Budaun express is an online news portal & news paper news in Budaun .Badaun to keep you updateed with tha latest news of your own district covering

Breaking

April 5, 2017

परिवार नियोजन कार्यक्रम में फिर से जान डालेंगे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी -



नई दिल्ली। सरकारी स्तर पर लंबे समय से उपेक्षित चल रहे परिवार नियोजन के बेहद अहम मुद्दे को एक बार फिर से रफ्तार मिल सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्दी ही राष्ट्रीय जनसंख्या आयोग की बैठक बुलाने वाले हैं। देशभर के स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों के संगठन फेडरेशन ऑफ ओब्सटेट्रिक एंड गायनाकोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया 'फॉगसी' ने भी इस कार्यक्रम में अपना योगदान देने की पेशकश की है।
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में परिवार नियोजन के उपायुक्त तेजा राम बताते हैं कि परिवार नियोजन के नए साधनों को लागू करने को लेकर भी गंभीरता से विचार हो रहा है। देश की जनसंख्या एक अरब होने पर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने यह आयोग गठित किया था। इस बेहद अहम संगठन के अध्यक्ष खुद प्रधानमंत्री होते हैं। लेकिन, पिछली सरकार के दौरान यह बेहद उपेक्षित रहा। इसकी अंतिम बैठक सात साल पहले हुई थी।
यह भी पढ़ें: फो‌र्ब्स ने नोटबंदी को ठहराया अनैतिक,कहा- ये जनता की संपत्ति की चोरी
देशभर के 34 हजार स्त्री रोग विशेषज्ञों के संगठन 'फॉगसी' के महासचिव डॉ. ऋषिकेश कहते हैं, यह ऐसा मुद्दा है जिससे स्त्री रोग विशेषज्ञ सबसे नजदीक से जुड़े हैं। इसलिए हमारी भागीदारी इसमें बेहद जरूरी है। भाजपा सांसद डॉ. संजय जायसवाल ने परिवार नियोजन के लिए इंप्लांट के रूप में अत्याधुनिक साधन को सरकारी कार्यक्रम में शामिल करने की जरूरत बताई है। इसी तरह सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के सांसद पीडी राय ने इसके लिए बजट बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया।
मंगलवार को पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पीएफआइ) की ओर से परिवार नियोजन पर बुलाई गई बैठक में जनप्रतिनिधियों, डॉक्टरों, सरकारी अधिकारियों और गैर सरकारी संगठनों ने चर्चा के दौरान इस कार्यक्रम को मजबूत करने पर जोर दिया। पीएफआइ की कार्यकारी निदेशक पूनम मुटरेजा कहती हैं कि सरकार को परिवार नियोजन के साधनों को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। इंप्लांट को लेकर वह कहती हैं कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इसके परीक्षण के नतीजे बहुत अच्छे आए हैं। अब सरकार इसकी समीक्षा कर रही है। ऐसे में जल्दी ही इसे लागू किए जाने की उम्मीद की जा सकती है।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas