: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : समितियां गठित नहीं चलेगी कोटेदारों की मनमानी

समितियां गठित नहीं चलेगी कोटेदारों की मनमानी




बदायूं : राशन विक्रेताओं की मनमानी के चलते गरीबों का राशन नहीं मिल पा रहा है। इसकी शिकायतें भी अफसरों और शासन को कई बार मिल चुकी हैं। शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए शासन ने डीएम पवन कुमार को समितियों के गठन के निर्देश दिए थे। डीएम के निर्देश पर जिले भर में 1396 समितियों का गठन कर दिया गया है। अब यह समितियां राशन की दुकानों की निगेहबानी करेंगी।
राशन वितरण में कोटेदारों की मनमानी हावी होने से गरीबों को प्रतिमाह राशन नहीं मिल पा रहा है। इसकी कई बार शिकायतें भी हो चुकी हैं। वहीं म्याऊं और उसावां क्षेत्र में कोटे का राशन दुकानों पर बिकता हुआ पकड़ा भी जा चुका है। इन मामलों में अफसरों ने खानापूर्ति करके इतिश्री कर ली। इसके बाद लोगों ने शासन स्तर पर शिकायत की तो शासन ने डीएम को समितियों के गठन करने के निर्देश दिए थे। डीएम ने निर्देश पर समितियों का गठन कर दिया गया है। जिले भर में गठित की गई समितियों में एक समिति जिला स्तर पर बनाई गई है। यह कमेटी डीएम की देखरेख में कार्य करेगी। इसमें डीएम स्वयं अध्यक्ष होंगे। इसके बाद ब्लाक स्तर पर समितियों का गठन किया गया है। जिले के 15 ब्लॉकों में एसडीएम की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया है। ब्लॉक स्तरीय कमेटी के अध्यक्ष एसडीएम होंगे। जबकि ब्लॉक प्रमुख और बीडीओ को सदस्य बनाया गया है। इसी तरह दुकान बार कमेटी का गठन किया गया है। जिले के देहात क्षेत्रों में 1380 दुकानें हैं। इन कमेटियों का अध्यक्ष ग्राम प्रधान को बनाया गया है। जबकि ग्राम पंचायत सदस्य कमेटी के सदस्य होंगे। प्रत्येक कमेटी में तीन तीन लोग रहेंगे। ग्राम स्तरीय दुकान की कमेटी में प्रत्येक जाति का ग्राम पंचायत सदस्य रखा जाएगा। इसमें पांच सदस्यों को शामिल किया जाएगा। डीएसओ रामेन्द्र ¨सह ने बताया कि कमेटियों का गठन कर दिया गया है। यह कमेटियां ही दुकानों की निगेहबानी करेंगी।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas