: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : डीएम ने सुनी इस पिता की गुहार, बच्चों की स्कूल की फीस करार्इ माफ

डीएम ने सुनी इस पिता की गुहार, बच्चों की स्कूल की फीस करार्इ माफ



पिता ने जिलाधिकारी से लगाई थी ये गुहार
नोएडा। हार्इटेक सिटी में एक पिता ने जिलाधिकारी से बच्चों के भविष्य को अंधकार में जाने से बचाने की गुहार ही लगार्इ थी कि मानवीय करण दिखाते हुए डीएम ने पिता की गुहार सुनते ही बच्चों के भविष्य को अंधकार में जाने से बचा लिया। इसके साथ ही डीएम ने स्कूल प्रबंधक को जल्द से जल्द अवगत कराने के भी आदेश जारी किए। जानिए क्यों इस पिता ने डीएम से लगार्इ थी गुहार.
दरअसल नोएडा के सेक्टर-71 निवासी राजिंद्र सिंह यहां अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह पिछले काफी समय से कैंसर जैसी जानलेवा बिमारी से जुझ रहे हैं। इसके चलते उनकी आर्थिक स्थिती खराब हो गर्इ है। पीड़ित ने बताया कि उनके पास अपने दो बेटों की स्कूल फीस जमा करने तक के रुपये नहीं है। एेसे में बच्चों का भविष्य अधर में लटकने का डर बना हुआ है। यह बात कैंसर पीड़ित ने जिले के डीएम एनपी सिंह से साझा की। उन्होंने डीएम को पत्र लिखकर अपने बच्चों का भविष्य अंधेरे में जाने से बचाने की गुहार लगार्इ थी।
कैंसर पीड़ित पिता राजिंद्र सिंह का पत्र मिलते ही डीएम ने मामले की जांच करार्इ। इसमें राजिंद्र सिंह के कैंसर जैसी बिमारी से पीड़ित होने आैर उनके दो बेटों की फीस महीनों से भरे न जाने का पता लगाते ही यह कार्रवार्इ की।
डीएम के आदेश मिलने के बाद ही बेसिक शिक्षा अधिकारी ने पब्लिक स्कूल प्रधानाचार्य को आदेश दिये की दोनों बच्चों को र्इडब्लूएस कोटे में डाला जाए। जिससे बच्चों को फ्री शिक्षा आैर कपड़े दिए जा सकें। साथ ही डीएम ने जल्द से जल्द इसकी रिपोर्ट भी मांगी। डीएम इस मानवीयकरण से बच्चों का भविष्य अंधकार में जाने से बच गया।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas