: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 12/17/16

पतंजलि स्टोर्स पर 50 रुपये से अधिक की खरीदारी पर कैशलेस भुगतान होगा!




नई दिल्ली. बाबा रामदेव कैशलेस भुगतान को बढ़ावा देने के लिए पतंजलि स्टोर्स में डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था लागू करेंगे। वह 50 रुपये से ज्यादा की खरीदारी पर कैशलेस भुगतान की तैयारी कर रहे हैं। इस बाबत पांच बैंकों से पतंजलि के सभी स्टोर्स को लिंक करने के लिए कहा गया है। इससे ग्राहक के लिए कार्ड, वॉलिट और अन्य डिजिटल माध्यमों से पेमेंट करने की सुविधा शुरू हो जाएगी।
पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने पुष्टि की
रामदेव के सहयोगी और पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि हमारा प्रयास है कि कैश की चाहत में किसी भी गरीब व्यक्ति को हमारे प्रॉडक्ट देने से मना न किया जाए। उन्होंने बताया कि कि 50 रुपये से कम की खरीद पर कैश में पेमेंट करना जरूरी होगा। नोटबंदी के बाद सभी स्टोर्स को दिशानिर्देश जारी किए गए थे कि अगर किसी गरीब व्यक्ति के पास कैश नहीं है तो उसे उधारी पर प्रॉडक्ट दे दें। बता दें कि पतंजलि के पूरे देश में 5,300 से ज्यादा स्टोर हैं। नोटबंदी के कारण नोटों की कमी हो गई। लोगों को कैश निकालने के लिए बैंकों और एटीएम की की कतारों में इंतजार करना पड़ रहा है।
इन बैंकों से बातचीत
बाबा रामदेव ने जिन पांच बैंकों के साथ मुलाकात की थी उनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, ऐक्सिस बैंक, पंजाब नैशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक शामिल हैं। वहीं, बालकृष्ण ने कहा कि डिजिटल पेमेंट से लेकर ई वॉलिट तक हम चाहते हैं कि सभी डिजिटल सुविधा हमारे स्टोर्स में उपलब्ध हो। दो बैंकों के प्रतिनिधियों ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर पुष्टि करते हुए बताया कि पतंजलि ने डिजिटल कनेक्टिविटी के लिए बातचीत की है।

बुंदेलखंड से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश




एक मीडिया ग्रुप के कार्यक्रम में उन्होंने रविवार को यह संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि जनता की ओर से इस तरह का प्रस्ताव आया है। जनता चाहेगी और नेताजी कहेंगे तो वह बुंदेलखंड से चुनाव जरूर लड़ेंगे।

अपनी पार्टी में परिवार के झगड़े, टिकट वितरण और गठबंधन से जुड़े सवालों के जवाब भी सीएम ने खुलकर दिए। सवाल हुआ कि मायावती कह रही हैं कि आप हताश हैं, इसलिए गठबंधन की बात कर रहे हैं। इस पर अखिलेश ने कहा कि हताश तो वह हैं, जो बार-बार टीवी पर आकर बताती हैं कि वह हताश नहीं हैं। कांग्रेस से गठबंधन में पेच कहां फंसा है, यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि राजनीति में जो बीच के लोग हैं, उनसे कुछ बातें छिपी रहें तो अच्छा है। प्रदेश को सेक्युलर सरकार की जरूरत है। बीजेपी वाले बहुत समझदार हैं, पता नहीं कब उसमें भी सर्जिकल स्ट्राइक कर दें।

zhakkas

zhakkas