?orderby=published&alt=json-in-script&callback=mythumb1\"><\/script>");

पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी और रामवीर उपाध्याय की बढ़ेगी मुश्किल

सतर्कता अधिष्ठान ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी और रामवीर उपाध्याय के खिलाफ अन्वेषण में आय से अधिक संपत्ति का मामला पाया है।


लखनऊ  । आय से अधिक संपत्ति की सतर्कता जांच में आरोपों से घिरे पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी और रामवीर उपाध्याय की मुश्किल बढ़ेगी। शासन इसी हफ्ते उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए हरी झंडी दे सकता है। शासन में अंतिम निर्णय लेने की प्रक्रिया चल रही है।
सतर्कता अधिष्ठान ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी और रामवीर उपाध्याय के खिलाफ अन्वेषण में आय से अधिक संपत्ति का मामला पाया है। अनुपातिक संपत्ति के अन्वेषण में सिद्दीकी के खिलाफ कई आय से अधिक खर्च के साक्ष्य मिले। 1997 से 2012 के बीच उन्होंने 69 लाख रुपये कमाए और 14 करोड़ खर्च किए। उनकी कई संपत्ति उजागर हुई। नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनकी पत्नी हुस्ना सिद्दीकी पर कुर्सी रोड पर वास्तविक मूल्य से कम कीमत पर भूमि खरीदने, करीब 200 करोड़ रुपये की आर्थिक अनियमितता, अवैध धन उगाही और फर्जी तरीके से जमीन खरीदने के भी आरोप की सतर्कता अधिष्ठान ने खुली जांच की थी। इस रिपोर्ट पर भी शासन अग्रिम कार्रवाई के लिए विचार कर रहा है। उधर, पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय पर हाथरस में जमीन और स्टांप चोरी से लेकर कई गंभीर मामले हैं। संकेत मिले हैं कि जल्द ही शासन की ओर से इनके खिलाफ कार्रवाई की हरी झंडी मिल जाएगी। उल्लेखनीय है कि लोकायुक्त की जांच रिपोर्ट पर सतर्कता अधिष्ठान ने मायावती सरकार के कई पूर्व मंत्रियों के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार की जांच की थी। इसमें कई लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हो चुके हैं



Share on Google Plus

About आलोक पाराशरी

0 comments:

Post a Comment