन्हें सपा ने कानपुर कैण्ट से प्रत्याशी बनाया है। बीएसपी विधायक राजू पाल की हत्या के आरोपी अतीक अखिलेश की काली सूची में हैं और कौशांबी की एक रैली में उन्हें मुख्यमंत्री ने मंच से उतार दिया था। फूलपुर से सांसद रह चुके अतीक 1999 से 2003 के बीच अपना दल के अध्यक्ष रहे।
शिवपाल का कहना है कि जीतने की संभावनाओं और पार्टी के प्रति निष्ठा को देखते हुए उम्मीदवारों का चयन किया गया है। सपा ने कुछ प्रत्याशी बदले हैं हालांकि पत्नी सारा सिंह की हत्या के आरोपी अमन मणि त्रिपाठी का नाम सूची में बरकरार है। खबर है कि मुख्यमंत्री अमन मणि को नहीं चाहते और उनकी जगह किसी अन्य को प्रत्याशी बनाया जा सकता है।

पुलिस की गिरफ्त में आया रोहित टंडन, बेहिसाब संपत्ति का हो रहा खुलासा





नई दिल्ली। दिल्ली के ग्रेटर कैलाश से लॉ फर्म पर छापे के दौरान पकड़े गए बेहिसाब कैश की जांच में कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है। पुलिस ने लॉ फर्म को चलाने वाले रोहित टंडन को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस ने रोहित को साथ ले जाकर ग्रेटर कैलाश के घर में फिर से जांच की। बता दें कि रविवार को रोहित के ग्रेटर कैलाश स्थित एक लॉ फर्म से 13 करोड़ 65 लाख की रकम बरामद की है।
रोहित टंडन फिलहाल इनकम टैक्स की कस्टडी में है। इनकम टैक्स के करीब 10 अधिकारी और दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में टंडन से पूछताछ हो रही है। अब तक रोहित के 18 बैंक एकाउंट्स के बारे में पता चला है, जिन्हें खंगाला जा रहा है। साथ ही ये देखा जा रहा है कि क्या कोई एकाउंट विदेश में भी है। अगर विदेश में अकाउंट पाया जाता है तो नए ब्लैक मनी नियमों के तहत कार्रवाई होगी।


रोहित टंडन की लॉ फर्म का एक दफ्तर द्वारका में भी है। छत्तरपुर में रोहित का एक फॉर्म हाउस भी है। इन दोनों जगहों पर भी जांच शुरू हो गई है। सूत्रों की मानें तो रोहित से मिले कैश का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।
रविवार को लॉ फर्म में छापे के दौरान पुलिस ने 13 करोड़ 65 लाख रुपये बरामद किए, जिसमें 2 करोड़ 60 लाख के नए नोट थे। साथ ही 100-100 के नोट के 3 करोड़ रुपये थे जबकि 1000 रुपये के नोट में 7 करोड़ रुपये थे और 50-50 को नोट में 1 करोड़ रुपये मिले थे।
सूत्रों की मानें तो बरामद रकम में 100 के नोट के कई पैकेट कोरियर के जरिए व्हाइट हाउस में आए थे। इससे एक बात तो साफ हो जाती है कि लंबे समय से काली कमाई को सफेद करने का यहां काम चल रहा था। अब पुलिस ये पता करने में जुटी है कि बरामद की गई नई करंसी कहां से कैसे यहां तक आई और उसे भेजना कहां था?
सूत्रों के मुताबिक 2014 में रोहित टंडन ने दिल्ली के जोरबाग इलाके में करीब 100 करोड़ रुपये की इमारत खरीदी थी। इतनी रकम बरामद होने के बाद अब आयकर विभाग के साथ साथ प्रवर्तन निदेशालय भी रोहित टंडन के खिलाफ जांच कर रहा है।
कौन है रोहित टंडन?
रोहित टंडन पेशे से वकील है। वह सुप्रीम कोर्ट में वकालत करता है। 2005 में इसने  जेईयूएस नाम की एक लॉ फर्म खोली थी। 2014 में इसने टंडन एंड टंडन नाम की लॉ फर्म खोली। ये फर्म होटल,  बिल्डर और बड़ी-बड़ी कंपनियों के कानूनी मामले सुलझाने का काम करती है।
दिल्ली और आसपास के इलाको में रोहित टंडन की कई संपत्तियां हैं। 6 अक्टूबर को भी आयकर विभाग ने रोहित टंडन के दफ्तर पर छापा मारा था, जिसके बाद उसने 125 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति का खुलासा किया था। इसके बाद से ही ये आयकर विभाग के रडार पर था।

