: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : CM योगी की हिंदू युवा वाहिनी के लिए क्रेज बढ़ा, रोज 5000 लोग कर रहे अप्लाई

CM योगी की हिंदू युवा वाहिनी के लिए क्रेज बढ़ा, रोज 5000 लोग कर रहे अप्लाई



गोरखपुर.यूपी का सीएम बनने के बाद से योगी आदित्यनाथ की पॉपुलैरिटी लगातार बढ़ती जा रही है। इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि योगी के संगठन हिंदू युवा वाहिनी का मेंबर बनने के लिए लोगों में क्रेज काफी बढ़ गया है। संगठन के गोरखपुर स्थित हेडक्वार्टर के एक सीनियर आॅफिशियल ने बताया, ''हर दिन करीब 5 हजार से ज्यादा लोग मेंबर बनने के लिए अप्लाई कर रहे हैं। इससे पहले एक महीने में सिर्फ 500 से 1000 एप्लिकेशन ही मिल पाती थीं।''जारी की गई नई गाइडलाइन्स...
- हिंदू युवा वाहिनी के स्टेट इंचार्ज पीके माल ने बीते शुक्रवार को नई गाइडलाइन्स जारी की। इसके मुताबिक, पहले कैंडिडेट के बैकग्राउंड को चेक और वेरिफाई किया जाएगा कि क्या उसका किसी राजनीतिक पार्टी की ओर झुकाव तो नहीं है। इसके बाद कैंडिडेट को एक साल की जांच प्रॉसेस से गुजरना होगा।
- ये सर्कुलर सभी डिस्ट्रिक्ट और डिविजन यूनिट्स को भेज दिया गया है। साथ ही, चेतावनी दी गई है कि किसी भी शख्स को संगठन का मेंबर बनाने से पहले पूरी सावधानी बरती जाए। हिंदू युवा वाहिनी में एक भी महिला मेंबर नहीं है।
क्या लिखा है नए सर्कुलर में?
- नए सर्कुलर में लिखा है, ''कई लोग संगठन से इसलिए जुड़ना चाहते हैं, ताकि वे इसे बदनाम कर सकें। इसीलिए अब कैंडिडेट के बैकग्राउंड के साथ उसकी गतिविधियों की भी जांच की जाए।''
- ''संगठन से जुड़ने के बाद नए मेंबर को कम से कम 6 महीने तक एक सामान्य कार्यकर्ता के तौर पर काम करना होगा। इसके बाद ही उसे कोई पद दिया जाएगा।''
पहले देने पड़ते थे 11 रुपए, अब करना होगा ऑनलाइन अप्लाई
- अब तक कैंडिडेट को मेंबरशिप के लिए 11 रुपए फीस के तौर पर देने होते थे, जिसकी रसीद तुरंत दे दी जाती थी। लेकिन अब इस प्रॉसेस को बंद कर दिया गया है। अब मेंबरशिप के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा और सिर्फ ऑनलाइन एप्लिकेशन ही मंजूर की जाएगी।
- बता दें कि हिंदुत्ववादी संगठन हिंदू युवा वाहिनी को योगी आदित्यनाथ ने 2002 में बनाया था।

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas