: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : डेढ़ घंटे चली योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक, थोड़ी देर में होगी PC

डेढ़ घंटे चली योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक, थोड़ी देर में होगी PC



यूपी की सत्ता संभालने के 16 दिन बाद योगी सरकार की पहली कैबिनेट मीटिंग शुरू हो गई है. सबकी निगाहे इस बात पर टिकी है कि योगी सरकार के पिटारे से क्या निकलता है. लोगों को किसानों की कर्ज माफी समेत कई बड़े फैसलों का इंतजार है. सूत्रों के अनुसार किसानों का एक लाख तक का कर्ज माफ हो सकता है. इससे सरकार पर 36 हजार करोड़ का भार पड़ेगा. सिर्फ राष्ट्रीय बैंक और सहकारी बैंकों का कर्ज माफ होगा. भूमि विकास बैंक का कर्ज माफ नहीं होगा. 2.15 करोड़ किसान है, जिसमे 1.85 करोड़ सीमांत किसान है, जबकि 30 लाख लघु किसान हैं.  इन सभी का 1 लाख तक का कर्ज माफ होगा.

सोमवार को अधिकारियों और कैबिनेट के सहयोगियों के साथ 8 घंटे की मैराथन मीटिंग में सीएम योगी ने तमाम विभागों की योजनाओं के ब्लू प्रिंट पर चर्चा की और काम का टारगेट तय किया. सूत्रों के अनुसार पहली कैबिनेट मीटिंग में योगी सरकार ये 5 बड़े फैसले ले सकती है.


  1. 1. यूपी के करीब डेढ़ करोड़ किसानों पर इस वक्त 62,000 करोड़ का फसली कर्ज है, जिसे एक झटके में खत्म करने की तैयारी है.
  2. 2. अवैध बूचड़खाने पर कड़ी सजा का प्रावधान हो सकता है. साथ ही बूचड़खानों को लेकर नीति स्पष्ट कर सकती है योगी सरकार 
  3. 3. पिछली सरकार की कुछ योजनाओं को बदलने या उनके नाम बदलने पर हो सकता है फैसला
  4. 4. सबको 24 घंटे बिजली देने की महत्वाकांक्षी योजना का हो सकता है ऐलान
  5. 5. गांव में बिजली पहुंचाने पर हो सकते है नीतिगत निर्णय, खासकर किसानों को बिजली आपूर्ति पर बड़ा ऐलान हो सकता है
  6. 6. निजी स्कूलों की फीस को रेगुलेट करने पर अहम नीतिगत फैसले का हो सकता है ऐलान
  7. 7. परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए ठोस कदमों का हो सकता है ऐलान
  8. 8. गन्ना किसानों के बकाये को लेकर योगी सरकार अपनी घोषणा को लेकर बड़ा ऐलान कर सकती है.
  9. 9. गाजीपुर में स्टेडियम बनाने पर हो सकता है फैसला
  10. 10. गेंहू खरीद पर नीतिगत फैसला


किसानों की कर्ज माफी को लेकर ये है प्लान-
बीजेपी ने चुनाव के लिए जारी अपने संकल्प पत्र में जो सबसे प्रमुख वादा किया था, वह किसानों की कर्जमाफी का ही था. अब सरकार इसका ऐलान करने जा रही है लेकिन इससे सरकार के खजाने पर भारी बोझ आएगा. केंद्र सरकार ने यह भी स्पष्ट किया था कि यह व्यवस्था राज्य को अपने स्तर पर ही करनी होगी. यूपी में 2 करोड़ 33 लाख सीमांत और लघु किसान हैं और लगभग दो करोड़ छोटे किसान हैं. सूबे के डेढ़ करोड़ किसानों के कर्ज माफी का ऐलान हो सकता है.

योगी सरकार का ब्लू प्रिंट-

  • -यूपी के करीब डेढ़ करोड़ किसानों पर इस वक्त 62,000 करोड़ का फसली कर्ज है, जिसे एक झटके में खत्म करने की तैयारी है.
  • -कृषि विभाग ने उन डेढ़ करोड़ किसानों की लिस्ट तैयार कर ली है, जिन पर फसली कर्ज है.
  • -किसानों की कर्जमाफी के लिए पैसा कर्ज के तौर पर केंद्र से लिया जाएगा.
  • -केंद्र इस कर्ज पर ब्याज कितना लेगा इसका खुलासा नहीं हो पाया है.

No comments:

Post a Comment

zhakkas

zhakkas