टेंपो और ट्रैक्टर की टक्कर में एक की मौत, तीन घायल




कुंवरगांव में बदायूं रोड पर बनेई गांव के पास हादसा दो गंभीर घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया  बदायूं रोड पर बनेई गांव के पास ट्रैक्टर और टेंपो की टक्कर में अतीक नाम के एक युवक की मौत हो गई। हादसे में तीन लोग घायल भी हुए हैं। दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे का शिकार सभी लोग उर्स में हिस्सा लेने जा रहे थे। सिविल लाइंस थाने के गांव आरिफपुर नवादा का अतीक (22) पुत्र लतीफ गांव के ही रज्जाक (20), राजा (19) और असगर (21) के साथ टेंपो से कुंवरगांव थाने के गांव बनेई में चल रहे उर्स में शामिल होने जा रहे थे। रास्ते में रवि

नोटबंदी से बेकार हो गया मायावती का पैसा: स्वाति सिंह





बीजेपी से निष्कासित दयाशंकर की पत्नी और महिला बीजेपी की यूपी प्रदेश अध्यक्ष स्वाति सिंह ने नोटबंदी को लेकर मायावती पर निशाना साधा है। स्वाति ने कहा कि देशभर में हुई नोटबंदी के चलते मायावती के पास रखे रुपये किसी काम के नहीं रहे हैं। इसी के साथ उन्होंने मायावती को उनके खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती भी दी। स्वाति ने कहा कि अगर पार्टी चाहेगी तो मैं मायावती के खिलाफ चुनाव लड़ने को भी तैयार हूं।

बता दें कि शनिवार को बीजेपी की महिला प्रदेश अध्यक्ष स्वाति सिंह नोएडा सेक्टर 62 में 'महिला सम्मेलन' में करीब 500 पार्टी वर्कर्स को संबोधित कर रही थीं। स्वाति सिंह ने कहा, 'अगर पार्टी मुझे इजाजत देगी तो मैं किसी भी विधानसभा सीट से मायावती के खिलाफ चुनाव लड़ने को तैयार हूं।' वह बोलीं, 'मायावती तक पहुंच उन्हीं लोगों की है, जिनके पास धन-दौलत है।'

उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा कि अखिलेश यादव साढ़े तीन सीएम से घिरे हुए हैं व पूरी तरह से बेबस हैं। नोटबंदी पर बोलते हुए स्वाति ने कहा, 'परेशानी उन लोगों को ज्यादा हो रही है, जिनके पास कालाधन है व जिन लोगों ने भ्रष्टाचार करके दौलत इकट्ठी की है। आने वाले समय में नोटबंदी लोगों को फायदा देगी।'

बता दें कि बीजेपी से 6 साल के लिए निष्कासित हुए दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने अपने और बेटी के खिलाफ दिए गए आपत्त‍िजनक बयानों पर जिस तरह बीएसपी पर हल्ला बोला था, उससे वे रातोंरात चर्चा में आ गईं थीं।

कर्नाटक : आयकर विभाग के छापे में 32 किलो सोना व लगभग पांच करोड़ के नये नोट जब्त




हुबली : नोेटबंदी के बाद देशभर में आयकर विभाग का छापेमारी अभियान चल रहा है. इनकम टैक्स विभाग ने कर्नाटक के चित्रदुर्गा व हुबली में छापे के दौरान 5.7 करोड़ रुपये के नोट जिनमें 90 लाख के पुराने नोट शामिल है. छापे के दौरान 32 किलोग्राम सोना भी बरामद किया गया है. बताया जा रहा है कि बॉथरूम का लॉकर की करेंसी तोड़कर नोट बरामद किया गया. ज्ञात हो कि लगभग पांच करोड़ के नये नोट उस वक्त मिल रहे हैं जब आम इंसान नये नोटों को निकालने के लिए लंबी -लंबी कतारों में लग रही है.


कल छापेमारी के दौरान जब्त हुए थे 142 करोड़ रुपये, सोने का खजाना भी हुआ था बरामद 

कल भी नोटबंदी के बाद कर चोरी मामलों के तलाशी अभियान में लगे आयकर विभाग को शहर के कई स्थानों पर छापों के दौरान बडी सफलता हाथ लगी थी. विभाग को तलाशी अभियान में 10 करोड़ रुपये के नए नोटों, 127 किलो सोने सहित कुल 142 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति का बडा खजाना हाथ लगा था

आयकर विभाग की जांच इकाई द्वारा यहां कल आठ स्थानों पर की गई तलाशी के दौरान यह खजाना पकडा गया था. यह नकदी तमिलनाडु के रेत खनन समूह से जुड़ी बताई जाती है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने बताया, ‘‘समूह के पास पूरे तमिलनाडु राज्य में रेत खनन का लाइसेंस हैं. उसके छह आवासीय और दो कार्यालयों सहित कुल आठ ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया गया.

बिजनेस करना चाहते है तो Facebook आपको देगा 50 लाख रुपए!





नई दिल्ली। सोशल मीडिया फेसबुक आजकल लोगों की जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है। शहरों में तो ऐसे युवा शायद होंगे ही नहीं जिनका फेसबुक पर अकाउंट ना हो। हालांकि अब आप फेसबुक पर पोस्ट डालने, फोटो शेयर करने और दूसरों की पोस्ट लाइक करने के अलावा अपने करियर को भी नई उड़ान से सकते हैं। जी हां, फेसबुक के नए प्लान के अनुसार वो आपको आपके बिजनेस में भी मदद करने के लिए तैयार है और ये मदद 50 लाख रुपए (80 हजार डॉलर) तक भी हो सकती है।

दो साल पहले शुरू हुआ FB स्टार्ट
बता दें कि फेसबुक ने ये शुरुआत स्टार्टअप बिजनेस को ध्यान में रखकर दो साल पहले की थी। फेसबुक के इस प्रोग्राम का नाम भी एफबी-स्‍टार्ट रखा गया है। ये दुनिया भर के स्टार्टअप ओ फंड करता है। फेसबुक अभी तक भारत के कई स्टार्ट-आपस को 135 करोड़ रुपए (20 मिलियन डॉलर) की मदद दे चुका है। आपको बस अपना आयडिया फेसबुक पैनल के पास पिच करना होता है और अगर उन्हें पसंद आया तो आपको अपना फंड मिल जाता है।

अगर आप अपना मोबाइल या वेब स्‍टार्टअप शुरू करना चाहते हैं तो अपना आयडिया और डीटेल्ड प्लान fbstartpartners@fb.com पर भेज दें। इसकी कुछ शर्तें भी हैं जैसे कि आपका बिजनेस आपके देश में लीगल होना चाहिए। रजिस्ट्रेशन की आवश्कता है तो उसे अपने देश के कानून के हिसाब से पूरा कीजिये। आपको अपनी एप्लीकेशन में अपने ऑर्गनाइजेशन के बारे में सबकुछ बताना होगा। अपनी कोर टीम के सभी मेम्बर्स की भी जानकारी देनी होगी। अप्लाई करने के दो सप्‍ताह के भीतर फेसबुक टीम आपको रिप्लाई करेगी।

कैसे सपोर्ट करेगा फेसबुक 
अगर आपका आयडिया फेसबुक को अच्छा लगता है तो वो शुरू में आपको टूल्‍स और सर्विसेज का फ्री पैकेज देता है, जिसका कीमत 80 हजार डॉलर तक हो सकती है। सर्विसेज के तौर पर आपको प्रोडेक्‍ट मैनेजर्स, इंजीनियर्स, ऑनलाइन ऑपरेशन्‍स और पार्टनरशिप, इवेंट्स के माध्‍यम से सपोर्ट, वेबिनार्स, ईमेल और स्‍टार्ट-अप्‍स कॉम्‍युनिटी से मुलाकात कराई जा सकती है।

पार्टिको
आईआईटी रूड़की पास अमनजोत मल्‍होत्रा और पूर्व पेटीएम इंजीनियर गौरव सैनी द्वारा शुरू किए स्‍टार्ट-अप पार्टिको को भी फेसबुक ने एफबी स्‍टार्ट प्रोग्राम के तहत फंड किया है।

फ्लिकसप कंटेंट डिस्‍कवरी
बंगलुरू बेस्‍ड फ्लिकसप कंटेंट डिस्‍कवरी सोशल नेटवर्क है, इसे भी फेसबुक ने फंड किया है।

काउटलूट
भारत के फैशन ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म काउटलूट को फेसबुक ने एफबी स्‍टार्ट प्रोग्राम के सेलेक्‍ट किया था। इस स्‍टार्ट-अप को फेसबुक को लगभग 40 हजार डॉलर फंड कर चुका है।

हीलओफार्इ
प्रेगनेंसी और बेबीकेयर मोबाइल एप हीलओफार्इ को भी फेसबुक ने 40 हजार डॉलर के क्रेडिट के अलावा फ्री टूल्‍स और सर्विसेज प्रोवाइड कराई है। इसके आलावा वीडियोवाइब नाम के स्‍टार्ट-अप को भी फेसबुक ने फंड किया है।

बता दें कि एफबी स्‍टार्ट केवल मोबाइल और वेब स्‍टार्ट-अप्‍स को ही सपोर्ट करता है। इसमें ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म, सोशल साइट्स, गेमिंग साइट्स, वेब-वीडियो आदि प्रमुख है। फेसबुक इनोवेटिव स्टार्टअप्‍स को वरीयता देता है।

डिजिटल इंडिया की प्रगति की कहानी : अकेले सिखा दिया पूरे गांव को कंप्यूटर चलाना





कंप्यूटर ने निवालकर गजानन की जिंदगी को पूरी तरह बदल दिया. उसने अपने डिजिटल ज्ञान से तेलंगाना के एक गांव को पूरी तरह डिजिटल रूप से साक्षर कर दिया. पढ़िए उत्साह और ऊर्जा से भरे एक नौजवान की कहानी.
तेलंगाना का एक गांव है अकोली. एक नये सवेरे के लिए तैयार यह गांव भारत के विकास की नयी दास्तान लिख रहा है. यह सौ फीसदी डिजिटली साक्षर गांव बन गया है. इसका श्रेय जाता है 34 वर्षीय निवालकर गजानन को. 25 दिनों के कंप्यूटर साक्षरता कार्यक्रम के जरिये गजानन ने अकोली गांंव के लोगों की जिंदगी बदल दी. लोगों के मन में सपने भर दिये.



गनिता खेत मजदूरी करते-करते थक गया है. वह अब कंप्यूटर इंस्ट्रक्टर बनने के सपने देख रहा है. मात्र 12वीं पास दादा राव को गांव की चौहद्दी से बाहर रोजगार मिल गया है. राजकुमार और गीता पहले बहुत ही गरीब थे. उनके पास कोई रोजगार नहीं था. अब वे दोनों डिजिटल ज्ञान के प्रचारक बन गये हैं. तेलंगाना के दूरस्थ गांवों में घूम-घूम कर कंप्यूटर साक्षरता का संदेश देने में लगे हैं.


