: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : बीरभूम में हनुमान जयंती के जुलूस पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई घायल; तनाव

बीरभूम में हनुमान जयंती के जुलूस पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई घायल; तनाव



कोलकाता, जेएनएन। पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के सीओड़ि में आज सुबह 11:30 बजे के आसपास हनुमान जयंती पर जय श्रीराम की जयकारे के साथ केसरिया जुलूस निकलने को लेकर जबरदस्त तनाव व्याप्त हो गया, क्योंकि इस जुलूस को प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिली थी।
इसके बावजूद हजारों हजारों लोग जय श्रीराम की जयकार लगाते हुए सड़क पर निकल पड़े, जब पुलिस ने हनुमान भक्तों को रोकने की कोशिश की तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई। हजारों लोग पुलिस बैरिकेट तोड़कर आगे निकलने लगे तो पुलिस को इन्हें रोकने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा। इसमें कई लोग घायल हो गए। जगह-जगह बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस उन्हें समझा रही है कि वह अपने जुलूस को समाप्त कर दें, लेकिन लोग मानने के लिए तैयार नहीं हैं।
गौरतलब है कि हनुमान जयंती पर इस जुलूस को प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिली थी। पहले इस जुलूस को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष नेतृत्व देने वाले थे, लेकिन अनुमति नहीं मिलने के बाद उन्होंने इसे रद कर दिया था। लेकिन हनुमान भक्त भाजपा व प्रशासन के निर्देश को दरकिनार करते हुए जय श्रीराम की जय कार लगाते हुए सड़क पर निकल पड़े⁠⁠⁠⁠।
हाजीनगर में तनाव बरकरार
उत्तर 24 परगना जिले के नैहाट्टी थाना अंतर्गत हाजीनगर में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। यहां रविवार को एक घर में बम विस्फोट हुआ था, जिसमें दो युवकों की मौत हो गई थी। दोनों अल्पसंख्यक समुदाय के हैं। आरोप है कि धार्मिक जुलूस के दौरान इलाके में अशांति फैलाने के उद्देश्य से घर में बम बनाया जा रहा था, तभी उक्त बम फट गया और उक्त दोनों युवक बम की जद में आ गए।
इनमें से एक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि सोमवार को गंभीर रूप से घायल दूसरे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इसे लेकर इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है। ऐहतियातन प्रशासनिक मुस्तैदी बढ़ा दी गई है।
रविवार को महावीर पूजा के विसर्जन को लेकर इलाके में तीसरे पहर में जुलूस निकाला गया था। जुलूस में हजारों की तादाद में लोग शामिल हुए। जुलूस को नैहाट्टी जूट मिल से मारवाड़ीकल पहुंचना था। अभी जुलूस निकला ही था कि लोगों ने विस्फोट की आवाज सुनी।
हाजीनगर वही इलाका है, जहां चंद महीने पहले सांप्रदायिक तनाव फैला था और इलाका कई दिनों तक मीडिया की सुर्खियों में रहा था। यूं तो यहां पहले से ही रामनवमी पर जुलूस निकलता रहा है, लेकिन इस बार ऐहतियातन पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे।
-

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas