: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : पीएम मोदी में गजब की ऊर्जा, नवरात्र में खाली पेट भी कर रहे इतना काम

पीएम मोदी में गजब की ऊर्जा, नवरात्र में खाली पेट भी कर रहे इतना काम



नई दिल्‍ली, । देश के लाखों लोग चैत्र नवरात्र के मौके पर उपवास पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी नवरात्र के दौरान नौ दिन का उपवास रखते हैं। वह इन दिनों उपवास पर जरूर हैं, लेकिन इसके बावजूद उनके चेहरे पर ध्‍यान या ऊर्जा में कमी नजर नहीं आ रही है। पीएम मोदी उपवास के दौरान भी पहले की नजर काम कर रहे हैं और अप्रैल का पहला सप्‍ताह तो उनका बेहद व्‍यस्‍त जाने वाला है।
पीएम मोदी उपवास के दौरान नौ दिनों तक सिर्फ गर्म पानी, दूध और फलों का रस लेते हैं। इस दौरान उनकी दिनचर्या में ज्‍यादा बदलाव नहीं आता है। वह पहले की तरह ही काम में जुटे रहते हैं। अप्रैल के पहले हफ्ते में भी वह इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, न्याय, प्रौद्योगिकी और आध्यात्मिकता से संबंधित मुद्दों पर काम करते नजर आएंगे।
रविवार को पीएम मोदी भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग 'चनैनी-नाशरी टनल' को देश को समर्पित करेंगे, जो जम्‍मू और श्रीनगर के बीच बनाई गई है। यह सुरंग हमारी सेना का सामान पहुंचाने की दृष्टि से भी काफी महत्‍वपूर्ण है। राज्य की अत्याधुनिक सुरंग की यात्रा के बाद पीएम मोदी उधमपुर में एक सार्वजनिक बैठक को भी संबोधित करेंगे।
सुरंग परियोजना का अनावरण करने के लिए पहाड़ी राज्य तक पहुंचने से पहले, पीएम मोदी इलाहाबाद उच्च न्यायालय की 150वीं वर्षगांठ के समापन समारोह में भाग लेने के इलाहाबाद में होंगे। शनिवार को प्रधानमंत्री दिल्ली के हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता के लिए मलेशियाई प्रधान मंत्री नजीब रजाक की मेजबानी करेंगे। मलेशियाई प्रधानमंत्री भारत की यात्रा पर हैं।
पीएम मोदी चैत्र नवरात्र और शारदीय नवरात्र में नौ-नौ दिनों का उपवास रखते हैं। एक सूत्र ने बताया, 'पीएम मोदी नवरात्र के दौरान केवल पानी, दूध और जूस ही पीते हैं। हालांकि, कठोर संयम का अभ्यास करते समय भी वह अपने कर्तव्यों को उसी भावना से पालन करते हैं, जैसे सामान्‍य दिनों में करते हैं।'
उपवास और व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद प्रधानमंत्री भारत के कुछ सबसे तेज युवा 'तकनीकी' दिमागों को संबोधित करने के लिए समय निकालेंगे, जो स्मार्ट इंडिया हैकथॉन के अंतिम दौर में भाग ले रहे हैं। हैकथॉन शनिवार 8 बजे से रविवार शाम 8 बजे तक चलेगा। यह केंद्र सरकार के 29 मंत्रालयों और विभागों द्वारा पहचाने जाने वाले सामाजिक मुद्दों और समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करेगा। 

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas