: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 12/22/16

मुरादाबाद मार्ग पर कार से बरामद हुई 20 लाख की नकदी दो लोग हिरासत में




सम्भल, 22 दिसम्बर भाषा उत्तर प्रदेश में सम्भल जिले के चन्दौसी क्षेत्र में एक कार से 20 लाख से ज्यादा के नये करेंसी नोट बरामद करके दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।

चन्दौसी के उपजिलाधिकारी अमित कुमार ने आज यहां बताया कि चन्दौसी कोतवाली क्षेत्र में मुरादाबाद मार्ग पर धन्नू मल तिराहे पर कल रात पुलिस ने संदेह के आधार पर एक कार रोककर उसकी तलाशी ली। इस दौरान उसमें से करेंसी नोटों से भरे दो बैग बरामद किये गये और मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी गयी।

उन्होंने बताया कि कार के चालक विष्णु श्रीवास्तव और वाहन में मौजूद रंजीत कुमार नामक एक अन्य व्यक्ति को पूता के लिए कार समेत थाने लाया गया। देर रात पहुंची आयकर विभाग की विशेष अनुशंधान शाखा की टीम के सामने कार में रखे दोनों बैग खोले गए जिनमें 20 लाख 31 हजार पांच सौ रूपये निकले जिसमे 2000 की नई करेंसी मैं 16 लाख और बाकि रूपये 100, 50 और 10 रुपये की करेंसी के हैं।

कुमार ने बताया कि बरामद की गयी रकम मुरादाबाद के किसी अंशुल कुमार की बताई जा रही है। पकड़े गए लोगों से पूता की जा रही है। आयकर विभाग की टीम ने रकम सील करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

अच्छी खबर, अब आपके घर पैसा पहुंचाएगा स्नैपडील





नई दिल्ली | लीजिए, कैश की कमी के बीच राहत की एक खबर आ गई। अब तक सामान डिलिवर करने वाले ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म स्नैपडील पर अब आप पैसे भी ऑर्डर कर सकते हैं। आपके ऑर्डर पर कंपनी आपके घर पैसे पहुंचा देगी। ई-कॉमर्स क्षेत्र की यह कंपनी आपको वह पैसे देगी जो इसे कैश ऑन डिलिवरी (CoD) में मिलते हैं।

यानी, ऑर्डर पर सामान मंगवाने के बाद जो पैसे कंपनी को मिलते हैं, उसे कैश एट होम सर्विस के जरिए आपके घर पहुंचा दिए जाएंगे। हां, एटीएम की तरह यहां भी एक शर्त है। आप एक बार में 2,000 रुपये तक ही कैश मंगवा सकते हैं। पैसे मिल जाने पर आपको अपने एटीएम कार्ड से पैसा कंपनी को देना होगा। इसके लिए बुकिंग के वक्त ही फ्रीचार्ज या डेबिट कार्ड के जरिए मात्र 1 रुपये का सुविधा शुल्क देना होगा।

सबसे अच्छी बात यह है कि कैश ऑर्डर करते वक्त आपको किसी सामान मंगवाने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा। स्नैपडील के को-फाउंडर रोहित बंसल ने कहा, 'चूंकि देश तेजी से डिजिटलाइजेशन की ओर बढ़ रहा है, इसलिए हमने समयानुसार कई पहल शुरू की है। हमने इस बदलाव को आसान बनाने के लिए वॉलिट और कार्ड ऑन डिलिवरी से लेकर फ्रीचार्ज पार्टनरशिप तक कदम बढ़ाया है।'

अभी गुड़गांव और बेंगलुरु में शुरू हुई कैश एट ऑर्डर सर्विस अगले कुछ दिनों में दूसरे बड़े शहरों तक पहुंचेगी। बंसल ने कहा, 'हमारा लक्ष्य ग्राहकों की हर जरूरत अबाध रूप से पूरी करने वाला मार्केटप्लेस बनना है।'

Airtel ने जारी किया 3 महीने तक का फ्री कॉल और डेटा आॅफर'





