: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : मोदी ने लांच किया 'क्रेडिट कार्ड का बाप', जानें भीम ऐप की 10 खास बातें

मोदी ने लांच किया 'क्रेडिट कार्ड का बाप', जानें भीम ऐप की 10 खास बातें



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नागपुर में आधार से जुड़े भीम पेमेंट के जिस सिस्टम का उद्घाटन किया उसे क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का बाप कहा जा रहा है. इसके जरिए अब कोई भी व्यक्ति सिर्फ अंगूठा लगाकर अपने अकाउंट से पैसा ट्रांसफर कर सकता है. यानी कैशलेस डिजिटल इंडिया का हिस्सा बनने के लिए अब ना तो मोबाइल फोन की जरूरत है ना ही इंटरनेट की और ना ही डेबिट और क्रेडिट कार्ड की.

30 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लांच किया गया भीम ऐप पहले से ही जबरदस्त लोकप्रिय हो चुका है और करोड़ों लोग इसे इस्तेमाल कर रहे हैं. आधार बेस्ड पेमेंट से जुड़ने के बाद माना जा रहा है कि इसमें दिन दोगुनी रात चौगुनी प्रगति होगी. अब भीम ऐप डाउनलोड करने के लिए और इसे दूसरों को रेफर करने के लिए सरकार कैशबैक और बोनस भी दे रही है.

आइए हम आपको बताते हैं उन खासियतों के बारे में जिसकी वजह से भीम सभी ई वॉलेट, Paytm और डेबिट क्रेडिट कार्ड का बाप साबित हो रहा है :-

1. BHIM यानि Bharat Interface For Money को भारत सरकार का नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) चलाता है. यानी भारत सरकार का एप होने की वजह से आप इस पर पूरा भरोसा कर सकते हैं. भीम ऐप की सबसे बड़ी खासियत है इसका बेहद सरल होना. सिर्फ 2 MB के इस ऐप को कुछ सेकंड के भीतर ही Android या आईफोन में डाउनलोड किया जा सकता है. इस ऐप को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि पहली बार इसे इस्तेमाल करने वाला भी आसानी से इसे समझ सकता है. भीम ऐप इस्तेमाल करने के लिए जरूरी सिर्फ यह है कि आपका बैंक अकाउंट आपके मोबाइल नंबर से जुड़ा हो. फिलहाल भीम ऐप को सिर्फ एक ही बैंक अकाउंट के साथ जोड़ा जा सकता है.

2. Google Play Store से भीम ऐप डाउनलोड करने के बाद पहली बार इसे एक्टिवेट करने के लिए यह जरूरी है कि आपके पास आपका डेबिट कार्ड मौजूद हो. ऐप डाउनलोड करते ही आपको 4 डिजिट का नंबरों वाला एक पासवर्ड बनाना पड़ता है. उसके बाद डेबिट कार्ड पर गई कुछ जानकारी डालनी पड़ती है. भीम ऐप को हिंदी अंग्रेजी के अलावा तमाम भारतीय भाषाओं में इस्तेमाल किया जा सकता है. पैसे के लेनदेन के लिए एक और पासवर्ड बनाना पड़ता है. यह पासवर्ड भी चार अंको का होना चाहिए लेकिन यह ऐप खोलने के पासवर्ड से अलग होना जरूरी है. यानी पूरी सुरक्षा के लिए भीम ऐप में दो पासवर्ड है. पहला पासवर्ड भीम ऐप को खोलने के लिए और दूसरा पासवर्ड पैसे का लेनदेन करने के लिए. यानी अगर आप मोबाइल फोन को लॉक करने के लिए बनाए गए पासवर्ड को जोड़ लें तो भीम ऐप में तीन लेयर की सुरक्षा हो गई.

पिता चलाते हैं किराने की दुकान, मोदी की योजना से बन गई करोड़पति

3. भीम ऐप से लेनदेन करने के लिए आप को किसी को भी अपना नाम, अपना बैंक, और यहां तक कि अपना बैंक अकाउंट नंबर भी बताने की जरूरत नहीं है. पैसे का लेनदेन 24 घंटे में कभी भी और छुट्टी के दिन भी हो सकता है. पैसे का लेनदेन भीम ऐप के जरिए बिल्कुल मुफ़्त है.

4. भीम ऐप को एक्टिवेट करने के बाद ईमेल की तरह आपका एक यूपीआई एड्रेस बन जाता है. आम तौर पर यह फोन नंबर @ यूपीआई होता है जैसे 9839098390@upi. आप चाहें तो इसे बदल कर अपनी मर्जी का UPI एड्रेस भी बना सकते हैं. किसी से भीम ऐप के जरिए लेनदेन करने के लिए सिर्फ यही एड्रेस बताना जरूरी है जो कि आपके बैंक अकाउंट से जुड़ा होता है. अगर आप भीम ऐप के जरिए किसी को पैसा भेजना चाहते हैं और दूसरा व्यक्ति भी भीम ऐप एक्टिवेट कर चुका है तो सिर्फ उसका फोन नंबर डालते ही आप उसे वेरीफाई कर सकते हैं. भीम ऐप के भीतर फोन नंबर डालते ही उस व्यक्ति का नाम आ जाए तो इसका मतलब है कि उसने भीम ऐप एक्टिवेट कर रखा है.

5. अब सरकार ने भीम के साथ आधार को भी जोड़ दिया है. यानि किसी व्यक्ति ने अगर अपना भीम ऐप शुरू नहीं किया है लेकिन उसका आधार कार्ड उसके Bank के अकाउंट के साथ जुड़ा हुआ है तो आप आधार नंबर डालकर उसे पैसा भेज सकते हैं. गैस की सब्सिडी बैंक अकाउंट से जुड़े होने की वजह से अब ज्यादातर लोगों ने अपना आधार बैंक से जुड़वा लिया है.

6. दूसरे ई वैलेट से भी इस मायने में अलग है कि यहां आपको खर्च करने के लिए पहले से किसी वेलेट में पैसे डालने की जरूरत नहीं है. पैसा खर्च करते वक्त सीधे आपके बैंक अकाउंट से निकलता है और दूसरे व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पहुंच जाता है. Paytm जैसे ई वैलेट में जो पैसा आप डालते हैं उस पर आपको कोई इंटरेस्ट नहीं मिलता. लेकिन भीम से पैसा क्योंकि सीधे आपके बैंक अकाउंट में जाता है इसीलिए जो भी पैसा आपके बैंक अकाउंट में आता है उस पर आपको इंटरेस्ट भी मिलता है.

7. भीम ऐप के जरिए आप क्यू आर कोड भी बना सकते हैं. इसका प्रिंट आउट निकाल कर दुकानदार अपने दुकान पर चिपका सकते हैं. जिस व्यक्ति को पेमेंट करनी है वह सीधे इस क्यू आर कोड को स्कैन कर सकता है और तुरंत ही पेमेंट कर सकता है.

8. भीम ऐप के जरिए किसी को पैस

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas