: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 01/28/17

अमेरिका में इस्लामी चरमपंथियों की एंट्री पर ट्रंप का बैरिकेड, कड़े किए नियम


अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ऐसे शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं, जो शरणार्थियों के प्रवाह को सीमित करने के लिए और चरमपंथी इस्लामी आतंकियों को अमेरिका से बाहर रखने के लिए सघन जांच के नए नियम तय करता है. राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद अपने पहले पेंटागन दौरे में ट्रंप ने इस शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर किए.

हस्ताक्षर करने के बाद ट्रंप ने कहा कि मैं चरमपंथी इस्लामी आतंकियों को अमेरिका से बाहर रखने के लिए सघन जांच के नए नियम स्थापित कर रहा हूं. हम उन्हें यहां देखना नहीं चाहते. ट्रंप ने कहा, हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हम उन खतरों को अपने देश में न आने दें, जिनसे हमारे सैनिक विदेशों में लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम सिर्फ उन्हीं को अपने देश में आने देना चाहते हैं, जो हमारे देश को सहयोग देंगे और हमारी जनता से गहरा प्रेम करेंगे.

नए रक्षामंत्री जनरल (रिटायर्ड) जेम्स मैटिस और उपराष्ट्रपति माइक पेंस के साथ खड़े ट्रंप ने कहा कि हम 9/11 के सबक को और पेंटागन में शहीद हुए नायकों को कभी नहीं भूलेंगे. वो लोग हममें से सर्वश्रेष्ठ थे. हम उनका सम्मान सिर्फ अपने शब्दों से ही नहीं, बल्कि हमारे कार्यों से भी करेंगे, आज हम वही कर रहे हैं.

ट्रंप में सत्ता में आने से पहले ही अपने चुनावी अभियान के दौरान अमेरिका की जनता से शरणार्थियों को रोकने और मैक्सिको की सीमा पर दीवार खड़ी को लेकर वादे किए थे.

रक्षा क्षेत्र में होंगे बड़े बदलाव
ट्रंप ने सेना के बड़े स्तर पर पुनर्निर्माण संबंधी आदेश पर भी हस्ताक्षर किए हैं. जिसमें नए विमानों, नौसैन्य पोतों और सैन्य संसाधनों को विकसित करने का संकल्प पूरा करने की दिशा में कदम उठाए जाएंगे. ट्रंप ने अस मौके पर कहा कि यह करते हुए मुझे बहुत गर्व महसूस हो रहा है. ट्रंप ने कहा कि हमारे बजट संबंधी अनुरोध को तैयार कर रहे हैं, ऐसे में मेरा मानना है कि कांग्रेस को यह देखकर बहुत खुशी होगी. कोई भी हमारी सेना की शक्ति पर या शांति के प्रति हमारे समर्पण पर सवाल खड़ा नहीं कर पाएगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हम शांति चाहते हैं. ज्ञापन में रक्षा मंत्री की ओर से 30 दिन में सैन्य तैयारी समीक्षा का निर्देश दिया गया है. उन्होंने कहा कि तत्परता का मौजूदा संकट वर्षों से हो रही बजट में कटौती और उपेक्षा का परिणाम है. कांग्रेस और प्रशासन को हालात बदलने के लिए यह समझते हुए तत्काल मिलकर काम करना चहिए कि कई वर्षों तक लगातार प्रयास किए जाने की आवश्यकता है.

यूपी में बीजेपी के सामने अब ‘भगवा चुनौती’ भी



लखनऊ
लोकसभा चुनाव 2014 में ऐतिहासिक सफलता के बाद विधानसभा चुनाव में जनमत को बरकरार रखने के लिए जूझ रही बीजेपी के सामने अब ‘भगवा चुनौती’ खड़ी हो गई है। यह ‘भगवा चुनौती’ पूर्वांचल से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश तक दिखाई पड़ रही है।

पूर्वांचल में जहां गोरखपुर के बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ द्वारा खड़े किये गए संगठन हिंदु युवा वाहिनी ने बगावत का स्वर बुलंद कर आधा दर्जन उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी, तो वहीं एनडीए में शामिल उसके सहयोगी दल शिवसेना ने भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक दर्जन प्रत्याशियों को मैदान में उतार दिया है।

पूर्वांचल में योगी आदित्यनाथ द्वारा गठित की गई हिंदू युवा वाहिनी बीजेपी से टिकट की आस टूटने के बाद बगावत की राह पर चल पड़ी। वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह ने छह प्रत्याशियों की घोषणा कर चुनावी बिगुल फूंक दिया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कई जिलों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करके यह निर्णय लिया गया है।


हियुवा के बैनर तले खड्डा विधानसभा से विजय गोविंद राव ‘शिशु’, कुशीनगर से राजेश्वर सिंह, पड़रौना से राजन जायसवाल, सिसवां से ज्योतिष मणि त्रिपाठी, पनियरा से सतीश सिंह व फरेंदा से जितेंद्र शर्मा को प्रत्याशी घोषित किया है। हिंयुवा के बगावती तेवर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ भी परेशान हैं।

शनिवार को बस्ती जिले के दौरे के दौरान बोले कुछ लोग हिंदू विरोधी ताकतों के खिलौने बन गए हैं और अपने स्वार्थ के लिए हिन्दू युवा वाहिनी जैसे राष्ट्रवादी संगठन का दुरुपयोग करना चाहते हैं। यह किसी भी स्थिति में नहीं होगा। हम राष्ट्रवादी मिशन के साथ जुड़े हैं और बीजेपी के अलावा किसी अन्य दल या संगठन को समर्थन करने का कोई सवाल ही नहीं उठता। जो भी लोग इस प्रकार के कृत्य में लिप्त हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

केंद्र में अभी तक एनडीए के घटक दल में शामिल शिवसेना भी यूपी में बीजेपी के सामने एक चुनौती बनने के प्रयास में जुटी है। शिवसेना के उत्तर भारत प्रमुख विनय शुक्ला ने एनबीटी को बताया कि यूपी में पार्टी डेढ़ सौ सीटों पर अपने उम्मीदवार को उतारने का निर्णय लिया है। अभी तक पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद, नोएडा, सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बदायूं, बरेली, मुरादाबाद के साथ कानपुर,इलाहाबाद,झांसी सहित कई जगह उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है।

एक दर्जन से ज्यादा प्रत्याशी अब तक नामांकन भी कर चुके हैं। बकौल शिवसेना, उत्तर भारत प्रमुख यूपी में पहली बार विधानसभा चुनाव के दौरान ठाकरे परिवार भी प्रचार के लिए आएगा। छह फरवरी के बाद उद्धव ठाकरे के यूपी में किस शहर में आएंगे चुनाव प्रचार करने तय हो जाएगा। शिवसेना बीजेपी के सामने चुनौती किस तरह बनने जा रही है, इसका अंदाजा बदायूं सीट से पांच बार बीजेपी के विधायक रहे रामसेवक पाटिल को शिवसेना में शामिल कराकर टिकट देकर मैदान में उतारने के फैसले से लगाया जा सकता है।

LIVE: BJP का मेनिफेस्टो-संवैधानिक तरीके से राम मंदिर बनाने का वादा


यूपी चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है.बीजेपी का मैनिफेस्टो लोक संकल्प पत्र नाम से जारी हुआ है. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने घोषणा पत्र जारी किया. घोषणा पत्र कार्यक्रम के लिए इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, पीयूष गोयल, योगी आदित्यनाथ, भूपेंद्र यादव, स्वामी प्रसाद मौर्या, बृजेश पाठक समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे.

इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में केंद्र की बीजेपी सरकार ने ढाई साल में ढाई लाख करोड़ रुपया ज्यादा भेजा है लेकिन उसके बावजूद यहां बुनियादी सुविदाएं मुहैया नहीं कराई जा रहीं. उन्होंने कहा कि अकेली केंद्र की सरकार प्रदेश का विकास नहीं कर सकती.


शाह ने कहा कि यूपी विकास की रेस में पिछड़ गया है. बीजेपी सत्ता में आई तो 15 साल की कमी 5 साल में कमी पूरी की जाएगी. हमारी सरकार आई तो ये जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति का खात्मा होगा. बीजेपी ने 9 मु्द्दों पर घोषणा पत्र जारी किया.

बीजेपी के घोषणापत्र की अहम बातें:-
-भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत हर परिवार में जन्मी बेटी को 50 हजार का बॉन्ड. गरीब परिवार में बेटी जन्मते ही पांच हजार की राशि. तीन महिला बटालियन बनाई जाएंगी. सौ फास्ट ट्रैक कोर्ट महिला उत्पीड़न के मामलों के लिए स्थापित किए जाएंगे, हर जिले में तीन महिला पुलिस स्टेशन. कॉलेज-स्कूलों के नजदीक एंटी रोमियो दल. विधवा पेंशन के लिए उम्र सीमा समाप्त. तीन तलाक पर मुस्लिम महिलाओं की इच्छा पूछेंगे और यूपी सरकार उसके आधार पर एससी में पार्टी बनेगी.

-108 सेवा का विस्तार होगा, 15 मिनट में कॉल पर आएगी एंबुलेंस, जेनरिक दवाओं वाली दुकानें हर ब्लॉक में, 25 नए मेडिकल कॉलेज और सुपर स्पेशिलटी अस्पताल बनेंगे, छह क्षेत्रों में एम्स स्तर के अस्पताल बनेंगे. राम मंदिर के लिए सरकार प्रयास करेगी कि संवैधानिक तरीकों से जल्द से जल्द राम मंदिर बने.

-छात्रों को लैपटॉप के साथ एक जीबी फ्री डेटा देने का वादा. 
-यूपी में सरकार बनने के डेढ़ महीने के बाद ही पुलिस के डेढ़ लाख रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी.
-अवैध पशु कत्लखाने बंद किए जाएंगे.
-डॉयल 100 को प्रभावी बनाने के लिए इसे अपग्रेड करेंगे.
-यूपी की जनता को 15 मिनट में पुलिस की सुविधा मिलेगी.
-सभी फरार अफराधियों को 45 दिन के अंदर गिरफ्तार कर जेल में डाला जाएगा. 
-बीजेपी की सरकार किसानों के कर्ज माफ करेगी और किसानों को देने वाले लोन पर ब्याज नहीं लिया जाएगा. 
-हमने कभी जाति और परिवार की राजनीति नहीं की, हमने हमेशा सिद्धांतों और विकास की राजनीति की है. 
-यूपी में अगर बीजेपी की सरकार बनी तो प्रदेश को 5 साल में बीमारू राज्य से विकसित राज्य बनाकर दम लेंगे. 



गौरतलब है कि टिकट बंटवारे के बाद से ही बीजेपी के प्रदेश दफ्तर के बाहर हंगामे के हालात बने हुए हैं. आज गाजीपुर के जहूराबाद से आए कार्यकर्ताओं ने यहां बवाल काटा. जहूराबाद के एक कार्यकर्ता मोहित शर्मा ने अपने ऊपर मिटटी का तेल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की जिसे पुलिस से रोक लिया.ये कार्यकर्ता अपने नेता को बेटिकट किए जाने से खफा हैं और लगातार बीजेपी दफ्तर के बाहर हंगामा कर रहे हैं.

दातागंज में विशाल मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन किया गया




आज नगर दातागंज में विशाल मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन किया गया।रैली को श्री आलोक गुप्ता तहसीलदार (न्यायिक),श्री सोहन लाल नायाब तहसीलदार ने हरी झंडी दिखाकर राजकीय कन्या इन्टर कॉलेज से रवाना किया । रैली में राजकीय कन्या इन्टर कॉलेज दातागंज ,सं0कु0मै0मो0इण्टर कालेज गंगोला,संस्कार इण्टर कॉलेज दातागंज,सी0एल0डी0पी0इण्टर कॉलेज दातागंज,नेहरू युवा केंद्र दातागंज के साथ साथ नेहरू इण्टर कॉलेज अलापुर,पार्वती इण्टर कॉलेज अलापुर के हजारों बच्चों और स्कूल स्टाफ ने प्रातिभाग किया ।
रैली नगर के मुख्य मार्गों से होती हुए सी0एल0डी0पी0कन्या दातागंज के प्रांगण में तहसीलदार साहब द्वारा शपथ दिलाई गयी।
रैली में सह समंवयक मो0राशिद क़ादरी,फरहत हुसैन,मुकेश कमल, रा0कानूनगो कैलाश चंद्र गुरनानी,सुखवीर सिंह,मोहर सिंह लेखपाल,रामगोपाल, जसवीर सिंह ,आषीश सक्सेना प्र0अ0,अज़हर हुसैन अनुदेशक,ओमवीर यादव अनुदेशक आदि का विशेष सहयोग रहा।



zhakkas

zhakkas