तेलंगाना में एक जिला है आदिलाबाद. गजानन इसी जिले के गिम्मा गांव के रहनेवाले हैं. उन्होंनेे इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग में डिप्लोमा लिया. यहीं कंप्यूटर चलाना सीखा. बिल भुगतान करना, रेकॉर्ड मेंटेन करना और सरकारी योजनाओं से लेकर देश-दुनिया की जानकारी संग्रहण करना सीखा. कंप्यूटर की इस बहुआयामी क्षमता ने गजानन को विस्मित कर दिया.
वर्ष 2010 में गजानन ने यह इरादा बनाया कि अपने गांंव के लोगो को कंप्यूटर का इस्तेमाल करना सिखायेगा. उसने एक कॉमन सर्विसेज सेंटर बनाया. इस सेंटर का उद्देश्य गांव के साधारण लोगों तक ‘इ-गवर्नेंस’ से जुड़ी सेवाओं की पहुंच बनाना था. एक छोटा-सा शुल्क लेकर गांव स्तरीय उद्यमियों ने गांव के अशिक्षित लोगों को इंटरनेट का इस्तेमाल सिखाया. उन्हें सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी. सरकार से मिलनेवाले लाभ को लेने की प्रक्रिया सिखायी.
वर्ष 2015 में भारत सरकार ने ‘डिजिटल इंडिया प्रोग्राम’ की घोषणा की. देश के हर घर में कम से कम एक डिजिटल साक्षर व्यक्ति बनाने के लक्ष्य को सामने रखकर नेशनल डिजिटल लिटरेसी मिशन लॉन्च किया. भारत सरकार की इस पहल से प्रभावित होकर गजानन ने स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में काम करनेवाले सरकारी कर्मचारियों को कंप्यूटर चलाने का प्रशिक्षण दिया. गजानन ने पाया कि प्रशिक्षण के बाद सभी कर्मचारी अपने रोज के काम में भी कंप्यूटर का इस्तेमाल करने लगे थे.
जिन बच्चों के साथ वे काम करते थे, उनसे संबंधित सभी आंकड़े संग्रहित करने लगे. पढ़ाई में उनकी प्रगति पर नजर रखने लगे. गांव की औरतों ने जो सीखा था, उसे अमल में लाने लगीं. आज इस गांव में काम करनेवाला स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र का हर सरकारी कर्मचारी डिजिटली साक्षर है.
गजानन का मन इतने से नहीं भरा. उसके मन में जो सपना तैर रहा था, वह था- पूरे गांव को डिजिटली साक्षर बनाना. गजानन ने महसूस किया कि शहरों मेें कंंप्यूटर चलाना सीखना आसान है.
किसी भी कंप्यूटर इंस्टीट्यूट में एडमिशन ले लीजिए और क्लास एटेंड करिए. बस, सीख जायेंगे कंप्यूटर चलाना. मगर गांववालों के लिए कंंप्यूटर चलाना सीखना तो दूर का सपना है.  सीखने में लगनेवाली फीस एक बाधा तो है ही, दूसरी बाधा यह है कि अधिकतर गांववाले खेती-किसानी करनेवाले हैं, वे एक दिन के लिए भी अपना खेत-बाड़ी नहींं छोड़ सकते हैं. मगर इन्हें अगर कंप्यूटर चलाना आ गया तो सबसे ज्यादा फायदा इनको मिलेगा. यह सोचकर गजानन ने गांववालों के लिए कंप्यूटर क्लास लगाने की शुरुआत की.
गजानन ने अपना आइडिया गांव के सरपंच के पास रखा. सरपंच ने अपना समर्थन दे दिया. एक महीने बाद जनवरी, 2016 में गांव के 160 घरों से एक-एक सदस्य का नामांकन करना शुरू किया. पंचायत-घर के एक छोटे कमरे में चार कंप्यूटर लगवाया. एक एलइडी स्क्रीन और दो वाइ-फाइ हॉटस्पॉट का इंतजाम किया.  गांववालों का अलग-अलग ट्रेनिंग बैच बनाया. घर की गृहणियों, बच्चों और खेत-मजदूरों को सुबह में सिखाने की व्यवस्था की, तो खेत में काम करनेवाले किसानों को देर शाम से लेकर देर रात तक.
प्रशिक्षण को मजेदार बनाने के लिए ‘माइक्रोसॉफ्ट पेंट’ सॉफ्टवेयर चलाना सिखाया. इससे उन्हें माउस का इस्तेमाल करना आ गया. हर पांचवें दिन प्रतियोगिता आयोजित की जाती और सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाता.
कोर्स पूरा होने के बाद गांववाले कंप्यूटर चलाना सीख गये. नेशनल डिजिटल लिटरेसी मिशन ने अपने आधिकारिक आकलन में इसे सही पाया और इस तरह अकोली शत प्रतिशत डिजिटली साक्षर गांव घोषित हो गया. इस पूरे अभियान का खर्च गजानन ने खुद उठाया था. भारत सरकार ने 65, 000 रुपये देकर उसे पुरस्कृत किया. उसने इस राशि से गांव में दो कंप्यूटर लेकर एक स्थायी कंप्यूटर सेंटर बना दिया है, जहां इंटरनेट सुविधा भी 

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति को जन्मदिन की दी बधाई




पटना : राज्यपाल रामनाथ कोविंद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उनके जन्मदिन पर बधाई व शुभकामनाएं दी है. उन्होंने राष्ट्रपति के सुखद, समृद्ध राजनीतिक जीवन की कामना की.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भी राष्ट्रपति को उनके जन्मदिन पर बधाई व शुभकामनाएं दी है. लालू ने राष्ट्रपति को उनके स्वस्थ, सफल, दीर्घ और तेजस्वी जीवन की कामना की है. रविवार को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का 81 वें जन्म दिन पर राज्य के अन्य नेताओं ने भी बधाई दी है. मुखर्जी के जन्मदिवस पर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व विधान पार्षद रामचंद्र भारती व कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने राष्ट्रपति के जन्म दिवस पर बधाई देते हुए उनके स्वस्थ  जीवन की कामना की है.

बधाई देनेवाले में विधान पार्षद  राधाचरण साह भी शामिल हैं. नेताओं ने कहा कि राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने दलीय भावनाओं से उपर उठकर भारतीय गणतंत्र को एक नया आयाम प्रदान किया है जो आने वाले दिनों में एक इतिहास बनेगा.

ट्रंप ने वन चाइना पॉलिसी पर सवाल खड़ा किया, कहा: चीन हुक्म नहीं चला सकता



       
ट्रंप ने वन चाइना पॉलिसी पर सवाल खड़ा किया, कहा: चीन हुक्म नहीं चला सकता
वाशिंगटन: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्यापार पर चीन से कोई रियायत नहीं मिलने की स्थिति में ‘वन चाइना’ नीति की निरंतरता की प्रासंगिकता पर रविवार को सवाल उठाया और कहा कि यह कम्युनिस्ट देश उन पर हुक्म नहीं चला सकता.

अमेरिका ने 1979 से ही ताईवान पर चीन के रूख का सम्मान किया है, जिसे चीन अपने से अलग हुआ प्रांत मानता है. लेकिन ट्रंप ने कहा कि चीन से रियायत नहीं मिलने पर उन्हें यह नजर नहीं आता कि इसे जारी क्यों रखा जाए.

ट्रंप ने फोक्स न्यूज से कहा, ‘‘मैं वन चाइना पॉलिसी पूरी तरह समझता हूं. लेकिन मुझे नहीं मालूम कि यदि हम व्यापार समेत अन्य चीजें करने के लिए चीन के साथ सौदा नहीं कर पाते है तो हम वन चाइना पॉलिसी से क्यों बंधे हैं. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘दक्षिण चीन सागर के मध्य में विशाल किला बनाकर और अवमूल्यन और सीमा पर हमारे ऊपर भारी कर लगा कर चीन हम पर बुरी तरह चोट पहुंचा रहा है जबकि हम उन पर कर नहीं लगाते. चीन को ऐसा नहीं करना चाहिए. ’’

ट्रंप ने कहा, ‘‘स्पष्ट कहूं तो वह उत्तर कोरिया मामले में हमारी मदद नहीं कर रहा. आप उत्तर कोरिया के समीप हैं, आपके पास परमाणु हथियार हैं और चीन उस समस्या का हल कर सकता था. वह हमारी बिल्कुल मदद नहीं कर रहा. इसलिए मैं नहीं चाहता कि चीन मुझपर हुक्म चलाए.’’ ताईवान के राष्ट्रपति से उन्हें बधाई फोन आने पर चीन में नाराजगी के संबंध में सवाल पूछे जाने पर उन्होंने (ताईवानी राष्ट्रपति) साई इंग-वेन के साथ बातचीत का बचाव किया.

रिपब्लिकन सीनेटरों ने किया आगाह, पुतिन के करीबी को विदेश मंत्री बना सकते हैं ट्रंप





अमेरिका के भावी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, रूसी राष्ट्रपति पुतिन के करीबी और इक्सन मोबिल कंपनी के सीईओ रेक्स टिलरसन को विदेश मंत्री बना सकते हैं। हालांकि दो रिपब्लिकन सीनेटरों ने आगाह किया है कि टिलरसन के नामांकन पर गहन जांच हो सकती है क्योंकि तेल कंपनी के सीईओ के रूसी राष्ट्रपति से करीबी संबंध हैं। सीनेट में भी इस फैसले का विरोध हो सकता है।

ट्रंप इस हफ्ते के मध्य में औपचारिक एलान करने वाले हैं। अगर 64 वर्षीय टिलरसन को नामित किया जाता है तो अमेरिका के महत्वपूर्ण पद के लिए यह बिल्कुल हैरान कर देने वाला फैसला होगा। अमेरिकी मीडिया के मुताबिक विदेश मंत्री के दावेदारों की ट्रंप की लिस्ट में टिलरसन का नाम सबसे ऊपर है और इसकी मुख्य वजह रूस समेत दुनिया के कई देशों के नेताओं के साथ उनके अच्छे संबंधों का होना है।

शनिवार को टिलरसन ने न्यूयॉर्क में ट्रंप से मुलाकात भी की। ट्रंप की टीम का कहना है कि उन्होंने अभी अंतिम फैसला नहीं लिया है। हालांकि एक साक्षात्कार में इक्सन मोबिल की तारीफ भावी राष्ट्रपति ने जरूर की है।

पाक सेना प्रमुख ने अचानक बदला ISI चीफ, सेना में किए कई बड़े फेरबदल





पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने रविवार को अचानक आईएसआई प्रमुख के पद से लेफ्टिनेंट जनरल रिजवान अख्तर को हटाने के साथ सेना के शीर्ष स्तर पर कई अहम फेरबदल किए। करीब दो सप्ताह पहले सेना प्रमुख बने बाजवा ने लेफ्टिनेंट जनरल नवीद मुख्तार को नया डीजी बनाया है।

लेफ्टिनेंट जनरल अख्तर को नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी का प्रेसिडेंट नियुक्त किया गया है। सेना की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक इसके अलावा लेफ्टिनेंट जनरल बिलाल अख्तर को चीफ ऑफ जनरल स्टाफ बनाया गया है। कई अन्य लेफ्टिनेंट जनरलों की भूमिका बदली गई है।

नौ दिसंबर को सेना ने सात मेजर जनरलों को लेफ्टिनेंट जनरल बनाया था। देश की ताकतवर सैन्य इकाई आईएसआई के प्रमुख को बदले जाने को काफी अहम कदम माना जा रहा है। माना जा रहा है कि राजनीतिक रूप से संवेदनशील आईएसआई प्रमुख के पद पर नियुक्ति से पहले जनरल बाजवा ने राजनीतिक नेतृत्व से सलाह मशविरा किया।

एसबीआई जारी करेगा 25 हजार लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड, नोटबंदी से निपटने को पहल






नकदी की सीमित आपूर्ति से उपजे अवसरों को भुनाने के लिए एसबीआई कार्ड्स जल्द ही 25,000 रुपये की सीमा वाला क्रेडिट कार्ड लांच करने वाली है। यह कार्ड मुख्यत: समाज के निचले वर्ग के उन लोगों के लिए है, जो भुगतान की क्षमता तो रखते हैं लेकिन उनके पास कार्ड नहीं हैं। एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज के मुख्य कार्यकारी विजय जसूजा ने कहा कि समाज के निचले वर्ग के वे लोग जिनके पास कार्ड लेने के लिए कोई पुरानी क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है, को बैंक जमा के एवज में 25,000 रुपये सीमा वाले कार्ड दिए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि समस्या यह नहीं है कि इन लोगों के पास खर्च करने के लिए पैसा नहीं है, बल्कि इनके पास इस्तेमाल के लिए कार्ड नहीं हैं। एसबीआई कार्ड्स उन्हें लगभग 2-3 माह में सुरक्षित कार्डों की पेशकश करेगी।

