: "width=1100"' name='viewport'/> बदायूँ एक्सप्रेस | तेज रफ़्तार : 02/14/17

राष्ट्रीय परिवर्तन दल के उमलेश यादव (55 करोड़) सबसे अमीर?



किस पार्टी का कैंडिडेट सबसे अमीर?

- 719 कैंडिडेट्स में से 256 कैंडिडेट्स करोड़पति हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे अमीर कैंडिडेट बीएसपी के नवाब काज़िम अली खान हैं, जिन्होंने अपनी संपत्ति 97 करोड़ से ज्यादा दिखाई है। इसके बाद राष्ट्रीय परिवर्तन दल के उमलेश यादव (55 करोड़) और बीएसपी के मो. नासिर (38 करोड़) हैं।
- बीएसपी ने सेकंड फेज में सबसे ज्यादा करोड़पति उतारे हैं। पार्टी के 67 में से 58 यानी 87% कैंिडडेट्स करोड़पति हैं। 
- बीजेपी के 50 यानी करीब 75 फीसदी कैंडिडेट्स करोड़पति हैं। सपा के 51 में से 45 यानी करीब 88% कैंडिडेट्स करोड़पति हैं। कांग्रेस के 18 में से 13 और आरएलडी के 52 में से 15 कैंडिडेट्स करोड़पति हैं।
- इस फेज में 206 इंडिपेंडेंट कैंडिडेट्स चुनाव लड़ रहे हैं, इनमें से 36 यानी करीब 18 फीसदी कैंडिडेट्स करोड़पति हैं।

कल भारत तोड़ सकता है रूस का रिकॉर्ड, आसमान में एकसाथ भेजेगा 104 सैटेलाइट




बेंगलुरु. इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) एक साथ सबसे ज्यादा सैटेलाइट लॉन्च करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए तैयार है। अभी तक किसी भी देश ने एकसाथ इतने सैटेलाइट लॉन्च नहीं किए हैं। सबसे ज्यादा सैटेलाइट लॉन्च करने का रिकॉर्ड फिलहाल रूस के नाम है। उसने 2014 में एकबार में 37 सैटेलाइट लॉन्च किए थे। 39th मिशन पर जाएगा

 इसरो इन सैटेलाइट्स को बुधवार सुबह 9:28 बजे PSLV-C37 से लॉन्च करेगा।
- मंगलवार सुबह 5:28 बजे इसकी 28 घंटे का काउंटडाउन शुरू हो गया।
- यह लॉन्चिंग श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर के फर्स्ट लॉन्च पैड से होगी।
- मिशन में भारत के 3, अमेरिका की प्राइवेट फर्म्स के 96 सैटेलाइट्स हैं।
- इनके अलावा 1-1 सैटेलाइट इजराइल, कजाकिस्तान, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड और यूएई का है।
एकबार में 23 सैटेलाइट तक भेज चुका इसरो
- सबसे पहले 714 किलो के CARTOSAT-2 सीरीज के सैटेलाइट को अर्थ ऑर्बिट में छोड़ा जाएगा।
- इसके बाद 664 किलो वजनी बाकी 103 नैनो सैटेलाइट्स को धरती से 520 किलोमीटर दूर सन ऑर्बिट में सेट कर दिया जाएगा।
- सिंगल मिशन में कई सैटेलाइट्स छोड़ने का इसरो का यह तीसरा मौका है।
- इससे पहले 2008 में एक बार में 10 और जून, 2015 में 23 सैटेलाइट लॉन्च किए गए थे।
कार्टोसेट-2 से क्या फायदा मिलेगा?
- इसरो कार्टोसेट-2 सीरीज का चौथा सैटेलाइट स्पेस में भेज रहा है। इसके जरिए रिमोट सेंसिंग सर्विस मिलेगी।
- इसके जरिए भेजी गई तस्वीरें कोस्टल एरिया में रोड-ट्रैफिक, पानी के डिस्ट्रीब्यूशन, मैप रेग्यूलेशन समेत कई कामों के लिए अहम होंगी।
अब शुक्र और मंगल ग्रहों पर इसरो की नजर
- इनके अलावा भारत जल्द ही शुक्र और मंगल ग्रहों पर उतरने की तैयारी कर रहा है।
- इस मिशन को बजट-2017 में जगह दी गई है। इसरो का फंड भी 23% बढ़ाया है।
PSLV दुनिया का सबसे भरोसेमंद लॉन्च व्हीकल
- अपनी 39th उड़ान के साथ PSLV दुनिया का सबसे भरोसेमंद सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल बनेगा।
- 1993 से लेकर अब तक इसने 38 उड़ानों में कई भारतीय और 40 से ज्यादा विदेशी सैटेलाइट स्पेस में पहुंचाए हैं।
- मिशन के लिए साइंटिस्ट PSLV के पावरफुल XL वर्जन का इस्तेमाल करेंगे।
- 2008 में मिशन चंद्रयान और 2014 में मंगलयान भी इसी के जरिए पूरे हो सके थे।
सैटेलाइट इंडस्ट्री में बढ़ रही हिस्सेदारी
- ग्लोबल सैटेलाइट मार्केट में भारत की हिस्सेदारी बढ़ रही है। अभी यह इंडस्ट्री 13 लाख करोड़ रुपए की है।
- इसमें अमेरिका की हिस्सेदारी 41% की है। जबकि भारत की हिस्सेदारी 4% से भी कम है।
- दुनिया की बाकी सैटेलाइट लॉन्चिंग एजेंसियों के मुकाबले इसरो की लॉन्चिंग 10 गुना सस्ती है।
- विदेशी सैटेलाइट की लॉन्चिंग इसरो की कंपनी एंट्रिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड के जरिए होती है।
- 1992 से 2014 के बीच एंट्रिक्स कॉर्पोरेशन को 4408 करोड़ रुपए की कमाई हुई।
- इसरो सैटेलाइट लॉन्चिंग से अब तक 660 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई कर चुका है।

ग्राउंड रिपोर्ट -बिल्सी में बड़े अंतर से जीतेंगे आर के शर्मा





बदायूं की बिल्सी विधानसभा में भाजपा प्रत्याशी पं आर के शर्मा एक बड़ी जीत की ओर अग्रसर है । जमीनी हकीकत की माने तो शर्मा जी अपने विरोधियों सपा , बसपा से बहुत आगे है । आर के शर्मा की जीत एक नया कीर्तिमान बनाएगी

zhakkas

zhakkas