: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 12/25/16

दुर्भाग्य है कि हम ताजमहल से आगे नहीं बढ़ पाए: मोदी




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ताजमहल का नाम सुनकर दुनिया भर के लोगों को लगता है कि जाना चाहिए। लेकिन, दुर्भाग्य से हम ताजमहल से आगे नहीं बढ़ पाए।

उन्होंने कहा कि दुनिया में जहां भी प्राचीन सभ्यताएं रही हैं, उन देशों के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आइकोनिक चीजें महत्वपूर्ण होती हैं। भारत में हमारे राजा-महाराजाओं ने हर इलाके में किले और भवन बनवाएं हैं जिनकी अपनी-अपनी विशेषताएं हैं। लेकिन दुर्भाग्य से इन किलों और भवनों की उपेक्षा के कारण हम ताजमहल से आगे नहीं बढ़ पाए। पीएम मोदी ने अपील की कि किलों से टूरिज्म का माहौल बनाएं और शिवाजी के बनवाए गए किलों से इसकी शुरुआत होनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने खुद पुरातत्व विभाग से अनुरोध करने का वादा किया।

मुंबई में छत्रपति शिवाजी स्मारक के भूमिपूजन के बाद पीएम मोदी ने कहा कि यह दुनिया का सबसे बड़ा स्मारक होगा। मोदी ने शिवाजी महाराज के जल प्रबंधन की तारीफ की और कहा कि मुद्रा नीति, सामुद्रिक सुरक्षा को उन्होंने पहचाना और नौसेना गठित कर अरब सागर में कब्जा कर चुके पुर्तगालियों को खदेड़ा।

उन्होंने कहा कि महापुरुषों की पहचान सिर्फ उनके किसी एक कार्य से नहीं हो सकती। इसी तरह छत्रपति शिवाजी का जीवन घोड़ा, तलवार, हार और जीत से परे है। भगवान राम से शिवाजी की तुलना करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने श्री राम की तरह गरीबों और किसानों को संगठित कर युद्ध के लिए तैयार किया।

मोदी के मिशन के लिए 200 IAS के बीच इस लेडी से मिले अक्षय




मथुरा.यूपी के मथुरा में स्‍वच्‍छ भारत मिशन और वर्ल्ड बैंक की वर्कशॉप आयोजित की गई। इसमें देशभर के उन 200 चुनिंदा आईएएस अधिकारियों को शामिल किया गया, जिन्होंने स्वच्‍छ भारत मिशन के तहत महत्वपूर्ण काम किया है। यही नहीं अक्षय कुमार भी यहां पहुंचे और उन्‍होंने सभी कलेक्‍टर और सीडीओ को स्‍वच्‍छता के बारे में बताया। इस दौरान मेरठ की डीएम बी. चंद्रकला ने भी अक्षय से स्‍वच्‍छता से जुड़ी बातें शेयर की।
अक्षय ने कहा- देश पूरी तरह स्वच्‍छ हो

  • - अक्षय ने कहा, ये इत्‍त‍िफाक है कि मैं इन दिनों स्वच्‍छता से जुड़ी फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेमकथा' पर काम कर रहा हूं।
  • - भारत में आज भी 45 फीसदी लोग खुले में शौच करते है, जो गंदी बात है।
  • - मैं चाहता हूं कि भारत देश पूरी तरह स्वच्‍छ हो।
  • - वहीं, मेरठ की डीएम बी चंद्रकला ने कहा, इस वर्क शॉप में देश भर के आईएएस अधिकारी मौजूद रहे। साथ ही, अक्षय कुमार से स्वच्छता से जुड़ी बातें शेयर कर अच्छा लगा।

यहां होती है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पूजा



ग्वालियर।पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मंदिर भी है। ग्वालियर में उनके मंदिर में रोज संध्या-आरती होती है। हिंदी दिवस और अटल जी के जन्मदिन पर यहां विशेष पूजा की जाती है। अटल जी के जन्मदिन पर यहां सर्वधर्म प्रार्थना और भजन गाए जाते हैं। इसके बाद अटल जी की आरती की जाती है। जन्मदिन पर प्रशंसकों ने की पूर्व प्रधानमंत्री के मंदिर पर पूजा....

- ग्वालियर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मंदिर भी है। उनके मंदिर में रोज संध्या-आरती होती है।
- इस मंदिर को स्थापित करने वाले विजय सिंह चौहान के मुताबिक अटलजी हिंदी माता के सपूत संत हैं।
- इसी लिये उनका मंदिर हिंदी माता मंदिर के नजदीक बनाया गया है। हिंदी दिवस और अटल जी के जन्मदिन पर यहां विशेष पूजा की जाती है।
- आज उनका जन्मदिन है, लिहाजा उनके भक्त विजय सिंह और दूसरे साथियों ने विशेष पूजा अर्चना की।

अटल के प्रधानमंत्री बनने से पहले ही बन गया था मंदिर
- विजय सिंह चौहान ने शहर के सत्यनारायण टेकरी मंदिर पर हिंदी माता का मंदिर स्थापित करने के लिए जमीन खरीदी।
- वहां हिंदी माता का मंदिर बनाया। इसके बाद 1995 में नजदीक ही संयुक्त राष्ट्र संघ में अटल जी के हिंदी में भाषण की स्मृति में उनका मंदिर बना दिया।
अब बन रही है अटल जी की प्रतिमा
- विजय सिंह ने बताया कि मंदिर के लिए अटल बिहारी की प्रतिमा बनवाई जा रही है, जिसे इस मंदिर में स्थापित किया जाएगा।
- विजय सिंह के मुताबिक ऋग्वेद में कहा गया है कि निष्काम जीवन जीने वाले ऊर्जावान व्यक्ति को पूजनीय मानते हुए प्रतीक के रूप में उसकी प्रतिमा भी बनाई जा सकती है।
- विजय सिंह का मानना है कि कई संतों के मंदिर देश में पहले से बने हुए हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी भी उनमें से एक संत ही हैं।
- विजय सिंह चाहते हैं कि आने वाली पीढ़ी अटल बिहारी के बारे में जान सके, इसलिए यह मंदिर बनाया गया है।

zhakkas

zhakkas