जसूजा ने कहा कि नोटबंदी के बाद से कार्ड से लेन-देन की संख्या और लेन-देन की धनराशि में इजाफा हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी ने कार्ड लेने की प्रक्रिया को सरल बनाया है और संभावित ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड देने के लिए आय की सीमा घटाने की योजना बनाई जा रही है।

जसूजा के मुताबिक, जनधन खाताधारक भी संभावित ग्राहक हो सकते हैं। एसबीआई कार्ड्स डिलीवरी में लगने वाले समय को घटाने पर भी काम कर रही है, ताकि नेटवर्क से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ा जा सके। कहा गया कि अभी डिलीवरी में 9-11 दिनों का समय लगता है। हम इसे घटाकर 2-3 दिन करने की कोशिश कर रहे हैं।

दैनिक राशिफल 12-12-2016


मेष
प्रिय व्यक्ति से भेंट होगी। कार्य-व्यवसाय में इच्छित स्थिति, लाभ होने के योग हैं। संतान की उन्नति होगी। वाहन चलाते समय सावधानी रखें।


 वृष
अधिकारी, कर्मचारियों के मध्य आपका महत्व बढ़ेगा। आवास की समस्या हल होगी। जीवनसाथी के स्वास्थ्य पर ध्यान दें। व्यापार अच्छा चलेगा।


 मिथुन
प्रतिष्ठित व्यक्ति से संबंधों का लाभ मिलेगा। आलस्य से बचें। महत्वपूर्ण कार्य सरलता से बनेंगे। कानूनी निपटारा आपके पक्ष में संभव।


 कर्क
वैवाहिक प्रस्ताव आएंगे। व्यापार में नए प्रस्ताव मिलेंगे। उलझनों के बावजूद लक्ष्य प्राप्ति में सफलता मिलेगी। पारिवारिक वातावरण सहयोगी रहेगा।


 सिंह
यश, प्रतिष्ठा बढ़ेगी। व्यापार के क्षेत्र का विस्तार होगा। पक्षपात न करें। आपका आत्मविश्वास प्रत्येक कार्य में आपको सफलता दिलाएगा।


 कन्या
स्वाध्याय में रुचि जागृत होगी। आर्थिक विवादों से नुकसान की आशंका है। साहस, पराक्रम बढ़ेगा। नौकरी में ऐच्छिक स्थानांतरण के योग हैं।


 तुला
आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। कार्य समय पर करें। स्व-विवेक से निर्णय लेकर कार्य करें तो सफलता मिल सकती है। सुखद यात्रा के योग बनेंगे।


 वृश्चिक
परिवार में सुख-शांति रहेगी। कार्य की वृत्ति को गोपनीय रखना चाहिए। पहले किए गए अच्छे कार्यों के शुभ परिणाम सामने आएंगे।


 धनु
विरोधी आपके काम को प्रभावित कर सकते हैं। कार्य-व्यवसाय में मनोनुकूल सफलता नहीं मिल पाएगी। व्यर्थ समय बर्बाद न करें।


मकर
परिवार में सुख-शांति रहेगी। व्यापार में अनुकूलता रहेगी। लाभ में वृद्धि होगी। जोखिम से दूर रहें। मतभेद, विवादों को टालने का प्रयास करें।


 कुंभ
जीवनसाथी से संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। सुखद यात्रा के योग बनेंगे। अनावश्यक कामकाज में ध्यान बंटेगा। व्यापारिक लेन-देन सीमित रखें।


मीन
मनोबल बढ़ने से कठिन कार्य भी आसानी से कर पाएंगे। वाहन सुख मिल सकेगा। आमदनी में वृद्धि संभव है। आशाएं फलीभूत होंगी।

zhakkas

zhakkas