नई दिल्ली। रिलायंस Jio के फ्री कॉल और डेटा प्लान को टक्कर देने लिए अब प्रत्येक प्रोवाइडर टेलिकॉम कंपनी ने अपने—अपने आकर्षक प्लान्स जारी करना शुरू कर दिया है। इसी के तहत पोस्टपेड और प्रीप्रेड यूजर्स के लिए आकर्षक प्लान्स लॉन्च करने के बाद Airtel ने अब ब्रॉडबैंड यूजर्स के लिए धमाकेदार आॅफर जारी किया है। Airtel ने अपनी अपनी इस सर्विस को V-Fiber नाम से जारी किया है। इस आॅफर के तहत कंपनी ब्रॉडबैंड इंटरनेट में 100Mpbs की स्पीड देगी ब्रॉडबैंड यूजर्स के लिए है सर्विस Airtel ने ये ब्रॉडबैंड सर्विस फिलहाल फिक्स्ड लाइन ग्राहकों के लिए जारी की है। कंपनी का कहना है कि उसने अपनी नेटवर्क क्षमता को अपग्रेड किया है जिससे वह अपने कस्टमर्स को फिक्स्ड लाइन फोन के जरिए हाई स्पीड डेटा कनेक्टिविटी दे सके। इसमें वी-फाइबर प्रौद्योगिकी का उपयोग किया गया है जो 100 एमबीपीएस की स्पीड से इंटरनेट देती है। Airtel के मुताबिक फिलहाल उसके पास फिक्स्ड लाइन कस्टमर्स की संख्या 3.51 लाख है।

Airtle का कहना है कि नए कस्टमर्स के लिए उसका V-Fiber प्लान 899 रुपए में उपलब्ध होगा। नए ग्राहकों को Airtel की ओर से शुरूआती 3 महीनों के लिए अनलिमिटेड ऑफर दिया जा रहा है। कंपनी का कहना है कि अगर यूजर इस सर्विस से खुश नहीं है, उन्हें एक महीने में ये ऑफर पसंद नहीं आया है तो एयरटेल मोडेम का चार्ज रिफंड कर देगी और बिल आगे के बिल साइकल में एडजस्ट हो जाएगा। हालांकि फिलहाल इस प्लान को मुंबई के कस्टमर्स के लिए जारी किया गया है।

मैनपुरी मामले पर यूपी विधानसभा में हंगामे के आसार,सियासत गर्म




यूपी में मुलायम सिंह के गढ़ मैनपुरी में एक महिला की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो वायरल होने के बाद से सियासत गर्म हो गई है। आज विधानसभा का सत्र है और इस मामले पर हंगामे के आसार हैं।

बीजेपी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष स्वाति सिंह के साथ 5 महिला सांसदों की टीम आज किशनी पीड़िता से मुलाकात करने आ रही हैं।

वीडियो में महिला और उसके पति की डंडे से पिटाई हो रही है। बताया जा रहा है कि मार-पिटाई करने वाले लोगों ने पहले महिला से छेड़छाड़ की थी और इसका विरोध जताने पर पति-पत्नी के जोड़े के साथ ऐसी बर्बरता हुई। इस घटना से एक बार फिर उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल उठ खड़े हुए हैं।

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना – Pradhan Mantri Ujjwala Yojana



प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना नरेंद्र मोदी जी की भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी एक बहुत ही महत्त्वाकांक्षी योजना है। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत भारत सरकार एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएगी। एलपीजी कनेक्शन केवल गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों से सम्बंधित महिलाओं को दिया जाएगा।
योजना के अंतर्गत भारत सरकार अगले 3 साल में 5 करोड़ BPL परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएगी। वर्तमान वित्तीय वर्ष (2016-17) में 1.5 करोड़ BPL (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देशय

उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य पूरे भारत में स्वच्छ ईंधन के उपयोग को बढ़ावा देना है जो कि मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन वितरित करके पूरा किया जा सकता है। योजना के लागू करने का एक उद्देशय यह भी है कि इससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा और महिलाओं के स्वास्थ्य कि भी सुरक्षा कि जा सकती है।
वर्तमान में उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के उपयोग को कम करना और शुद्ध ईंधन के उपयोग को बढाकर प्रदुषण में कमी लाना भी योजना के प्रमुख लक्ष्यों में से एक है।
जो बीमारियाँ खाना बनाने के लिए उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के जलने से होती हैं, उज्ज्वला योजना के लागू होने के बाद उनमें भी कमी आने की सम्भावना है। इस प्रकार यह योजना महिलाओं और बच्चों को स्वस्थ रखने में भी सहायक सिद्ध होगी।
प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लिए कैसे आवेदन करें
योजना के लिए आवेदन करना बहुत ही आसान है। जो भी इच्छुक उम्मीदवार योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें योजना का आवेदन पत्र भरकर अपने नजदीकी LPG वितरण केंद्र में जमा कराना है।
उज्ज्वला योजना का आवेदन पत्र LPG वितरण केंद्र से मुफ्त में प्राप्त किया जा सकता है अथवा ऑनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है। 2 पन्ने के आवेदन पत्र में मांगी गयी सभी जानकारी जैसे कि नाम, पता, आधार कार्ड नंबर, जन धन / बैंक खाता संख्या इत्यादि भरना आवश्यक है।
आवेदन पत्र के अंदर ही आवेदक यह चयन कर सकता ही कि उसे 14.2 किलो वाला गैस सिलिंडर चाहिए या फिर 5 किलो वाला।
प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन पत्र
उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने के लिए निर्धारित आवेदन पत्र अपने नजदीकी एलपीजी वितरण केंद्र से मुफ्त में प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन पत्र ऑनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है उसके बाद प्रिंट लेकर भरा जा सकता है।
आवेदन पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में उपलब्ध है। आवेदन पत्र ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।
Download Application Form for PM Ujjwala Yojana
योजना के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची
योजना के लिए आवश्यक दस्तावेजों की प्रतिलिपि आवेदन पत्र के साथ ही जमा करानी होगी। जरूरी दस्तावेजों की सूची इस प्रकार है।
पंचायत अधिकारी या नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत BPL प्रमाणपत्र
BPL राशन कार्ड
एक फोटो ID जैसे की आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र
एक पासपोर्ट साइज फोटो
ड्राइविंग लाइसेंस
लीज करार
टेलीफोन, बिजली या पानी का बिल
पासपोर्ट की प्रति
राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र
राशन कार्ड
फ्लैट आवंटन / कब्ज़ा पत्र
आवास पंजीकरण दस्तावेज
LIC पालिसी
बैंक / क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट
उपर दिए गए सभी दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ संलग्न करने की जरूरत नहीं है। इस बारे में सटीक जानकारी के लिए अपने नजदीकी LPG वितरण केंद्र से ही संपर्क करें।
उज्ज्वला योजना के लिए पात्रता
प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना के लिए इच्छुक लोगों का योजना के लिए पात्र होना अति आवश्यक है। जो भी आवेदक पात्र नहीं पाये गए उन्हें गैस कनेक्शन नहीं दिया जाएगा। पात्रता के मुख्य बिंदु इस प्रकार हैं।
आवेदक द्वारा दी गयी सभी जानकारी को SECC – 2011 डेटा के साथ मिलाया जाएगा तथा उसके पश्चात ही यह निर्णय लिया जाएगा की आवेदक योजना का पात्र है या नहीं
आवेदक की उम्र 18 साल या इससे अधिक होनी चाहिए
आवेदक BPL परिवार से सम्बन्ध रखने वाली महिला ही होनी चाहिए, पुरुष इस योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकते.
आवेदक के घर में किसी के नाम से पहले से ही कोई भी LPG कनेक्शन नहीं होना चाहिए
आवेदक के पास BPL प्रमाण पत्र अथवा BPL राशन कार्ड का होना आवश्यक है
आवेदक द्वारा आवेदन फॉर्म में दी गयी सभी जानकारी ठीक होनी चाहिए
योजना के लिए पात्र BPL परिवारों की सूची राज्य सरकार और केंद्र शाषित प्रदेशों की मदद से तैयार की जायेगी। तेल व्यापार कम्पनियां इस योजना के लिए आवेदन करने वाले सभी ग्रामीण आवेदकों की जानकारी को SECC-2011 के डेटाबेस के साथ मैच कराएंगी और उसके बाद ही गैस कनेक्शन उपलब्ध कराएंगी।

योजना का बजट और वित्त पोषण
भारत सरकार ने योजना के कार्यान्वयन के लिए कुल 8000 करोड़ रूपए का बजट बनाया है जो कि 3 साल के लिए है। वित्त वर्ष 2016-17 के लिए भारत सरकार के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली जी पहले ही 2000 करोड़ रूपए चिन्हित कर चुके हैं।
योजना का वित्त पोषण अथवा योजना पर खर्च होने वाला पैसा LPG सब्सिडी में बचाए गए पैसे से होगा। भारत सरकार द्वारा जनवरी 2015 में शुरू किये गए “गिव-इट-उप” अभियान के अंतर्गत अब तक लगभग 1.13 करोड़ लोगों ने LPG सब्सिडी छोड़ दी है और वो लोग बाजार मूल्य पर LPG सिलिंडर खरीद रहे हैं। चलाये गए अभियान से अभी तक हज़ारों करोड़ रुपये कि बचत हो चुकी है जिसे उज्ज्वला योजना के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।
वित्तीय सहायता
योजना के अंतर्गत भारत सरकार प्रत्येक पात्र BPL परिवार को 1600 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी जो की गैस कनेक्शन खरीदने के लिए होगी।
भारत सरकार BPL परिवारों को स्टोव खरीदने और पहली बार सिलिंडर भरवाने के लिए आने वाले खर्च को अदा करने के लिए किस्तों की सुविधा भी प्रदान करेगी।
योजना का कार्यान्वयन
योजना का कार्यान्वयन भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन किया जाएगा। इतिहास में पेट्रोलियम मंत्रालय की इस तरह की ये पहली योजना है जिससे करोड़ों गरीब परिवारों की महिलाओं को लाभ होगा। मूल स्तर पर योजना का कार्यान्वन तेल व्यापार कम्पनियों द्वारा किया जाएगा।
योजना वित्त वर्ष 2016-17 से लेकर 2018-19 तक 3 वर्ष के लिए चलायी जायेगी। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रह रहे परिवार जो की गरीबी रेखा से नीचे हैं उन्हें मुफ्त में LPG गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा।
उज्ज्वला योजना के दिशा निर्देश
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने योजना के दिशा निर्देश भी प्रकाशित कर दिए हैं। दिशा निर्देश पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर पीडीएफ फॉर्मेट में यहाँ से डाउनलोड करें।
http://www.petroleum.nic.in/docs/UJJWALA.pdf
योजना के मुख्य बिंदु
योजना बिंदु विवरण
योजना का नाम प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना
शुभारंभ 1 मई 2016
मंत्रालय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय
मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराना
क्या क्या मिलेगा एक नया खाली LPG सिलिंडर, एक प्रेशर रेगुलेटर, मुफ्त DGCC पुस्तिका, एक सुरक्षा नली, मुफ्त इंस्टालेशन
अन्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना, बच्चों और महिलाओं में अशुद्ध ईंधन के कारण होने वाले रोगों में कमी लाना, भीतरी और बाहरी वायु प्रदुषण को कम करना
लक्ष्य 5 करोड़ BPL परिवारों को एलपीजी कनेक्शन वितरित करना
समय सीमा 3 साल – 2018-19 तक
कुल बजट 8000 करोड़
वित्तीय सहायता प्रत्येक BPL परिवार को 1600 रुपये कि सहायता
पात्रता SECC – 2011 डेटा
प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना का विज्ञापन

zhakkas

zhakkas